हजारीबाग : हजारीबाग के नगवां हवाई अड्डा के विस्तार को मंत्रिपरिषद से मिली स्वीकृति

NewsCode Jharkhand | 7 October, 2017 6:22 PM
newscode-image

हजारीबाग। सदर विधायक मनीष जायसवाल के अथक प्रयास से मंत्रिपरिषद की बैठक में हजारीबाग के दो महत्वपूर्ण योजनाओं को स्वीकृति मिल गयी है। जिसमें हजारीबाग नगर निगम में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन योजना के लोक निजी भागीदारी के आधार पर कार्यान्वयन हेतु 32185.59 लाख की प्रशासनिक स्वीकृति प्रदान करते हुये कुल अनुदान राशि 12304.89 रुपया जिसमें से एसबीएम के केन्द्रीय मद से 776.95 तथा एसबीएम के राज्य योजना से 20 वर्षों के लिये कुल राशि 11527.94 लाख की स्वीकृति दी गई।

साथ ही हजारीबाग के नगवां हवाई अड्डा के विस्तार और विकास के लिये 245.514 एकड़ भूमि के अधिग्रहण तथा उस पर होने वाले अनुमानित व्यय के लिये 1 अरब 94 करोड़ 70 लाख 29 हजार 7 सौ 92 रुपये की मंजूरी दी गई। दोनों योजनाओं में जल्द कार्य आरम्भ होगा।

साहेबगंज : खासमहल उन्मूलन समिति द्वारा तीन दिवसीय नुक्कड़ सभा हुआ प्रारंभ

NewsCode Jharkhand | 26 September, 2018 12:04 PM
newscode-image

साहेबगंज। खासमहल उन्मूलन समिति साहिबगंज द्वारा पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत खासमहल कला कानून की समाप्ति के लिए साहिबगंज शहर के रसूलपुर दहला, पटनियां टोला, जड्डू मोड़, धर्मशाला चौक आदि जगहों पर नुक्कड़ सभा आयोजित की गई।

साहेबगंज : पंडित दीनदयाल की जयंती मनी

कार्यक्रम में मुरली धर तिवारी,जय प्रकाश सिन्हा, श्याम सुंदर पोद्दार,गोपाल चोखानी,छोटू पांडेय, संग्राम सिंह, जितेंद्र यादव, भवेश राय आदि ने खासमहल कानून की समाप्ति को लेकर अपनी अपनी बातों को रखा।

नगरवासियों से अपील की गई की साहिबगंज जिले की जमीन खासमहल जमीन नहीं है और सरकार द्वारा जबरन जमीन अधिग्रहण का विरोध करते है और करते रहेंगे। आवश्यकता पड़ने पर समिति लोकतांत्रिक आंदोलन भी करना पड़े तो करेगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जमशेदपुर : छुुुुट्टी मांगी, न‍हीं मिली, गर्भावस्‍था के पांंचवें माह में ड्यूूटी करने को मजबूर सुरक्षाकर्मी

NewsCode Jharkhand | 26 September, 2018 3:58 PM
newscode-image

एमजीएम अस्पताल की संवेदनहीनता

जमशेदपुर। जमशेदपुर का एमजीएम अस्पताल इन दिनों फिर से सुर्खियों में है। वैसे इस बार यह अस्पताल अलग ही तरह के कारनामों को लेकर सुर्खियों में है।

इस अस्पताल की लापरवाही की खबरें तो आम बात है, लेकिन इस बार इस अस्पताल में काम कर रही महिला सुरक्षाकर्मियों की क्या स्थिति है, यह बता रहे हैं।

किस तरह 8 महीने की गर्भवती महिला सुरक्षाकर्मी ड्यूटी करने को मजबूर है। ऐसा नहीं है कि उस महिला कर्मी ने छुट्टी के लिए गुहार नहीं लगाई थी।

