गिरिडीह: शहरी आजीविका मिशन के तहत नगर पर्षद लगायेगा रोजगार मेला

NewsCode Jharkhand | 6 September, 2017 6:52 PM
newscode-image

गिरिडीह। शहरी आजीविका मिशन के तहत नगर पर्षद गिरिडीह में एक बैठक का आयोजन किया गया। यहां इस बैठक में नगर पर्षद अध्यक्ष दिनेश प्रसाद यादव, उपाध्यक्ष राकेश मोदी, राकेश कुमार, अजित कुमार, प्रमोद कुमार, तनूजा सहाय समेत विभिन्न वार्डो के पार्षद मौजूद थे।

बैठक के बाबत नगर पर्षद अध्यक्ष दिनेश प्रसाद यादव ने बताया कि शहरी आजीविका मिशन के तहत प्रशिक्षण प्राप्त प्रशिक्षणार्थियों को रोजगार मुहैया कराने के लिए आगामी 13 सितम्बर को नगर पर्षद परिसर में रोजगार मेले का आयोजन किया जायेगा।

जिसमें 2014 से लेकर 2017 तक में प्रशिक्षण प्राप्त कर सर्टिफिकेट पाये युवक-युवतियों को इस मेले में रोजगार उपलब्ध कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस मेले में बहुत सारी छोटी बड़ी कम्पनियां शामिल हो रही हैं, जिसके जरिये सभी का प्लेसमेंट कराया जायेगा।

रांची : केंद्र को भेजी गयी सूखे की रिपोर्ट, 18 जिलों के 129 प्रखंडों में सुखाड़ की स्थिति

NewsCode Jharkhand | 18 November, 2018 1:10 PM
newscode-image

रांची। झारखंड के 24 में से 18 जिलों में उत्पन्न सुखाड़ की स्थिति को लेकर रविवार को आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से केंद्र सरकार को को रिपोर्ट भेज दी है। रिपोर्ट में 19 जिलों के 129 प्रखंडों को सूखा प्रभावित क्षेत्र केरूप में चिह्नित करते हुए तत्काल सहायता की मांग की गयी है।

आपदा प्रबंधन विभाग की रिपोर्ट के बाद केंद्रीय टीम जांच के लिए झारखंड आएगी और इस टीम के अनुशंसा के आधार पर ही केंद्रीय सहायता की घोषणा की जाएगी। कृषि वैज्ञानिक आरएस शर्मा ने बताया कि ओडिशा की सीमा से सटे पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम, सिमेगा, गुमला और हजारीबाग समेत राज्य के सात जिले को छोड़ कर शेष 18 जिलों में सामान्य से कम बारिश हुई, पूरे झारखंड में इस बार औसत से 28फीसदी कम बारिश हुई। सबसे खराब स्थिति पाकुड़, कोडरमा, पलामू, लातेहार और गढ़वा जिले की है, जहां धान की रोपनी भी सामान्य से काफी कम हुई थी।

आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा जिलों के उपायुक्तों की रिपोर्ट और कृषि विभाग से प्राप्त आंकड़ों के आधार पर 18 जिलों के 129 प्रखंडों को सूखाग्रस्त घोषित करने की तैयारी की है।

बताया गया है कि इन जिलों में कम बारिश से फसलों को काफी नुकसान हुआ है। इस साल 15.27 लाख हेक्टेयर में धान की खेती हुई थी, लेकिन जून से सितंबर तक अधिकांश क्षेत्रों में अल्पवृष्टि के कारण 40 फीसदी फसल बर्बाद हो गई।

गढ़वा-पलामू जैसे जिलों में लगातार चार वर्ष से लोग सूखे की मार झेल रहे है, लेकिन इस बार अल्पवृष्टि ने न सिर्फ फसलों को नुकसान पहुंचाया है, वहीं इलाके में पेयजल संकट भी उत्पन्न हो गया है।

साहेबगंज जिले में सुखाड़ की मार झेल रहे किसान अब सरकार की ओर टकटकी लगाए हैं।किसानों ने अपने अपने खेतों में धान की बुआई की थी। धान की फसल भी लहलहा उठी थी, लेकिन  इसी बीच मानसून दगा दे गया ऐसे में किसानों की झोली खाली रह गई ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : अपराध पर अंकुश लगाने में महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका- मुख्यमंत्री

NewsCode Jharkhand | 19 November, 2018 1:08 PM
newscode-image

दो दिवसीय राष्ट्रीय महिला पुलिस सम्मेलन

रांची। झारखंड की राजधानी रांची में सोमवार को दो दिवसीय राष्ट्रीय महिला पुलिस सम्मेलन का शुभारंभ हुआ। सम्मेलन का उदघाटन मुख्यमंत्री रघुवर दास ने किया। जबकि समापन समारोह में राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू शामिल होंगी।

