फल और सब्जियों का निर्यात 15 प्रतिशत गिरा, जानें वजह

NewsCode | 28 January, 2018 11:05 AM
newscode-image

नई दिल्ली।अप्रैल-नवंबर, 2017 के मुनाफे के आधार पर गेहूं और दलहन के निर्यात से अलग ताजा फल और सब्जियों की कीमतों मे 15 प्रतिशत की कमी आई है। कृषि एवं प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीईडीए) के अनुसार, इसका प्रमुख कारण सबसे बड़े निर्यात बाजारों में प्याज, टमाटर, केला और किशमिश की मांग और आपूर्ति की कमी आना है।

इस अवधि के दौरान निर्यातित ताजा फल और सब्जियों का मूल्य 5416 करोड़ रुपये था, जो 2016 की इसी अवधि के दौरान के मूल्य की तुलना में 15 प्रतिशत कम है।

एपीईडीए के अध्यक्ष डी.के. सिंह ने  बताया कि कम उत्पादन के कारण प्याज का न्यूनतम निर्यात मूल्य (एमईपी) बढ़कर 840 डॉलर प्रति टन होने के कारण निर्यात कम हुआ।

उन्होंने बताया कि ताजा सब्जियों के कुल निर्यात में प्याज की हिस्सेदारी 50 प्रतिशत है। प्याज का एमईपी बढ़ने से इसका निर्यात कम हुआ है।

केंद्र सरकार ने घरेलू बाजार में प्याज की आपूर्ति सुनिश्चित करने और कम दाम पर निर्यात को कम करने के लिए पिछले वर्ष नवंबर में इसके एमईपी की अधिकतम दर निश्चित की थी।

मात्रा के मामले में सब्जियों का कुल निर्यात अप्रैल-नवंबर 2017 के दौरान घटकर 16 लाख टन रहा, जबकि एक वर्ष पहले की समान अवधि में यह 22.80 लाख टन था।

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) को भारत से अप्रैल-नवंबर के बीच निर्यात की गई सब्जियों में 18.3 प्रतिशत, निर्यात किए गए फलों में 18.3 प्रतिशत हिस्सेदारी रही।

दूसरे स्थान पर बांग्लादेश रहा, जिसकी सब्जियों में हिस्सेदारी 12.2 प्रतिशत और मलेशिया 11.8 प्रतिशत के साथ तीसरे स्थान पर रहा।

इसी तरह फलों का निर्यात 2016 में 4,47,612 टन से घटकर 2017 में 3,68,361 टन रह गया।

भारत जिन देशों को निर्यात करता है, उनमें यूएई, बांग्लादेश, नेपाल और अमेरिका शीर्ष देश हैं। यूएई भारतीय फलों और सब्जियों का प्रमुख बाजार है। इसके बाद नेपाल, बांग्लादेश और मलेशिया आते हैं।

सिंह ने कहा, “इस वर्ष नेपाल और बांग्लादेश में हमारे फलों और सब्जियों की मांग गिरी है। निर्यात में कमी का यह भी एक प्रमुख कारण है।”

2017 में अप्रैल-नवंबर के दौरान प्रसंस्कृत सब्जियों और फलों के निर्यात में वृद्धि हुई है।

सत्र 2017-18 में सब्जियों का कुल उत्पादन 2016-17 के 1781.70 लाख टन के मुकाबले 1806.80 लाख टन होने की उम्मीद है।

इसी तरह फलों का उत्पादन 2016-17 के 929.20 लाख टन के मुकाबले 2017-18 में 948.80 लाख टन होने की उम्मीद है।

दलहन और गेहूं का निर्यात घटकर क्रमश: 87,760 टन और 179,699 टन रहा, जबकि पिछले वर्ष यह क्रमश: 91,652 टन और 218,494 टन रहा था।

वहीं चावल की गैर बासमती किस्म का निर्यात समीक्षाधीन अवधि में बढ़कर 55.70 लाख टन हो गया, जबकि पिछले वर्ष की समान अवधि में यह 41.1 लाख टन था।

आईएएनएस

रांची : प्रधानमंत्री ने रांची से की आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत

NewsCode Jharkhand | 23 September, 2018 4:51 PM
newscode-image

रांची। सुगम और सस्ती स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने के लिए भारत ने रविवार को ऐतिहासिक और एक बड़ा कदम उठाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को झारखंड की राजधानी रांची में दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना आयुष्मान भारत की शुरुआत की।

प्रधानमंत्री ने बिरसा मुंडा की धरती से दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ बीमा योजना, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की शुरुआत पांच परिवारों को गोल्डन कार्ड देकर किया।  साथ ही देश के 26 राज्यों में भी उन राज्यों के मुख्यमंत्री, राज्यपाल इस योजना की शुरुआत की। इसके अलावा 51 केंद्रीय मंत्रियों ने भी अलग-अलग जगहों पर योजना की शुरुआत की।


रांची : प्रधानमंत्री ने रांची से की आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत

