दुमका : 42 गांवों के शहरीकरण के विरोध में ग्रामीणों ने की बैठक

NewsCode Jharkhand | 15 October, 2017 9:31 PM

दुमका : 42 गांवों के शहरीकरण के विरोध में ग्रामीणों ने की बैठक

दुमका। ग्रामीणों ने सामाजिक स्वशासन व्यवस्था मोड़े मांझी बैठक रविवार को की। बैठक में जनप्रतिनिधियों को 42 गांवों का शहरीकरण का विरोध करने व नहीं मानने पर राजनीतिक पार्टियों के नेताओं का राजनीतिक व सामाजिक बहिष्कार करने का किया निर्णय लिया।

बैठक सदर प्रखंड के बेहराबांक पंचायत के बागडूबी गांव के फुटबॉल मैदान में की गई, जिसमें 42 गांवों को दुमका नगरपालिका में मिलाने, वर्तमान स्थानीय निति, भूमि अर्जन, पुनर्वास और पुर्नव्यवस्थापन में उचित प्रतिकार और पारदर्शिता का अधिकार (झारखण्ड संशोधन) विधेयक 2017 के विरोध किया गया।

बैठक में नगरपालिका में नहीं जोड़ने, वर्तमान स्थानीय निति आदिवासी और मूलवासी के हित के विरुद्ध बताते हुए 1932 खतियान आधारित स्थानीयता निति लागू करने एवं भूमि अर्जन,पुनर्वासन और पुनव्यर्वस्थापन में उचित प्रतिकार करने का निर्णय लिया गया। ग्रामीणों ने मोड़े मांझी बैठक दारू, हड़िया एवं पैसा लेकर वोट नहीं बेचने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया।

बैठक में शिव लाल टुडू, सुनील मुर्मू, लुखीराम सोरेन, दिलीप टुडू, कर्नल टुडू, धुमा हांसदा, बालेश्वर बास्की, बाइबिल हांसदा, सुनील हांसदा, दिलीप हांसदा, विनोद हेम्ब्रम, सोनोदी हेम्ब्रम, फुलमुनी हांसदा, आदि आस-पास के गांवों के दर्जनों ग्रामीण उपस्थित थे।

सरायकेला : सर्वे रिपोर्ट से खुलासा, दलमा वाइल्डलाइफ सेंचुरी में जानवरों की कमी

NewsCode Jharkhand | 26 May, 2018 6:24 PM

सरायकेला : सर्वे रिपोर्ट से खुलासा, दलमा वाइल्डलाइफ सेंचुरी में जानवरों की कमी

सरायकेला। नेशनल वाइल्डलाइफ सर्वे 2018 की अगर मानें तो झारखंड के सरायकेला-खरसांवा जिला स्थित दलमा वन्य प्राणी अभ्यारण्य में बेहद ही चौंकाने वाले परिणाम सामने आए हैं। बता दें पिछले दिनों राष्ट्रीय वन्य पशु जनगणना का काम पूरा हुआ, जिसमें दलमा सेंचुरी में निवास करने वाले जानवरों में कमी देखी गई। वही दलमा सेंचुरी को हाथियों के लिए अनुकूल माना जाता है। यहां बंगाल और उड़ीसा से भी हाथी आकर प्रवास करते हैं।

सरायकेला : निपाह वायरस का खौफ, लेकिन अंजान है यहाँ के लोग

जानकारी के अनुसार हाल के दिनों में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ के बाद लगातार हाथियों का जाना शुरू हो गया है। एक समय हुआ करता था जब दलमा सेंचुरी में 100 से भी ज्यादा हाथी और जंगली जानवर प्रवास करते थे, वही अब महज 25 से 30 की संख्या में हाथी बचे हैं। आशंका यह जताई जा रही है कि बारुद के गंध से पूरा दलमा अभयारण्य दमक रहा है। जिसकी भनक हाथियों को लगते ही हाथियों ने दलमा से जाना शुरू कर दिए है।

इधर राष्ट्रीय वाइल्डलाइफ सर्वे के अनुसार दूसरे जंगली जानवर भी धीरे-धीरे दलमा सेंचुरी से जा रहे हैं। राष्ट्रीय पशु सुरक्षा सर्वेक्षण की दृष्टिकोण से यह एक बेहद ही गंभीर मामला माना जा रहा है। वही पिछले कुछ दिनों दलमा के कांकादशा और बिजली घाटी में लगातार नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी है। रुक-रुक कर दोनों ओर से फायरिंग की जा रही है, जिससे दलमा में जंगली जानवरों के लिए खतरा बढ़ गया है। वही वन विभाग इसको लेकर काफी चिंतित है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

4 साल पूरा होने पर कटक में बोले मोदी, देश में कन्फ्यूजन नहीं, कमिटमेंट वाली सरकार

NewsCode | 26 May, 2018 5:58 PM

4 साल पूरा होने पर कटक में बोले मोदी, देश में कन्फ्यूजन नहीं, कमिटमेंट वाली सरकार

