शशिकला के परिवार, सहयोगियों के ठिकानों पर छापेमारी जारी

NewsCode | 10 November, 2017 11:40 AM
newscode-image

चेन्नई। आयकर (आईटी) विभाग के अधिकारियों ने शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन भी ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) की नेता वी.के.शशिकला, उनके कारोबारी सहयोगियों और उनसे संबंधित संगठनों के परिसरों पर छापेमारी जारी रखी। वरिष्ठ आयकर अधिकारी ने कहा जिन परिसरों में छापेमारी की गई है, वहां से बड़ी मात्रा में नकदी और दस्तावेज बरामद किए गए हैं।

उन्होंने आईएएनएस को पहचान उजागर नहीं करने की शर्त पर बताया, “छापेमारी की पूरी प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही इस नकदी और दस्तावेजों की मात्रा और संख्या के बारे में खुलासा किया जाएगा।”

उन्होंने कहा, “कुछ स्थानों पर तलाशी अभियान पूरा हो गया है जबकि कई स्थानों पर जारी है।”

ये छापेमारी नोटबंदी के बाद फर्जी कंपनियों के जरिए काले धन को ठिकाने लगाने के संबंध में की जा रही है और ये फर्जी कंपनियां कथित रूप से शशिकला और दिनाकरन से जुड़ी हुई हैं।

आयकर विभाग के अधिकारी के मुताबिक, इस तलाशी अभियान की प्रकृति अलग है और यह सिर्फ परिसरों की तलाशी और बेहिसाबी नकदी को जब्त करने तक ही सीमित नहीं है।

उन्होंने कहा, “हमारे पास फर्जी कंपनियों की सूचना थी और इस संबंध में तलाशी की जा रही है।”

गौरतलब है कि गुरुवार को लगभग 1,800 आईटी अधिकारियों की टीम ने 187 परिसरों एवं आवासों और फार्म हाउस की तलाशी ली।

जिन स्थानों पर छापेमारी की गई, उसमें तंजावुर में शशिकला के पति एम.नटराजन का आवास, तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री जे.जयललिता का कोडानड टी एस्टेट, जैज सिनेमाज, मिडास डिस्टिलियर्स, शारदा पेपर एंड बोर्डस, सेंथि ग्रुप ऑफ कंपनीज, कोयंबटूर में नीलगिरी फर्नीचर, जया टीवी, नामाधु एमजीआर और तमिलनाडु, पुड्डुचेरी, हैदराबाद और बेंगलुरु में कई अन्य परिसर शामिल हैं।

(आईएएनएस)

कांग्रेस का सवाल, अमित शाह से जुड़े बैंक में कैसे हुई सबसे ज्यादा नोटबदली, बचाव में उतरा नाबार्ड

NewsCode | 22 June, 2018 5:45 PM
newscode-image

नई दिल्ली। नोटबंदी को लेकर एक बार फिर राजनीति गरमा गई है। कांग्रेस के संचार प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने प्रेस कांफ्रेंस कर एक आरटीआई के हवाला से आरोप लगाया है कि देश के 370 जिला सहकारी बैंकों में से नोटबंदी के बाद सबसे ज्यादा पैसा उस बैंक में जमा हुआ, जिसमें निदेशक भाजपा अध्यक्ष अमित शाह हैं।

कांग्रेस द्वारा अमित शाह के ऊपर लगाये गए आरोप पर नाबार्ड ने कहा है कि नोटबंदी के दौरान पुराने नोट जमा करने के लिए आरबीआई के नियमों का पालन किया गया है। नाबार्ड ने कहा कि इस दौरान गुजरात के मुकाबले महाराष्ट्र के सहकारी बैंकों में सबसे ज्यादा 500 और 1000 के पुराने नोट जमा हुए।

नाबार्ड ने कहा कि नोटबंदी के दौरान अहमदाबाद के जिला सहकारी बैंक के ज्यादातर ग्राहकों ने बंद नोट बैंक में जमा किए। वित्तीय फर्म के मुताब‍िक बैंक में कुल 17 लाख खाते हैं। इस दौरान सिर्फ 1.60 लाख ग्राहकों ने पुराने नोट जमा किए या बदले। यह आंकड़ा कुल जमा खातों का 9.7 फीसदी है।

नाबार्ड ने दावा किया कि नोटबंदी के दौरान 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट गुजरात के मुकाबले महाराष्ट्र के सहकारी बैंकों में ज्यादा जमा हुए और बदले गए। नाबार्ड के मुताबिक अहमदाबाद का सहकारी बैंक 9000 करोड़ रुपये के कारोबार के साथ देश के टॉप 10 जिला सहकारी बैंकों में से एक है।

