छोटे कारोबारियों के लिए गूगल लेकर आया ये खास टूल, आसानी से फैला पाएंगे अपना बिजनेस

NewsCode | 1 July, 2018 7:43 PM
newscode-image

नई दिल्ली। गूगल ने छोटे कारोबारियों को संबंधित ग्राहकों से ऑनलाइन जुड़ने में मदद करने के लिए ‘स्मार्ट’ कैंपेन शुरू किया है, जिससे वे मिनटों में विज्ञापन बना सकते हैं। साथ ही गूगल ने ये भी कहा कि उसके एडवर्टाइजमेंट प्रोडक्ट लाइनअप ‘गूगल एडवर्ड्स’ को अब ‘गूगल एड्स’ नाम से जाना जाएगा।

गूगल के प्रोडक्ट मैनेजमेंट डायरेक्टर किम स्पैल्डिंग ने एक ब्लॉग पोस्ट में लिखा, ‘गूगल एड्स शुरू होने से छोटे कारोबारी अब स्मार्ट कैंपेन का इस्तेमाल कर सकते हैं।’ किम ने जानकारी दी है कि फिलहाल इसे अमेरिका में शुरू किया गया है और इस साल के अंत तक इसे दुनियाभर में उपलब्ध कराया जाएगा। ज्ञात हो कि गूगल ने करीब 18 साल पहले अपने विज्ञापन उत्पादों की कड़ी की शुरुआत की थी।

स्पैल्डिंग ने कहा, ‘हम छोटे कारोबारियों के लिए गूगल एड्स पर इनोवेशन और एड टेक्नोलॉजी को अपनाकर स्मार्ट कैंपेन का निर्माण करते हैं। अब आप मिनटों में विज्ञापन बना सकते हैं और उनके वास्तविक परिणाम का संचालन कर सकते हैं।’

साथ ही गूगल ने ये भी जानकारी दी कि कंपनी इस साल के अंत तक एक नया एडवर्टाइजमेंट टूल ‘इमेज पिकर’ भी लॉन्च करेगी। इस टूल से कारोबारी गूगल द्वारा दिए गए तीन इमेज का इस्तेमाल कर पाएंगे या खुद भी इमेज अपलोड कर पाएंगे।

इसके अलावा आपको बता दें हाल ही में गूगल ने कहा था कि वो पत्रकारों को फर्जी खबरों का शिकार होने से बचाने के भारत में अगले एक साल में 8,000 पत्रकारों को ट्रेनिंग देगा, जिसमें अंग्रेजी समेत 6 भारतीय भाषाओं के पत्रकार शामिल होंगे।

इसके तहत, गूगल न्यूज इनीशिएटिव इंडिया ट्रेनिंग नेटवर्क देश भर के शहरों से 200 पत्रकारों का चयन करेगा, जो पांच दिनों के प्रशिक्षण शिविर में सत्यापन और प्रशिक्षण के अपने कौशल को निखारेंगे। यह शिविर अंग्रेजी समेत छह अन्य भारतीय भाषाओं के लिए आयोजित किया जाएगा।

सर्टिफाइड ट्रेनर्स के इस नेटवर्क द्वारा पत्रकारों के लिए दो दिवसीय, एक दिवसीय और आधा दिन की वर्कशॉप का आयोजन भी किया जाएगा। गूगल इंडिया ने एक बयान में कहा कि भारत के शहरों में अंग्रेजी, हिंदी, तमिल, तेलुगू, बंगाली, मराठी और कन्नड़ में ट्रेनिंग वर्कशॉप का आयोजन किया जाएगा।

फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए गूगल ने उठाया ये कदम

पितृ पक्ष 2018: श्राद्ध क्रिया में इन खास बातों का रखें ख्याल

NewsCode | 23 September, 2018 5:27 PM
newscode-image

हिंदू कर्मकांड में श्रद्धा और मंत्र के मेल से पूर्वपुरुषों (पितरों) की आत्मा की तृप्ति के निमित्त जो विधि होती है उसे श्राद्ध कहते हैं। हमारे जिन सगे-संबंधियों का देहांत हो गया है, वे पितृलोक में या यत्र-तत्र विचरण करते हैं, उनके लिए पिंडदान किया जाता है। बच्चों एवं संन्यासियों के लिए पिंडदान नहीं किया जाता। गणेश विसर्जन और अनंत चतुर्दशी के बाद शुरू होते हैं श्राद्ध। हर साल श्राद्ध भाद्रपद शुक्लपक्ष पूर्णिमा से शुरू होकर अश्विन कृष्णपक्ष अमावस्या तक चलते हैं।

अगर पंडित से श्राद्ध नहीं करा पाते तो सूर्य नारायण के आगे अपने दोनों हाथ ऊपर करके ये बोलें : “हे सूर्य नारायण ! मेरे पिता (नाम), अमुक (नाम) का बेटा, अमुक जाति (नाम), (अगर जाति, कुल, गोत्र नहीं याद तो ब्रह्म गोत्र बोल दें) को आप संतुष्ट/सुखी रखें। इस निमित्त मैं आपको अर्घ्य व भोजन करता हूं।” इसके पश्चात् आप भगवान सूर्य को अर्घ्य दें और भोग लगायें।

 इन बातों का रखें खास ख्याल –

– श्राद्ध में कपड़े और अनाज दान करना ना भूलें। इससे पूर्वजों की आत्मा को शांति मिलती है।

– बताया जाता है कि श्राद्ध दोपहर उपरांत ही किया जाना चाहिए। जानकारों के अनुसार जब सूर्य की छाया पैरों पर पड़ने लगे तो श्राद्ध का समय हो जाता है। दोपहर या सुबह में किये गए श्राद्ध का कोई मतलब नहीं होता है।

– जिस दिन श्राद्ध करना हो उससे एक दिन पूर्व ही उत्तम ब्राह्मणों को निमंत्रण दे दें। परंतु श्राद्ध के दिन कोई अनिमंत्रित तपस्वी ब्राह्मण घर पर पधारें तो उन्हें भी भोजन कराना चाहिए।  ब्राह्मण भोज के वक्त खाना दोनों हाथों से परोसें, एक हाथ से खाने को पकड़ना अशुभ माना जाता है।

– श्राद्ध के दिन घर में सात्विक भोजन ही बनना चाहिए। इस दिन खाने में लहसुन और प्याज का इस्तेमाल  नहीं होना चाहिए। गौर करने वाली बात यह भी है कि पितरों को जमीन के नीचे पैदा होने वाली सब्जियां नहीं चढ़ाई जाती हैं। इनमें अरबी, आलू, मूली, बैंगन और अन्य कई सब्जियों शामिल हैं।

– पूरे विधान में मंत्र का बड़ा महत्व है। श्राद्धकर्म में आपके द्वारा दी गयी वस्तु कितनी भी बेशकीमती क्यों न हो, आपके द्वारा यदि मंत्र का उच्चारण ठीक न हो तो काम व्यर्थ हो जाता है। मंत्रोच्चारण शुद्ध होना चाहिए और जिसके निमित्त श्राद्ध करते हों उसके नाम का उच्चारण भी शुद्ध करना चाहिए।

– श्राद्ध के दिन अपने पितरों के नाम से ज्यादा से ज्यादा गरीबों को दान करें।

– पिंडदान करते वक्त जनेऊ हमेशा दाएं कंधे पर रखें।

 पिंडदान करते वक्त तुलसी जरूर रखें।

– कभी भी स्टील के पात्र से पिंडदान ना करें, बल्कि कांसे या तांबे या फिर चांदी की पत्तल इस्तेमाल करें।

– पिंडदान हमेशा दक्षिण दिशा की तरफ मुंह करके ही करें।

– पिता का श्राद्ध बेटा ही करे या फिर बहू करे। पोते या पोतियों से पिंडदान ना कराएं।

– श्राद्ध करने वाला व्यक्ति श्राद्ध के 16 दिनों में मन को शांत रखें।

– श्राद्ध हमेशा अपने घर या फिर सार्वजनिक भूमि पर ही करे। किसी और के घर पर श्राद्ध ना करें।


बकरीद में क्यों दी जाती है बकरे की कुर्बानी, जानें पूरी कहानी

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गुमला : 18 हाथियों ने मचाया कोहराम, एक की मौत

NewsCode Jharkhand | 24 September, 2018 7:28 AM
newscode-image

गुमला। भरनो प्रखंड के अमलीया पंचायत अंतर्गत रायकेरा बांधडिपा गांव निवासी रसीद अंसारी की मौत रविवार की रात्रि 8 बजे जगंली हाथियों के हमले से हो गया। ज्ञात हो की पीछे दो दिनों से अमलीया जंगल में 18 जंगली हाथीयों का झुण्ड ने अपना डेरा जमाये हुए है।

इन हाथियों के झुंड में 4 हाथी के बच्चे भी शामिल हैं, हाथियों के आने से गांव के लोग भयभीत हैं और गांव के आसपास अफरा तरफी का माहौल पैदा हो गया है। जंगली हाथियों ने रायकेरा बांधडिपा गांव निवासी रसीद अंसारी को उसके घर के समीप ही हमला कर मार डाला है। इसकी सूचना वन विभाग के बांधडिपा गांव में वन विभाग के प्रति लोगो का आक्रोश फुटा है।

पिछले दो दिनों से ग्रामीणों के द्वारा वन विभाग के पदाधिकारियो को दूरभाष पर जंगली हाथियों के आने की सूचना दी गयी । परन्तु वन विभाग के पदाधिकारियो के द्वारा कोई भी पहल नही की,अंततः वन विभाग के इस लापरवाही से एक ग्रामीण की जान चली गयी। ग्रामीणों में वन विभाग के प्रति काफी आक्रोश नजर आ रहा हैं। वहीं हाथियों ने बांधडिपा स्कुल के दो दरवाजा को भी छत्रिग्रस्त कर दिया है।

