धनबाद : इज्जत बचाने के लिए युवती ने लगाई छलांग, हालत गंभीर

NewsCode Jharkhand | 12 September, 2017 5:13 PM
newscode-image

धनबाद अपराधियों के हौसले किस तरह बढ़े हुए है, उसका अंदाजा इस प्रकार लगाया जा सकता है कि अब कभी भी अपराधी किसी लड़की को उठाकर ले जाते है और पुलिस-प्रशासन द्वारा जांच के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति किया जा रहा है। आज एक नाबालिग ने अपने बुलंद हौसले के बदौलत न ही अपनी इज्जत बचाई, बल्कि एक अपराधी को सबक भी सिखाई।

सोमवार की रात एक किशोरी से चार-पांच लोगों ने दुष्कर्म करने का प्रयास किया। हालांकि उसके हिम्मत और प्रतिरोध से उचक्के अपने मकसद में कामयाब नहीं हो सके तो उसकी जान लेने की कोशिश की। किशोरी ने न केवल पत्थर चलाकर उनमें एक को जख्मी कर दिया बल्कि अपनी अस्मत बचाने को तालाब में भी कूद गई। गंभीर अवस्था में उसे देर रात पीएमसीएच में भर्ती कराया गया। होश आने पर उसने पुलिस अधिकारी एएसआइ आरपी सिंह को आप बीती सुनाई। एएसआइ ने कहा कि किशोरी के बयान पर जांच की जा रही है। दोषियों पर सख्त कार्रवाई होगी।

पिटाई के कारण की खून की उल्टी

 तालाब से बाहर निकलने के बाद बेरहमी से पिटाई के कारण उसने खून की उल्टी की। उसकी मां ने बताया कि आंख में पानी मारने पर उसे होश आ रहा था और फिर बेहोश हो जा रही थी। उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है।

मोटा आदमी कर रहा था मारपीट

 पीड़िता ने बताया कि चार-पांच लोगों ने उसे दबोच रखा था। उनमें एक बहुत मोटा आदमी था जो गर्दन दबा रहा था और मारपीट कर रहा था। जकड़ से छूटने पर उसे ही पत्थर भी मारा था जो उसके सिर पर लगा। पीड़िता की मां ने कहा कि मेरी बेटी बगल के घर में बच्चे को खेला रही थी। वहां कैसे पहुंची, मुझे नहीं पता। किशोरी का बड़ा भाई मुंबई में मजदूरी करता है।

जंगल की ओर भाग निकले अपराधी

किशोरी की सहेली के भाई ने बताया कि बस्तीवालों के साथ वह भी तालाब के पास पहुंचा तो देखा कि चार-पांच लोग भाग रहे हैं। उन्हें खदेड़ कर पकड़ने का प्रयास किया गया पर सभी अंधेरे का फायदा उठाकर जंगल की ओर भाग निकले।

दुमका निर्भया कांड ने करायी थी राज्य की किरकिरी

विगत 06 सितम्बर को ही झारखण्ड की उपराजधानी दुमका में आदिवासी युवती के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म ने पुरे राज्य को हिला कर रख दिया था। 19 वर्षीययुवती के साथ करीब 17  युवकों ने घटना को अंजाम दिया था।

गिरीडीह : सुरीली आवाज से जिले के साथ गांव का नाम रौशन करना चाहती है नाजिया

NewsCode Jharkhand | 24 June, 2018 7:36 PM
newscode-image

उदित नारायण के साथ मंच साझा कर चुकी है

गिरीडीह। अपनी सुरीली आवाज से संगीत की दुनिया में धूम मचानेवाली नाजिया परवीन अपने गृह जिले गिरीडीह व गांव का नाम रौशन कर रही है। वह इस जिले के पिहरा गांव की रहनेवाली है। मशहूर बॉलीवुड गायक उदित नारायण के साथ वह मंच साझा कर चुकी है।

हाल ही में उनकी मेरी आवाज ही मेरी पहचान है एलबम रिलीज हुई है। एलबम में वह पर्दे पर गाती नजर आती है। आवाज में तो वाकई जादू है। ईद के मौके पर अपने घर पहुंची नाजिया ने बताया कि झारखंड की नक्सली घटना पर चिलखारी एक दर्द नामक सिनेमा बन रही है जिसमें उन्‍हें उदित नारायण के साथ गाने का मौका मिला।

