गिरिडीह : सावित्री की मौत के बाद नया खुलासा, कागजों पर बनाया गया था मनरेगा मजदूर

NewsCode Jharkhand | 5 June, 2018 7:11 PM
newscode-image

11 दिन काम के एवज में हुई थी राशि रिलीज, सावित्री के बैंक खाते में नहीं पहुंचा पैसा

गिरिडीह। कथित तौर पर भूख से वृद्ध महिला की मौत के मामले में एक अहम खुलासा हुआ है। सोमवार को बैंक खुलने के बाद यह पता चला कि महिला के बैंक खाते में दो माह पूर्व ही तीन माह का विधवा पेंशन आ चुका था, लेकिन मृतका व उसके परिजनों को पता नहीं चला और किसी ने जानकारी भी हाथ नहीं लगी। अब जब महिला की मौत हो गयी और मामले ने तूल पकड़ लिया तो परिजनों को जानकारी मिली कि खाते में तो पैसा था।

मनरेगा मजदूर दिखा कर फर्जी निकासी

इसके अलावा सावित्री को बगैर जॉबकार्ड के कथित रूप से मनरेगा मजदूर दिखा कर फर्जी निकासी की गयी है, जबकि सावित्री के बैंक खाते में यह राशि आज तक नहीं पहुंची। इसे व्यवस्था की चूक कहें, अज्ञानता या पंचायत प्रतिनिधियों के साथ पंचायत कर्मियों की लापरवाही। एक वृद्ध महिला के बैंक खाते में पैसा रहने के बाद भी उसका परिवार दाने-दाने को मोहताज रहा। गरीबी के कारण न सिर्फ बच्चों व घर के अन्य सदस्यों का पेट पालने के लिये मृतका की एक बहू को काम करना पड़ रहा था तो काम नहीं मिलने पर पड़ोसियों व रिश्तेदारों से भोजन के लिए भीख भी मांगनी पड़ी। मिले भोजन से पहले बच्चों का पेट भर जाता तो खाना बचने के बाद ही बड़ों को नसीब होता।

गिरिडीह : सावित्री की मौत के बाद नया खुलासा, कागजों पर बनाया गया था मनरेगा मजदूर

जब तीन दिनों तक मृतका की बहू को काम नहीं मिला तो घर में चुल्हा भी नहीं जलने लगा। वहीं पड़ोसियों से भोजन मांगने में लज्जा आड़े आयी, तो एक जर्जर काया का अवसान हो गया। असल में डुमरी के मगरगढ़ी गांव में पिछले दिनों आर्थिक आभाव में वृद्ध सावित्री की मौत हो गई थी। मृतका के शव का दाह संस्कार रविवार को किया गया।

मृतका के बचत खाते में 2 हजार 3 सौ 75 रुपया जमा मिला

सोमवार की सुबह जब नेताओं व अधिकारियों का आना-जाना मृतका के घर में होने लगा तो इस दौरान मृतका के बैंक खाते (इलाहाबाद बैंक, चैनपुर शाखा) को अपडेट कराया गया। बचत खाते में 2 हजार 3 सौ 75 रुपया जमा मिला। इस संदर्भ में भोजन के अधिकार अधिनियम के पदाधिकारियों से जानकारी ली गयी तो उसने बताया कि खाता अपडेट होने के बाद यह पता चला कि 4 अपैल 2018 को ही मृतका के बैंक खाते में तीन माह का विधवा पेंशन 1800 रुपया आ चुका था, जबकि 560 रुपया खाता में पूर्व से था। इस रकम की जानकारी महिला को नहीं थी। जानकारी के अभाव में मृतका का परिवार भोजन का अभाव झेल रहा था।

गिरिडीह : सावित्री की मौत के बाद नया खुलासा, कागजों पर बनाया गया था मनरेगा मजदूर

कथित रूप से 11 दिनों का काम दिखाकर पैसे की निकासी

सावित्री की मौत के बाद एक खुलासा हुआ कि मनरेगा योजना को दीमक की तरह चाटने वाले नौकरशाहों ने स्थानीय जनप्रतिनिधि के सहयोग से बगैर जॉबकार्ड के मनरेगा मजदूर बना दिया और वर्ष 16-17 में दो योजनाओं में कथित रूप से 11 दिनों का काम दिखाकर पैसे की निकासी कर ली गयी, जबकि सावित्री के खातों में यह पैसा आज तक नहीं पहुंचा। सावित्री के घरवाले और पड़ोसियों का दावा है कि सावित्री मनरेगा मजदूर नहीं थी और न ही उसका जॉबकार्ड बना था।

