गुमला : जैप वन के जवान की ठंड लगने से हुई मौत

NewsCode Jharkhand | 6 January, 2018 8:26 PM

गुमला थाना प्रभारी व ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌जवानों ने दी श्रद्धांजलि

newscode-image

पोस्टमार्टम के ‌‌‌‌‌बाद शव रांची जैप से आयी टीम को सौंपा गया

गुमला। गुमला जिला के चैनपुर में पदस्थापित जैप वन का जवान नरेश प्रधान उम्र करीब 52 वर्ष की शनिवार को अहले सुबह ठंड लगने से मौत हो गयी। जैप वन के जवान साथियों के अनुसार सुबह वक्त छह बजे वह बाथरूम से आकर मुंह हाथ धोया और फिर उसे अचानक चक्कर आने लगे, तो वह अपने रूम में जाकर रजाई ओढ़कर कांपने लगा।

इस पर साथी जवान उसे डॉक्टर के पास ले गए, जहां उसके बीपी की जांच की गयी पर स्थित ठीक नहीं होने पर उसे गुमला सदर अस्पताल बेहतर इलाज के लिए रेफर कर दिया गया। चैनपुर से गुमला पहुंचने के पूर्व ही उसकी मौत हो गयी।

इसकी खबर पुलिस को लगने पर गुमला थाना प्रभारी राकेश कुमार और पुलिस मेंस के पदाधिकारी भी सदर अस्पताल पहुंचे और घटना की जानकारी ली। असामयिक निधन पर जवानों के बीच गमगीन माहौल बन गया।

और पढ़ें ः सिमडेगा : हाइवा की चपेट में आने से तीन स्कूटी सवार युवकों की दर्दनाक मौत

इसकी सूचना जैप वन रांची को दी गयी और फिर वहां से जैप के जवानों के साथ सुनील प्रधान गुमला आएं और जवान नरेश प्रधान का पार्थिव शव को एम्बुलेंस से रांची रवाना हुए। इस मौके पर गुमला थाना प्रभारी राकेश कुमार सहित जिला पुलिस बल के जवानों ने भी जैप जवानों के साथ शव को पुष्पांजलि अर्पिण कर श्रद्धांजलि दी।

रांची में जैप वन ग्राउंड में जवान नरेश प्रधान को सलामी दी जाएगी। जैप वन का जवान नरेश प्रधान रांची हेसाग का रहने वाला था और करीब सात दिन पूर्व ही चैनपुर में पदस्थापित होकर आया था। प्राप्त जानकारी के अनुसार उसकी एक पुत्री है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : आदिवासी सम्मेलन में भोपाल प्रदेश कांग्रेस के रखे सुझावों का झारखंड कांग्रेस का मिला समर्थन

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 5:09 PM
newscode-image

रांची। झारखंड कांग्रेस ने, भोपाल में आयोजित प्रदेश-स्तरीय कांग्रेस के आदिवासी सम्मेलन में आदिवासी समाज और किसानों के लिए स्थानीय विधायक उमंग सिंगर द्वारा रखे सुझावों का समर्थन किया है, जिसमें कई सुझाव शामिल हैं।

रांची : रिम्स के कैदी वार्ड में सुरक्षा के नए प्रबंध, फरार होना होगा मुश्किल

विधायक उमंग ने अपने सुझावों में, केंद्र सरकार द्वारा किसानों के लिये घोषित समर्थन मूल्य के आधार पर किसानों को दी जाने वाली फसल खरीद की गारंटी की मांग की है। आदिवासी सम्मेलन में आदिवासी धर्म को मान्यता दी जाने एवं 9 अगस्त को कांग्रेस पार्टी की ओर से विश्व आदिवासी दिवस मनाये जाने का भी विधायक ने सुझाव दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

निरसा : स्वास्थ्य केंद्र ने निकाली जागरूकता रैली

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 5:07 PM
newscode-image

मिजल्स व रूबेला टीकाकरण के बारे में लोगों को कराया अवगत

निरसा (धनबाद)। निरसा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ने सोमवार को मिजल्स व रूबेला टीकाकरण को लेकर जागरूकता रैली निकाली। रैली में स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों ने मिजल्स व रूबेला टीकाकरण की जानकारी देते हुए लोगों को बताया कि इसका नौ महीने के बच्चों से लेकर पंद्रह साल तक के बच्चों को दिया जाता है। यह एक संक्रामक बीमारी है। सही समय पर टीका लगाकर इससे बचाव किया जा सकता है।

धनबाद : नियोजन की मांग को लेकर जमसं का 25 जुलाई को आंदोलन

इस रोग का लक्षण शरीर में बुखार, मांसपेशी में खिंचाव, नाक का बहना है। लक्षण महसूस होने पर तुरंत चिकित्‍सक से परामर्श लेना चाहिए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

गिरिडीह : आदिवासी छात्रा के साथ गैंगरेप मामला सुलझा

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 5:05 PM
newscode-image

गिरिडीह। महज 4 दिनों में ही गिरिडीह पुलिस ने गांडेय गैंग रेप कांड को सुलझा लिया है। बीते 19 जुलाई को गांडेय के धरमपुर गांव में एक आदिवासी युवती के साथ गैंगरेप की घटना सामने आई थी। जांच पड़ताल में जुटी पुलिस ने इस उलझे हुए मामले को सुलझाते हुए कांड में संलिप्त कुल पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

इस बाबत एसपी सुरेन्द्र झा ने बताया कि पिछले दिनों धनबाद जिला के टुंडी थाना क्षेत्र की रहने वाली एक नाबालिग आदिवासी युवती के साथ गैंगरेप की घटना गांडेय के धरमपुर गांव में घटित हुई थी। पीड़ित धरमपुर अपने नाना के घर घूमने आई थी।

गिरिडीह : हाथियों ने जम कर किया तांडव, कई घरों को किया क्षतिग्रस्त  

रात के वक्त शौच के लिए बाहर निकली थी। तभी आरोपी विकाश उर्फ खुड़िया मरांडी, राजेश हांसदा, छोटे हांसदा, प्रमोद हेम्ब्रम और राजेन हेम्ब्रम ने पीड़िता को दबोच लिया और रात भर एक घर में रखकर उसके साथ बारी बारी से दुष्कर्म किया।

घटना के बाद गांडेय थाना में पीड़िता अपने परिजनों के साथ पहुँची और मामला दर्ज करवाया। बाद में एसडीपीओ मनीष टोप्पो के नेतृत्व में एक टीम गठित कर मामले की पड़ताल शुरू हुई। कांड सत्यापित होने के बाद पुलिस ने एक – एक कर सभी आरोपियों को दबोच लिया। इस तरह महज 48 घंटे में एक गैंग रेप का उद्भेदन पुलिस ने करते हुए आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुँचा दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

चक्रधरपुर : महादेवशाल धाम के श्रावणी मेला  को लेकर हुई...

more-story-image

लोहरदगा : छात्रा के साथ छेड़खानी पड़ी मंहगी, आरोपी दर्जी...