गढ़वा : अपराधियों का प्रशिक्षण गृह बन गया है आईटीआई संस्‍थान, बेपरवाह विभाग

NewsCode Jharkhand | 10 June, 2018 1:18 PM
newscode-image

दशकों बाद भी नहीं हुई पढ़ाई शुरू

गढ़वा। जहां पाते तकनीकी ज्ञान, वहां सिख रहे हुनर अपराध की। हम बात कर रहे है जिले के नगर उंटारी अनुमंडल मुख्यालय में अवस्थित आईटीआई संस्‍थान की जहां बनने के दशक बाद भी शुरू नहीं हुई है पढ़ाई।

आलम है कि आज भी रोजगार के लिए सुदूर प्रदेशों में भटक रहे पढ़े लिखे बेरोजगार। असामाजिक तत्वों के काम केंद्र से लेकर राज्य सरकार तक कौशल विकास पर जोर दे रही है। उद्देश्य है हर युवकों को रोजगारोन्मुख प्रशिक्षण दे कर उनके हाथों में रोजगार देना।

गढ़वा जिले के बीस प्रखंडों में से दो दर्जन से अधिक प्रखंड मुख्यालयों में आईटीआई प्रशिक्षण संस्थान का निर्माण कराया गया, लेकिन यह संस्थान सरकार की कथनी और करनी के बीच के लंबे फासले वाले फर्क को परिभाषित कर रहा है।

धनबाद: शिक्षा प्रसार पदाधिकारी के भ्रष्‍टाचार रवैये के खिलाफ धरना,गिरफ्तारी की मांग

भवन है आईटीआई का जो नगर उंटारी अनुमंडल मुख्यालय में अवस्थित है, छात्रों को युवाओं को तकनीकी शिक्षा दे कर हुनरमंद बनाने की जगह अपराधियों का प्रशिक्षण गृह बन कर रह गया है।

विषम हालात से गुजर रहा उक्त प्रशिक्षण संस्थान। स्थानीय लोग बताते है कि इसके स्थापना से जो ख़्वाब लोगों ने देखा था वह तिनके की तरह बिखर गया। दशकों से आईटीआई को बहुत जल्द शुरू कर देने का वादा जिला के अधिकारी एक बार फिर कर रहे है।

श्रम नियोजन पदाधिकारी कहते है कि जिले में मात्र तीन आईटीआई को छोड़ बाकि सभी शिक्षा देने से कोसों दूर है, लेकिन विभाग बहुत जल्द उन सभी जगहों पर पढ़ायी शुरू करेगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

झरिया : “इंटरनेट के चीजों” विषय पर कार्यशाला आयोजित

NewsCode Jharkhand | 23 June, 2018 10:35 AM
newscode-image

झरिया (धनबाद) । “इंटरनेट के चीजों” विषय पर, एनकेएन (वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग) के माध्यम से एनआईटी पटना और एनआईटी वारंगल के सहयोग से बीआईटी सिंदरी, धनबाद द्वारा संकाय विकास कार्यक्रम आयोजित किया गया है।

बीआईटी सिंदरी के 20 संकाय इस कार्यक्रम में भाग लिया और उन्होंने हमें बताया है कि इस कार्यक्रम से उन्होंने कई नई चीजें सीखी हैं और वे कॉलेज में आईओटी की उच्च गुणवत्ता वाली प्रयोगशाला स्थापित करने में सक्षम हैं।

चतरा : नक्सली संगठन टीपीसी समर्थक वीरेंद्र गंझू गिरफ्तार

निदेशक बीआईटी ने कहा है कि यह कार्यक्रम सभी के लिए फायदेमंद है क्योंकि यह है नवीनतम तकनीक और हमें बीआईटी सिंदरी में इस कोर्स को करने के लिए अवसर मिला है जो अब भारत सरकार के ई और आईसीटी अकादमी का हिस्सा है।

उन्होंने इस कार्यक्रम के लिए भारत सरकार की भी सराहना की है। बीआईटी सिंदरी प्रोफेसर राजीव रंजन और प्रोफेसर रघुनाथन ने समन्वयक के रूप में कार्य करने की सराहना की और बताया कि भविष्य में ऐसा कार्यक्रम बीआईटी सिंदरी में किया जाएगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

