दुमका : नगर निकाय में 58 जबकि बासुकीनाथ में 78 फीसदी मतदान, पुख्ता थे सुरक्षा

NewsCode Jharkhand | 16 April, 2018 9:39 PM

दुमका : नगर निकाय में 58 जबकि बासुकीनाथ में 78 फीसदी मतदान, पुख्ता थे सुरक्षा

शांतिपूर्ण तरीके से मतदान संपन्न

दुमका। उपराजधानी दुमका के नगर पर्षद निकाय और बासुकीनाथ नगर पंचायत चुनाव थोड़े नोक-झोंक के साथ शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो गा। दुमका में कुल 39 मतदान केंद्रों में औसतन 58 फीसदी और बासुकीनाथ नगर पंचायत में 19 मतदान केंद्रों पर औसतन 77 फीसदी मतदान हुआ।

इस चुनाव में नगर पार्षद के लिए अध्यक्ष के 5, उपाध्यक्ष के सात सहित 21 वार्ड पार्षदों के कुल 101 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे थे। सभी का भाग्य मतदान पेटी में कैद हो गया। वही बासुकीनाथ नगर पंचायत मे अध्यक्ष पद के चार एवं उपाध्यक्ष पद के सात सहित 89 प्रत्याशी चुनावी मैदान में किस्तम अजमा रहे थे। दोनों स्थानों पर अपने चहेते उम्मीदवारों को वोट करने के लिए लोग घरों से निकले और मतदान किया।

डीसी-एसपी खुद रहे चौकस

खुद जिले के उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक, डीटीओ और डीडीसी शांतिपूर्ण चुनाव को संपन्न कराने के लिए चैकस दिखे। इधर प्रत्याशी ने भी अपने जीत को लेकर जनता पर भरोसा जताया है। यहां बता दें कि दुमका में 16 अतिसंवेदनशील, 19 संवेदनशील और 4 सामान्य मतदान केंद्र सहित कुल 39 मतदान केंद्र थे। जबकि बासुकीनाथ में 3 अतिसंवेदनशील, 11 संवेदनशील और 4 सामान्य मतदान केंद्र सहित कुल 19 मतदान केंद्र बनाया गया था।

14 सेक्टर पदाधिकारी, 43 पीठासीन पदाधिकारी को तैनात किया गया था। साथ ही बासुकीनाथ में 7 सेक्टर, 20 पीठासीन पदाधिकारी मतदान कार्य में तैनात थे। बासुकीनाथ में 5 मॉडल मतदान केंद्र बनाया गया था।

निकाय चुनाव (रांची) : मेयर और डिप्टी मेयर ने किया मतदान

बासुकीनाथ में कुल 19 मतदान केंद्र और दुमका में 39 मतदान केंद्र बनाया गया है। दुमका और बासुकीनाथ में दोनो जगहों के लिए दुमका नगर निकाय चुनाव के लिए शिकारीपाड़ा सीओ अजफर हसनैन को दुमका का जोनल ऑफिसर और गोपीकांदर बीडीओ अमित कुमार को बासुकीनाथ का जोनल ऑफिसर बनाया गया था। मतदान सुबह 7 बजे शाम 5 बजे तक हुआ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

गढ़वा : टीकाकरण के बाद एक बच्चे की मौत, लापरवाही का आरोप

NewsCode Jharkhand | 21 April, 2018 9:55 PM

गढ़वा : टीकाकरण के बाद एक बच्चे की मौत, लापरवाही का आरोप

गढ़वा। झारखंड के पलामू में टीकाकरण के बाद हुई 4 बच्चों की मौत के बाद गढ़वा में भी ऐसा ही मामला सामने आया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गढ़वा जिले के रंका प्रखंड में शुक्रवार की सुबह 9 बजे बच्चे को टीका लगाया गया था।

घर जाने के बाद एक दिन पहले जन्मे बच्चे की तबीयत बिगड़ने लगी। शनिवार की सुबह 8 बजे परिजन बच्चे को लेकर अस्पताल पहुंचे, तो डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पलामू : टीकाकरण के बाद हुई बच्चों की मौत मामले में जांच टीम पहुंची

परिजनों का आरोप है कि टीकाकरण में लापरवाही के कारण उनके बच्चे की जान गयी है। वहीं, अस्पताल के डॉक्टर और एएनएम का कहना है कि उनकी वजह से बच्चे की मौत नहीं हुई है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

बाघमारा : जान से बढ़कर जिस भाई को चाहा उसी ने कर दी हत्या

सब्जी काटने वाले बैठा से किया वार, पैर के जख्म में बंधे पट्टी से दबाया गला

NewsCode Jharkhand | 21 April, 2018 9:07 PM

बाघमारा : जान से बढ़कर जिस भाई को चाहा उसी ने कर दी हत्या

डीएसपी बहावन टूटी ने किया हत्‍या का खुलासा

बाघमारा (धनबाद)। बाघमारा थाना क्षेत्र के भीमकनाली बीसीसीएल श्रमिक क्वाटर में मधुबनवासरी कर्मी दीपक सिंह के मौत का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। मृतक दीपक सिंह अपने छोटे भाई को जान से बढ़कर चाहता था, लेकिन उसी भाई ने अपने बड़े भाई की हत्या कर दी। उक्त जानकारी डीएसपी बहावन टूटी व थाना प्रभारी महेश्वर रंजन ने शनिवार को प्रेस वार्ता कर दी।

