गोड्डा : औचक निरीक्षण में अस्पताल की खामियों को नहीं देख पाईं उपायुक्त

NewsCode Jharkhand | 10 May, 2018 5:45 PM
newscode-image

गोड्डा। जिला उपायुक्त किरण कुमारी पासी ने गुरुवार को पथरगामा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का औचक निरीक्षण किया। दिन के करीब 01 बजकर 27 मिनट पर अस्पताल पहुंचकर उन्होंने अस्पतालकर्मियों से मुलाकात कर पूछताछ की, प्रसव गृह तथा कुपोषण केंद्र का निरीक्षण किया, मरीजों से भी मिलकर अस्पताल प्रबंधन द्वारा प्रदत्त सेवाओं का जायजा लिया मगर अपने कार्यकाल में पहली बार पथरगामा अस्पताल पहुंची उपायुक्त बहुत सारे विषयों को जाने बिना ही वापस लौट गईं।

प्राप्त सूचना के अनुसार गुरुवार को उपयुक्त ने पथरगामा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का औचक निरिक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने चिकित्सकों एवं एएनएम के ड्यूटी चार्ट को देखा, सबके उपस्थिति की जांच की।

Read More: रांची : झारखंड के दो स्वास्थ्य संस्थानों को कायाकल्प सम्मान

अस्पताल में है बहुत सारी खामियां

सरकार के लाख प्रयास के बावजूद पथरगामा अस्पताल की वर्तमान स्थिति बहुत बेहतर नहीं कही जा सकती, अस्पताल परिसर में साफ-सफाई का घनघोर अभाव रहता है, निर्धारित कर्मी रोजाना समय पर नहीं आते हैं।

विशेष कर रात्रि पहर में कर्मियों की मनमानी की शिकायत अक्सर सामने आती है, वहीं 2 सरकारी एम्बुलेंस खराब पड़े हुए हैं। जिस कारण मरीजों को लाने-ले जाने में अक्सर परेशानी होती है।

वहीं अस्पतालकर्मियों के लिए बनाया गया आवासीय भवन लगभग जर्जर स्थिति में है। जिस कारण दुर्घटना की संभावना अक्सर बनी रहती है। वहीं अस्पताल परिसर में मच्छरों का प्रकोप बराबर रहता है तथा मरीजों के साथ आए परिजनों के बैठने-उठने की उचित व्यवस्था का भारी अभाव है।

पथरगामा अस्पताल की तस्वीर क्या कहती है?

अस्पताल परिसर के अंदर जगह-जगह गन्दगी रहती है, प्रसव गृह और महिला वार्ड के बाहर भी कूड़ा-कचरा पसरा रहता है, शौचालय में भी बराबर गन्दगी रहती है।

अस्पतालकर्मियों की उपस्थिति की बात करें तो रात्रि शिफ्ट में काम करने वाली एएनएम समय पर नहीं आती है। एम्बुलेंस सेवा को देखा जाए तो अस्पताल में एक 108 और 5 ममता वाहन हैं जबकि 2 एम्बुलेंस खराब पड़ा हुआ है। अस्पताल में कई भवन जैसे वैक्सिन रखने वाला भवन, कार्यालय, ओपीडी कक्ष, अस्पतालकर्मियों के लिए बनाया गया क्वार्टर भी काफी जर्जर स्थिति में पड़ा हुआ है।

नालियों की गन्दगी के कारण मच्छरों का भी भारी प्रकोप है। जिस कारण मरीज सहित अस्पताल कर्मियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

जमशेदपुर : शहर को अव्वल बनाने में लोगों के साथ आला अधिकारियों ने दिया जोर

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 4:55 PM
newscode-image

स्लम एरिया में की गई साफ-सफाई

जमशेदपुर। पीएम मोदी के आह्रवान पर देश भर में मनाए जा रहे स्वच्छता पखवाड़ा के तहत सफाई अभियान में जमशेदपुर को अवल्ल बनाने को लेकर जिला प्रशासन ने सघन अभियान चला रखा है। जिसकी कमान खुद अमित कुमार ने संभाल रखी है।

उपायुक्त स्वयं स्थानीय बस्तीवासियों को साथ लेकर स्लम एरिया में लोगों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता पैदा करने में लगे है, ताकि स्वच्छता में शहर को अव्वल बनाया जा सके।

यह तस्वीर है लौहनगरी जमशेदपुर के स्लम क्षेत्र वाला इलाका छाया नगर और चंडीनगर का। कचरे का ढेर यहां की बस्तियों से गुजरने वाली सड़कें और गली-मुहल्लों में सहज ही देखी जा सकती है। यही वजह है कि स्वच्छता पखवाड़े को लेकर जिला उपायुक्त ने बस्तीवासियों के सहयोग से बृहद पैमाने पर अभियान चलाया।

दुमका : स्वछता ही सेवा है अभियान में उतरे मंत्री समेत पदाधिकारी

उपायुक्‍त अमित कुमा ने अपील की है कि एक ऐसा शहर बनाना जहां गंदगी का नामो निशान न हो, लोग स्वस्थ रहे, साफ-सफाई को, अपने दिनचर्या में अपने शहर को रोल मॉडल बनाने में योगदान दें।