उसे मात्र दो हजार रुपया मिलता था

सावित्री के घर की माली हालत काफी ख़राब है। सावित्री के परिवार के पास 30 डीसमिल जमीन है। जमीन पर किसी प्रकार का फसल नहीं हो रहा था इसमे महज एक पपीता का पेड़ लगा है। मृतका के पुत्र हुलास महतो ने बताया कि गरीबी तो थी और वह जिस काम के लिये यूपी गया था, वहां पर भी पर्याप्त पैसा नहीं मिलता था। उसे मात्र दो हजार रुपया मिलता था, जो उसके भोजन में ही खर्च हो जाता था।

बड़ा भाई टावर लाइन में काम करता है और उसे भी छह माह से पैसा नहीं मिला था।  हुलास ने बताया कि उसकी भाभी ही भोजन का जुगाड़ करती थी। उसकी मां की मौत भोजन के अभाव में ही हो गया है।

दो दिनों पूर्व अनाज मिल जाता तो शायद जिंदा रहती सावित्री

सोमवार को प्रशासन के आदेश पर स्थानीय डीलर नंदकिशोर प्रसाद सिन्हा ने 50 किलो अनाज पहुंचाया। अनाज पहुंचा तो घर का चूल्हा भी जला और बच्चों को भोजन भी मिला। भोजन मिलने पर बच्चे काफी खुश दिखे। मृतका के बेटे की आंखों में आंसू साफ-साफ झलक रहा था। हुलास ने कहा कि यही अनाज दो दिनों पूर्व मिल जाता तो शायद उसकी मां जिंदा रहती।

गिरिडीह : भूख से नहीं, बीमारी के कारण हुई सावित्री की मौत- जिला प्रशासन

ऑनलाइन राशन कार्ड बनाने की प्रक्रिया में परिवर्तन होनी चाहिए- डॉ रविंद्र राय

अब सावित्री देवी की भूख से हुई मौत का मामला तूल पकड़ लिया है। मौत के बाद माले के केंद्रीय कमिटी ने व्यवस्था को दोषी करार दिया तो भाजपा के कोडरमा सांसद रविंद्र राय ने इसे नौकरशाह की लापरवाही करार दी। डॉ रविंद्र राय ने कहा कि ऑनलाइन राशन कार्ड बनाने की प्रक्रिया में परिवर्तन होनी चाहिए जबकि पूर्व विधायक विनोद सिंह ने कहा कि गढ़वा, सिमडेगा, देवघर, धनबाद व गिरिडीह जिला के तिसरी में भूख से हुई मौत के बाद भी राज्य सरकार ने सबक नहीं लिया।इस मामले को लेकर माले कार्यकर्ता आगामी नौ जून को जिले के सभी प्रखंडों में प्रतिवाद के लिए सड़क पर उतरेंगे।

सरकार कैसे उबर पाएगी इस कलंक से ?

बहरहाल, भूख और गरीबी से बेहाल सावित्री की जर्जर काया का अवसान हो चुका है। घटना ने सिस्टम की बखिया उधेड़ भी दी है। लेकिन समाज मे अनगिनत सावित्री अब भी सिसकती हुई उम्मीद का कतरा तलाश रहीं है। जरूरत है ऐसे लोगों की मौत से पहले उन्हें राहत पहुचाने की। तभी सावित्री या बुधनी प्रकरण के कलंक से सरकार उबर पाएगी।

अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

चाईबासा : चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज का आठवां वार्षिक अधिवेंशन संपन्न

NewsCode Jharkhand | 24 September, 2018 12:07 PM
newscode-image

चाईबासा। चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज की अष्टम वार्षिक (सत्र 2017-19 की प्रथम) आम सभा का विधिवत उदघाटन अमला टोला स्थित लक्ष्मी बैंक्विट हॉल मैं चेंबर के अध्यक्ष एवं पदाधिकारियों द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया। आम सभा की कार्यवाई अध्यक्ष नीतिन प्रकाश के स्वागत भाषण से शुरू की गई सभा को संबोधित करते हुए अध्यक्ष द्वारा कहा गया कि चेंबर रूपी वटवृक्ष को शिंचन प्रदान करने में पुरी कार्यसमिति के सदस्यों का मुझे भरपूर सहयोग मिला और आशा करते हैं कि आने वाले वर्षों में भी इसी तरह सभी का साथ एवं आशीर्वाद अनवरत प्राप्त होता रहेगा।

चक्रधरपुर : हावड़ा से मुंबई जा रही गीतांजलि सुपरफास्ट ट्रेन इलेक्ट्रिक पोल से टकरायी,कोई हताहत नहीं