प्रधानमंत्री ने कोडरमा, चाईबासा मेडिकल कॉलेज का किया शिलान्यास

प्रधानमंत्री ने रांची से झारखंड मे 10 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के अलावा चाईबासा और कोडरमा के मेडिकल कॉलेज का भी शिलान्यास किया। कोडरमा में करीब 328करोड़ और चाईबासा में 272करोड़ की लागत से मेडिकल कॉलेज बनेगा।

राजधानी रांची के प्रभात तारा मैदान में आयुष्मान भारत के उद्घाटन के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि काम कैसे होता है, कितने बड़े पैमाने में होता है, यह झारखण्ड में देखा जा सकता है।

उन्होंने कहा कि इस योजना की शुरुआत उनके लिये दरिद्र नारायण की सेवा करने का अवसर है, छह महीने के भीतर इस योजना का आना बहुत बड़ा अजूबा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि गरीबों के नाम पर राजनीति करने के बजाय गरीबों के विकास पर ध्यान दिया गया होता तो आज देश का स्वरूप कुछ और ही होता।

रांची : प्रधानमंत्री ने रांची से की आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत

धांधली रोकने के लिए पुख्ता व्यवस्था- प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत देश के 10 करोड़ से अधिक परिवारों को सालाना 5 लाख का स्वास्थ्य बीमा कवर मिलेगा। इसके दायरे में देश की 40 फीसदी आबादी आएगी और करीब 50 करोड़ लोगों को फायदा होगा। ये पूरी तरह से पेपरलेस और कैशलेस होगी।

इस योजना के तहत 1,350 से ज्यादा प्रोसीजर (बीमारी) और 23 गंभीर बीमारियों यानि कैंसर, दिल, हड्डी, दांत, मानसिक बीमारी, लेप्रोसी जैसी बीमारियों का भी मुफ्त इलाज होगा।

अस्पताल में भर्ती होने के 3 दिन पहले और 15 दिन बाद तक मरीज को मुफ्त दवा मिलेगी। किसी भी तरह की धांधली रोकने के लिए पुख्ता व्यवस्था की गई है।

रांची : प्रधानमंत्री ने रांची से की आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत

प्रधानमंत्री ने काफिला रोककर आंगनबाड़ी और सहिया बहनों से की मुलाकात

इससे पहले राजधानी रांची पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीच रास्ते अपना काफिला रोककर आंगनबाड़ी और सहिया बहनों से मुलाकात की। सहिया बहनों ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री का स्थानीय गीत से स्वागत किया।

आंगनबाड़ी दीदी से मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री  ने पोषण माह के बारे में जानकारी ली। साथ ही ये भी पूछा कि किस तरह के पौष्टिक भोजन को लेकर वो जागरुकता फैलाती हैं। प्रधानमंत्री  ने सहिया बहनों के प्रयासों की तारीफ करते हुए उनसे भी संवाद किया।

रांची : प्रधानमंत्री ने रांची से की आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत

इस योजना से 50-55 करोड़ आबादी होगी लाभान्वित- जेपी नड्डा

समारोह को संबोधित करते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जेपी नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झारखंड से इसकी आज शुरुआत कर रहे हैं।  आयुष्मान भारत के तहत पूरे देश के 10 करोड़ 74 लाख परिवार को इसका लाभ मिलेगा जिसके तहत लगभग देश की 50 से 55 करोड़ आबादी लाभान्वित होगी। झारखण्ड के 57 लाख परिवार को इसका लाभ मिलेगा। यह पूरी तरह डिजिटल, कैशलेस और पेपरलेस है।

रांची : प्रधानमंत्री ने रांची से की आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत

भ्रष्टाचारियों के लिए मोदी सरकार काल बनकर आयी है- रघुवर दास

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि भ्रष्टाचारियों के लिए मोदी सरकार काल बनकर आयी है। मोदी सरकार ने पिछले चार साल में भारत की जो विकास गाथा लिखी है, उससे विपक्ष घबरा गया है।

विपक्ष को समझ नहीं आ रहा है कि वो कैसे मोदी सरकार के विकास कार्यों का मुकाबला करे। इसलिए पूरा विपक्ष महागठबंधन बनाकर भ्रष्टाचार में डुबे लोग दुष्प्रचार में लगे हैं। लेकिन जनता सब जानती है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

सरायकेलाः जिला पुलिस को मिली कामयाबी, चोर गिरोह के पांच सदस्य रंगे हाथ गिरफ्तार

NewsCode Jharkhand | 23 September, 2018 9:43 PM
newscode-image

सरायकेला ।  आदित्यपुर थाना क्षेत्र में दिनदहाड़े एक घर में चोरी की नीयत से घुसे 5 लोगों को पुलिस ने रंगे हाथों धर दबोचा है।

बताया जा रहा है कि आदित्यपुर थाना क्षेत्र के आवासीय कॉलोनी रोड नंबर 11 में शनिवार शाम एक घर में चोरी की नीयत से घुसे पांच युवकों को पुलिस ने प्राप्त सूचना के आधार पर घेरकर पकड़ लिया।

