धनबाद : प्रिंसी चावला बनी रोल मॉडल, इ-रिक्‍शा से महिलाओं में भर रही हौसला

NewsCode Jharkhand | 13 March, 2018 5:21 PM
newscode-image

परिवार के साथ-साथ बाहरी जिम्‍मेदारी भी निभाती प्रिंसी

धनबाद।  इ-रिक्शा चलाने वाली पहली महिला प्रिंसी चावला आज महिलाओं के लिए मिशाल बन रही है। धनबाद की सड़कों पर इ-रिक्शा चलाने वाली प्रिंसी अपने मेहनत की बल पर घर और समाज को संभाल रही है। जी हां प्रिंसी भाड़े की इ-रिक्शा ड्राइव कर पैसेंजर को उनके गंतव्य स्थल तक पहुंचाती है। यही नहीं वह घर का सारा काम भी बखूबी निभाती है।

प्रिंसी चावला का कहना है कि आज कई क्षेत्रों में महिलायें आगे बढ़ रही है। सभी महिलाओं को अपने पैरों पर खड़ा होना चाहिए। प्रिंसी सिर्फ नौवीं तक पढ़ी है, उनके घर में पति और एक बेटी है। सुबह दस बजे घर का सारा काम निपटा कर वो घर से निकल जाती है और रात के नौ बजे तक घर भी आ जाती है। पति का भी पूरा सहयोग मिलता है।

जहां सरकार महिलाओं के सम्मान की बात करती है वहीं कई बार टाइगर जवानों के द्वारा उन्हें बेइज्जत भी किया जाता है। सड़कों पर रोक कर उन्हें टाइगर जवानों के दवारा बुरा भला भी कहा जाता है। वहीं प्रिंसी ने धनबाद के विधायक राज सिन्हा से मदद की गुहार लगाई है। अगर विधायक द्वारा उन्हें इ-रिक्शा दे दी जाती है तो वे अपने पैरों पर पूरी तरह से खड़ी हो जाएगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

कटकमसांडी : कृषि चौपाल कार्यक्रम में पशुपालकों को दिया गया निःशुल्क दवा

NewsCode Jharkhand | 22 June, 2018 10:02 AM
newscode-image

कटकमसांडी (हजारीबाग)। किसान कल्याण अभियान के तहत कटकमसांडी प्रखंड मुख्यालय में आयोजित कृषि चौपाल कार्यक्रम में प्रखंड क्षेत्र के 42 पशुपालकों के बीच निशुल्क पशु दवाओं का वितरण किया गया । दवाओं का वितरण भ्रमणशील पशु चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. मनोज कुमार मनी ने किया।

डॉ. मनोज कुमार  ने पशुपालकों को पशुओं के स्वास्थ्य की देखरेख भोजन आवास व्यवस्था तथा सामान्य बीमारियों की पहचान इत्यादि की विस्तृत जानकारी दी।

धनबाद : उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र में पुलिस ने बढ़ाया मदद का हाथ

डॉक्टर मनी ने  यह भी  बताया कि स्वस्थ पशु हीं कृषि कार्य में किसानों के सबसे बड़े मददगार होंगे। पशु स्वस्थ रहें इसके लिए उन्हें उचित खान-पान समय-समय पर स्वास्थ्य जांच टीकाकरण एवं मिनरल की दवाई दी जानी चाहिए शिविर में 18 पंचायतों के पशुपालक शामिल हुए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गोमिया : गोमिया के विद्यार्थी को ISM धनबाद में मिली उपाधि

NewsCode Jharkhand | 22 June, 2018 10:20 AM
newscode-image

गोमिया (बोकारो) । धनबाद स्थित आईआईटी आइएसएम के दीक्षांत समारोह में प्रशांत कुमार को एमटेक “खान विद्युत अभियांत्रिकी” में विशिष्टता सहित प्रथम श्रेणी में स्थान प्राप्त करने पर कोल इंडिया के चेयरमैन अनिल कुमार झा के द्वारा उन्हें उपाधि प्रदान किया गया।

