ग्रुप डिस्कशन: क्या करें क्या ना करें ? इन दस टिप्स की बदौलत आप हो सकते हैं सफल

NewsCode | 21 September, 2017 8:09 PM
newscode-image

हम सबके साथ अक्सर ऐसा होता है कि हम अपने ग्रुप के बीच बातचीत में खुद को बेहतर तरीके से प्रेजेंट कर लेते हैं, लेकिन जैसे ही बात किसी कोर्स में एडमिशन या नौकरी के लिए ग्रुप डिस्कशन की आती है, तो हमारे हाथ-पांव फूलने लगते हैं। हम कई बार अपनी मजबूती तक को प्रदर्शित नहीं कर पाते। अब तो ऐसी सैकड़ों कंपनियां हैं, जो इंटरव्यू और ग्रुप-डिस्कशन को तरजीह देते हुए उम्मीदवारों का चयन कर रही हैं।

इसी के मद्देनजर हम खास आप सभी के लिए लेकर आए हैं ग्रुप डिस्कशन में सहज रहने और अपनी बातों को मजबूती से रखने के गुर, ताकि आप सफल हो सकें।

ग्रुप डिस्कशन में क्या करें और क्या नहीं

1. बोलते समय आई कॉन्टेक्ट बनाकर रखें

बोलते वक्त सिर्फ मॉडरेटर से आई कॉन्टेक्ट बनाने के अलावा डिस्कशन में मौजूद सारे लोगों से आई कॉन्टेक्ट बनाए रखें।

2. जीडी की शुरुआत करें

ऐसा अक्सर देखा गया है कि ग्रुप डिस्कशन में शुरुआत करना कई बार फायदेमंद होता है। आप शुरुआत में ही अपना पक्ष रख देते हैं। हालाँकि ये शुरूआत आपको तभी लेनी चाहिए जब आप टॉपिक के बारे में अच्छे से समझ चुके हों या टॉपिक के बारे में सटीक जानकारी रखते हों।

3. साफ-साफ और स्पष्ट बोलें

कई बार लोग बोलना तो बहुत कुछ चाहते हैं मगर साफ-साफ न बोल पाने की वजह से सारा मामला गड़बड़ा जाता है। इसके अलावा यदि आपको किसी की बातें समझ में नहीं आती हैं तो आक्रामक न हों और धैर्य बनाएं रखें।

4. डिस्कशन को ट्रैक पर लाने की कोशिश करें

डिस्कशन में ऐसा कई बार होता है कि बहस का रुख विषय से विषयांतर हो जाता है।  ऐसे में आप अपनी ओर से पहल करें, और यह बात आपको स्वत: ही मॉडरेटर की नजरों में ले आएगी।

5. सकारात्मक एटीट्यूड बनाए रखें

आत्मविश्वास बनाए रखें। किसी पर बिना वजह चढ़ने की कोशिश न करें। आपके बॉडी लैंग्वेज से ऐसा लगना चाहिए जैसे आप बहस में बराबर के सहयोगी हैं।

6. समझदारीपूर्वक बोलें

ऐसा न हो कि आपके बोलने के दौरान ऐसा लगे जैसे आप सिर्फ अपने हिस्से का समय काटने के लिए बोल रहे हैं।  आपके बोलने से विषय पर आपकी पकड़ और समझदारी झलकनी भी चाहिए।

7. दूसरों को भी सम्मान के साथ सुनें

ग्रुप डिस्कशन में लोगों को सुनने से भी कई बार कई लिंक मिल जाते हैं जो आपको आगे और बेहतर तरीके से बोलने के प्वाइंट्स दे देता है। ऐसे में आप अपने लिए स्पेशल स्पेस क्रिएट करते हैं।

8. ज्यादा डिटेल में न जाएं

ऐसा कई बार हो जाता है कि हम कई विषयों पर काफी कुछ जान रहे होते हैं और उस टॉपिक पर बहस शुरू होते ही पिल पड़ते हैं। न दूसरों की सुनते हैं और न ही उन्हें बोलने का मौका देते हैं। ग्रुप डिस्कशन में मोनोलॉग से बचें।

9. फॉर्मल कपड़े पहनें

इंटरव्यू और ग्रुप डिस्कशन कोई फैंसी ड्रेस कॉम्पटीशन नहीं है, इसलिए विशेष सतर्कता बरतें।

10. संयम बनाए रखें

ग्रुप डिस्कशन की शुरुआत से लेकर अंत तक संयम बनाए रखना बेहद जरूरी होता है। कई बार आप बहस के दौरान आपा खो बैठते हैं और सारा मामला गुड़-गोबर हो जाता है।

रांची : शिक्षा न्यायाधिकरण संशोधन अधिनियम बिल पास, अभिभावकों में खुशी की लहर

NewsCode Jharkhand | 22 July, 2018 8:09 PM
newscode-image

रांची। झारखंड अभिभावक मंच या विभिन्न जिलों के अभिभावक संगठन के बैनर तले कर रहे अभिभावकों  ने मिठाइयां बाटकर खुशी मनाया। विधानसभा ने प्राइवेट स्कूल की शुल्क बढ़ोतरी को लेकर नियंत्रित करने हेतु शिक्षा न्यायाधिकरण संशोधन अधिनियम बिल पास कर दिया।

