अब मोबाइल में सिम बदले बिना ही मिल जाएगा नया कनेक्शन, जानें कैसे…

NewsCode | 20 May, 2018 3:25 PM
newscode-image

नई दिल्ली। अब मोबाइल यूजर्स को नया कनेक्शन लेने पर हर बार नई सिम खरीदने की जरूरत नहीं पड़ेगी। अगर आप मोबाइल पोर्टेबिलिटी के जरिए अपना नंबर किसी दूसरी टेलीकॉम कंपनी में बदलना चाहते हैं तो आपको इसके लिए सिम नहीं बदलनी होगी। दरअसल, दूरसंचार विभाग (DoT) ने इंबेडेड सिम (ई-सिम) के प्रयोग को मंजूरी देने वाले नए दिशानिर्देश जारी कर इसकी इजाजत दे दी है।

नए दिशानिर्देशों के मुताबिक जब भी कोई उपयोगकर्ता अपनी सेवा प्रदाता कंपनी बदलना या नया कनेक्शन लेना चाहेगा, तो उसके फोन में इंबेडेड सब्सक्राइबर आइडेंटिटी मॉड्यूल यानी ई-सिम (eSIM) डाल दी जाएगी। उस ई-सिम में उस उपयोगकर्ता द्वारा प्रयोग की जा रही सभी सेवा प्रदाताओं की सूचनाएं अपडेट कर दी जाएंगी। यही नहीं जब ग्राहक सर्विस बदलेगा तो नई मोबाइल कंपनी उसी सिम को अपडेट कर देगी और बिना सिम बदले ही फोन चालू हो जाएगा।

अब ग्राहक ले सकेंगे 18 सिम

दूरसंचार विभाग ने अब ग्राहकों के लिए सिम लेने की संख्‍या बढ़ा कर 18 कर दी है। अभी तक यह 9 थी। डॉट ने मोबाइल फोन के लिए नौ सिम और मशीन-टु-मशीन के लिए भी नौ यानी कुल 18 सिम के इस्तेमाल की मंजूरी दी है। इसके बाद सिंगल और मल्‍टीपल प्रोफाइल यूज वाले सिम जारी किए जा सकेंगे। ग्राहक अपनी जरूरत के हिसाब से इसका फायदा उठा सकेंगे।

ये नियम रिलायंस जियो और भारती एयरटेल के एप्पल वॉच 3 सीरीज को ई सिम के साथ बेचने के 5 दिन बाद आए हैं। टेलीकॉम विभाग ने इन ई सिम के इंटरसेप्शन और मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी कंपनियों पर डाली है। ई सिम को ईयूआईसीसी (एंबेडेड यूनिवर्सल सर्किट कार्ड) भी कहा जाता है। सबसे पहले इसका इस्तेमाल एप्पल ने शुरू किया। एप्पल ने अमेरिका में आईपेड के लिए ई सिम का उपयोग किया था।

जमशेदपुर : लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ हो- रघुवर दास

NewsCode Jharkhand | 8 November, 2018 4:15 PM
newscode-image

जमशेदपुर। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ होने चाहिए। जमशेदपुर में पत्रकारों से बातचीत में रघुवर दास ने एक बार फिर विपक्षी दलों के गठबंधन को महाठगबंधन बताया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 10 नवंबर को रांची के रिनपास में टाटा कैंसर अस्पताल की आधारशिला रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी गरीबों को घर मुहैय्या कराने का वायदा 2022 में ही पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में कोई जनता बेघर नहीं रहे, इस संकल्प को लेकर सरकार निरंतर आगे बढ़ रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले दिनों राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में भी यह फैसला लिया गया कि शहरी क्षेत्र में झुग्गी-झोपड़ी  एवं स्लम बस्ती में रहने वाले गरीब परिवारों को भी मकान उपलब्ध कराया जाए, इसके तहत राज्यभर में करीब डेढ़ लाख मकान बनाये जाएंगे। सिर्फ जमशेदपुर के ही शहरी क्षेत्र में 27 हजार मकान बनाये जाएंगे।

