गिरिडीह : 15 सूत्री मांगों को लेकर शिक्षक संघ का धरना, सीएम को सौंपा मांग पत्र

NewsCode Jharkhand | 25 November, 2017 4:28 PM

गिरिडीह : 15 सूत्री मांगों को लेकर शिक्षक संघ का धरना, सीएम को सौंपा मांग पत्र

गिरिडीह। अपनी 15 सूत्री मांगों के साथ अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ का चरणबद्ध आंदोलन जारी है। इस कड़ी में शनिवार को संघ से जुड़े शिक्षकों ने पुराना जेल परिसर स्थित कार्यालय के बाहर एक दिवसीय धरना दिया।

बताया जाता है कि इनकी कई मांगें वर्षो से लंबित है। लगातार मांग प्राप्ति की गुहार के बाबजूद कोई सुनवाई नहीं हुई तो यह चरणबद्ध आंदोलन किया जाएगा। इस आंदोलन के तहत पहले शिक्षकों ने गुरुगोष्ठियों में काला बिल्ला लगाकर काम संपादित किया। इसके बाद ये मोर्चाबंदी कर जिला शिक्षा अधिक्षक कार्यालय के बाहर धरना देकर जोरदार नारेबाजी की।

मौके पर संघ अध्यक्ष विनोद राम, महासचिव छोटूलाल मुर्मू, उपाध्यक्ष आसिफ अली, जितेंद्र प्रसाद, विनोद चौधरी, मानवेन्द्र रंजन, शिशिर वर्णवाल, जावेद शफी, प्रवीण कुमार, सलीम अंसारी, कृपा शंकर, अशोक कुमार, शिव वर्णवाल,राजेन्द्र दास समेत अन्य कई लोग मौजूद थे।

अपनी 15 सूत्री मांगों को अंकित कर एक मांग पत्र सूबे के मुख्यमंत्री को प्रेषित किया गया है। अगर मांगें पूरी नहीं हुई तो वे उग्र आंदोलन के रास्ते पर जाएंगे।

रांची : काम में बाधा डालने वाले हड़ताली बीएयू क‍र्मचारियों पर होगी कार्रवाई

NewsCode Jharkhand | 24 May, 2018 8:12 AM

रांची : काम में बाधा डालने वाले हड़ताली बीएयू क‍र्मचारियों पर होगी कार्रवाई

रांची। काम में बाधा डालने और नेतृत्‍व कर रहे बीएयू के हड़ताली कर्मचारियों पर कानूनी प्रावधानों के अधीन कार्रवाई होगी। बुधवार को हड़ताली कर्मचारियों ने पीबीजी और सोइल साइंस विभाग में भी जाकर काम को अवरुद्ध कराया।

विश्वविद्यालय प्रशासन ने इस घटना को गंभीरता से लिया है। देर शाम वरीय पदाधिकारियों ने बैठक की। घटना की समीक्षा की गयी। उसमें काम में व्यवधान डालने और नेतृत्व कर रहे हडतालकर्मियों पर कानूनी प्रावधानों के अधीन कारवाई करने का निर्णय लिया गया।

कुलपति डॉ. परविन्दर कौशल ने पुनः संघ के प्रतिनिधियों और कर्मचारियों से हड़ताल से वापस लौटने की अपील की। साथ ही ऐसी घटना की पुनरावृति नहीं करने की बात कही। कर्मचारी संघ सोमवार को हुई वार्ता और कुलपति के आग्रह को ठुकराकर हड़ताल को जारी रखे हुए है।

जमशेदपुर : एमजीएम के अस्थायी सफाई कर्मचारियों का प्रदर्शन, अनदेखी का आरोप

विवि प्रशासन के अनुसार करीब 550 कर्मचारियों में से 95 कर्मचारियों ने सोमवार और मंगलवार को अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। धरना स्थल पर कर्मचारियों की उपस्थिति 50-150 के करीब है।

बुधवार को कर्मचारियो के समूह ने अचानक बीएयू मुख्यालय, कृषि संकाय और वानिकी संकाय में जाकर प्रदर्शन किया। स्वेच्छा से काम कर रहे कर्मचारियों के कार्यो को भवनों के अंदर जाकर अवरुद्ध किया।

