अब मोबाइल में सिम बदले बिना ही मिल जाएगा नया कनेक्शन, जानें कैसे…

NewsCode | 20 May, 2018 3:25 PM
newscode-image

नई दिल्ली। अब मोबाइल यूजर्स को नया कनेक्शन लेने पर हर बार नई सिम खरीदने की जरूरत नहीं पड़ेगी। अगर आप मोबाइल पोर्टेबिलिटी के जरिए अपना नंबर किसी दूसरी टेलीकॉम कंपनी में बदलना चाहते हैं तो आपको इसके लिए सिम नहीं बदलनी होगी। दरअसल, दूरसंचार विभाग (DoT) ने इंबेडेड सिम (ई-सिम) के प्रयोग को मंजूरी देने वाले नए दिशानिर्देश जारी कर इसकी इजाजत दे दी है।

नए दिशानिर्देशों के मुताबिक जब भी कोई उपयोगकर्ता अपनी सेवा प्रदाता कंपनी बदलना या नया कनेक्शन लेना चाहेगा, तो उसके फोन में इंबेडेड सब्सक्राइबर आइडेंटिटी मॉड्यूल यानी ई-सिम (eSIM) डाल दी जाएगी। उस ई-सिम में उस उपयोगकर्ता द्वारा प्रयोग की जा रही सभी सेवा प्रदाताओं की सूचनाएं अपडेट कर दी जाएंगी। यही नहीं जब ग्राहक सर्विस बदलेगा तो नई मोबाइल कंपनी उसी सिम को अपडेट कर देगी और बिना सिम बदले ही फोन चालू हो जाएगा।

अब ग्राहक ले सकेंगे 18 सिम

दूरसंचार विभाग ने अब ग्राहकों के लिए सिम लेने की संख्‍या बढ़ा कर 18 कर दी है। अभी तक यह 9 थी। डॉट ने मोबाइल फोन के लिए नौ सिम और मशीन-टु-मशीन के लिए भी नौ यानी कुल 18 सिम के इस्तेमाल की मंजूरी दी है। इसके बाद सिंगल और मल्‍टीपल प्रोफाइल यूज वाले सिम जारी किए जा सकेंगे। ग्राहक अपनी जरूरत के हिसाब से इसका फायदा उठा सकेंगे।

ये नियम रिलायंस जियो और भारती एयरटेल के एप्पल वॉच 3 सीरीज को ई सिम के साथ बेचने के 5 दिन बाद आए हैं। टेलीकॉम विभाग ने इन ई सिम के इंटरसेप्शन और मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी कंपनियों पर डाली है। ई सिम को ईयूआईसीसी (एंबेडेड यूनिवर्सल सर्किट कार्ड) भी कहा जाता है। सबसे पहले इसका इस्तेमाल एप्पल ने शुरू किया। एप्पल ने अमेरिका में आईपेड के लिए ई सिम का उपयोग किया था।

UGC का फरमान- 29 सितंबर को यूनिवर्सिटी मनाएं ‘सर्जिकल स्ट्राइक दिवस’, कांग्रेस ने की आलोचना

NewsCode | 21 September, 2018 5:34 PM
newscode-image

नई दिल्ली। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने देशभर के विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षण संस्थानों को 29 सितंबर को ‘सर्जिकल स्ट्राइक दिवस’ के तौर पर मनाने का आदेश दिया है। UGC ने सर्जिकल स्ट्राइक डे मनाने के लिए सशस्त्र बलों के बलिदान के बारे में पूर्व सैनिकों से संवाद सत्र, विशेष परेड, प्रदर्शनियों का आयोजन और सशस्त्र बलों को अपना समर्थन देने के लिए उन्हें ग्रीटिंग कार्ड भेजने समेत अन्य गतिविधियां आयोजित करने का सुझाव भी दिया है।

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक आयोग ने सभी कुलपतियों को गुरुवार को भेजे एक लेटर में कहा, ‘सभी विश्वविद्यालयों की एनसीसी की इकाइयों को 29 सितंबर को विशेष परेड का आयोजन करना चाहिए जिसके बाद एनसीसी के कमांडर सरहद की रक्षा के तौर-तरीकों के बारे में उन्हें संबोधित करें।’

यूजीसी ने कहा कि विश्वविद्यालय सशस्त्र बलों के बलिदान के बारे में छात्रों को संवेदनशील करने के लिए पूर्व सैनिकों को शामिल करके संवाद सत्र का आयोजन कर सकते हैं।

पत्र में कहा गया है, ‘इंडिया गेट के पास 29 सितंबर को एक मल्टीमीडिया प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा। इसी तरह की प्रदर्शनियों का आयोजन राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों, अहम शहरों, समूचे देश की छावनियों में किया जा सकता है। इन संस्थानों को छात्रों को प्रेरित करना चाहिए और संकाय सदस्यों को इन प्रदर्शनियों में जाना चाहिए।’

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने की आलोचना

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने ट्विटर पर यूजीसी के इस निर्णय की आलोचना की है। उन्होंने लिखा है, ‘यूजीसी ने सभी यूनिवर्सिटीज को 29 सितंबर को सर्जिकल स्ट्राइक डे के रूप में मनाने का आदेश दिया है। यह लोगों को शिक्षित करने के लिए बना है या बीजेपी के राजनीतिक हित साधने के लिए? क्या यूजीसी 8 नवंबर (नोटबंदी) को गरीबों का निवाला छीनने के सर्जिकल स्ट्राइक दिवस के रूप में मनाने की हिम्मत कर पाएगा? यह एक और जुमला है!