उन्होंने कहा कि चेंबर का यह प्रयास रहा है कि इस जिले के व्यवसायियों को भी उद्योग लगाने हेतु सरकारी भूखंड उपलब्ध हो इस वर्ष ये सफलता चाईबासा चेंबर को प्राप्त हुई परिणाम स्वरूप जिला प्रशासन द्वारा 472 एकड़ भूखंड झारखंड औद्योगिक क्षेत्र विकास प्राधिकरण को हस्तांथरित किया गया। जिसकी आवंटन की प्रक्रिया जल्द ही शुरू होने वाली है यह सफलता जिले के विकास में मील का पत्थर साबित होगी। हमारी व्यवसायियों का उद्योगपति बनने का सपना इसी जिले में साकार होगा अध्यक्ष ने कहा कि हमारे विचार अलग अलग हो सकते हैं परंतु हमारी विचारधारा एक होनी चाहिए।

चाईबासा :  चाईबासा मेडिकल कॉलेज के ऑनलाइन शिलान्यास कार्यक्रम का हुआ सीधा प्रसारण

हमारा उद्देश्य भी एक होना चाहिए और इस संस्था की कार्य संस्कृति भी एक हो जो हम सभी को एक सूत्र में पिरोये रख सके। मेरी अपील है कि लोगों को सर्वप्रथम संस्था एवं इनके संविधान से निस्वार्थ होकर जुड़ना चाहिए ताकि संस्था का सर्वांगीण विकास हो सके। उद्घाटन भाषण चेंबर के संस्थापक अनूप सुल्तानिया द्वारा दिया गया निवर्तमान अध्यक्ष ललित शर्मा उपाध्यक्ष आनंद वर्धन प्रसाद एवं दिलीप खंडेलवाल ने भी सभा को संबोधित किया। इस वर्ष किए गए कार्यों का प्रतिवेदन सचिव मधुसूदन अग्रवाल द्वारा आम सभा में प्रस्तुत किया गया।

चाईबासा : जगन्नाथपुर से शुरू होगी जेवीएम की चुनावी रणनीति की तैयारी

जिसमें कुछ प्रमुख बातें यह है कि इस वर्ष चाईबासा चेंबर ने सामाजिक दायित्वों का निर्वहन करते हुए ब्लड बैंक मैं रक्त की कमी को देखते हुए बृहद रक्तदान शिविर का आयोजन किया जिसमें कुल 150 लोगों ने रक्तदान किया। जिससे कि चाईबासा ब्लड बैंक में रक्त कि कमी दूर हुई। साथ ही झारखंड सरकार द्वारा व्यापारियों के लिए ट्रेड लाइसेंस की अनिवार्यता को देखते हुए ट्रेड लाइसेंस कैंप का आयोजन किया गया।

जिसमें कुल 150 व्यवसायियों द्वारा ट्रेड लाइसेंस के लिए निबंधन कराया गया। इस वर्ष के आय-व्यय का ब्यौरा कोषाध्यक्ष विकास गोयल द्वारा प्रस्तुत किया गया। भोजन अवकाश के बाद खुले सत्र में चेंबर के सदस्य सुनीत शर्मा, वरिष्ठ सदस्य अशोक सर्राफ, पूर्व उपाध्यक्ष जयप्रकाश मुंदड़ा, सुमित खीरवाल व दिलीप चिरानिया द्वारा किए गए प्रश्नों का जवाब चेंबर के अध्यक्ष द्वारा दिया गया।

चक्रधरपुर :ठेले-खोमचे वालों को मिलेगा परिचय पत्र, सर्वे शुरू

 इस अष्टम आम सभा में चाईबासा चेंबर के 130 सदस्य एवं चेंबर के समस्त पदाधिकारी एवं समस्त कार्यकारिणी के सदस्य एवं विभिन्न उप समितियों के चेयरमैन उपस्थित थे। मंच संचालन कार्यकारिणी सदस्य संजय चौबे द्वारा किया गया। धन्यवाद ज्ञापन संयुक्त सचिव रितेश चिरानिया द्वारा दिया गया। अंत में चाईबासा चेंबर के पूर्व उपाध्यक्ष प्रकाश पसारी एवं वरिष्ठ सदस्य बाबूलाल पटेल के निधन पर सभा में 2 मिनट का मौन रख उन्हें श्रद्धांजलि दी गई।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

आ गया ‘ठग्स ऑफ हिंदोस्तान’ में फिरंगी बने आमिर खान का लुक, गधे पर बैठे दिखे

NewsCode | 24 September, 2018 1:33 PM
newscode-image

मुंबई। इस साल की सबसे बहुप्रतीक्षित फिल्म ठग्स ऑफ हिंदोस्तान में नज़र आने वाले सभी सितारों के लुक का खुलासा हो गया है। अमिताभ बच्चन, फातिमा सना शेख, कटरीना कैफ के बाद अंत में आमिर खान का लुक भी रिवील कर दिया गया है। यशराज फिल्मस और आमिर ने सोशल मीडिया अकाउंट पर लुक पोस्टर जारी किया है। अपने लुक को शेयर करते हुए आमिर ने लिखा- ”और इ हैं हम, फिरंगी मल्लाह। हम से ज्यादा नेक इन्सान इस धरती पे कहीं नहीं मिलेगा आपको। सच्चाई तो हमरा दूसरा नाम है, और भरोसा हमरा काम। दादी कसम !!!”

बता दें कि फिल्म में आमिर खान के किरदार का नाम फिरंगी है। मोशन पोस्टर में वे अतरंगी कपड़े पहने नजर आ रहे हैं। सबसे मजेदार बात ये है कि वे घोड़े पर नहीं बल्कि गधे पर सवार हैं। वे पहली बार ठग्स के गेटअप में नजर आ रहे हैं। रोल के लिए आमिर ने कानों में पियर्सिंग कराई और बाल बढ़ाए हैं। वैसे आमिर के ठग लुक को देखने के बाद अंदाजा होता है कि उनका करेक्टर काफी मस्तमौला किस्म का होगा।

ठग्स ऑफ हिंदोस्तान में अमिताभ बच्चन- खुदाबक्श, कटरीना- सुरैया, फातिमा सना शेख- जाफिरा के रोल में नजर आएंगी। पहली बार सदी के महानायक अमिताभ बच्चन और आमिर खान एकसाथ नजर आएंगे। यह फिल्म 1839 के एक उपन्यास ‘कंफेशंस ऑफ ए ठग’ पर आधारित है। फिल्म को माल्टा व राजस्थान के रमणीय जगहों पर फिल्माया गया है।

फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिंदुस्तान’ को डिजिटल रूप में आईमैक्स फॉर्मेट में बनाया गया है। यह इस फॉर्मेट में पांचवीं भारतीय फिल्म है। इससे पहले ‘धूम 3’, ‘बैंग बैंग’, ‘बाहुबली 2’ व ‘पद्मावत’ को आईमैक्स फॉर्मेट का रूप दिया गया। बता दें, फिल्म का निर्देशन विजय कृष्णा आचार्य ने किया है। ‘ठग्स ऑफ हिंदोस्तान’ का ट्रेलर वीडियो 27 सितंबर को रिलीज होगा। ये फिल्‍म इसी साल 8 नवंबर को रिलीज हो रही है।


ठग्स ऑफ… में ‘सुरैया’ का रोल करेंगी कटरीना कैफ, आमिर ने बताया सबसे खूबसूरत ठग

ठग्स… लड़ाकू जाफिरा के किरदार में दिखेगी ‘दंगल गर्ल’,सामने आया फर्स्ट लुक

‘ठग्स ऑफ…’ में बिग बी बने हैं ठगों का सरदार ‘खुदाबक्श’, देखें First look

दीवाली पर आएगी आमिर की Thugs of Hindostan, फिल्म का लोगो रिलीज

लोहरदगा : बाइक टक्कर एक की मौत दो घायल  

NewsCode Jharkhand | 24 September, 2018 1:15 PM
newscode-image

लोहरदगा। सदर थाना क्षेत्र के ओयना टोंगरी के समीप सड़क दुर्घटना में एक युवक की मौत हो गई।  बताया जा रहा है कि जोरी आनंदपुर गांव निवासी भुषण भगत का पुत्र सुभाष भगत 18 वर्ष, महादेव उरांव का पुत्र सुरेंद्र उरांव 22 वर्ष प्लसर मोटरसाइकिल से कुटमु फेंकुवाटोली में लगे जतरा में आ रहे थे।

लोहरदगा : मानसिक रूप से बीमार लापता महिला का मिला शव

तभी विपरीत दिशा से सुजुकी जिक्सर मोटरसाइकिल से लोहरदगा से जोरी आनंदपुर जा रहे जोरी युवक के साथ टक्कर हो गई।  जिससे मौके पर ही सुरेंद्र उरांव की मौत हो गई। जबकि सुभाष, मनान, मुजम्मिल गंभीर रूप से घायल हो कर सड़क पर तड़पने लगे। वहां से गुजर रहे हाजी शकील अहमद ने सभी घायलों को इलाज के लिए सदर अस्पताल पहुंचाया। जहां से मोजम्मिल और मनान को बेहतर इलाज के लिए रिम्स रेफर किया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

सिक्किम को मिला पहला और देश का 100वां हवाई अड्डा,...

more-story-image

बड़कागांव : सामुदायिक विकास को लेकर तेलिया तरी में कांग्रेस...