गुमला : त्रिस्तरीय एवं पंच वर्षीय कार्य योजना का डीसी ने मांगा रिपोर्ट

2022 तक जिले में सभी मुलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराया जाएगा

NewsCode Jharkhand | 5 December, 2017 12:03 PM

गुमला : त्रिस्तरीय एवं पंच वर्षीय कार्य योजना का डीसी ने मांगा रिपोर्ट

गुमला। जिला में विकास के लिए त्रिस्तरीय एवं पंच वर्षीय कार्य योजना की समीक्षा विकास भवन के सभागार में भारत सरकार के प्रतिनिधि प्रबंध निदेशक एनएन सिन्हा का जिला में विकास योजनाओं की समीक्षा कार्यक्रम का निर्धारण है। विदित हो कि सरकार द्वारा देश भर से 115 पिछड़ा जिलों की सूची तैयार की गई है। जिसमें झारखण्ड के गुमला सहित कुल 19 जिले शामिल है।

भारत सरकार द्वारा इन सभी जिलों का 2022 तक कार्य योजना तैयार कर सभी मुलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने एवं जिला का विकास किया जाना है। इसी संदर्भ में गुमला जिला के प्रभारी पदाधिकारी एनएन सिन्हा विकास योजनाओं की समीक्षा करेंगे। योजना के अंतर्गत जिला के विभिन्न विभागों के अब तक का उपलब्धि के साथ अगले त्रिस्तरीय एवं पंच वर्षीय योजना में कितना लक्ष्य रख कर कार्य किया जाना है उन सभी विषयों पर चर्चा की जाएगी।

जिसमें मुख्य रूप से शिक्षा विभाग, कृषि, पथ निर्माण विभाग, स्वास्थ्य विभाग, शौचालय निर्माण एवं उसके उपयोग, लघु सिंचाई, मनरेगा सहित अन्य विभागों के कार्य योजनाओं की समीक्षा की जाएगी।

उक्त कार्य योजना की समीक्षा हेतु डीसी श्रवण साय ने विकास भवन के सभागार में सभी पदाधिकारियों एवं कार्यपालक अभियंताओं के साथ समीक्षा बैठक की तथा कई निर्देश दिए। बैठक में उन्होंने सभी पदाधिकरियों से अपनी-अपनी विभागों का 2022 तक का कार्य योजना का स्टेट द्वारा प्राप्त प्रपत्र में भरकर बेसिक डाटा के साथ तैयार कर तुरंत उपलब्ध कराने को कहा ताकि समीक्षा के दौरान प्रभारी पदाधिकारी को प्रतिवेदन सौंपा जा सके।

उन्होंने सभी विभागों द्वारा चालू वित्तीय वर्ष से 2019 एवं 2022 तक का कार्य योजना का लक्ष्य कितना कार्य करने में सक्षम है सभी का प्रपत्र में भरकर उपलब्ध कराने को कहा। साथ ही जिस भी विभाग का कोई योजना जो रूका हुआ है उन सभी का भी प्रतिवेदन तैयार करने एवं योजना क्यों रूका हुआ है उसका कारण भी बताने का निर्देश दिया है।

इसके अलावे हर एक विभाग का अपना अपना सॉफ्टवेयर है। उसमें कार्य हो रहा है या नहीं और उसमें कुछ सुधार चाहते है तो उसके लिए भी सुझाव देने को डीसी ने कहा। उन्होंने टेक्नोलॉजी का विभाग द्वारा कैसे बढ़ावा दिया जा रहा है इसकी जानकारी देने एवं विभाग के निचली स्तर से ऊपर तक कोई कर्मी अच्छा कार्य कर रहा है तो उसे पुरस्कृत करने की बात कही। बैठक में डीसी के अलावे एसपी, डीडीसी सहित सभी जिला स्तरीय पदाधिकारी मौजूद थे।

गावां : सरकारी दुकान में बियर की किल्लत, दोगुनी कीमत वसूल रहे हैं दुकानदार

NewsCode Jharkhand | 24 April, 2018 9:53 PM

गावां : सरकारी दुकान में बियर की किल्लत, दोगुनी कीमत वसूल रहे हैं दुकानदार

गावां (गिरिडीह)। सरकारी शराब दुकानों में लगभग एक माह से बियर की भारी किल्लत है। कहीं भी सरकारी काउंटर पर बियर नही मिल रहा है। वहीं ब्लैक में सरकारी दुकानों में बिकने वाला बियर की खुलेआम दोगुनी कीमत पर धड़ल्ले से बेची जा रही है। इससे सरकारी शराब दुकानों के संचालन से जुड़े लोगों का बियर को कालाबाजारी में खपाए जाने की आशंका को बल मिल रहा है।

बता दें कि गावां बाजार स्थित सरकारी शराब दुकान में लगभग एक माह से बियर की भारी किल्लत चल रही है। इस दौरान यहां मुश्किल से दो-चार दिन बियर उपलब्ध रहा होगा। परंतु गावां बाजार के बाईपास रोड स्थित विभिन्न होटलों सहित कई फास्ट-फुड की दुकानों में लोगों को असानी से बियर उपलब्ध हो जा रहा है। हलांकि सरकारी शराब दुकान में बियर की किल्लत का बहाना बना बियर की ब्लैक मार्केटिंग कर रहे है।

