हजारीबाग : जनजागरण केंद्र में अनाथ बच्चों के लिए नेत्र जांच शिविर का आयोजन

NewsCode Jharkhand | 10 November, 2017 6:26 PM

हजारीबाग : जनजागरण केंद्र में अनाथ बच्चों के लिए नेत्र जांच शिविर का आयोजन

बरही (हजारीबाग)। पंचमाधव स्थित जनजागरण केंद्र में अनाथ बच्चों के लिए निःशुल्क नेत्र जांच शिविर का आयोजन किया गया। नेत्र जांच शिविर का आयोजन द आर्यभट्ट इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस एंड कामर्स स्टडी सेंटर की ओर से किया गया। जांच शिविर में कुल 53 बच्चों के आखों की जांच की गई। शिविर में नेत्र विशेषज्ञ महेंद्र कुमार ने बताया कि बच्‍चों के आंखों में होने वाली विभिन्न प्रकार की परेशानियों की जांच की गयी। जिसके पश्चात नेत्र विशेषज्ञ की ओर से बच्चों को आवश्यक परामर्श भी दिए गए।

इस अवसर पर संस्थान उपनिदेशक कुंदन कुमार ने बताया कि भविष्य में भी ऐसे कार्यक्रम संस्थान के सहयोग से किया जाएगा। हमारे संस्थान का उद्देश्य सिर्फ पढ़ाना नहीं बल्कि समाज को जागृत कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाना हैं। कुल सात बच्चों को देखने में परेशानी हो रही थी। उसमें सावन राणा, मनोज कुमार, अर्जुन कुमार, रोहित कुमार, बिनोद कुमार, रामसैया मुंडा व अशोक कुमार शामिल हैं। जल्द ही इन बच्चों को चश्मा उपलब्ध करवाया जाएगा। मौके पर कुंदन कुमार, राकेश रौशन, निशि राणा, कमल कुमार,सोमी अली खान, रमेश महतो, नितेश गोस्वामी, अरुणा खालखो, आशा कुमारी, नेहा कुमारी, नेहा केशरी सहित बच्चें मौजूद थे।

जमशेदपुर : पर्यावरण को दूषित होने से बचाना है तो पेड़ लगाएं

NewsCode Jharkhand | 22 April, 2018 9:59 PM

जमशेदपुर : पर्यावरण को दूषित होने से बचाना है तो पेड़ लगाएं

स्कूली बच्चों ने ली शपथ 

जमशेदपुर। विश्व पृथ्वी दिवस के अवसर पर जमशेदपुर में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। वन विभाग ने एक शपथ कार्यक्रम का आयोजन किया जिसमें स्कूली बच्चों को पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक करने के लिए शपथ दिलाई गयी।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में जमशेदपुर के सांसद विद्युत वरण महतो शामिल हुए। इस मौके पर उपस्थित स्कूली छात्र- छात्राओं को पर्यावरण के बारे में जानकारी दी गई। बताया गया कि अगर पर्यावरण को दूषित होने से बचाना है तो वृक्ष लगाएं।

जमशेदपुर : जरूरतमंदों को नहीं होगी खून की कमी, युवाओं ने किया रक्‍तदान

सांसद विद्युत वरण महतो ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत के प्रधानमंत्री और झारखंड के मुख्यमंत्री के सपनों को साकार करने और पर्यावरण को संरक्षित रखने के लिए वृक्ष लगाने की जरुरत है। ताकि सरकार की योजना सफल हो सके। पृथ्वी को बचाया जा सके एवं पर्यावरण दूषित ना हो।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

जमशेदपुर : वीर खालसा दल ने करायी सामूहिक शादी, गरीबों के लिए बढ़े हाथ

NewsCode Jharkhand | 22 April, 2018 9:49 PM

जमशेदपुर : वीर खालसा दल ने करायी सामूहिक शादी, गरीबों के लिए बढ़े हाथ

4 जोड़ियों की करायी शादी

जमशेदपुर। सामाजिक संस्था वीर खालसा दल ने सामूहिक विवाह कार्यक्रम का आयोजन किया। साकची स्थित गुरुद्वारा में आयोजित इस विवाह में कुल 4 जोड़ों की शादी कराई गई।

यह संस्था 2016 से गरीब और असहाय परिवार के लोगों का हाथ पीले करती आ रही है। वीर खालसा दल ने 2016 में दो जोड़ो की, 2017 में तीन जोड़ों की शादी करवाई थी। इस बार संख्या बढ़कर चार जोड़े की हो गयी। सभी की शादी सिख रीती रिवाज से कराई गई।

जमशेदपुर : सोमवार को वन्यजीवों का शिकार करेंगे सेंदरा वीर, तराई में की पूजा

इस मौके पर वीर खालसा दल की ओर से वर वधु को गृहस्थ जीवन की सभी जरुरी सामान दिए गए। इनके दैनिक जीवन के लिए उपयोगी साबित होंगे। वैसे इस शादी समारोह में काफी संख्या में दोनों ही पक्ष से लोग उपस्थित हुए  और वर और वधु को आशीर्वाद दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

जमशेदपुर : देहदान के यज्ञ में 18 लोगों ने दी आहुति, मेडिकल के लिए सौंपेंगे शरीर

NewsCode Jharkhand | 22 April, 2018 9:20 PM

जमशेदपुर : देहदान के यज्ञ में 18 लोगों ने दी आहुति, मेडिकल के लिए सौंपेंगे शरीर

सामाजिक संस्था की पहल से बदली फिजा

जमशेदपुर। सामाजिक संस्था की पहल के बाद लौहनगरी व आस पास के लोगों ने एक अनोखी पहल की है। योगदान सुनिश्चित करने के लिए हामी भरी है। यह योगदान है देह दान का।  लोग मरने के बाद अपने शरीर को मेडिकल कॉलेज में पढ़ने वाले बच्चो की पढ़ाई के लिए दान करेंगे।

जमशेदपुर में ‘अभियान’ के बैनर तले 4 वर्षो के प्रयास ने रंग लाया। साकची स्थित रेड क्रॉस सभागार में एक कार्यक्रम के तहत 18 लोगों ने अपना शरीर दान करने की घोषणा की। इस मौके पर पशुपालन सह सहकारिता मंत्री रणधीर सिंह मौजूद रहे। देहदान में अपनी सहभागिता सुनिश्चित कराते हुए रजिस्टेशन करा चुके दम्पति ने कहा कि इस बात का डर उन्हें नहीं है कि वे देह दान करेंगे, बल्कि इस बात की ख़ुशी है कि हमारी मौत के बाद मृत शरीर मेडिकल के छात्रों को काम आयेगा।

उनके पढ़ाई में काम आएगा और एक स्वस्थ समाज का निर्माण होगा। मेडिकल के विद्यार्थी बेहतर डॉक्टर बन पायेंगे।

बदलाव के लिए मतभेदों से ऊपर उठें : आमिर खान

मंत्री रंधीर सिंह भी हुए प्रभावित

इधर इस हौसले की उड़ान को देख मौके पर मौजूद मंत्री रणधीर सिंह भी उत्साहित दिखे। उन्होंने कहा कि मनुष्य जीवन नश्वर है। जिसने जीवन पाया उसे एक दिन मरना ही होता है। ऐसे में मौत के बाद दूसरो के काम आने के इस हौसले को सलाम। मंत्री जी ने जमशेदपुर में चल रहे देह दान यज्ञ को देख कहा वे भी अपना शरीर दान करने से पीछे नही हटेंगे ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

© Copyright 2017 NewsCode - All Rights Reserved.