जमशेदपुर :  पुलिसकर्मियों व उनके परिजनों  ने किया अनुलोम-विलोम

वहीं घटना की जानकारी देते हुए थाना प्रभारी विजय सिंह ने बताया कि इस गिरोह के सदस्यों द्वारा दिनदहाड़े घरों में घुसकर चोरी की घटना को अंजाम दिया जाता है।

वहीं कल भी इसी फिराक में इस गिरोह द्वारा रोड नंबर 11 के एक घर में चोरी का प्रयास किया जा रहा था। इसी बीच घर में लगे सीसीटीवी कैमरे में सभी आरोपियों की तस्वीरें कैद हो गई जिसके बाद पुलिस ने फौरन कार्रवाई करते हुए मौके से चार युवकों को गिरफ्तार कर लिया।

जबकि एक युवक भागने में सफल रहा हालांकि टाईगर मोबाईल के जवानों ने घेरकर पकड़ लिया।हालांकि इससे पूर्व इस गिरोह द्वारा किन स्थानों पर चोरी की घटना को अंजाम दिया गया है पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

चंदनकियारी : पीएम मोदी की सोच है स्वास्थ्य का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे- नोडल पदाधिकारी

NewsCode Jharkhand | 23 September, 2018 9:41 PM
newscode-image

चंदनकियारी(बोकारो)। चंदनकियारी प्रखंड अंतर्गत बरमसिया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को झारखंड सरकार की ओर से आयुष्मान भारत हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के रूप में चयन किया गया है। जिसकी विधिवत उद्घाटन देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ऑनलाईन द्वारा किया।

पीएम मोदी द्वारा लेपटॉप के के बटन दबाते ही बरमसिया स्वास्थ्य केंद्र में उपस्थित लोगों के तालियों  की गड़गड़ाहट से बरमसिया गुंजायमान हो उठा। मौके पर जिप अध्यक्ष सुषमा देवी ने कहा कि सौभाग्य कि बात है कि बरमसिया व राधानगर को चुना गया है। गरीब जो आर्थिक तंगी के कारण बेहतर इलाज नहीं कर पाते थे वो भी अब मुफ्त में पांच लाख तक का इलाज करा सकेंगे।

बोकारो : विनोद बाबू झारखंड के युगदृष्टा थे-सुदेश महतो

प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ श्रीनाथ- अतिरिक्त को उत्क्रमित कर हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का नाम दिया गया है। विस्तृत परिमाण पर कार्यक्रम चलाया जाएगा। अब 12 बीमारियों का जांच एवं निदान किया जाएगा। यह प्रतिदिन योग प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जाएगा। कोई भी ग्रामीण यह प्रशिक्षण ले सकते है। लाल और पिला कार्ड धरियो को एक साल में पांच लाख तक स्वास्थ्य बीमा का लाभ ले सकेंगे।

चंदनकियारी : पीएम मोदी की सोच है स्वास्थ्य का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे- नोडल पदाधिकारी

गोल्डेन कार्ड मिलने पर भारतवर्ष के सभी निबंधित अस्पतालों में नि:शुल्क चिकित्सा के साथ-साथ दवा भी मुफ्त मिलेगा। रविवार को 6 लोगों को गोल्डेन कार्ड दिया गया। अगले एक माह आधी जनसंख्या को गोल्डेन कार्ड वितरण किया जाएगा। जिला नोडल पदाधिकारी डॉ. बीपी गुप्ता ने कहा कि रांची में प्रधानमंत्री राज्य के 10 अस्पताल एवं पीएचसी का ऑनलाइन शिलान्यास करेंगे।

गोमिया : गाड़ी कम होने पर महिला मंडल के सदस्यों ने किया सड़क जाम  

प्रधानमंत्री जी का सोच है स्वास्थ्य सेवा अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे । ग्रामीण स्वास्थ्य रहे तो तो उनके पारिवारिक जीवन रूप से निश्चित रूप से परिवर्तन होगा। इस अवसर पर उपस्थित अतिथियों ने प्रखंड के विश्वनाथ महतो, चपला देवी, राखोहरी बनर्जी, अधीर डोम, टिंकू लोहार समेत छह लोगों को गोल्डेन कार्ड दिया।

कार्यक्रम में मंत्री के निजी सचिव सुशांत मुख़र्जी, लोकेश साहनी, बीडीओ रविन्द्र कुमार गुप्ता, सीओ डॉ प्रमोद राम, प्रमुख हाशिरता रजवार, उपप्रमुख चंचला देवी, मुखिया संघ के अध्यक्ष देवाशीष सिंह, स्वास्थ्य कर्मी, सहिया, जनप्रतिनिधि, मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

निरसा : दिव्यांगों को दिया जाएगा कृत्रिम अंग, शिविर शुरू

more-story-image

चंदनकियारी : आजसू सिर्फ समझौते की राजनीति करती है- अमित...