गिरिडीह : प्रधान डाक घर हुआ हाईटेक, विधिवत हुवा सीएसआई का उद्घाटन

फिलहाल शादी-ब्याह का सीजन चल रहा है, इस कारण इस क्षेत्र में पड़ोसी राज्य बिहार के लोगों का आना-जाना भी बढ़ा है। इसका भी फायदा बखुबी उठाया जा रहा है। लोकल कुछ चर्चित लोगों के पास बियर की कालाबाजारी करने के बजाए होटल वाले बाहरी लोगों को सहजता से बीयर उपलब्ध करा रहे हैं।

गावां में पुलिस प्रशासन व उत्पाद विभाग की अनदेखी के कारण कई होटल इन दिनों बीयरबार की भूमिका में नजर आ रहा है। सुबह से ही इन होटलों में खुलेआम लोग बैठकर जाम छलकाते नजर आते हैं। ऐसा नही है कि गावां पुलिस को इसकी जानकारी नही है। सबकुछ जानते हुए भी पुलिस अपनी आंख बंद किए हुए है और यहां होटलों में ब्लैक से शराब बेचे जाने का धंधा फलफुल रहा है।

गावां: मनरेगा कर्मियों ने की बैठक, आंदोलन का लिया निर्णय

उत्पाद अधीक्षक अवधेश कुमार सिंह के अनुसार सरकारी काउंटर पर एक माह से बीयर की किल्लह है। क्योंकि बीयर की आपूर्ति कुछ दिनों से नियमित नही मिल पा रही है। आज की बीयर की खेप मिली है। इसे जल्द ही सभी सरकारी दुकानों में बिक्री के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। गावां के होटलों में बीयर को कालाबाजारी में बेचे जाने की जानकारी नही है। अब संज्ञान में आया है तो इसकी जांच करेगें कि आखिर होटलों में बीयर कहां से उपलब्ध हो रहा है।

गावां थानेदार राजकुमार ने बतया कि होटलों में शराब की बिक्री किसी भी कीमत पर नही होने दिया जाएगा। गावां के होटल में शराब बेचे जाने की जानकारी नही थी। अगर होटल में बैठाकर शराब पिलाया जा रहा है तो होटल संचालक पर कार्रवाई की जाएगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

लातेहार : हाथी से पीड़ित परिवार को मिला 4 लाख मुआवजा, किसान की हुई थी मौत

NewsCode Jharkhand | 24 April, 2018 9:48 PM

लातेहार : हाथी से पीड़ित परिवार को मिला 4 लाख मुआवजा, किसान की हुई थी मौत

वन विभाग ने दिया मुआवजा

लातेहार। हाथी ने सेलबेस्टर किसान को मार डाला था। उसके परिजनों को वन विभाग ने 4 लाख रूपये का मुआवजा दिया। दो बेटों और दो बेटियों को एक-एक लाख रूपये रेंज वृंदा पांडेय ने दिये। किसान को छत्तीसगढ़ से आये हाथियों के झुंड ने कुचलकर मार डाला था।

सेलबेस्तर किसान उस दिन मवेशी चराने सिरसी पी एफ स्थित कुंभीकोना गया हुआ था। उसी दरम्यान हाथियों का झुंड आ धमका और पटक कर मार डाला। सेलबेस्तर किसान की मौत की खबर सुबह उनके परिजनों को हुई। जब रात में सेलबेस्तर किसान घर नहीं लौटा तो घर वालों व ग्रामीणों ने उसकी खोजबीन करना प्रारंभ किया। खोजने पर मालूम चला कि हाथियों ने सेलबेस्तर किसान को मार डाला है।

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी का बयान, 2017 में मारे गए 206 आतंकी

रेंजर वृन्दा पांडेय ने सेलबेस्तर किसान के दो पुत्र कुंवर किसान, कुलदीप किसान तथा दो पुत्री अनुपा नगेशिया व प्यारी नगेशिया को एक-एक लाख रुपये कुल चार लाख रुपये का चेक मुआवजा के रूप में दिया। मौके पर वनरक्षी प्रमोद कुमार, समेत वनकर्मी मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : घायल बीजेपी नेता की मौत, सीएम ने जताया शोक

NewsCode Jharkhand | 24 April, 2018 9:41 PM

रांची : घायल बीजेपी नेता की मौत, सीएम ने जताया शोक

पार्टी की ओर से परिजनों को 2 लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा

रांची। खूंटी जिले में अज्ञात अपराधियों की ओर से की गयी अंधाधुंध फायरिंग में भाजपा नेता गणेश मुंडा का रांची के रिम्स में इलाज के क्रम में निधन हो गया। उनके निधन पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने शोक जताया है और मृतक के परिजनों को पार्टी की ओर से दो लाख रुपये की सहायता उपलब्ध कराने की घोषणा की है।

सिल्ली : कृषि मंत्री की सौगात, सिंगल विंडो सेंटर का आनलाइन उद्घाटन

मुख्यमंत्री ने इस सिलसिले में खूंटी एसपी को अपराधियों की गिरफ्तारी सुनिश्चितकरने का निर्देश दिया। गौरतलब है कि खूंटी-तमाड़ रोड पर किताहातू गांव के निकट सोमवार देर शाम अपराधियों द्वारा की गयी गोलीबारी में भाजपा नेता गणेश मुंडा घायल हो गये थे और उन्हें रिम्स रांची में भर्त्ती कराया गया था। गणेश मुंडा को दो गोली कंधे और कमर में लगी थी जबकि चार गोलियां उनके करीब से गुजर गई थी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

© Copyright 2017 NewsCode - All Rights Reserved.