डीएसपी बहावन टूटी ने बताया कि गुरुवार को दीपक सिंह का शव उसके बाथरूम में खून से पूरी तरह लथपथ पाया गया था। पुलिस को सूचना मिलने भीमकनाली पहुंच जांच किया। मृतक के छोटे भाई से पूछताछ किया। मृतक की शादी 2001 दिसम्बर में हुआ था, लेकिन पति तथा देवर के अधिक शराब पीने के कारण पत्नी ममता सिंह अपने पिता के घर लोयाबाद में ही रहने लगी। मृतक की पत्‍नी से भी पुलिस ने पूछताछ किया था, लेकिन वे भी देवर और पति में अच्छे संबंध होने की बात कही थी।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हुआ मामले का खुलासा

पुलिस मृतक के पत्नी के बयान पर यूडी केस का मामला दर्ज किया था। शव को पुलिस अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला दबा कर मारने की बात सामने आई। जिसके बाद पुलिस उसके छोटे भाई प्रेम सिंह पत्नी तथा साला से पूछताछ की।

बाघमारा : जान से बढ़कर जिस भाई को चाहा उसी ने कर दी हत्या

पैसे के लिये कर दी भाई की हत्‍या

पूछताछ में चौंकाने वाली बात सामने आई। पैसे के लिये उसके भाई ने अपने बड़े भाई की हत्या किया। इस बात को मृतक के भाई ने पूछताछ में स्वीकार कर लिया।

डीजल के लिये मांगा था पैसा

डीएसपी ने पत्रकारों को बताया कि घटना के दिन दीपक सिंह ड्यूटी गया था। ड्यूटी से आने के बाद दीपक सिंह तथा उसके छोटे भाई में मारपीट होने लगा। प्रेम सिंह अपने बड़े भाई से अपने बोलेरो गाड़ी में डीजल भराने के लिये 5 हजार रुपया की मांग की। भाई ने एटीएम से पैसा नहीं निकलने की बात अपने छोटे भाई को बताया, लेकिन वह कुछ भी सुनने को तैयार नहीं हुआ।

बाघमारा : संदेहास्पद स्थिति में बीसीसीएल कर्मी की मौत, बाथरूम में मिला शव

सब्जी काटने वाला बैठा से किया वार

इसी बीच दोनों  लगभग दो घण्टे तक जमकर उठापटक हुआ। दीपक सिंह को छोटा भाई बाथरूम में सब्जी काटने वाला बैठा से वार कर दिया जिससे वह बेहोश हो गया। उसके बाद प्रेम अपने पैर  के जख्‍म में बंधे पट्टी को खोलकर बड़े भाई के गले को दबा दिया। पट्टी को घर के बाहर फेक दिया।

पुलिस ने बैठा सहित अन्‍य सामान किया जब्‍त

पुलिस ने हत्या के लिये उपयोग किया गया हथियार, पैर की पट्टी, घड़ी, प्रेम सिंह का खून लगा पेंट जब्‍त कर लिया है। हत्या के लिये उपयोग किया गया हथियार घर के रसोई से पैर के जख्म में बंधा पट्टी घर के बाहर से तथा घड़ी भी घर से बरामद किया गया।

एएसआई के बयान पर हत्या का मामला दर्ज

डीएसपी ने बताया कि घटना के दिन मृतक दीपक सिंह की पत्नी ममता सिंह के बयान पर पुलिस ने यूडी केस दर्ज किया था। पोस्मार्टम रिपोर्ट में गला दबाने की बात समाने आने पर जांच किया गया। मृतक के भाई से पूछताछ किया गया है, और उसने अपना जूर्म स्वीकार कर लिया। जिसके बाद एएसआई सुरेंद्र सिंह के बयान पर हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

कोडरमा : ओलंपिक मिशन गोल्ड 2024 के लिए सोनू गुप्ता का चयन

NewsCode Jharkhand | 21 April, 2018 8:41 PM

कोडरमा : ओलंपिक मिशन गोल्ड 2024 के लिए सोनू गुप्ता का चयन

कोडरमा । विगत वर्ष की भांति इस वर्ष भी चाराडीह स्थित एसवी सेन्ट्रल पब्लिक स्कूल के छात्र सोनू गुप्ता पिता सुरेश साव ने सफलता का परचम लहराते हुए व जिले का नाम रौशन करते हुए ओलंपिक मिशन गोल्ड 2024 के लिए फाइनल चयन में सफलता प्राप्त कर लिया है। ज्ञात हो कि विगत वर्ष झारखंड सरकार और कोकिंग कोल लिमिटेड के संयुक्त प्रयास से मिशन ओलंपिक गोल्ड के लिए सीधे इंटरनेशनल ओलंपिक के लिए बच्चों के चयन प्रक्रिया चालू किया गया है।

कोडरमा : उज्ज्वला योजना के तहत लाभुकों के बीच गैस चुल्हा व रेगुलेटर का वितरण

पिछले वर्ष भी कोडरमा से बालक वर्ग में 2 बच्चों का चयन हुआ था। दोनों छात्र इसी विद्यालय से थे। चयनित छात्र-छात्राओं को झारखंड सरकार और कोकिंग कोल इंडिया अपने अधीन लेकर नेशनल लेवल के कोई अच्छे विद्यालय द्वारा शिक्षा-दीक्षा देते हुए मिशन 2024 ओलंपिक हेतु इंटरनेशनल लेवल की प्रशिक्षण देगी।

साथ ही इन बच्चों को इंटरनेशनल खिलाड़ी के रूप में प्रशिक्षित करेगी। सोनू की सफलता पर विद्यालय निदेशक अनिल कुमार, निदेशिका खुशबू गुप्ता, जिला खेल-कूद पदाधिकारी, खेल प्रशिक्षक आकाश सेठ, राहत अली एवं विद्यालय के सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं ने बधाई देते हुए हर्ष व्यक्त किया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

© Copyright 2017 NewsCode - All Rights Reserved.