सिर्फ ‘न्यूज़कोड’ पर देखिये ‘पत्थलगड़ी के अगुआ’ युसूफ पूर्ति से ख़ास बातचीत

NewsCode Jharkhand | 24 June, 2018 2:37 PM
newscode-image

रांची : सिर्फ ‘न्यूज़कोड’ पर देखिये ‘पत्थलगड़ी के अगुआ’ युसूफ पूर्ति से ख़ास बातचीत। पत्थलगड़ी के सूत्रधार युसूफ पूर्ति की नज़र से क्या है पत्थलगड़ी, क्या हैं इसके मायने ? देखिये सिर्फ और सिर्फ ‘न्यूज़कोड’ पर।

‘मन की बात’ में PM मोदी ने GST की सफलता का श्रेय राज्यों को दिया, कही ये बातें

NewsCode | 24 June, 2018 2:31 PM
newscode-image

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ के माध्यम से आज एक बार फिर देशवासियों के साथ अपने विचार साझा किए। कार्यक्रम की 45वें एपिसोड में पीएम मोदी ने भारत-अफगानिस्तान के बीच हुए ऐतिहासिक टेस्ट मैच को याद किया। साथ ही उन्होंने जीएसटी को सफल बताते हुए इसका श्रेय राज्यों को दिया।

जीएसटी को सफल बताया

पीएम मोदी ने जीएसटी की पहली सालगिरह आने से पहले इसकी सफलता का श्रेय राज्यों को दिया। उन्होंने कहा कि ‘वन नेशन वन टैक्स’ देश के लोगों का सपना था, जो अब हकीकत में बदल चुका है। पीएम ने कहा कि जीएसटी की सफलता के लिए राज्यों ने मिलकर काम किया और इसे सफल बनाया। उन्होंने जीएसटी ईमानदारी की जीत करार दिया।

मनमोहन सिंह ने नोटबंदी और जीएसटी को बताया मोदी सरकार की बड़ी गलती

‘मन की बात’ की शुरुआत में बेंगलुरु में हुए भारत-अफगानिस्तान टेस्ट मैच का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने अफगानी स्टार बॉलर राशिद खान के खेल को सराहा। साथ ही उन्होंने कहा कि यह मैच यादगार रहेगा। पीएम मोदी ने कहा, ‘मुझे यह मैच इसलिए याद रहेगा क्योंकि भारतीय टीम ने ट्रॉफी लेते समय अफगानिस्तान की टीम को भी बुलाया और दोनों टीमों ने साथ में फोटो लिए।’

योग ने दुनिया को एकजुट किया

पीएम मोदी ने पूरी दुनिया में मनाए गए योग दिवस का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, ‘योग दिवस पर अलग ही नजारा था, जब पूरी दुनिया एकजुट नजर आई। विश्वभर में योग दिवस को उत्साह के साथ मनाया गया। सऊदी अरब में पहली बार ऐतिहासिक कार्यक्रम हुआ और मुझे बताया गया है कि बहुत सारे आसन महिलाओं ने किए। लद्दाख की ऊंची चोटियों पर भारत और चीन के सैनिकों ने एकसाथ मिलकर योगाभ्यास किया।’

विश्व योग दिवस विशेष : 21 जून को ही क्यों ‘विश्व योग दिवस’ मनाते हैं, डालते हैं एक नज़र

पीएम ने कहा, ‘वायुसेना के हमारे योद्धाओं ने तो बीच आसमान में धरती से 15 हजार फुट की ऊंचाई पर योगासन करके सबको स्तब्ध कर दिया। देखने वाला नजारा यह था कि उन्होंने हवा में तैरते हुए योगासन किया, न कि हवाई जहाज में बैठ कर।’

श्यामा प्रसाद मुखर्जी को किया याद

पीएम मोदी ने डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी को भी याद किया। उन्होंने कहा कि कल ही (23 जून) श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि थी। उन्होंने बताया कि डॉ. मुखर्जी के करीबी विषयों में शिक्षा, प्रशासन और संसदीय मामले थे।

पीएम मोदी ने 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने का वादा दोहराया

PM मोदी को वादा याद दिलाने के लिए 1350 KM पैदल चला शख्स, राहुल गांधी ने कही ये बात

More Story

more-story-image

बोकारो : बरसात में भी शौचालय निर्माण कार्य चालू रखने...

more-story-image

टुण्डी : पारा शिक्षकों ने सरकार से की राज्‍य में...