कटक। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को कटक पहुंचे। कटक बालीयात्रा मैदान में होने वाली जनसभा में शामिल होकर प्रधानमंत्री अपने कार्यकाल के चार साल का हिसाब जनता के सामने रख रहें हैं।

ओडिशा जाने से पहले पीएम मोदी ट्विटर पर लिखा कि ‘2014 में आज ही के दिन हम सबने साथ मिलकर भारत को ट्रांसफॉर्म करने की दिशा में काम शुरू किया। पिछले 4 सालों में विकास एक बड़ा मूवमेंट चला है। हर नागरिक को अहसास हुआ है कि वह देश के विकास में अहम भूमिका निभा रहा है। 125 करोड़ जनता देश को नई ऊंचाइयों पर ले जा रही है।’

Live Updates:

इन चार वर्षों में, 125 करोड़ भारतीयों का मानना है कि हमारा भारत बदल सकता है। आज देश ‘काला धन’ से जन धन तक जा रहा है, बुरे शासन से सुशासन तक

एक परिवार को बचाने के लिए सभी नेता एक हो रहे हैं: पीएम मोदी

कालाधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई से कट्टर दुश्मन भी दोस्त बने, जनता सब देखती है, सब समझती हैः पीएम मोदी

मोदी ने कहा, “हमारी सरकार साफ नीयत के साथ सही विकास कर रही है। न हम कड़े फैसले लेने से डरते हैं और न ही मत बड़े फैसले लेने से चूकते हैं। देश में कमिटमेंट (प्रतिबद्धता) वाली सरकार होती है, तभी सर्जिकल स्ट्राइक जैसे फैसले होते हैं। जब देश में कंफ्यूजन नहीं कमिटमेंट वाली सरकार होती है, तो वन रैंक वन पेंशन और शत्रु संपत्ति जैसे कानून बनते हैं।”

जनधन, आधार और मोबाइल फोन के जरिए 80 हजार करोड़ बचायाः पीएम मोदी

एनडीए सरकार में रहने वाले बहुत से लोग गरीबी में रहते हैं और यही कारण है कि गरीबों का सुधार उनकी सबसे बड़ी प्राथमिकता है।

पहली बार देश के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और पीएम ऐसे लोग हैं जिन्होंने बचपन में गरीबी देखी हैः पीएम मोदी

एक परिवार को बचाने के लिए सभी नेता एक हो रहे हैं: पीएम मोदी

BJP सरकार सही रास्ते पर, हमने जनता का विश्वास और मत दोनों जीता: पीएम मोदी

हमने 4 वर्षों में देश के 125 करोड़ लोगों में भरोसा पैदा कियाः पीएम मोदी

कटक में बोले PM मोदी- हम बड़े फैसले लेने से नहीं चूकते हैं

देश में कन्फ्यूजन नहीं, कमिटमेंट वाली सरकारः पीएम मोदी

महान स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस की जन्मभूमि है कटकः पीएम मोदी

महान स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस की जन्मभूमि है कटकः पीएम मोदी

गरीबों का पसीना गंगाजल की तरह: पीएम मोदी

मोदी सरकार के 4 साल: राहुल गांधी ने मोदी को दिया F ग्रेड, लेकिन इन दो कामों के लिए की तारीफ

गोवा: बीच पर प्रेमी के सामने हुआ प्रेमिका का गैंगरेप, दो आरोपी गिरफ्तार

देवघर : मलमास की तेरस आज, बाबा के मंदिर में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

NewsCode Jharkhand | 26 May, 2018 5:56 PM

देवघर : मलमास की तेरस आज, बाबा के मंदिर में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

लाखों की संख्या में बाबा दरबार पहुंचे श्रद्धालु

देवघर। देवघर के बाबा मंदिर में मलमास के तेरस को लेकर हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं की जनसैलाब उमड़ पड़ी है। अहले सुबह कांचा जल पूजा और सरकारी पूजा के बाद लगभग सुबह चार बजे भक्तों के लिए पट खोल दिया गया। जहां भक्त जलार्पण कर रहे हैं।

वहीं जिला प्रशासन द्वारा विधि व्यवस्था को लेकर काफी संख्या में पुलिस बल लगा रखे हैं। आज का दिन मलमास मेला का खास दिन है। बाबा मंदिर के पुरोहित बताते हैं कि सावन की सोमवारी की जो महत्व है वह आज मलमास के तेरस की मान्यता है। आज जो भी भक्त बाबा भोले को गंगाजल से जलार्पण करते हैं उनको मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है।

देवघर : श्रावणी मेला तक पूरी तरह शुद्ध हो जाएगी शिवगंगा- नगर आयुक्त

इस मास में खास कर मध्य प्रदेश के रीवा, सतना, शहडोल, सीधी, और उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद, मिर्जापुर, बांदा जिले से लाखों श्रद्धालु आये। आज का दिन महत्वपूर्ण है और सभी श्रद्धालु इलाहाबाद संगम से गंगा जल भरके बाबा मंदिर में जलार्पण करते है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

X

अपना जिला चुने