प्रशांत कुमार DAV स्वांग से वर्ष 2008 में प्रथम श्रेणी से दसवीं कक्षा उत्तीर्ण किया। वर्ष 2010 में एमजीएम स्कूल बोकारो से 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के पश्चात वह बीटेक भुवनेश्वर से प्रथम श्रेणी में 8.74 से सीजीपीए के साथ उत्तीर्ण किया।

बोकारो : छिनतई मामले में दो गिरफ्तार, मोबाइल बरामद

साथ ही वर्ष 2015 में गेट में तीन पात्रता लाने के बाद आईआईटी धनबाद से एमटेक किया। वर्तमान में प्रशांत कुमार आईआईटी धनबाद में पीएचडी कर रहे हैं। प्रशांत की माता पुष्पा कुमारी प्रिय शिक्षिका नेहरू स्मारक उच्च विद्यालय स्वांग में कार्यरत है एवं पिता प्रदीप कुमार सीसीएल में संवेदक हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

चास : पिंड्राजोरा पंचायत सचिवालय में 15 दिवसीय प्रशिक्षण शुरू

NewsCode Jharkhand | 22 June, 2018 9:42 AM
newscode-image

चास (बोकारो) । महिला जनशक्ति संगठन के तत्वाधान में आयोजित राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक नावार्ड द्वारा प्रायोजित उद्योग की स्थापना और आजीविका विकास कार्यक्रम के तहत गुरूवार को पिण्ड्राजोरा पंचायत सचिवालय में पन्द्रह दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम को लेकर एक बैठक रखी गई।

बैठक को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक शरद  झा ने उपस्थित विभिन्न महिला संगठनों को संबोधित करते हुए कहा की स्वंय सहायता समूह सिर्फ आजिविका का साधन नहीं बल्कि यह एक महिला शक्तिकरण का माध्यम है। उन्होंने ने कहा की नावार्ड का स्थापना 1982 में किया गया। इसका मुख्य लक्ष्य समाज को विकसित करने का था।

लोहरदगा : नीति आयोग की बैठक में लगी अधिकारियों की क्लास

इस संबंध में महिलाओं का छोटा- छोटा समूह गठन कर उन्हे नावार्ड के सहयोग और स्वयं सहायता समूह की देखरेख में प्रशिक्षण के माध्यम से महिलाओं को सस्ते दर में ऋण मुहैया कराया जाने लगा। इस निति से आज ग्रामीण क्षेत्र में महिलाओं द्वारा गौपालन, मुर्गी पालन, बत्तक पालन सहित बांस से निर्मित बस्तु, सिलाई कढ़ाई आदि बस्तुएं बनाने की कला से पारंगत महिलाएं आत्मनिर्भर बन रही है। गुरुवार के कार्यक्रम में 180 महिलाओं को पन्द्रह दिन तक सिलाई कढ़ाई का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

कार्यक्रम को महिला जनशक्ति संगठन के परियोजना प्रवंथक जेके त्रिपाठी, सचिव सुमन कुमारी, नावार्ड के डीजीएम पार्थों मंडल, अग्रणी जिला प्रबंधक डीके मुजुमदार, जिला विकास प्रबंधक बोकारो के अजय शाहू, बोकारो चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स मनोज चौधरी, बैंक ऑफ इण्डिया के डारेक्टर विजय कुमार रावत एंव बैंक ऑफ इण्डिया शाखा पिण्ड्राजोरा के प्रबंधक अभिषेक कुमार ने भी अपने -अपने विचार रखे। कार्यक्रम के अध्यक्षता पूर्व मुखिया गौरा चांद महतो ने किया जबकी संचालन सुमन कुमारी ने की।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

लोहरदगा : घटना के 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार हुए...

more-story-image

जमशेदपुर : SSP के निर्देश पर प्रमुख चौक-चौराहों में चला...