सिल्ली : लाभुको के बीच गैस कनेक्शन का वितरण

एक्ट पास होने की ख़ुशी में झारखंड अभिभावक मंच के अध्यक्ष अजय राय के नेतृत्व में स्थानीय अल्बर्ट एक्का चौक रांची में मंच के सदस्य रंग गुलाल के साथ साथ ही मिठाइयां बाटकर खुशी मनाया। मंच के सदस्यों ने आम जनता के साथ इसके लिये सभी अखबार, प्रिन्ट एवम इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का भी आभार प्रकट किया जिनके सहयोग से ये एक्ट पास हो पाया।

छात्र संघ चुनाव तय समय पर हो – अभिनव भगत

अजय राय ने बताया कि पिछले दिनों प्रवर समिति के अध्यक्ष स्टीफन मरांडी के साथ मिलकर हम लोगों ने जो उनसे सहयोग की अपेक्षा की थी, उसमें उनका सहयोग मिला। साथ ही शिक्षा मंत्री नीरा यादव से भी मिलकर आग्रह किया था और उन लोगों ने जो आश्वासन दिया था, उस आश्वासन पर प्रवर समिति के अध्यक्ष और मंत्री नीरा यादव खरी उतरी इसके लिए उनको अभिभावकों की ओर से बहुत-बहुत बधाई।

रांची : राज्‍य में शिक्षा रैकेट सक्रिय होने का गर्मागर्म बहस हुई विधानसभा में

अजय राय ने बताया कि यह आंदोलन लगभग 9 सालों से चल रहा था जो अब अपने मुकाम पर पहुंचा। इस आंदोलन को लेकर अलग-अलग फोरम पर हम लोगों की आलोचना भी हुई। ऐसे लोग जो हमारे आलोचक थे वे बार-बार कहते थे, निजी विद्यालय के विरुद्ध फीस वृद्धि का मामला या इनको लेकर आप लोगों का प्रयास ढकोसला है उनको भी एक जवाब मिल गया।

अजय राय ने इस आंदोलन के सहयोगी मंच के महासचिव मनोज कुमार मिश्रा, कोषाध्यक्ष अनूप कुमार पांडेय, डॉ. उमेश कुमार, शिवेंद्र कुमार सिंहा, मुकेश पांडे, सतपाल सिंह, संजय सराफ, तलत परवीन, सरवरी बेगम, नीरज भट्ट को भी धन्यवाद दिया जिनके सहयोग और इस आंदोलन को नेतृत्व प्रदान किया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

पलामू : बिजली के तार की चपेट में आने से तीन की मौत

NewsCode Jharkhand | 22 July, 2018 8:04 PM
newscode-image

पलामू। पहला मामला हुसैनाबाद प्रखंड का है जहाँ बेलबीघा गाँव निवासी जुगेश सिंह का निधन बिजली की तार के चपेट में आने से हो गई । जानकारी के अनुसार मृतक जुगेश सिंह मोटर स्टार्ट करने गए थे ,उसी क्रम में वह  बिजली के तार की चपेट में आ गए । ग्रामीणों की मदद  से आनन-फानन में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हुसैनाबाद ले जाया गया जहाँ डॉक्टर ने उन्हें मृत घोसित कर दिया ।

वहीं दूसरा मामला सतबरवा प्रखंड के चेतमा की है जहाँ अपने खेत में काम कर रहे दंपती किसान की मौत बिजली प्रवाहित तार की चपेट में आने से हो गयी है । पुलिस मौके पर पहुँच कर दम्पति के शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम के लिए दलतीनगंज सदर अस्पताल भेज दिया है । इस घटना से पूरा गाँव शोकाकुल है , वहीं परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

धनबाद : जिला डेकोरेटर्स एसोसिएशन का 40 वां वार्षिक अधिवेशन 9 सितम्बर को 

NewsCode Jharkhand | 22 July, 2018 8:02 PM
newscode-image

धनबाद। जिला डेकोरेटर्स एसोसिएशन का 40 वां वार्षिक अधिवेशन आगामी माह 9 सितम्‍बर को आयोजित किया जाएगा। आयेाजन को सफल बनाने को लेकर होटल प्रियांशु में रविवार को एसोसिएशन ने बैठक की। इसमें भाग लेने के लिए जिले के विभिन्न शाखाओं से एसोसिएशन के पदाधिकारी आए थे।

बैठक में यह निर्णय लिया गया कि इस बार वार्षिक अधिवेशन के जरिए समाज को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, स्वच्छ भारत मिशन, साक्षरता मिशन एवं नारी सशक्तिकरण का सन्देश दिया जाएगा।

धनबाद : कलियासोल में महिला मोर्चा का गठन

इसके साथ ही  जिले में बेहतर कार्य करनेवाले डेकोरेटर्स को भी सम्मानित करने का निर्णय लिया गया। वार्षिक अधिवेशन के अवसर पर मुख्य अतिथि धनबाद नगर निगम के मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल और धनबाद एसएसपी मनोज रतन चौथे होंगे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

रांची : अखिल भारतीय  बीएसएनएल शतरंज टूर्नामेंट एआरटीटीसी सभागार में ...

more-story-image

गिरिडीह : क्लीनिक का उद्घाटन, निशुल्क होगा गरीब महिलाओं का...