वहीं, मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि यूनिवर्सिटीज सर्जिकल स्ट्राइक दिवस को मनाने के लिए बाध्य नहीं हैं। जावड़ेकर ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक को समर्पित इस कार्यक्रम को मनाने का सुझाव हमें कई शिक्षकों और विद्यार्थियों से मिला था, इसलिए हमने इसके आयोजन का फैसला किया है।

गौरतलब है कि भारत ने 29 सितंबर 2016 को PoK में नियंत्रण रेखा के पार आतंकवादियों के सात अड्डों पर लक्षित कर हमले किए थे। सेना ने कहा था कि विशेष बलों ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से घुसपैठ की तैयारी में जुटे आतंकवादियों को भारी नुकसान पहुंचाया है।

18 सितंबर 2016 को पाकिस्तान से आए आतंकियों ने भारत के उरी कैंप पर हमला किया और भारत के 19 जवान शहीद हुए थे। उरी हमले के करीब दस दिन बाद 28-29 सितंबर 2016 की रात भारतीय सेना ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में घुसकर आतंकियों के ठिकानों को तहस-नहस कर दिया था।


सर्जिकल स्ट्राइक के नए वीडियो पर भड़की कांग्रेस, कहा-बलिदान को वोट में बदलने की कोशिश कर रही BJP

अब झूठ नहीं बोल पाएगा पाकिस्तान, पहली बार सामने आया PoK में टेरर कैंपों पर सर्जिकल स्ट्राइक का Video

जम्मू-कश्मीर: 3 पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद 7 SPO का इस्तीफा, गृह मंत्रालय ने बताया- अफवाह

इमरान के खत पर बदला भारत का रुख, UN बैठक के दौरान पाक विदेश मंत्री से मिलेंगी सुषमा

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

लातेहार : करमा डाल विसर्जन के दौरान तालाब में डूबने से व्यक्ति की मौत

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 6:07 PM
newscode-image

लातेहार।  बालूमाथ थाना क्षेत्र के जाला गाँव में राजेंद्र यादव नामक व्यक्ति की तालाब में डूबने से मौत हो गई । व्‍यक्ति करमा की डाली विसर्जन करने तालाब गया था ।  विसर्जन के दौरान पैर फिसल गया और वह तालाब में डूब गया ।

तालाब में पानी अधिक होने के कारण वह तुरंत निकल नहीं पाया  और मौके पर ही उसकी  मौत हो गई ।  घटना के बाद परिजनों  का रो रो कर बुरा हाल  है। इस घटना को लेकर  क्षेत्र में मातम का माहौल है ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

पाकुड़ : वारदात को अंजाम देने के बाद पति फरार, पुलिस कर रही खोजबीन

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 6:05 PM
newscode-image

पाकुड़। अमड़ापाड़ा थाना क्षेत्र के जराकी पंचायत के चटरापहाड़ में लक्ष्मी पहाड़िन की हत्या पति विजय देहरी की हत्‍या करने का मामला प्रकाश में आया है। घटना के बाद ग्रामीण एवं ग्राम प्रधान भीम कुमार देहरी ने स्थानीय पुलिस को सूचना दी।

मौके पर पहुंची पुलिस आरसी राम, प्रशिक्षु एसआई संतोष कुमार,एएसआई अयोधया सिंह दल बल के साथ घटनास्थल पहुंचकर  लाश को कब्जे में लिया। पुलिस ने बताया कि पति और पत्नी के बीच आपसी झगड़ा में घटना घटी है।

बोकारो : बेटी को जहर देकर मारने का नाना ने लगाया आरोप, नशेड़ी पिता फरार

पुलिस इंस्पेक्टर आरसी राम,एसआई संतोष कुमार,अयोधया सिंह ने महिला के बेटे और उसके भाई को थाना लाई है। भाई सुनील कुमार देहरी के बयान पर पति विजय पहाड़िया के ऊपर केस दर्ज किया है।

इंस्पेक्टर आरसी राम ने बताया कि विजय पहाड़िया एक वर्ष पूर्व दूसरी शादी की थी। दोनों के बीच अक्‍सर झगड़े होते रहते थे। फरार पति की खेजबीन की जा रही है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

दुमका : 26 किलो गांजा समेत कारोबारी गिरफ्तार

more-story-image

जमशेदपुर : मिशन 2019 चुनाव में अन्य दलों के मुकाबले...