उन्हें डरा धमका कर कार्यालय से बाहर आने के लिये मजबूर किया। इसके फलस्वरूप दोपहर बाद उपस्थिति में कमी देखी गयी। इस प्रदर्शन के समय स्थानीय पुलिस और मजिस्ट्रेट भी मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Read Also

दुमका : एसकेसमयू का वेबसाइट बांग्लादेशी हैकर ने किया हैक

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 9:35 PM

दुमका : एसकेसमयू का वेबसाइट बांग्लादेशी हैकर ने किया हैक

दुमका। सिदो कान्हु मुर्मू विश्वविद्यालय का वेबसाइट हैक हो गया है। वेबसाइट हैक होने के कारण छात्र-छात्राओं का बुधवार को कई विषयों का परीक्षा फॉर्म भरने से वंचित हो गये। सिदो कान्हु मुर्मू विश्वविद्यालय का नया वेबसाइट हाल ही में बनवाया गया था।

जानकारी के अनुसार वेबसाइट बीती रात 11 बजे हैक हुई। वेबसाइट हैक होने की सूचना मिलने के बाद वेबसाइट को फिर से शुरु करने की पक्रिया विश्वविद्यालय प्रशासन ने प्रारंभ  कर दी है। बता दें कि विश्वविद्यालय के वेबसाइट(www.skmu.ac. in) को हैक किया गया है।

जामताड़ा : दो साइबर अपराधी गिरफ्तार, एक अनपढ़ तो दूसरा मैट्रिक फेल

विश्वविद्यालय के वेबसाइट हैक होने के बाद उस पर यह संदेश दिख रहा है कि बांग्लादेशी हैकरों ने वेबसाइट को हैक कर लिया है। विश्वविद्यालय प्रशासन ने जानकारी के मिलने के बाद आनन-फानन में वेबसाइट बनाने वाली कंपनी को वेबसाइट को ठीक करने का निर्देश दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : कांग्रेस 26 मई को सभी जिला मुख्यालयों में विश्वासघात दिवस मनाएगी

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 8:23 PM

रांची : कांग्रेस 26 मई को सभी जिला मुख्यालयों में विश्वासघात दिवस मनाएगी

रांची।  25 मई को मोदी सरकार के चार वर्ष पूरा होने पर कांग्रेस पार्टी 26 मई को विश्वाघात दिवस के रुप में हर जिला मुख्यालयों पर कार्यक्रम आयोजित करेगी। कांग्रेस का यह मानना है कि मोदी सरकार ने देश की जनता के साथ विश्वासघात है और जनता का विश्वास खो दिया है।

 पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने आज कांग्रेस मुख्‍यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वर्ष 2009-10 में अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत लगभग एक दशक में सर्वाधिक 140 डॉलर प्रति बैरल थी तब भी देश में तेल इतना महंगा नहीं हुआ था, जितना आज है।

रांची : कांग्रेस ओबीसी विभाग के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष पहुंचे रांची

आज तो कच्चे तेल की कीमत 80 डॉलर प्रति बैरल के आस-पास ही है फिर भी इतना महंगा क्यों हैं? उन्होंने कहा कि मोदी राज में अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में तेल के दाम 26-27 डॉलर प्रति बैरल तक कम हुए है लेकिन जनता को इसका फायदा नहीं दिया गया। 2014 के बाद मोदी सरकार तेल के कीमतों में बढ़ोत्तरी करके मुनाफा खा रही है और जनता पर बोझ लाद रही है।

साथ ही साथ तेल कंपनियों के मुनाफे भी लगातार बढ़ रहे  हैं। तेल कंपनियों के भी अपने मुनाफा में महंगाई के भार को शामिल करना चाहिए। सरकार तेल के दाम कम कराकर अविलम्ब जनता को राहत दें। इस मौके पर प्रदेश प्रवक्ता लाल किशोरनाथ शाहदेव एवं प्रदेश महिला कांग्रेस कमिटी की अध्यक्ष आभा सिन्हा भी उपस्थित थीं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने