क्‍या आम खाने से बढ़ता है वजन? जानिए आम खाने के फायदों के बारे में

NewsCode | 1 May, 2018 4:13 PM

क्‍या आम खाने से बढ़ता है वजन? जानिए आम खाने के फायदों के बारे में

नई द‍िल्‍ली। गर्मी का मौसम आते ही आम हमारे खान-पान में मिठास घोलने आ जाता है। लेकिन आम में मौजूद चीनी की मात्रा के चलते इसे वजन बढ़ने की वजह माना जाता है। ऐसे में आम के शौकीनों के मन में अक्सर यह दुविधा होती है कि क्या वास्तव में आम खाने से वजन बढ़ता है?

जानिए आम खाने के फायदे के बारे में

– आम एक संपूर्ण आहार नहीं है लेकिन विटामिन A, आयरन, कॉपर और पोटैशियम जैसे तमाम पोषक तत्वों की खान है।

– आम खाने से एनर्जी मिलती है। साथ ही यह शरीर को प्रचुर मात्रा में चीनी उपलब्ध कराता है, जिससे शरीर की एनर्जी लेवल को बढ़ाने में मदद मिलती है। इसे खाने से आपको दिन भर एनर्जी मिलती रहती है।

– यह विटामिन C का भंडार है, जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।  इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर भी पाया जाता है।

– बहुत ज्यादा आम खाना भी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

– एक मध्यम आकार के आम में लगभग 150 कैलोरीज पाई जाती हैं। इसलिए जरूरत से ज्‍यादा कैलोरी लेने से वजन बढ़ने के आसार अधिक होते हैं।

– खाना खाने के बाद आम खाने से कैलोरी इनटेक बढ़ जाता है। इससे बचने के लिए हम अपने सुबह और शाम के नाश्ते के समय आम ले सकते हैं।

अगर जिंदगी से परेशान हो आप…तो अंगूर खाओ

फेफड़े को रखना हो स्वस्थ तो छोड़ें धूम्रपान और खूब खाएं सेब, टमाटर

रांची : लेबर रूम, ऑपरेशन थियेटर व आईसीयू में सुधार करें- निधि खरे

NewsCode Jharkhand | 22 May, 2018 9:08 PM

रांची : लेबर रूम, ऑपरेशन थियेटर व आईसीयू में सुधार करें- निधि खरे

रांची। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, झारखण्ड के द्वारा मातृत्व स्वस्थ्य के अन्तर्गत लक्ष्य कार्यक्रम का उन्मुखीकरण पर आज रांची में एकदिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का उद्धाटन करते हुए स्वास्थ्य विभाग की प्रधान सचिव निधि खरे   ने कहा कि मातृत्व स्वास्थ्य हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है।

इसमे सुधार के लिए हमें रणनीति के साथ लगातार प्रयास करने की आवश्यकता है। उन्‍होंने राज्य के सभी लेबर रूम की गुणवता सुधारने तथा इसमे कार्य करने वाले कर्मियों को आवश्यक प्रशिक्षण देने हेतु कदम उठाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि राज्य के अस्पतालों के प्रति लोगों का विश्वास बढ़ा है।

सिल्‍ली : सुदेश महतो के लिए वोट मांगने निकलीं नेहा महतो

अब लोग सदर अस्पतालों में प्रसव कराना चाहतें है, लेकिन हमें और सुधार करने की आवश्यकता है। लेबर रूम, ऑपरेशन थियेटर तथा आईसीयू में सुधार नही करने वाले जिलों पर कार्रवाई होगी। इस अवसर पर प्रधान सचिव ने कहा कि एमडीआर की जांच समय पर होनी चाहिए। यदि कोई दोषी पाया जाता है तो उसके विरूद्ध सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

वैसी सहियाएं जो माताओं को प्रसव हेतु प्राईवेट अस्पतालों में ले जाती है, उनके विरूद्ध भी सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने परिवार नियोजन कार्यक्रमों को प्रभावी बनाने हेतु इसमें पति-पत्नी, सास-पति आदि को भी शामिल करने का सुझाव दिया।

कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए कृपा नन्द झा, अभियान निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने कहा कि सभी गर्भवती माताओं का एएनसी  समय पर होना चाहिए पहला एएनसी में देरी के कारण बाकी एएनसी  समय पर नही हो पाता है।

समय से एएनसी  होने पर हम प्रसव पूर्व भी खतरे को चिन्हित कर उसका इलाज कर सकते है। उन्होने बताया कि राज्य में लगभग 83 प्रतिशत संस्थागत प्रसव हो रहा है, बाकी घर या अन्य जगह पर होने वाले को प्रसव को चिन्हित कर इसे संस्थान पर करवाना होगा। उन्होंने कहा कि अस्पतालों मे सेवा प्रदाताओं का गुणवता व्यवहार बहुत ही महत्वपूर्ण होता है।

बुरा बर्ताव साफ सफाई की कमी शौचालय, दवा आदि की कमी तथा बुरे अनुभव के कारण भी लोग दुबारा अस्पताल में आने से कतराने लगते है।  इस कार्यशाला का उद्देश्य मातृ मृत्यु दर तथ शिशु मृत्यु दर को कम कर, प्रसव पूर्व से लेकर प्रसव उपरान्त तक जच्चा तथा बच्चा को गुणवता पूर्ण स्वास्थ्य सुविधा सम्मान के साथ उपलब्ध कराना था।

साथ ही लेबर रूम ओटी, आईसीयू के गुणवता में सुधार कर इसे राष्ट्रीय स्तरीय बनना था। डॉ सुमिता घोष, डॉ महताब सिंह, डॉ जगजीत सिंह, परामर्शी एनएचएसआरसी ने प्रतिभागियों को  लक्ष्य  के बारे में विस्तार पूर्वक प्रशिक्षण दिया।

इस अवसर पर डॉ सुमन्त मिश्रा, निदेशक प्रमुख, स्वास्थ्य, डॉ बीना सिन्हा, प्रभारी, शिशु कोषांग, डॉ एसके सिंह, उपनिदेशक, निदेशालय के निदेशक, अपर निदेशक, उपनिदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के परामर्शी,कॉर्डिनेटर, सभी जिलों के सिविल सर्जन, डीपीएम, हॉस्पिल मैनेजर आदि  उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Read Also

नई होंडा अमेज़ के किस वेरिएंट में मिलेगा कौन सा फीचर, जानिये यहां

NewsCode | 22 May, 2018 8:33 PM

नई होंडा अमेज़ के किस वेरिएंट में मिलेगा कौन सा फीचर, जानिये यहां

होंडा ने हाल ही में नई अमेज़ को लॉन्च किया है। इसकी कीमत 5.59 लाख रूपए से शुरू होती है जो 8.99 लाख रूपए (एक्स-शोरूम) तक जाती है।नई होंडा अमे चार वेरिएंट ई, एस, वी और वीएक्स में उपलब्ध है। नई अमेज़ के किस वेरिएंट में कौन से फीचर मिलेंगे, जानिये यहां…

वेरिएंट और कीमत

पेट्रोल डीज़ल
5.59 लाख रूपए 6.69 लाख रूपए
एस 6.49 लाख रूपए 7.59 लाख रूपए
वी 7.09 लाख रूपए 8.19 लाख रूपए
वीएक्स 7.57 लाख रूपए 8.67 लाख रूपए
एस सीवीटी 7.39 लाख रूपए 8.39 लाख रूपए
वी सीवीटी 7.99 लाख रूपए 8.99 लाख रूपए

होंडा अमेज़ ई

ड्यूल एयरबैग

आईएसओफिक्स चाइल्ड सीट एंकर

एबीएस, ईबीडी

डे-नाइट आईआरवीएम

रियर पार्किंग सेंसर

सभी दरवाजों पर बोटल होल्डर

ऑल पावर विंडो, ड्राइवर साइड वन-टच ऑपरेशन के साथ

इन फीचर का अभाव खलता है

बॉडी कलर डोर हैंडल और बाहरी शीशे

ऑडियो सिस्टम

व्हील कवर

सेंट्रल लॉकिंग

इलेक्ट्रिक एडजस्टेबल बाहरी शीशे

रियर डिफॉगर

होंडा अमेज़ एस

इस में ई वेरिएंट वाले फीचर के अलावा कुछ अतिरिक्त फीचर दिए गए हैं, जिनकी जानकारी इस प्रकार है…