हाथियों के आ जाने से भय का माहौल बना हुआ है। 18 जंगली हाथियों  झुण्ड के धमक से अमलीया,रायकेरा,बांधडिपा,समसेरा,करंज टोली आसपास के कई गांवों के ग्रामीण हाथियों के दस्तक से काफी भयभीत हैं।और वन विभाग से हाथियों को भगाने की मांग की गयी है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

कैसा रहेगा आज आपका दिन ? जानें आज दिनांक 24-09-2018 का अपना राशिफल

NewsCode | 24 September, 2018 7:05 AM
newscode-image

सुप्रभात मित्रों! परिवार में प्यार से लेकर तक़रार, व्यापार में मुनाफा से लेकर उधार, सेहत में बुखार से लेकर सुधार, करियर, रोजगार, कार इत्यादि के लिए कैसा रहेगा आज आपका दिन। पढ़ें अपना राशिफल :

मेष/Aries (मार्च 21-अप्रैल 20) – मन को शांत रखना जरूरी है, कार्य स्थल पर दबाव महसूस करेंगे, कार्य व्यवसाय भी प्रभावित हो सकता है, वाहन चलाने में सावधानी रखें।

वृष/Taurus (अप्रैल 21–मई 21) – जोखिम उठाएंगे तो लाभ भी मिलेगा, कार्य व्यवसाय में लाभ के संकेत हैं, वाहन खरीदने का योग है, दाम्पत्य सुख उत्तम है।

मिथुन/Gemini (मई 22–21 जून) – दुविधा और दबाव से निजात पाना होगा, कार्य व्यवसाय सामान्य है, अन्य लोगों के सहयोग से रुका धन प्राप्त होगा, खर्च पर नियंत्रण रखना होगा।

कर्क/Cancer (जून 22–जुलाई 23) – एकाग्रचित्त होकर काम करने का लाभ भी मिलेगा, घर में मांगलिक कार्यक्रमों की बात होगी, प्रेम करने वाले के लिए दिन अनुकूल है, यात्रा करते समय सावधानी रखें।

सिंह/Leo (जुलाई 24–अगस्त 23) – सुख-सुविधा के विस्तार के विषय में सोचेंगे, पार्टनर का सहयोग मिलेगा, छोटे भाई के ऊपर दबाव बनाएंगे, पारिवारिक सुख उत्तम है।

कन्या/Virgo (अगस्त 24–सितंबर 23) – मानसिक रूप से मजबूत रहेंगे, सहकर्मियों का सहयोग मिलेगा, अधिकारियों से मुलाकात का लाभ मिलेगा, बच्चे खेल-कूद में तरक्की करेंगे।

तुला/Libra (सितंबर 24–अक्टूबर 23) – भविष्य की चिंता करेंगे, पारिवारिक समस्या का कोई समाधान नजर नहीं आएगा, दूसरों के ऊपर विशेष भरोसा करना उचित नहीं होगा, पत्नी का सहयोग मिलेगा।

वृश्चिक/Scorpio (अक्टूबर 24–नवंबर 22) – स्वस्थ मानसिकता से काम करना लाभप्रद होगा, कार्य के लिए किया जा रहा प्रयास सफल होगा, किसी भी तरह का निवेश नुकसान दे सकता है, सुख में कमी महसूस करेंगे।

धनु/Sagittarius (नवंबर 23–दिसंबर 21) – वाणी पर नियंत्रण रखना मुश्किल होगा, खर्च के ऊपर नियंत्रण रखना चाहिए, कार्य व्यवसाय सामान्य है, स्वास्थ्य में परेशानी हो तो डाo से मिलें।

मकर/Capricorn (दिसंबर 22–जनवरी 20) – तार्किक बातें बोलेंगे, अनुभव का लाभ मिलेगा
कार्य व्यवसाय में तरक्की होगी, लाभ के भी संकेत हैं।

कुंभ/Aquarius  (जनवरी 20–फरवरी 19) – मन प्रसन्न रहेगा, सुख सुविधा के सामग्री खरीदने के योग हैं, कार्य व्यवसाय उत्तम है, दाम्पत्य जीवन में दबाव महसूस करेंगे।

मीन/Pisces (फरवरी 20–मार्च 20) -धार्मिक व सामाजिक कार्यों में रुचि लेंगे, कार्य व्यवसाय सामान्य से अच्छा रहेगा, निवेश करने से बचें, प्रेम संबंधों के ऊपर ध्यान देने की जरूरत है।

More Story

more-story-image

Asia Cup: रोहित और धवन का डबल धमाल, भारत ने...

more-story-image

सरायकेलाः जिला पुलिस को मिली कामयाबी, चोर गिरोह के पांच...