उन्होंने कहा कि स्वच्छता अभियान के क्षेत्र में भी झारखंड में उल्लेखनीय प्रगति हुई है। चार वर्ष पहले जब उन्होंने कार्यभार संभाला था, तो सिर्फ 18प्रतिशत घरों में ही शौचालय की सुविधा था, अब यह 99 प्रतिशत से अधिक घरोंतक पहुंच गयी है, दिसंबर 2018 तक सभी घरों में शौचालय की सुविधा उपलब्ध करा दी जाएगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : झारखंड स्थापना दिवस की धूम, कई कार्यक्रमों का आयोजन

NewsCode Jharkhand | 15 November, 2018 12:33 PM
newscode-image

रांची। झारखंड राज्य का अठारहवां स्थापना दिवस गुरुवार को मनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड के लोगों को राज्य के स्थापना दिवस पर शुभकामनाएं दी है। राज्य स्थापना दिवस पर राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में दोपहर से आयोजित होने वाले मुख्य समारोह में सरकार की ओर से कई घोषणायें की जाएंगी।

इसके तहत झारखंड को खुले में शौच से मुक्त होने का ऐलान किया जाएगा, वहीं देवघर, हजारीबाग और लोहरदगा जिले को भी पूर्ण विद्युतीकृत जिला का दर्जा मिलेगा। इस मौके पर लगभग ग्यारह सौ करोड़ रूपये की विभिन्न योजनाओं का उदघाटन और शिलान्यास भी होगा।

समारोह में करीब 2100 को नियुक्ति पत्र सौंपें जाएंगे और विभिन्न क्षेत्रों में अहम योगदान करनेवाले करीब दस लोगों को सम्मानित भी किया जाएगा। कार्यक्रम में विभिन्न सखी मंडलों और लाभुकों के बीच लगभग दो हजार करोड़ रूपये की परिसंपत्तियों का भी वितरण होगा।

इसके अलावा कृषि पखवाड़ा का भी शुभारंभ होगा। समारोह में लोगों के मनोरंजन के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किये जाएंगे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

पलामू : अर्घ्य देने के लिए नहाने के क्रम में पानी में डूबने से अधेड़ की मौत

NewsCode Jharkhand | 14 November, 2018 8:24 PM
newscode-image

पलामू। लेस्लीगंज तालाब में छठ पर्व पर अर्ध्य देने के लिए नहाने के दौरान डूबने से अधेड़ की मौत हो गयी। तीन से चार घंटे की मशक्कत के बाद तालाब से शव बाहर निकाला जा सका। शव की पहचान लेस्लीगंज निवासी कुंज बिहारी भुइयां (58वर्ष) के रूप में हुई है।

कुंज बिहारी भुइयां की पत्नी छठ व्रत की थी। सुबह करीब पांच बजे उदीयमान सूर्य के अर्ध्य लेने के लिए कुंज बिहारी तालाब में नहा रहा था। तालाब में इस पार से उस पार जाने के क्रम में कुंजबिहारी पानी की गहराई में समा गया। काफी देर तक जब उसका कुछ अता-पता नहीं चला तो उसकी खोजबीन शुरू की गयी। पूर्वाहन में उसका शव तालाब से बरामद किया जा सका।

कल तक छठ व्रत पर खुशी-खुशी भगवान सूर्य को अर्ध्य देने की तैयार में जुटा कुंजबिहारी के परिवार के सदस्यों को उसकी मौत की सूचना जैसे ही मिली, उनके बीच चीख-पुकार मच गयी। पत्नी और बच्चे दहाड़ मारकर रोने लगे।

सूचना मिलने पर लेस्लीगंज बीडीओ विजय प्रकाश मरांडी और थाना प्रभारी वीरेन मिंज मौके पर पहुंचे। बाद में गोताखोरों को बुलाकर तालाब में छानबीन की गयी। शव मिलने के बाद पुलिस ने उसे कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में कराया। कुंजबिहारी भुईयां के तीन लड़के व दो लड़कियां हैं, सभी शादीशुदा हैं।

मौके पर भाजपा नेता अमित उपाध्याय, लेस्लीगंज मुखिया धर्मेंद्र सोनी, कोट पंचायत मुखिया संतोष मिश्रा, तारकेश्वर पासवान सहित कई लोगों ने शव को निकलवाने में पहल की।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

कहीं समारोह तक ही सीमित न रह जाये स्थापना दिवस-...

more-story-image

रांची : युवा झारखंड प्रगति के पथ पर तेजी से...

X

अपना जिला चुने