झारखंड पुलिस और राष्ट्रीय अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो के संयुक्त तत्वावधान में रांची के धुर्वा स्थित न्यायिक अकादमी स्थित डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम ऑडिरियम में आयोजित 8वीं राष्ट्रीय महिला पुलिस सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अपराध पर अंकुश लगाने में महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज 19नवंबर के दिन इस सम्मेलन का उदघाटन होना और भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि 19नवंबर को ही महिला शक्ति को पूरी दुनिया में स्थापित करने वाली पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और स्वतंत्रता की लड़ाई में अग्रणी भूमिका निभाने वाली रानी लक्ष्मीबाई की जयंती के रूप में मनाया जाता है।

उन्होंने कहा कि महिलाएं कैसे सशक्त बने और अपराध पर अंकुश के लिए चिंतनन-मनन जरूरी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत ही दुनिया में एकमात्र ऐसा देश है, जहां नारी शक्ति की पूजा-अर्चना की जाती है, सबसे खतरनाक जीव सिंह और बाघ को माना जाता है, लेकिन इस पर सवार हो कर मां दुर्गा और मां काली ही आती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी समाज और राष्ट्र में महिला शक्ति को और अधिक सुदृढ़ करने के लिए करने का काम किया है। झारखंड की बेटी और तीरंदाज दीपिका, पर्वतारोही प्रेमलता समेत अन्य मातृ शक्ति ने झारखंड और भारत का नाम  पूरी दुनिया में रौशन किया है।

प्रधानमंत्री ने भी मातृ शक्ति पर विश्वास करते हुए देश की सुरक्षा और विदेश मामलों का प्रभार महिलाओं के हाथों सौंपा है। रघुवर दास ने कहा कि राज्य सरकार ने भी झारखंड पुलिस में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था की है और महिला पुलिस अधिकारियों-कर्मियों के लिए आधारभूत संरचना उपलब्ध कराने के लिए कई कदम उठाये हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि परिवार में भी महिलाओं की भूमिका केंद्र बिन्दु में होती है, समाज में भी महिलाओं की भूमिका अहम है,ऐसा नहीं होने पर पूरी व्यवस्था छिन्न-भिन्न हो जाएगी। उन्होंने वर्तमान परिस्थिति में अपराध का स्वरूप भी बदा है, साइबर अपराध पर अंकुश लगाने के लिए प्रशिक्षण जरूरी है, अन्य अपराध भी चुनौतीपूर्ण है, इसके लिए प्रशिक्षण की जरूरत है।

इस सम्मेलन में देशभर की 149 प्रतिभागी शामिल हो रही है, जिनमें सिपाही से लेकर पुलिस महानिदेशक स्तर की महिला पुलिस पदाधिकारी भी हो रही है। सम्मेलन  में यौन उत्पीड़न, आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल, सेंट्रल पारा मिलिट्री फोर्स में महिलाओं की समस्या सेफ सिटी बनाने में महिला पुलिसकर्मियों की भूमिका और योगदान पर चर्चा की जा रही है।

सम्मेलन का उद्देश्य पुलिस के समक्ष नई चुनौतियों के बीच सशक्त कार्य स्थल तथा अनुकूल कार्य वातावरण, स्मार्ट सिटी, सेफ सिटी और कम्युनिटी पुलिसिंग पर चर्चा हो रही है। प्रथम राष्ट्रीय महिला पुलिस सम्मेलन की सफलता से उत्प्रेरित होकर राष्ट्रीय अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो द्वारा देश के विभिन्न हिस्सों में इससे पहले सात सम्मेलनों का आयोजन सफलतापूर्वक किया जा चुका है।

वक्ताओं ने बताया कि राष्ट्रीय महिला पुलिस सम्मेलन राष्ट्रीय अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा आयेजित राष्ट्रीय स्तर पर एकमात्र ऐसा मंच है, जो वर्दीधारी महिलाओं के मुद्दों से संबद्ध है तथा उनके पेशेवर क्षमता को महत्तम और अनुकूल बनाने के लिए एक सक्रिय वातावरण उपलब्ध कराता है।

सम्मेलन में राजस्थान से 7, एसवीपी अकादमी हैदराबाद से 5, मेघालय से 4, आरपीएफ से 7, नेपा मेघालय से 2, मणिपुर से 2, प. बंगाल से 8, उत्तराखंड से 6, आईटीबीपी से 3, आईटीबीपी अकादमी से 5, सीआईएसएस से 3, केरल से 4, बीएसएफ से 6, एनडीआरएफ से 1, असम से 5, हरियाणा से 3, गुजरात से 5, तेलंगाना से 1, एसएसबी से 4, कर्नाटक से 11, तमिलाडु से 6, उत्तर प्रदेश से 2, त्रिपुरा, अगरतल्ला से 1, एनडीआरएफ से 3, एनएसजी से 1, असम राइफल से 6, महाराष्ट्र से 5, पंजाब से 6, ओड़िशा से 6 प्रतिभागी हिस्सा ले रहे है। जबकि वक्ताओं में अध्यक्ष रेखा शर्मा, न्यायमूर्ति ज्ञान सुधा मिश्रा, महानिदेशक डॉ. एपी महेश्वरी समेत अन्य विशेषज्ञ शामिल है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

