गोड्डा : ग्राहक ने पतंजलि के ‘हल्दी-चंदन कांति’ साबुन की मीडिया के समक्ष की शिकायत

NewsCode Jharkhand | 2 June, 2018 8:51 PM
newscode-image

गोड्डा। पतंजलि का हल्दी-चंदन कांति साबुन साल भर में भी खराब हो गया, ताजा मामला झारखंड प्रदेश के गोड्डा जिले की है। बताया जा रहा है कि गोड्डा महिला कॉलेज के नजदीक स्थित पतंजलि की दुकान से खरीदी गई 25 रुपये की 150 ग्राम वाली साबुन साल भर में ही  खराब हो गया।

हल्दी-चंदन युक्त साबुन खरीद कर लाए खरीददार ने मीडिया को बताया कि पिछले 15 दिन पहले उन्होंने यह साबुन खरीदा था, शनिवार को जब इस्तेमाल के लिए साबुन निकाला तो साबुन पर हल्का लाल-पीले रंग का काई जमा हुआ नजर आया। किसी तरह का रिएक्शन न हो जाए इसलिए उन्होंने साबुन का इस्तेमाल नहीं किया।

निरसा : अवैध कोयला खनन से चाल धंसी, दो महिला घायल

साबुन के रैपर पर उत्पादन की तिथि 03/17 अंकित है। मतलब साबुन मार्च 2017 का बना हुआ है साथ ही बैच नम्बर CJ051 अंकित है, दिलचस्प बात यह है कि साबुन के रैपर पर 24 महीने पहले तक इस्तेमाल करने का दावा किया गया मगर साबुन 1 साल 2 महीने में ही खराब हो गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

सरायकेला : खतरनाक कीटों का हमला, दहशत में लोग

NewsCode Jharkhand | 12 November, 2018 3:28 PM
newscode-image

सरायकेला। सरायकेला/खरसावां जिले के आदित्यपुर नगर निगम क्षेत्र के वार्ड संख्या 34 में इन दिनों खतरनाक कीटों का हमला हुआ है। जहां लगभग 25 घरों के लोग पिछले एक सप्ताह से इन कीटों के हमले का शिकार हो रहे हैं।

वहीं इन कीटों का हमला इतना जहरीला है कि लोगों का शरीर खुजली से भर गया है। खासकर बच्चों का बुरा हाल है। बच्चों के अभिभावक उन्हें घरों से निकलने नहीं दे रहे। इधर स्थानीय लोग अस्थायी तौर पर सर्फ पानी का छिड़काव करा रहे हैं, लेकिन लगातार इन कीटों का हमला जारी है।

लोगों को समझ में नहीं आ रहा है कि इन कीटों के हमले से कैसे बचा जाए। इधर इस वार्ड के छठ व्रतियों का भी बुरा हाल है। इन्हें अपने बच्चों की चिंता सताए जा रही है।

आलम ये है कि ये खतरनाक कीड़े घरों और बिस्तरों पर भी पहुंच जा रहे हैं। वहीं स्वास्थ्य विभाग को इसकी जानकारी मिलते ही स्वास्थ्यकर्मी वार्ड का निरिक्षण करने पहुंचे और इन कीड़ों के हमले से प्रभावित लोगों का हाल जाना।

स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि ये कीट काफी खतरनाक होते हैं, और इसके लिए जिम्मेवार मूनगे यानि सहजन के पेड़ होते हैं। वैसे स्वास्थ्य विभाग की ओर से लोगों को अपने घरों से इसके पेड़ काटने का निर्देश जारी किया गया है, साथ ही वरीय अधिकारियों को सूचना देने की बातें भी कहीं गई है।

अचानक से इन कीटों के हमलों ने स्वास्थ्य विभाग की भी नींद हराम कर दी है। एक तरफ प्रशासनिक महकमा छठ पर्व को शांति पूर्वक संपन्न कराने में जुटा हुआ है, दूसरी तरफ वार्ड 34 के लोग दहशत के साए में छठ मनाने को विवश हैं।

जल्द ही इन कीटों के आतंक का स्थायी समाधान नहीं निकाला गया, तो पूरे वार्ड में इन कीटों का आतंक फैल जाएगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : झारखंड स्थापना दिवस की धूम, कई कार्यक्रमों का आयोजन

NewsCode Jharkhand | 15 November, 2018 12:33 PM
newscode-image

रांची। झारखंड राज्य का अठारहवां स्थापना दिवस गुरुवार को मनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड के लोगों को राज्य के स्थापना दिवस पर शुभकामनाएं दी है। राज्य स्थापना दिवस पर राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में दोपहर से आयोजित होने वाले मुख्य समारोह में सरकार की ओर से कई घोषणायें की जाएंगी।

इसके तहत झारखंड को खुले में शौच से मुक्त होने का ऐलान किया जाएगा, वहीं देवघर, हजारीबाग और लोहरदगा जिले को भी पूर्ण विद्युतीकृत जिला का दर्जा मिलेगा। इस मौके पर लगभग ग्यारह सौ करोड़ रूपये की विभिन्न योजनाओं का उदघाटन और शिलान्यास भी होगा।

समारोह में करीब 2100 को नियुक्ति पत्र सौंपें जाएंगे और विभिन्न क्षेत्रों में अहम योगदान करनेवाले करीब दस लोगों को सम्मानित भी किया जाएगा। कार्यक्रम में विभिन्न सखी मंडलों और लाभुकों के बीच लगभग दो हजार करोड़ रूपये की परिसंपत्तियों का भी वितरण होगा।

इसके अलावा कृषि पखवाड़ा का भी शुभारंभ होगा। समारोह में लोगों के मनोरंजन के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किये जाएंगे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

पलामू : अर्घ्य देने के लिए नहाने के क्रम में पानी में डूबने से अधेड़ की मौत

NewsCode Jharkhand | 14 November, 2018 8:24 PM
newscode-image

पलामू। लेस्लीगंज तालाब में छठ पर्व पर अर्ध्य देने के लिए नहाने के दौरान डूबने से अधेड़ की मौत हो गयी। तीन से चार घंटे की मशक्कत के बाद तालाब से शव बाहर निकाला जा सका। शव की पहचान लेस्लीगंज निवासी कुंज बिहारी भुइयां (58वर्ष) के रूप में हुई है।

कुंज बिहारी भुइयां की पत्नी छठ व्रत की थी। सुबह करीब पांच बजे उदीयमान सूर्य के अर्ध्य लेने के लिए कुंज बिहारी तालाब में नहा रहा था। तालाब में इस पार से उस पार जाने के क्रम में कुंजबिहारी पानी की गहराई में समा गया। काफी देर तक जब उसका कुछ अता-पता नहीं चला तो उसकी खोजबीन शुरू की गयी। पूर्वाहन में उसका शव तालाब से बरामद किया जा सका।

कल तक छठ व्रत पर खुशी-खुशी भगवान सूर्य को अर्ध्य देने की तैयार में जुटा कुंजबिहारी के परिवार के सदस्यों को उसकी मौत की सूचना जैसे ही मिली, उनके बीच चीख-पुकार मच गयी। पत्नी और बच्चे दहाड़ मारकर रोने लगे।

सूचना मिलने पर लेस्लीगंज बीडीओ विजय प्रकाश मरांडी और थाना प्रभारी वीरेन मिंज मौके पर पहुंचे। बाद में गोताखोरों को बुलाकर तालाब में छानबीन की गयी। शव मिलने के बाद पुलिस ने उसे कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में कराया। कुंजबिहारी भुईयां के तीन लड़के व दो लड़कियां हैं, सभी शादीशुदा हैं।

मौके पर भाजपा नेता अमित उपाध्याय, लेस्लीगंज मुखिया धर्मेंद्र सोनी, कोट पंचायत मुखिया संतोष मिश्रा, तारकेश्वर पासवान सहित कई लोगों ने शव को निकलवाने में पहल की।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

कहीं समारोह तक ही सीमित न रह जाये स्थापना दिवस-...

more-story-image

रांची : युवा झारखंड प्रगति के पथ पर तेजी से...

X

अपना जिला चुने