गिरीडीह : युवती को लेकर युवक फरार, परिजनों ने थाने में लगाई गुहार

नाजिया इससे पहले तू लौट के आजा एलबम में एक गीत को आवाज दे चुकी है। नाजिया के पिता मोहम्‍मद मोइनुद्दीन पेशे से एक किसान हैं व मां जैनब खातून आंगनबाड़ी सेविका है।

 गिरीडीह : सुरीली आवाज से जिले के साथ गांव का नाम रौशन करना चाहती है नाजिया

मैट्रिक तक की पढ़ाई कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय गावां से पूरी करने के बाद नाजिया रांची में रहकर एमए करने के साथ-साथ संगीत भी सीख रही है। कस्‍तूरबा विद्यालय में पढ़ने के दौरान नाजिया स्‍कूल में आयोजित गीत-संगीत व नृत्‍य प्रतियोगिता में भाग लेती थी और दर्शकों का वाहवाही बटोरती थी।

नाजिया का सपना अपनी आवाज के जरिये पिछडे जिले में शुमार गिरीडीह तथा अपने गांव पिहरा गावां को पहचान दिलाना है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

धनबाद : झरिया के अस्तित्‍व को बचाने के लिए फिर होगा आंदोलन

NewsCode Jharkhand | 24 June, 2018 7:48 PM
newscode-image

झरिया को उजाडने की सरकारी मंसूबे को जनता कामयाब नहीं होने देगी

धनबाद (झरिया)। झरिया के अस्तित्व को बचाने के लिए एक बार फिर आंदोलन होगा। इसबार आंदोलन की मुख्‍य भूमिका में पूर्व मंत्री समरेश सिंह रहेंगे। आंदोलन की रुपरेखा तैयार करने के बावत आज झरिया प्रेस क्लब में समरेश सिंह की अगुवाई में बैठक हुई जिसमें पूर्व में हो चुके झरिया आंदोलन से जुड़े कई लोगों ने भाग लिया।

बैठक में निर्णय लिया गया कि झरिया को बचाने के लिए यह आखिरी आंदोलन होगा। इस आंदोलन में झरिया की जनता पूरी ईमानदारी से लड़ेगी।

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि बंद आर एस पी कॉलेज को उसी जगह चालू किया जाएगा जहां वह है। इसके लिए कोर्ट जाना पड़े या कहीं और लेकिन बंद कॉलेज को खुलवाया जाएगा। बैठक में भाग ले रह लोगों ने एकसुर से कहा कि केंद्र व राज्य सरकार झरिया के अस्तित्व को खत्म करना चाहती है जिसे यहां की जनता सफल नहीं होने देगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : नाबालिग लड़की से दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार

NewsCode Jharkhand | 24 June, 2018 7:21 PM
newscode-image

रांची। 23 जून को 14 वर्षीय नाबालिग लड़की डोंगर बसली से ट्रेन पकड़कर रांची अपने रिश्तेदार के घर जा रही थी, रांची रेलवे स्टेशन से पथलकुदवा के लिए चली परंतु रास्ता भटक कर चर्च रोड में पहुंच गई और पथलकुदवा जाने का रास्ता पूछने लगी। इसी बीच एक लड़का उसे बहला-फुसलाकर रात को 10 बजे अपने कमरे में ले गया। वहां पर लड़के ने लड़की को डरा धमका कर दुष्कर्म किया और अगली सुबह उसे उसके घर के लिए टेंपो पकड़ा दिया।

रांची : मशहूर अभिनेत्री पूजा भट्ट पिता महेश भट्ट संग पहुंची, लोगों का उमड़ा हुजूम

लड़की ने समझदारी दिखाते हुए आरोपी लड़की के मोबाइल से अपने रिश्तेदार को फोन की जिसके बाद उसके रिश्तेदार बहू बाजार आकर पीड़िता को ले गए और पूरी घटना की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए छानबीन शुरू की और 12 घंटे के अंदर आरोपी को चर्च रोड से गिरफ्तार कर लिया। वही आरोपी के पास लड़की के रिश्तेदार को फोन किया गया मोबाइल और कुछ कपड़े बरामद किया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

रांची : मशहूर अभिनेत्री पूजा भट्ट पिता महेश भट्ट संग...

more-story-image

कश्मीर: सेना के निशाने पर आतंकियों के कमांडर, 21 मोस्ट...