ऐसे में स्वच्छता को लेकर चलाये जा रहे अभियान में जिले के आला अधिकारियों द्वारा पहल किये जाने से स्थानीय बस्तीवासियों में भी स्वच्छता के प्रति जुनून देखा गया।

यहां के लोग कहते है कि सरकार और उनके मातहत अधिकारियों द्वारा साफ-सफाई को लेकर किये जा रहे कार्य से उन्हें स्वच्छता के प्रति प्रेरणा मिली है। साफ-सफाई से गंभीर बीमारियों से छुटकारा मिल सकेगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

बेरमो : हिन्दू परिवार दे रहे भाईचारा का सन्देश, 150 वर्षो से मना रहा मुहर्रम

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 5:19 PM
newscode-image

बेरमो(बोकारो)। आस्था और विश्वास के आगे सभी हो जाते हैं नतमस्तक, ऐसा ही देखने को हिन्दू परिवार मेँ मिला रहा है। नावाडीह प्रखंड के बरई गांव के एक हिन्दू जमींदार परिवार है, जहाँ पर एक भी घर मुस्लिम का नहीं होने के बावजूद बीते 150 वर्षों से प्रतिवर्ष उक्त हिन्दू जमींदार के वंशजों द्वारा मुस्लिम समुदाय का त्योहार मुहर्रम मनाया जाता है।

यहां तक कि इसके लिए अखाड़ा निकालने हेतु उस परिवार को प्रशासन से लाइसेंस भी प्राप्त है।जमींदार के वशंज सह लाइसेंस धारी सहदेव प्रसाद सहित उनके परिवार यह त्यौहार पिछले पांच पीढ़ी से निरंतर मनाते आ रहे है। सहदेव प्रसाद के अनुसार इनके पूर्वज स्व. पंडित महतो, घुड़सवारी व तलवारबाजी के शौकीन थे और बरई के जमींदार भी।

बोकारो : धूम-धाम से मनाया गया करमा पूजा

जबकि निकट के बारीडीह के गंझू जाति के जमींदार के बीच सीमा को लेकर विवाद हुआ था। यह मामला गिरीडीह न्यायालय में कई वर्षों तक मुकदमा चला। मामले में स्व. महतो को फांसी की सजा मुकर्रर कर दी गई थी। फांसी दिए जाने वाला दिन मुहर्रम था और महतो से जब अंतिम इच्छा पूछा गया तो उन्होंने श्रद्वापूर्वक गिरीडीह के मुजावर से मिलने की बात कहीं और उन्हें तत्काल मुजावर से उन्हें मिलाया गया।

जहाँ मुजावर से उन्होंने शीरनी फातिहा कराई। जिसके बाद स्व. महतो को ज्योंही फांसी के तख्ते पर लटकाया गया, लगातार तीनों बार फांसी का फंदा खुल गया और अंततः उन्हें सजा से मुक्त कर दिया गया। न्यायालय से बरी होते ही नावाडीह के खरपीटो गांव पहुंचे और ढोल ढाक के साथ सहरिया गए।

बोकारो : गेल इंडिया ने रैयतों को दिया जमीन का मुआवजा

सहरिया के मुजावर को लेकर बरई आए और स्थानीय बरगद पेड़ के समीप इमामबाड़ा की स्थापना कर मुहर्रम करने की परंपरा की शुरुआत की, जो आज तक जारी है। लोगों ने बताया कि यहां लंबे समय तक सहरिया के, फिर पलामू दर्जी मौहल्ला के मुजावर असगर अंसारी तथा फिलहाल लहिया के मुजावर इबरास खान द्वारा यहां शीरनी फातिहा की जा रही है ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

गुमला : कश्यप मुनि की जयंती धूमधाम से मनाई गई

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 5:08 PM
newscode-image

गुमला। झारखंड के राजकीय पर्व करमा के अवसर पर केशरवानी वैश्य समाज के तत्वावधान में डीएसपी रोड स्थित बजरंग केशरी के आवास में गोत्राचार्य कश्यप मुनि की जयंती धूमधाम से मनाई गई।

कार्यक्रम की शुरुआत गोत्राचार्य कश्यप मुनि के चित्र पर माल्यार्पण कर के किया गया। मौके पर झारखंड प्रदेश केशरवानी वैश्य सभा के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रो. प्रेम प्रसाद केशरी ने गोत्र गुरु कश्यप मुनि की उत्पत्ति से लेकर उनके जीवनी के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

इन्होंने कहा कि गोत्राचार्य कश्यप ऋषि के आशीर्वाद से ही केशरवनियों का सर्वागिण विकास हो रहा है एवं होता रहेगा। महर्षि कश्यप की प्रत्येक घर में पूजा अर्चना होनी चाहिए।

पाकुड़ : वन कर्मियों ने पौधा लगाकर करम महोत्‍सव मनाया

संरक्षक हरिओम लाल केशरी, बजरंग केशरी,रमेश केशरी दुर्गा केशरी ,राधा कृष्ण प्रसाद केशरी ने भी अपने विचार रखे। इस अवसर पर प्रदेश महिला सभा की मंजू केशरी ने भी अपना विचार रखा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

लोहरदगा : करमा पूजा धूमधाम से संपन्‍न, सुखदेव भगत ने...

more-story-image

रांची : 11 लाख शेष बचे परिवारों को भी स्वास्थ्य...