इस महिला ने प्रेगनेंसी लीव का आवेदन दिया था, लेकिन अस्पताल प्रबंधन या होमगार्ड  के वरीय अधिकारी इस महिला के आवेदन को निरस्त करते हुए इतना ही कहा कि जब तुम्हें परेशानी होगी तो तुम्हें छुट्टी दे दी जाएगी।

ठीक से खड़ी नहीं हो पा रही महिला ड्यूूटी करने को मजबूर

अब सवाल यह उठता है कि आखिर 8 महीने की गर्भवती महिला को क्या परेशानी नहीं हो रही होगी ?  क्या एमजीएम अस्पताल प्रबंधन और झारखंड सरकार का गृह रक्षा वाहिनी विभाग इतना संवेदनहीन हो गया है कि जो महिला अपने पैरों पर खड़ी नहीं हो पा रही, उसे अस्पताल की सुरक्षा में लगा दिया गया।

वैसे यह कोई पहली महिला नहीं है, जो गर्भवती होने के बाद भी ड्यूटी बजा रही है, बल्कि इनकी जैसी और भी एक महिला सुरक्षाकर्मी यहां ड्यूटी पर तैनात है।

पांचवें माह से ही प्रेगनेंसी लीव दिए जाने का है प्रावधान

ऐसे में सवाल उठना लाजिमी है कि आखिर सरकारी योजना जिसके तहत महिलाओं को पांचवें माह से ही प्रेगनेंसी लीव दिए जाने का प्रावधान है, उसका उल्‍लंघन हो रहा है। यदि महिला होमगार्ड की जवान के साथ कुछ अनहोनी हो जाए तो उसके लिए कौन जिम्मेवार होगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

NewsCode Jharkhand | 26 September, 2018 3:19 PM
newscode-image

लोहरदगा। शहर के बड़ा तालाब, जामा मस्जिद आदि क्षेत्रों में नगर परिषद की ओर से अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया। अभियान में लोहरदगा सदर अंचलाधिकारी परमेश्वर कुशवाहा, सदर थाना प्रभारी पुलिस निरीक्षक शैलेश प्रसाद, नगर परिषद के सिटी मैनेजर आफताब आलम सहित कई अधिकारी और पुलिस बल के जवान मौजूद थे। अतिक्रमण अभियान के दौरान किसी भी प्रकार की स्थिति से निपटने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया था। अतिक्रमण का दोषी पाए जाने पर, ऑन द स्‍पॉट कई दुकानदारों पर जुर्माना भी लगाया गया। नगर परिषद के इस अभियान से दुकानदारों में भी डर का माहौल देखा जा रहा है।

लोहरदगा : अतिक्रमण हटाओ अभियान से दुकानदारों में हड़कंप

सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अतिक्रमण को लेकर महत्वपूर्ण निर्देश दिए जाने के बाद से नगर परिषद अतिक्रमण हटाने को लेकर अभियान चला रहा है। इस दौरान क्षेत्र के अलग-अलग हिस्सों में दुकानदारों द्वारा अतिक्रमण किए जाने का मामला सामने आने पर, अतिक्रमण हटाने को लेकर अभियान चलाया जा रहा है। इससे पहले नगर परिषद ने कई बार दुकानदारों को चेतावनी देते हुए अतिक्रमण नहीं करने का निर्देश दिया था। बावजूद इसके अतिक्रमण होने की वजह से सड़कें संकरी हो गई थी और आए दिन दुर्घटनाएं हो रही थी। जिसकी वजह से नगर परिषद और अंचल प्रशासन ने अतिक्रमण हटाने को लेकर जोरदार अभियान चलाया।

लोहरदगा : टेबल-कुर्सी ही संभालते हैं कार्यालय, मत्स्य अधिकारी रहते हैं गायब 

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

चाईबासा : शहर का होगा सौंदर्यीकरण, मनोरंजन से लेकर खेल-कूद...

more-story-image

चाईबासा : स्वच्छता ही स्वस्थ्य जीवन का मूल मंत्र है-रामनारायण...