गिरिडीह : 1 रुपये के सिक्‍के का मामला छाया रहा, दुकानदार पर नहीं लेने का आरोप

NewsCode Jharkhand | 27 December, 2017 9:17 AM
newscode-image

गिरिडीह। जिला विधिक सेवा प्राधिकार गिरिडीह के तत्वाधान में मंगलवार को तिसरी पंचायत भवन में शिविर लगाया गया। मौके पर मुख्य रूप से न्यायायिक दण्डाधिकारी शंभू महतो, तिसरी प्रमुख नीलम देवी, बीडीओ सुनील प्रकाश, जिला परिषद सदस्य रामकुमार राउत, 20 सूत्री प्रखंड अध्यक्ष कौलेश्वर सिंह, अधिवक्ता शैलेश कुमार पाण्डेय उपस्थित थे।

शिविर में उपस्थित जनप्रतिनिधियों व ग्रामीणों को कानून और अधिकार के बारे में विस्तृत्त रूप से जानकारी दी गई। इस दौरान शिविर में एक रुपये के सिक्के का मामला छाया रहा। ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए कहा कि तिसरी प्रखंड के दुकानदार एक रूपये का सिक्का नहीं लेते है। जिसके कारण लोगों को भारी परेशानी होती है। इस मामले को दण्डाधिकारी सहित अन्य अधिकारियों ने गंभीरता से लेते हुए कहा कि अगर कोई भी दुकानदार एक रुपये का सिक्का लेने से इंकार करते हैं तो उनपर कानूनन कार्रवाई हो सकती है। दण्डाधिकारी शंभू महतो ने कहा कि विधिक सेवा प्राधिकार सभी लोगों को कानून और अधिकार की जानकारी देने का कार्य करती है।

ये भी पढ़े- कोडरमा : डोर टू डोर पदयात्रा का जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव ने किया औचक निरीक्षण

विधिक सेवा प्राधिकार के तहत लोगों को उचित और नि:शुल्क तौर पर न्याय दिलाने का काम किया जाता है। गरीब हो या अमीर कानून सबके लिए बराबर है। उन्‍होंने बताया कि जानकारी के अभाव में लोग विधिक सेवा प्राधिकार का लाभ नहीं ले पाते है और अधिवक्ता के पास पैसा जमकर बहाते हैं। केस मुकदमा होने से लोग आर्थिक, मानसिक और शारीरिक रूप से परेशान हो जाते हैं।

विधिक सेवा केन्द्र खिजुरी में भी छोटे मुकदमा का निष्पादन किया जाता है। सुरेश सिंह, खटपोंक पंचायत की मुखिया मीना देवी, सहदेव यादव, चन्दौरी के मुखिया गोपी रविदास, पलमरूआ के मुखिया राजेन्द्र प्रसाद साव, सुनील पंडा, पीएलभी प्रवीण कुमार व दीपक कुमार विश्वकर्मा सहित कई लोग उपस्थित थे।

न्यूज़कोड के मोबाइल ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

चांडिल : काम नहीं मिलने से पलायन को मजबूर मनरेगा मजदूर

NewsCode Jharkhand | 19 July, 2018 8:11 AM
newscode-image

चांडिल (सरायकेला)। ईचागढ़ प्रखंड क्षेत्र के पातकुम पंचायत के बाकलतोड़िया गांव में मनरेगा योजना से मधुसूदन लायक का जमीन समतलीकरण कार्य में 50 मजदूरों को 3 महीने के बाद भी मजदूरी का भुगतान नहीं मिलने से मजदूरों में भूखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गयी है।

उप मुखिया अमर नाथ यादव ने बताया की तीन माह बित जाने के  बाद भी राज्य स्तरीय भूगतान प्रोसेसिंग में इन मजदूरों का मजदूरी अटका हुआ है। मजदूरों के सामने भूखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है। वहीं मजदूरों ने बताया की खेती के समय वर्षा भी नहीं हो रही है कि लोगों के खेतों में काम कर गुजारा करेंगे।

बोकारो : तेनुघाट डैम का खोला गया फाटक, 852 फीट पानी रखने की क्षमता

अब तो गांव के मजदूरों के सामने गांव छोड़कर शहर पलायन हीं एक विकल्प है। जानकारी के अनुसार मजदुरों में मंटु लायक, विभूति लायेक, लखिन्दर लायक, संटू लायक, भेहुल्या देवी सहित 50 मजदूरों का भुगतान नहीं किया गया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

रांची : डोरंडा के बेलदार में महावीर मंडल के उपाध्यक्ष की गोली मार कर हत्या

NewsCode Jharkhand | 19 July, 2018 10:39 AM
newscode-image

रांची । झारखंड की राजधानी रांची में बुधवार की सुबह डोरंडा थाना क्षेत्र के बेलदार मोहल्ला के डोम टोली में महावीर मंडल डोरंडा के उपाध्यक्ष धीरज राम की गोली मारकर हत्या कर दी गयी।  हमलावरों ने धीरज को पांच गोलियां मारी। धीरज के शव को पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेज दिया गया है। पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है।

घटना उस वक्त घटी जब धीरज राम किसी काम के लिए अपने घर से निकले थे।  घात लगाये अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। धीरज को पांच गोलियां लगी जिससे घटनास्थल पर ही उन्होंने दम तोड़ दिया। महावीर मंडल के उपाध्यक्ष की हत्या करने के बाद अपराधी वहां से फरार हो गये। इधर गोली चलने की आवाज सुनते ही लोग सड़क पर आ गये।

पलामू : डायन-बिसाही के आरोप दंपत्ति की हत्या

उन्होंने लहूलुहान अवस्था में धीरज राम को मृत देखा तो उनका गुस्सा फूट पड़ा। लोग हंगामा करने लगे। बाद में पुलिस ने लोगों को समझा-बुझाकर मामला को शांत कराया। लोगों ने अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग की है। डोरंडा पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और हत्या की जांच शुरू कर दी है। पुलिस संदिग्ध अपराधियों की तलाश में जुट गयी है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

खूंटी : खेत में काम करने के दौरान करंट लगने से दो महिला मौत

NewsCode Jharkhand | 19 July, 2018 10:21 AM
newscode-image

खूंटी । एसपी ऑफिस कार्यलय के पीछे कामंता गांव के खेत में बिचड़ा निकाल रही दो महिला करेंट की चपेट में आ गई। दोनों महिला की घटनास्थल पर हीं मौत हो गई।  बताया जा रहा है कि खेत में दो महिला और एक बच्चा धान का बिचड़ा निकालने का काम कर रही थी। खेत से महज एक फीट की ऊंचाई पर बिजली का तार गुजर रही थी जिसे एक बच्चे ने छू लिया और तड़पने लगा ।

पलामू : यात्री बस व ट्रैक्टर में सीधी टक्कर, एक की मौत, आधा दर्जन लोग घायल

खेत में काम कर रही बच्चे की मां बचाने गई और करेंट की चपेट में आ गई। उसी दौरान महिला की सास को भी बिजली ने अपने चपेट में ले लिया। दोनों महिला की मौत घटनास्थल पर हीं हो गई जबकि मासूम बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल बच्चे को इलाज़ के लिए अस्पताल रेफर कर दिया है।  वहीं सूचना पर पहुंची पुलिस और प्रशासन ने जांच कर कार्रवाई की बात कही है। मृतक के परिजनों को उचित मुआवजा देने का आश्वाशन दिया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

खूंटी : कोचांग गैंगरेप का पांचवा आरोपी गिरफ्तार

more-story-image

रांची : सजिश के तहत हमला कराया गया, न्यायिक जांच...