– पावर एडजस्टेबल और फोल्डिंग बाहरी शीशे, इंटिग्रेटेड ब्लीकंर्स के साथ

– बॉडी कलर डोर हैंडल और बाहरी शीशे

– व्हील कैप

– गियर इंडिकेटर (केवल सीवीटी में)

– केबिन में पियानो ब्लैक और सिल्वर फिनिशिंग

– ऑक्स-इन, ब्लूटूथ और यूएसबी सपोर्ट करने वाला 2-डिन ऑडियो सिस्टम

– स्टीयरिंग माउंटेड कंट्रोल्स

– फोर-डोर स्पीकर्स

– सेंट्रल लॉकिंग और की-लैस एंट्री

– फ्रंट और रियर एक्सेसरीज सॉकेट

– ऊपर-नीचे एडजस्ट होने वाला स्टीयरिंग व्हील

– हाइट एडजस्टेबल ड्राइवर सीट

– एडजस्टेबल फ्रंट हैडरेस्ट

– रियर आर्मरेस्ट, कप होल्डर के साथ

इन फीचर का अभाव खलता है

रियर डिफॉगर

नई होंडा अमेज़ के किस वेरिएंट में मिलेगा कौन सा फीचर, जानिये यहां होंडा अमेज़ ई होंडा अमेज़ वीएक्स | New Honda Amaze 2018 Variants explained Auto Car News | NewsCode - Hindi News

होंडा अमेज़ वी

इस में एस वेरिएंट वाले फीचर के अलावा कुछ अतिरिक्त फीचर दिए गए हैं, इनकी जानकारी इस प्रकार है…

एलईडी लाइट गाइड

15 इंच अलॉय व्हील

फ्रंट फॉग लैंप्स

होंडा स्मार्ट की

पुश स्टार्ट/स्टॉप बटन

क्लाइमेट कंट्रोल

बड़ा एमआईडी इंस्ट्रूमेंट कंसोल

रियर विंडशेल्ड डिफॉगर

पैडल शिफ्ट (सीवीटी)

फ्रंट और रियर मडगार्ड

नई होंडा अमेज़ के किस वेरिएंट में मिलेगा कौन सा फीचर, जानिये यहां होंडा अमेज़ ई होंडा अमेज़ वीएक्स | New Honda Amaze 2018 Variants explained Auto Car News | NewsCode - Hindi News

होंडा अमेज़ वीएक्स

इस में वी वेरिएंट वाले फीचर के अलावा कुछ अतिरिक्त फीचर दिए गए हैं, इनकी जानकारी इस प्रकार है…

एंड्रॉयड ऑटो, एपल कारप्ले और वॉइस कमांड सपोर्ट करने वाला 7.0 इंच डिजिपैड 2.0 टचस्क्रीन इंफोटेंमेंट सिस्टम

नेविगेशन सिस्टम

रियर कैमरा

ड्राइवर साइड विंडो, वन टच अप/डाउन पिंच गार्ड के साथ

क्रूज़ कंट्रोल

इंजन और परफॉर्मेंस

पेट्रोल डीज़ल
इंजन क्षमता 1.2 लीटर आई-वीटेक 1.5 लीटर आई-डीटेक
पावर 90 पीएस 100 पीएस / 80 पीएस
टॉर्क 110 एनएम 200 एनएम / 160 एनएम
गियरबॉक्स 5-स्पीड एमटी/सीवीटी 5-स्पीड एमटी / सीवीटी
माइलेज 19.5/19 किमी प्रति लीटर 27.4 / 23.8 किमी प्रति लीटर

यह भी पढें :

नई होंडा अमेज़ Vs फोर्ड एस्पायर Vs टाटा टिगॉर Vs फॉक्सवेगन एमियो

नई होंडा अमेज़ का मुकाबला हुंडई एक्सेंट से…

(साभार : कारदेखो डॉट कॉम)

श्वेता बच्चन ने रखा एक्टिंग में कदम, बिग बी ने बेटी को बताया परिवार में सबसे उम्दा कलाकार

NewsCode | 22 May, 2018 6:59 PM

श्वेता बच्चन ने रखा एक्टिंग में कदम, बिग बी ने बेटी को बताया परिवार में सबसे उम्दा कलाकार

नई दिल्ली। बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन के पूरे परिवार का फिल्म इंडस्ट्री से गहरा नाता है। बात चाहें जया बच्चन की हो, बहु ऐश्वर्या की हो या फिर बेटे अभिषेक बच्चन की। सभी ने बॉलीवुड की कई फिल्मों में अपने अभिनय से दर्शकों का मन मोहा है। इस सूची में में अब तक अगर किसी का नाम शामिल नहीं था, तो वो थीं बिग बी की बेटी श्वेता बच्चन नंदा। लेकिन अब अमिताभ बच्चन की बेटी श्वेता बच्चन नंदा भी जल्द अभिनय के क्षेत्र में उतरने वाली हैं। हालांकि, वो किसी फिल्म में नजर नहीं आएंगी बल्कि वो अपने पापा अमिताभ बच्चन के साथ एक ज्वैलरी के विज्ञापन में दिखाई देंगी।

दरअसल, भविष्य में श्वेता का ऐक्टिंग के क्षेत्र में हाथ आजमाने का कोई इरादा नहीं है, यह तो अपने पिता के साथ एक ऐड के ऑफर को वह करने से मना नहीं पायीं। इसके अलावा श्वेता का फिल्मों में करियर बनाने का कोई इरादा नहीं है।

मीडिया खबरों की मानें तो, इस ऐड के लिए भी बड़ी मुश्किल से श्वेता को तैयार किया जा सका था।इसके पीछे खुद उनके पिता बिग बी को एक बड़ी वजह माना जा रहा है। सेट पर मौजूद एक शख्स की मानें तो, जहां पिता-बेटी पर फिल्माए जा रहे एक बेहद इमोशनल ऐड के जरिए बच्चन साहब को बेटी के साथ काम करने की इच्छा थी, वहीं श्वेता को भी इस तरह से पूरा दिन अपने पिता के साथ सेट पर बिताने का मौका मिल गया।

इसके अलावा सूत्र से मिली जानकारी के अनुसार, ‘बिग बी के पास इससे जुड़ी बेहद रोचक कहानी भी सुनाने को है। दरअसल एक बार अपने बचपन में श्वेता पिता अमिताभ से मिलने फिल्म स्टूडियो पहुंचीं। जहां गलती से उनके मेकअप रूम में लगे बल्ब के सॉकेट में हाथ डालने से उन्हें करंट लग गया था। हालांकि यह महज एक दुर्घटना भर थी, मगर उसके बाद फिर कभी श्वेता उनसे मिलने सेट पर नहीं आईं। जो सिलसिला अब इस ऐड शूट करने के बाद जाकर टूट सका है।

हालांकि बिग बी की मानें तो भले ही श्वेता ऐक्टिंग के क्षेत्र में परिवार के बाकी सदस्यों की तरह कभी ऐक्टिव नहीं रहीं, मगर वह परिवार में सबसे बेहतरीन अदाकारा हैं। बिग बी की मानें तो, अक्सर किसी के बारे में बात करते हुए या किसी की नकल उतारने में श्वेता काफी माहिर हैं, जिसके बारे में बेहद कम लोग ही जानते हैं।’

फॉलोअर्स की संख्या ना बढ़ने से परेशान अमिताभ बोले- अरे ट्विटर जी, अब तो नंबर बढ़ा दो

..जब देशना ने बिग बी को लुभाया

बिग बी ने किया ये नया प्रयोग, आज तक किसी एक्टर ने नहीं किया ऐसा

मेरे पास अपने पीछे छोड़ने लायक कोई विरासत नहीं : अमिताभ बच्चन

X

अपना जिला चुने