गिरिडीह : हत्यारे को फांसी की मांग को लेकर छात्र संघ ने किया पैदल मार्च

NewsCode Jharkhand | 7 April, 2018 9:12 PM

गिरिडीह : हत्यारे को फांसी की मांग को लेकर छात्र संघ ने किया पैदल मार्च

खोरीमहुआ(गिरिडीह)। अनुमण्डल क्षेत्र के परसन ग्राम में पिछले दिनों चार वर्षीय मासूम बच्ची के साथ हैवानियत के बाद निर्मम हत्या की घटना के बाद दोषियों को कड़ी-से-कड़ी सजा दिलाने की मांग को लेकर विभिन्न संगठनों निरंतर विरोध प्रदर्शन जारी है। इसी कड़ी के तहत शनिवार को धनवार प्रखण्ड मुख्यालय से खोरीमहुआ तक छात्र यूनियन संघ के बैनर तले पैदल मार्च करते हुए, लोगों ने हत्यारे को फांसी दो के नारे लगाए।

पैदल मार्च में कांग्रेस पार्टी की केंद्रीय सदस्या सह जिला महामंत्री डॉ. मंजू कुमारी ने भी छात्र यूनियन संघ को अपना समर्थन देते हुए, धनवार से खोरीमहुआ तक 05 किलोमीटर की दूरी पैदल मार्च की और आंदोलन का समर्थन किया और हत्यारे को फांसी देने की मांग की।

बुंडू : तमाड़ थानेदार विमल की दबंगई, युवक की बेरहमी से की पिटाई

इस दौरान डॉ मंजू ने कहा कि देश फिलहाल नाजुक दौर से गुजर रहा है। चार वर्ष की मासूम के साथ बेरहमी से दुष्कर्म करने के बाद हत्या कर दी जाती है और सरकार मुकदर्शक बन देखती रहती है। इस हत्या कांड से जुड़े मामले में भाजपा के एक भी विधायक, सांसद या मंत्री ने सरकार की ओर से संवेदना तक व्यक्त नही की और ना ही इस हत्या कांड के दोषी को तुरंत सजा दिलवाने की पहल की है।

आम जनता असुरक्षित महसूस कर रही है। प्रदेश की सरकार राजनीतिक रोटी सेकने में लगी हुई है। अगर देश की स्थिति इस तरह से चलती रही तो कानून और सरकार पर से लोगों का विश्वास उठ जाएगा। हम न्यायपालिका से अविलम्ब हत्यारे को फांसी देने की मांग करते है। इस दौरान छात्र संघ के सचिव अजहर उद्दीन, उपसचिव सोहेल अंसारी, विक्रम कुमार, सामाजिक कार्यकर्ता निरुला सिद्धकी, असगर अली सहित आदर्श विद्यालय के सैकड़ों बच्चे शामिल थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बुंडू : समान काम का समान वेतन को लेकर पारा शिक्षकों ने चिलचिलाती धूप में निकाला न्याय यात्रा

NewsCode Jharkhand | 21 April, 2018 9:32 PM

बुंडू : समान काम का समान वेतन को लेकर पारा शिक्षकों ने चिलचिलाती धूप में निकाला न्याय यात्रा

23 अप्रैल को करेंगे मुख्यमंत्री आवास का घेराव

बुंडू। बच्चों के भविष्य बनाने वाले गुरु यानी पारा शिक्षक शनिवार को अपने हक और अधिकार के लिए आर-पार की लड़ाई सरकार से छेड़ चुकी है। शनिवार को लिचिलाती धूप में 200 से अधिक की संख्या में पैदल ही शिक्षकगण टाटा-राँची मार्ग होते हुए बुंडू पहुँचे और बुंडू के धुर्वा मोड़ स्थित आदमकद प्रतिमा भगवान बिरसा मुंडा की मुर्ति पर माला अर्पित किया। इस दौरान इनके समर्थन में बुंडू प्रमुख प्रमेशवारी साण्डील, बुंडू नगर उपाध्यक्ष सुनील जायसवाल और समाज सेवक रामदुर्लभ सिंह मुंडा आए। पारा शिक्षक और शिक्षिकाओं ने सरकार के खिलाफ नारे भी लगा रहे थे।

बुंडू : सड़क दुर्घटना में युवक की मौत, दो की हालत गंभीर

शिक्षकों का कहना है कि 17 मार्च  से जमशेदपुर कोल्हान प्रमंडल क्षेत्र से इसकी पद यात्रा शुभारंभ की गयी है। पैदल यात्रा के माध्यम से राँची मुख्यमंत्री आवास जा रहे है। 23 को सरकार का घेराव करेंगे। जानकारी हो कि इनकी माँगे समान काम का समान वेतन और स्थायीकरण मूल मुद्दा है। सभी शिक्षकक आज बुंडू में ठहरेंगे, कल 22 अप्रैल को यहां से रवाना होंगे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

जामताड़ा : समान काम के लिए हो समान वेतन लागू- पारा शिक्षक

पारा शिक्षकों ने सीएम आवास घेराव तैयारी को लेकर किया बैठक

NewsCode Jharkhand | 21 April, 2018 9:21 PM

जामताड़ा : समान काम के लिए हो समान वेतन लागू- पारा शिक्षक

जामताड़ा। आगामी 23 अप्रैल से प्रस्तावित मुख्यमंत्री आवास घेराबंदी कार्यक्रम की तैयारी को ले शनिवार को स्थानीय गांधी मैदान में एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा जिला कमेटी की बैठक निलाम्बर मंडल की अध्यक्षता में हुई। मौजूद पारा शिक्षकों ने शिक्षा सचिव द्वारा दिए गए बयान की पारा शिक्षकों की मांग नाजायज है का निंदा किया। साथ ही शिक्षा सचिव के निंदनीय बयान का प्रस्ताव पारित किया गया।

मौके पर चर्चा किया गया कि समान काम के लिए समान वेतन लागू करने व विद्यालय विलय प्रक्रिया पर विराम लगाने आदि मांग को ले आगामी 23 अप्रैल से मुख्यमंत्री आवास घेराव कार्यक्रम की तैयारी के बारे में निर्णय लिया गया।

मौके पर मोर्चा के सुमन सिंह एव सुभाष मिर्धा ने पारा शिक्षकों से अवगत कराया कि मुख्यमंत्री आवास घेराव कार्यक्रम अनिश्चितकालीन है। जामताड़ा जिले के पारा शिक्षकों को 29 अप्रैल से घेराव कार्यक्रम में मुस्तैद रहना है। घेराव कार्यक्रम में अधिक से अधिक संख्या में पारा शिक्षकों की भागीदारी सुनिश्चित हो इसके लिए सभी प्रखंड में बैठक कर तैयारी पूर्ण करें।

निलाम्बर मंडल ने कहा जब तक पारा शिक्षकों की मांग नहीं मानी जाती है तब तक आंदोलन जारी रहेगी। साथ ही जिले में विगत चार माह से बकाया मानदेय नही मिला है, जिसे अतिशीघ्र विभाग से भुगतान करने की मांग की गई। सुभाष मिर्धा, रविंद्र सिंह ने भी मुख्यमंत्री आवास घेराव कार्यक्रम को प्रभावी बनाने के लिए पारा शिक्षकों को प्रेरित किया।

रांची : राज्‍यभर से जुटे पारा शिक्षकों का प्रदर्शन, राज्‍य सरकार के खिलाफ नारेबाजी

बैठक में सुरेश मंडल, नारायण भंडारी, मिहिर साधु, विकाश चंद्र मंडल, परमानंद भंडारी, कार्तिक बाउरी, शब्बीर अंसारी, रवि किशोर, शमीम अंसारी, अतिश्वर सोरेन, विनोद हंसदा, अरविन्द वर्मा, महताब अंसारी, गोविन्द मंडल, मनोज मंडल, लखिकान्त, छोटेलाल मंडल, भरत स्वर्णकार, कंचन कुमार, दिलीप झा आदि पारा शिक्षक मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बेरमो : अनशनकारियों से मिले विधायक, कहा विस्थापितों की मांगें जायज

NewsCode Jharkhand | 21 April, 2018 9:19 PM

बेरमो : अनशनकारियों से मिले विधायक, कहा विस्थापितों की मांगें जायज

बेरमो(बोकारो)। बोकारो थर्मल डीवीसी प्लांट में विस्थापितों द्वारा 18 अप्रैल से किये जा रहे आमरण अनशन व आत्मदाह आंदोलन के समर्थन में शुक्रवार को रात्रि बेरमो विधायक योगेश्वर महतो बाटुल अनशन  स्थल पहुंचे और अनशनकारियों से मुलाकात किये।

इसके अलावे डीवीसी अस्पताल पहुंच कर इलाज करवा रहे एक अनशनकारियों मो. कुर्बान से भी भेंट किये। विधायक ने कहा कि वे अनशनकारियों के साथ है। साथ ही डीवीसी प्रबंधन और प्रसाशन से विस्थापितों के मांगो को मान कर प्लांट में नियोजन देने की बात कही।

हजारीबाग : आदिवासियों के आदि धर्म सरना धर्म के प्रार्थना सभा में शामिल हुए सदर विधायक

इसके अलावे विधायक  ने  बेरमो एसडीएम प्रेम रंजन  से दूरभाष पर बात की। शानिवार को तेनुघाट अतिथि गृह में डीवीसी प्रबंधन एवं प्रशासन की त्रिपक्षीय समझौता वार्ता करवाने की सहमति हुई। इस अवसर पर विस्थापित कमिटी के केंद्रीय अध्यक्ष दीनेश्‍वर मंडल, करीम अंसारी, जितेंद्र यादव, मो इम्तियाज़ आदि उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

© Copyright 2017 NewsCode - All Rights Reserved.