सुप्रीम कोर्ट का आदेश, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्रियों को खाली करना होगा सरकारी बंगला

NewsCode | 7 May, 2018 12:06 PM

सुप्रीम कोर्ट का आदेश, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्रियों को खाली करना होगा सरकारी बंगला

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्रियों को मुफ्त सरकारी आवास नहीं मिलेगा। उत्तर प्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्रियों को ताउम्र बंगाल देने के कानून को सुप्रीम कोर्ट ने रद्द कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को एनजीओ लोकप्रहरी की याचिका पर फैसला सुनाते हुए इसे गैरकानूनी करार दिया।

कोर्ट के फैसले के बाद पूर्व मुख्यमंत्रियों को अपना लखनऊ स्थित आधिकारिक आवास छोड़ना होगा। सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार द्वारा बनाए उस कानून को खारिज कर दिया है, जिसके तहत पूर्व मुख्यमंत्रियों को राज्य सरकार ने स्थायी आवास के तौर पर सरकारी बंगला दिया था।

सुप्रीम कोर्ट ने संविधान की प्रस्तावना का हवाला देते हुए कहा कि इस कानून ने नागरिकों के बीच स्पेशल क्लास बना दिया है। एक बार जब पब्लिक सर्वेंट दफ्तर छोड़ देते हैं तो वो साधारण नागरिक बन जाते हैं। कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि कार्यकाल के बाद जनता के सरकारी धन से ये सुविधाएं उचित नहीं हैं।

काला हिरण मामला : जोधपुर कोर्ट में पेश हुए सलमान खान, अगली सुनवाई 17 जुलाई तक स्थगित

सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के बाद जिन पूर्व मुख्यमंत्रियों को अपने बंगले खाली करने होंगे, उनमें मुलायम सिंह यादव, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, बीएसपी प्रमुख मायावती, राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह, पूर्व CM नारायण दत्त तिवारी और अखिलेश यादव शामिल हैं।

कर्नाटक चुनाव : हर्पनहल्ली में होगा ‘दागी’ की किस्मत का फैसला

कोडरमा : भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने पीएम और सीएम का पुतला फूंका

NewsCode Jharkhand | 25 May, 2018 10:02 PM

कोडरमा : भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने पीएम और सीएम का पुतला फूंका

कोडरमाभाकपा माले कार्यकर्ताओं ने तिलैया शहर के झंड़ा चौक पर पीएम नरेन्द्र मोदी, सीएम रघुवर दास का पुतला फूंका और जनसभा की। जनसभा को श्यमादेव यादव मो. इब्राहिम, विरेन्द्र कुमार, इश्वरी राणा, रामधन यादव समेत कई नेताओं ने संबोधित किया। पार्टी कार्यकर्ता पेट्रोल-डीजल वृद्धि समेत अन्य सवालों को लेकर आंदोलन कर रहे थे।

कोडरमा : राजद का धरना, बीजेपी सरकार को जमकर कोसा

साथ ही 25 मई को धनवाद में पीएम द्वारा पार्टी नेताओं के द्वारा पूर्व में दी गई जानकारी के अनुसार करमा अस्पताल को मेडिकल कॉलेज बनाने के लिए इसकी आधारशिला नहीं रखे जाने का विरोध कर रहे थे। मौके पर धीरज कुमार समेत कई कार्यकर्ता मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

धनबाद : नामदारों को कभी कामदारों की पीड़ा समझ में नहीं आती- प्रधानमंत्री 

NewsCode Jharkhand | 25 May, 2018 9:24 PM

धनबाद : नामदारों को कभी कामदारों की पीड़ा समझ में नहीं आती- प्रधानमंत्री 

उर्वरक कारखाना खुलने से किसानों को मिलेगा फायदा

धनबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि नामदारों को कभी कामदारों की पीड़ा  समझ में नहीं आ सकती है। मोदी ने आज झारखंड के धनबाद जिले के बलियापुर में राज्य में करीब 27 हजार करोड़ रुपये की लागत से विभिन्न परियोजनाओं के शिलान्यास के बाद उपस्थित विशाल जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि कहा कि आजादी के इतने वर्षों तक देश के 18 हजार गांवों में बिजली नहीं पहुंच पायी थी, उनकी सरकार ने समय से पहले इस लक्ष्य को पूरा किया है।

उन्होंने कहा कि नामदार अमीरों की बात करते नहीं थकते, पूर्व की सरकार उर्वरकों के लिए  करोड़ों रुपये की सब्सिडी देती थी, ताकि किसानों को फायदा मिल सके, लेकिन ये उर्वरक किसानों तक नहीं पहुंच पाते थे और अमीरों के कारखाने में चले जाते थे। इसके कारण किसानों को उर्वरकों के लिए लाइन में भी लगना पड़ता था और कभी-कभी पुलिस की लाठियां भी खानी पड़ती थी, परंतु उनकी सरकार ने सत्ता में आते ही इस चोरी को बंद करने का निर्णय लिया।

धनबाद : मोदी के नेतृत्व में आर्थिक शक्ति बन रहा भारत- सीएम

उर्वरक में नीम की ऐसी खली मिलायी गयी, जिसका उपयोग सिर्फ किसानों के खेत में ही संभव है। पिछले दो वर्षों में कहीं से भी ऐसी खबर नहीं आयी कि किसानों को उर्वरक के लिए लाइन में लगनी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि 16 वर्ष बाद सिंदरी खाद कारखाना फिर से शुरू होने जा रहा है, इसके अलावा गोरखपुर और बरौनी खाद कारखाना में भी फिर से उत्पादन शुरू होगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज झारखंड में करीब 27हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं की शुरूआत हुई, कई राज्यों की इतनी बड़ी बजट राशि भी नहीं होती है, जबकि लगभग 80 हजार करोड़ रुपये की लागत की अन्य परियोजनाएं भी झारखंड में केंद्र सरकार के सहयोग से चल रही है।

पांच बड़ी परियोजनाओं का हुआ शिलान्यास

आज पांच बड़ी परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया, उनमें सिंदरी का खाद कारखाना, पतरातु में पावर प्रोजेक्ट, देवघर में एम्स और एयरपोर्ट और रांची में पाइप लाइन के माध्यम से रसोई गैस की आपूर्ति योजना शामिल है।

250 औषधि केंद्र खोलने को लेकर हुआ एमओयू

प्रधानमंत्री की मौजूदगी में राज्य में 250 औषधि केंद्र खोलने को लेकर एमओयू भी किया गया। कार्यक्रम के दौरान  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लघु फिल्म के माध्यम से स्वाबलंबी महिलाओं के अनुभव को भी सुना।  जिसमें  सूरज देवी मीठी क्रांति पर अनुभव साझा की, वहीं उषा उराइन सौभाग्य योजना पर बात रखी। शंकुतला दास स्वच्छता के बारे में बताया और जतरी देवी प्रधानमंत्री आवास योजना पर अनुभव को प्रधानमंत्री के समक्ष रखा। जबकि तेतिया देवी पॉलिटरी पर बात रखी और और लाइमुन्नी सोरेन डेयरी पर अनुभव बांटी।

समारोह को मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, केंद्रीय मंत्री आर.के.सिंह, अश्विनी चौबे, सुदर्शन भगत के अलावा सांसद पीएन सिंह और विधायक फूलचंद मंडल भी उपस्थित थे। इससे पहले राज्य के भूमि सुधार एवं राजस्व मंत्री अमर कुमार बाउरी ने स्वागत भाषण किया ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

कोडरमा : राजद का धरना, बीजेपी सरकार को जमकर कोसा

NewsCode Jharkhand | 25 May, 2018 9:17 PM

कोडरमा : राजद का धरना, बीजेपी सरकार को जमकर कोसा

कोडरमा। प्रखंड परिसर में राजद डोमचांच प्रखंड का एक दिवसीय धरना प्रखंड अध्यक्ष मनोज कुमार रजक की अध्यक्षता में संपन्न हुआ। कार्यक्रम का संचालन वार्ड पार्षद सह राजद के वरिष्ठ नेता अशोक यादव ने किया। सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश उपाध्यक्ष विरेंद्र प्रसाद मेहता ने कहा कि भाजपा सरकार के कार्यकाल में झारखंड के छोटे-छोटे व्यवसायियों को खत्म करने का इरादा है।

साथ ही उन्होने कहा कि सरकार देश-विदेश से बड़े-बड़े उद्योग घरानों को झारखंड में बसाना चाहती है। जिसके कारण झारखंड मोमेंटम कर बड़े-बड़े व्यापारियों को बुलाया जा रहा है और छोटे-छोटे व्यवसायियों को खत्म किया जा रहा है।

सभा को संबोधित करते हुए प्रखंड अध्यक्ष मनोज रजक ने कहा कि डोमचांच प्रखंड क्षेत्र की स्थिति दयनीय हो गयी है। यहां के ढिबरा मजदूरों में भूखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई। छोटे-छोटे व्यवसायियों का क्रशर ध्वस्त कर उनकी कमर तोड़ी जा रही है।

कोडरमा : 1 सप्ताह के अंदर बिजली-पानी की समस्या में हो सुधार नहीं तो राजद करेगा जन आंदोलन

वहीं बिजली की स्थिति आंख मिचैनी की तरह हो गई है। भीषण गर्मी में बिजली नहीं रहने के कारण लोग परेशान हैं और विद्यार्थियों को पठन पाठन में दिक्कत हो रही है। वहीं संजय दास ने कहा कि भाजपा सरकार में प्रशासन बेलगाम हो गई है, जिसके कारण भाजपा को अपने सरकार के ही खिलाफ धरना पर बैठना पड़ रहा है।

युवा अध्यक्ष सुरेंद्र यादव ने कहा कि सरकार की करनी और कथनी में अंतर है। यहां सरकार सिर्फ जनता को झूठा सपना दिखाती है और स्वयं इसे जुमला करार देती है। जैसे कि हाल ही के दिनों में करमा हॉस्पिटल में झूठ का होर्डिग लगाकर शिलान्यास का भ्रम फैलाया गया।

मौके पर प्रदेश महासचिव राजकुमार यादव, प्रदेश सचिव शिवनाथ यादव, जिप सदस्य सह युवा जिलाध्यक्ष राजकुमार यादव, प्रखंड अध्यक्ष सतगांवा जयशंकर प्रसाद, मरकच्चो प्रखंड अध्यक्ष मंजूर आलम, किसान प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष अर्जुन यादव, जिला सचिव किशुन सिंह के अलावा कई लोग मौजुद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने