दुमका : पैसे बांटने वाले पर भड़के ग्रामीण, लोगों ने धक्का मुक्की कर पुलिस को सौंपा

NewsCode Jharkhand | 16 April, 2018 9:20 PM

दुमका : पैसे बांटने वाले पर भड़के ग्रामीण, लोगों ने धक्का मुक्की कर पुलिस को सौंपा

दुमका। नगर पर्षद चुनाव, दुमका में मतदाताओं को पैसे बांटने के आरोप में भाजपा अध्यक्ष पद के प्रत्याशी के पति संदीप रक्षित 18 नंबर वार्ड के कानूपाड़ा ग्रामीणों ने देर रात करीब एक बजे घेर लिया। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि प्रत्याशी पति सोमवार को होने वाले नगर पर्षद चुनाव को प्रभावित करने के लिए मतदाताओं के बीच पैसे बांट रहे थे। प्रत्याशी पति के साथ दो अन्य स्कूटी सवार लोग थे। जो आक्रोशित ग्रामीणों को देख स्कूटी सवार व्यक्ति भागने में सफल रहा।

भाजपा प्रत्याशी लोगों के हत्‍थे चढ़ गये। लोगों ने धक्का मुक्की कर पकड़ पुलिस के हवाले कर दिया। सूचना पाकर निर्दलीय अध्यक्ष पद के प्रत्याशी पति अजय कुमार झा अपने समर्थकों के साथ थाना पहुंचे। जहां उन्होंने पुलिस को लिखित शिकायत की।

बाद में भाजपा प्रत्याशी पति संदीप रक्षित ने भी अपनी सफाई देते हुए लिखित आवेदन दिया। जिसमें सफाई देते हुए कहा कि विरोधी पार्टियों द्वारा पैसा बांटने की सूचना थी। जिसके लिए मौके पर पहुंचा, लेकिन साजिश के तहत लोगों द्वारा फंसाने की बात कही।

गढ़वा : मतदान को लेकर प्रशासन तैयार, वोटिंग सेंटर पर भेजे गये बैलेट बॉक्स

देर रात हो-हंगामा को देख पुलिस भाजपा पद प्रत्याशी के पति संदीप रक्षित को थाना में बैठाये रखा। बाद में अहले सुबह बॉन्ड लिखवा भाजपा प्रत्याशी पति को छोड़ा गया। मामले में थाना प्रभारी देवब्रत पोद्दार ने बताया कि मामले को एसडीओ के अग्रसारित किया गया है। वरीय पदाधिकारी के निर्देशानुसार अग्रतर कार्रवाई की जायेगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

गोड्डा : हार में जातीय समीकरण बनी बड़ी वजह- अजित सिंह

NewsCode Jharkhand | 21 April, 2018 7:23 PM

गोड्डा : हार में जातीय समीकरण बनी बड़ी वजह- अजित सिंह

गोड्डा। नगर निकाय चुनाव में भाजपा को मिली करारी हार को लेकर अध्यक्ष प्रत्याशी अजित सिंह काफी दुखी नजर आ रहे हैं, भाजपा के गढ़ में मिली बड़ी शिकस्त को अजित सिंह बड़ी चूक बताते नज़र आ रहे हैं। मीडिया से हुई विशेष बातचीत में उन्होंने कहा कि चुनाव में मिली हार के बहुत सारे कारण रहे हैं मगर चुनाव प्रबंधन में भारी गड़बड़ी के कारण गोड्डा नगर निकाय चुनाव में पार्टी दोनों सीट हार गई।

पार्टी के कार्यकर्ता और नेता एकजुटता के साथ जनता के बीच अपनी बात दमदार तरीके से नहीं रख पाए जिस कारण भाजपा को नुकसान हुआ। वोट समीकरण पर बोलते हुए अजित सिंह ने कहा कि पूरे चुनाव में भाजपा को सभी वर्गों का वोट मिला मगर जीत हार में जातीय समीकरण भी बड़ी वजह बनी। इन सबके साथ-साथ पार्टी के बिखराव के कारण भी पार्टी को बड़ा नुकसान हुआ।

कांग्रेस के अध्यक्ष प्रत्याशी ध्यान झा का नाम की चर्चा करते हुए, उन्होंने कहा कि ध्यान झा चुनाव से ठीक पहले भाजपा में ही थे मगर एन वक्त ध्यान झा का कांग्रेस में जाना भाजपा को नुकसान पहुंचा गया। जानकारी हो कि चुनाव परिणाम में भाजपा के अध्यक्ष प्रत्याशी को 4712 और कांग्रेस प्रत्याशी को 2611 वोट मिले जबकि निर्दलीय विजेता प्रत्याशी को 6386 वोट मिला था।

पलामू : कड़ी सुरक्षा के बीच शांतिपूर्ण तरीके से हुआ मतदान

हालांकि बातचीत के अन्त में विजयी प्रत्याशी को अनुभवी बताते हुए अजित सिंह ने कहा कि अध्यक्ष गुड्डू मंडल और उपाध्यक्ष वेणु चौबे दोनों को गोड्डा की जनता ने इस बार चुना है, दोनों जनता की उम्मीदों पर दोनों खरा उतरें यही आशा और उम्मीद है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

रांची : निकाय चुनाव में विजयी प्रत्याशियों को बधाई – आजसू

NewsCode Jharkhand | 20 April, 2018 10:13 PM

रांची : निकाय चुनाव में विजयी प्रत्याशियों को बधाई – आजसू

रांची। आजसू पार्टी के केंद्रीय प्रवक्ता डॉ. देवशरण भगत ने नगर निकाय चुनाव में जीते हुए प्रत्याशियों को बहुत-बहुत बधाई दी है। राज्य में पहली बार दलगत रूप से नगर निकाय चुनाव संपन्न हुआ नगर निकाय क्षेत्र में विकास को गति मिलेगा। चुने हुए जनप्रतिनिधियों को जनता के अकांक्षाओं के अनुरूप कार्य करने के लिए अधिकार भी मिलना चाहिए।

आजसू पार्टी के सभी उम्मीदवारों को धन्यवाद। जीत और हार कार्य करने के लिए प्रेरित करता है। हम हमेशा जनता के मुद्दों के साथ उनके बीच रहकर सेवा और संघर्ष करें।

आजसू पार्टी प्रत्याशी ने जताया आभार

आजसू पार्टी की रांची नगर निगम, मेयर प्रत्याशी कुसुम रंजीता सिंह मुण्डा ने कहा कि हार और जीत जनसेवा का पैमाना नहीं होता। मुझे अपना स्नेह, समर्थन और सहयोग देने के लिए रांची वासियों को बहुत-बहुत धन्यवाद। आगे भी मैं आपके आकांक्षाओं के अनुरूप काम करती रहूंगी। जनता की सेवा ही आजसू पार्टी का धर्म है।

रांची : शहरों में इसबार जनहित की सरकार-राजेंद्र मेहता

आगे उन्होंने आशा लकड़ा को जीत पर बधाई देते हुए कहा कि राज्य की राजधानी रांची का विकास हम सभी मिलजुल कर करेंगे। लड़ाई यहीं खत्म अब राजधानी रांची के विकास की बारी है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : निकाय चुनाव परिणाम अप्रत्याशित नहीं – झाविमो

भाजपा को इतराने की जरूरत नहीं

NewsCode Jharkhand | 20 April, 2018 10:01 PM

रांची : निकाय चुनाव परिणाम अप्रत्याशित नहीं – झाविमो

रांची। झारखंड विकास मोर्चा के केन्द्रीय प्रवक्ता योगेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा है कि निकाय चुनाव परिणाम कहीं से भी अप्रत्याशित नहीं है। साथ ही इस परिणाम को किसी भी राजनीतिक दल को अपने लिए उत्साहवर्द्धक व हताशा का संकेत भी नहीं माना जाना चाहिए।

निकाय चुनाव में अधिकांशतः शहरी मतदाताओं की भागीदारी होती है और अमूमन इन शहरी मतदाताओं को भाजपा का वोट बैंक माना जाता रहा है। जैसे ही शहर छोड़कर थोड़ा भी ग्रामीण परिवेश दिखता है, वहां वोटरों का मिजाज बदल जाता है और भाजपा की परेशानी शुरू हो जाती है।

निकाय चुनाव परिणाम बता रहे हैं कि जिन जगहों पर मामूली अंतर से विपक्षी दलों की हार हुई है। लिहाजा इस परिणाम से भाजपा को अधिक इतराने की जरूरत नहीं है और न ही इस स्वाभाविक परिणाम को राज्य सरकार को अपने द्वारा किये जा रहे कथित विकास का जनमत संग्रह मानना चाहिए।

जमशेदपुर : बस्ती लीज पर आजसू का जनसंपर्क, निशाने पर रघुवर दास

सिंह ने कहा कि निकाय चुनाव में भी झाविमो अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने समान विचारधारा की पार्टियों की विपक्षी एकता का प्रयास किया था परंतु वह कतिपय कारणों से सफल नहीं हो पायी। अगर विपक्षी एकता बनी होती तो शहरी क्षेत्रों को अपना जागीर समझने वाली भाजपा को अपनी जमीनी हकीकत का पता चल जाता।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

© Copyright 2017 NewsCode - All Rights Reserved.