लाठी डंडे और भय दिखा कर सत्ता पर बने रहना चाहती है  भाजपा

Om Prakash | 18 November, 2018 6:45 PM
newscode-image

रांची :  महानगर कांग्रेस कमिटी ओबीसी विभाग के द्वारा किशोरगंज, बड़ा तालाब स्थित मोमिन हॉल, रांची में जनसमस्यओं को लेकर एक बैठक मुहल्ला समस्या निदान चैपाल आहूत की गई। बैठक में आमलोगों की जनसमस्याओं से अवगत होते हुए समाधान हेतु विचार-विमर्श किया गया। बैठक में कांग्रेस पार्टी नेता आदित्य विक्रम जयसवाल, पार्टी कार्यकर्तागण एवं मुहल्ला के समाजसेवी मुख्य रूप से उपस्थित थे।

बैठक में मुहल्ला वासियों ने बताया कि पानी सप्लाई समय पर नहीं होने से पेयजल की भारी किल्लत है, मुहल्ले में समुचित साफ सफाई नहीं होने से गंदगी का अम्बार है, सरकारी योजनाओं का लाभ सही लाभुक को नही मिल रहा है। भाजपा की सरकार में महंगाई चरम पर है, रोजगार की आशा में  मारें फिर रहे हैं।

इस मौके पर  जयसवाल ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार, राज्य के रघुवर की सरकार और भाजपा शासित रांची नगर निगम कभी अच्छी सोच के साथ गरीबों के उत्थान के लिएकार्य नही की है। भाजपा का जन आरोग्य योजना, मुद्रा लोन, जनधन योजना, स्वच्छ भारत योजना, मेक इन इंडिया सभी विफल साबित हुई है। भाजपा की सभी योजनाएं सिर्फ गरीब का परिवारों को लुभाने और ठगने का काम की है, यह भाजपा की सरकार बाहरी लोगों को लाभ पहुँचाती है और झारखंडियों की आवाज को लाठी डंडे के सहारे दबाना चाहती है। जो इनकी मंसूबे को जनता समझ चुकी है। आने वाले चुनाव में वोट देकर भाजपा को चोट पहुँचायगी। राजधानी के युवा साथी बदलाव की और अग्रसारित है।

प्रदेश कांग्रेस के योजना एवम रणनीति के सदस्य अमिताभ रंजन ने कहा कि भाजपा की नियत और नीति दोनों गरीबों के खराब है। लाठी डंडे और भय दिखा कर सत्ता पर बने रहना चाहती है, भाजपा का विकास खोखला है।

पुरानी रांची निवासी शमशेर ने कहा कि रोजगार के लिये नवयुवक दर दर भटक रहे हैं, महिला, बच्चें असुरक्षित महसूस कर रहे हैं, ब्यवसायिक वर्ग अपराधी के भय से जिय रहे हैं, राजधानी के लोग भय की साया में लिप्त हैं।

महानगर कांग्रेस नेता किशन अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी हमेशा गरीबों की उत्थान, दुख सुख की बात करती है , और अपनी राज्य लोकतांत्रिक तरीके से चलाने पर विश्वास करती है। कांग्रेस पार्टी ही राज्य का सही विकास करेगी, आंकड़े और दिखावे का काम सिर्फ भाजपा की झूठी सरकार करती है। कांग्रेस गरीबों के चेहरों पर भय नही मुस्कान भरने पर विश्वास करती है।

बैठक के अंत मोमिन हॉल में युवाओं के बीच क्रिकेट किट का वितरण किया गया था। श्री जायसवाल ने अपनी टीम के साथ मुहल्ला में पदयात्रा कर कांग्रेस की नीति और संदेश को जन जन को बताया और मोहल्ला की समस्या निदान का हर सम्भव मदद की आश्वाशन दिया।

बैठक की अध्यक्षता कांग्रेस ओ बी सी नेता नंद किशोर साहू  ने की तथा संचालन आसिफ जियाउल ने किया। वहीं धन्यवाद ज्ञापन अनिल सिंह ने की

इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से पुरानी रांची के सदर हाफिजुर रहमान ,नईम भाई ,रमजान अंसारी, शमशेर आलम, किशन अग्रवाल, अमिताभ रंजन, उमेश कुमार ,आसिफ जियाउल, तमन ,फैयाज, टीपू ,पिंटू ,इफ्तेखार ,आसिफ नंद किशोर साहू ,मेराज आलम, सदाब, अमरजीत सिंह, अनिल सिंह, चिंटू चौरसिया, प्रेम कुमार,रमजान, साद, फैयाज, रमीज, मिनटु, इफ्तिखार, मोकिम, बिक्की, तस्लीम, तमन्ना, सददाब, इसरार, मौसिन आदि उपस्थित थे।

 

 (अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

झारखण्ड प्रदेश चुनाव कमिटी की सदस्य गुंजन सिंह

more-story-image

लोहरदगा : अपने हजारों समर्थकों के साथ जेएमएम में शामिल...

X

अपना जिला चुने