बता दें कि वित्तीय संस्था नाबार्ड की सफाई तब आई है जब विपक्षी दल कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ‘आरटीआई आवेदनों से मिले जवाब के कागजात’ पेश करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को जवाब देना चाहिए कि नोटबंदी के समय भाजपा और आरएसएस ने कितनी संपत्तियां खरीदीं और उनकी कुल क्या कीमत है? सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा था, “नोटबंदी आजाद भारत का सबसे बड़ा घोटाला है। इसकी विस्तृत और निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।’

नोटबंदी के बाद सिर्फ 5 दिनों में जमा हुए 745 करोड़ के पुराने नोट, अमित शाह थे बैंक निदेशक

आरटीआई से प्राप्त सूचनाओं के आधार पर कांग्रेस ने नोटबंदी के दौरान सहकारी बैंकों के जरिए कालेधन की मनी लॉन्ड्रिंग का अरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि एनडीए शासित राज्यों के सहकारी बैंकों में नोटबंदी के बाद 14293 करोड़ रुपये जमा हुए हैं। क्या इसकी जांच होगी?

बिहार में सीट बंटवारे पर जेडीयू की बीजेपी को दो टूक, 2014 से अलग 2019 के हालात

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

चतरा : सीसीटीवी लगाने को लेकर प्रशासन करेगी व्यवसायियों के साथ बैठक

NewsCode Jharkhand | 22 June, 2018 6:38 PM
newscode-image

चतरापुलिस कप्तान अखिलेश वी वारियर के निर्देश पर शनिवार को सदर थाना में शहर के प्रतिष्ठित व्यवसाई एवं पेट्रोल पंप के मालिकों के साथ एक बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्य अतिथि जिला अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ज्ञानरंजन होंगे।

इस आशय की जानकारी देते हुए सदर थाना प्रभारी राम अवध सिंह ने कहा कि शहर में चल रहे प्रतिष्ठानों के मालिकों से आग्रह किया गया है कि वह अपने दुकानों में एवं दुकान के बाहर सीसीटीवी कैमरा लगाएं इसको लेकर उन्हें कई बार संपर्क साधा गया।

चतरा : भूमि विवाद में मुखिया समेत छह पर प्राथमिकी दर्ज

इसके बावजूद शहर के कई दुकानदारों को नोटिस भेजी गई है। इसी को धरातल में उतारने को लेकर शहर के तमाम व्यवसायियों से आग्रह किया गया है कि वह निर्धारित समय पर  सदर थाना पहुंच कर आवश्यक दिशा निर्देश दें एवं सीसीटीवी कैमरा लगाने का कार्य करें।

इन दिनों शहर में हुई कई गोली कांड घटना को लगाम लगाने में शहर के  कुछ जगहों पर लगाए गए सीसीटीवी कैमरा  के सहयोग से भी उदभेदन  किया गया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

चतरा : भूमि विवाद में मुखिया समेत छह पर प्राथमिकी दर्ज

NewsCode Jharkhand | 22 June, 2018 6:31 PM
newscode-image

चतरा। सदर थाना क्षेत्र के डाढ़ा पंचायत में शुक्रवार को भूमि विवाद में हुई मारपीट में एक गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल किसन तुरी का पुत्र प्रमोद तुरी है। इस बाबत प्रमोद ने सदर थाना में लिखित आवेदन देकर मुखिया रमेश कक्षप समेत छह पर प्राथमिकी दर्ज कराई है। प्राथमिकी दर्ज में प्रमोद ने कहा है कि गांव में अपना मकान बना रहा था।

चतरा : नक्सली संगठन टीपीसी समर्थक वीरेंद्र गंझू गिरफ्तार

तभी मुखिया रमेश कक्षप, भोला यादव, काली यादव, प्रदीप यादव, सुरेंद्र यादव व कोमल यादव आकर लाठी व डंडे से मारपीट करने लगे। आसपास के ग्रामीणों की मदद से मामला को शांत कराया गया। उसके बाद घायल व उसके परिजनों ने सदर थाना में आकर आपबीती सुनाई।

थाना प्रभारी सह इंस्पेक्टर रामअवध सिंह ने मामले को संज्ञान में लेते हुए उक्त सभी पर प्राथमिकी दर्ज की है। उन्होंने बताया कि मामले में संलिप्त आरोपियो की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी किया जा रहा है। जल्द ही सभी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा। उन्होंने घायल को उपचार व इंजुरी तैयार कराने के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

चतरा : नक्सली संगठन टीपीसी समर्थक वीरेंद्र गंझू गिरफ्तार

more-story-image

दुमका : 11 हजार हाई टेंशन तार की चपेट में...