धनबाद : अधिवक्ता अश्विनी कुमार को जेल भेजने के खिलाफ जिला प्रशासन का फूंका पुतला

NewsCode Jharkhand | 3 May, 2018 4:56 PM

धनबाद : अधिवक्ता अश्विनी कुमार को जेल भेजने के खिलाफ जिला प्रशासन का फूंका पुतला

छेड़खानी का है आरोप

धनबाद। छेड़खानी के आरोप में अधिवक्तता अश्विनी कुमार को जेल भेजने के खिलाफ सिविल कोर्ट के तकरीबन सभी 3 हजार अधिवक्ता ने किया कार्य बहिष्‍कार। पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत धनबाद बार एसोसिएशन के आह्वाहन पर धनबाद सिविल कोर्ट अधिवक्ता खुद को अनिश्चितकाल के लिए न्यायिक कार्य से अलग करते हुए आज सड़कों पर उतरे आये।

अधिवक्‍ताओं के साथ प्रशासन कर रही सौतेला व्‍यवहार- अध्यक्ष राधे श्याम

जुलुस की शक्ल में कोर्ट से पैदल मार्च करते हुए रणधीर वर्मा चौक पहुँचे। यहां अधिवक्ताओं ने पुलिस प्रशासन, जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नाराजगी व्यक्त करते हुए रणधीर वर्मा चौक पर जिला प्रसाशन का पुतला दहन किया। पुतला दहन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ऐसोसिएशन के अध्यक्ष राधे श्याम गोस्वामी  ने कहा कि प्रशासन अधिवक्ताओं के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है।

Read More:- धनबाद : आक्रोश रैली, अत्‍याचार के विरूद्ध सख्‍त कानून की मांग  

अश्विनी कुमार को गलत आरोप में जेल भेजा गया है।पुलिस प्रशासन पोक्सो एक्ट का गलत इस्तेमाल किया है। अधिवक्तता अश्विनी कुमार मामले में न्यायिक जांच होनी चाहिए। हाई कोर्ट, सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज की जांच कमिटी बननी चाहिए। एसोसियशन की सहानभूति बच्ची के साथ है। अधिवक्तता न्याय में कही बाधक नहीं है। न्याय होना चाहिए।

 आधी रात को पुलिस ने घर जाकर गैस कटर से काटकर गिरफ्तार किया

प्रशासन का रवैया अधिवक्ताओं के साथ जो है उससे अधिवक्तता खुद को असहज और असुरक्षित महसूस कर रहे है। अफसरों को इतनी ताकत कहा से मिलती है। आधी रात को अधिवक्तता के घर पुलिस जाती है और गैस कटर से घर का दरवाजा काटकर उन्हें गिरफ्तार करने का काम किया जाता है। अश्विनी कुमार कोई आतंकवादी नहीं है। धनबाद में ऐसा पहली बार हुआ है जब आधी रात को पुलिस घर में घुस कर गैस कटर काटकर किसी को गिरफ्तार करती है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

जमशेदपुर : पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि को लेकर विरोध-प्रदर्शन

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 2:39 PM

जमशेदपुर : पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि को लेकर विरोध-प्रदर्शन

जमशेदपुर। देशभर में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में हो रही बेतहाशा वृद्धि को लेकर विरोध-प्रदर्शन का दौर लगातार जारी है। इस मुद्दे को लेकर एक तरफ विपक्षी दल के निशाने पर केंद्र की मोदी सरकार है तो दूसरी तरफ अब कई संगठनों ने विरोध के स्वर तेज कर दिए है।

जमशेदपुर में सिख स्टूडेंट्स फेडरेशन से जुड़े सिख समाज के युवाओं ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर अनोखा तरीका अपनाया, जो लोगों के बीच चर्चा का विषय बना रहा। फेडरेशन के सदस्यों ने घोड़ा-गाड़ी पर मोटरसाइकिल रख कर जिला मुख्यालय पर विरोध-प्रदर्शन कर पीएम मोदी से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में हुई बढ़ोतरी को वापस लेने की मांग की।

हाथों में मांगों से सम्बंधित लिखे पोस्टर लिए फेडरेशन के लोगों ने जिला मुख्यालय के समक्ष नारेबाजी कर पेट्रोल-डीजल की आये दिन कीमतों में बढ़ोतरी पर कड़ा प्रतिवाद किया।

जमशेदपुर : डीजल के दाम में बढ़ोतरी थोड़ा जबकि बस भाड़ा में मनमाना

इनका कहना था कि आसमान छू रही पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों से आम आवाम पर महंगाई का अतिरिक्त बोझ बढ़ा है। वही इन लोगों ने पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने की भी मांग की।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

बाघमारा : बकाया वेतन भुगतान की मांग, कर्मचारी ने दी आत्‍मदाह की चेतावनी

NewsCode Jharkhand | 22 May, 2018 3:43 PM

बाघमारा : बकाया वेतन भुगतान की मांग, कर्मचारी ने दी आत्‍मदाह की चेतावनी

बाघमारा (धनबाद)। शैली आउटसोर्सिंग के पूर्व कर्मचारी अख्तर हवारी  ने आज सपिवार आत्मदाह की चेतावनी दी थी। मामले को लेकर बाघमारा थाना मे वार्ता हो रही है। अख्तर हवारी ने बकाए वेतन राशि की मांग व पुनः नियोजन की मांग को लेकर आज सपरिवार आत्मदाह करने का घोषणा की थी।

स्थानीय मुखिया प्रतिनिधि शैलेन्द्र सिंह और बाघमारा थाना प्रभारी महेश्वर रंजन के प्रयास से थाने में बीसीसीएल ब्लॉक एरीया 02 और बाघमारा सीओ दीप्ति प्रियंका कुजूर की उपस्थिति में वार्ता प्रारम्भ की गई है।

भुक्तभोगी मजदूर ने कहा कि उसका वेतन तथा पीएफ शैली कम्पनी ने अभी तक नहीं दिया है। कई बार वार्ता हुआ, लेकिन अभी तक बकाया वेतन नहीं मिला। आज हम पूरे परिवार के साथ आत्मदाह करने की घोषणा किये थे।

मुखिया प्रतिनिधि हमें डुमरा में देख लिया, जिसके बाद बाघमारा थाना ले आया, बाद में बीसीसीएल के तीन अधिकारी तथा सीओ भी आये। सीओ ने बीसीसीएल अधिकारी को बकाये वेतन के लिये फटकार भी लगाई। अभी तक कोई फैसला नहीं हुआ है। फिलहाल मुझे थाने में ही रहने को कहा है।

बाघमारा : बीसीसीएल की लापरवाही से संकट में है भगवान का घर, खतरे में अस्तित्‍व

सीओ ने कहा कि अख्तर हवारी का शैली कम्पनी में बकाया है। बीसीसीएल के अधिकारियों को बुलाया गया था। जीएम खुद नहीं आये। जो बीसीसीएल के प्रतिनिधि आये वे कोई हाजरी से सम्बंधित कुछ नहीं लाये। एसडीएम को सारी बात बताया दिया गया है। वार्ता के दौरान भुक्तभोगी को सपरिवार थाने की निगरानी में रखा गया है। फिलहाल आत्मदाह टल चुका है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

धनबाद : तेल के दाम में वृद्धि का जेएमएम ने इस तरह जताया विरोध

NewsCode Jharkhand | 22 May, 2018 3:35 PM

धनबाद : तेल के दाम में वृद्धि का जेएमएम ने इस तरह जताया विरोध

रिक्‍शा, ठेला और साइकिल पर सवार होकर सड़क पर उतरे

धनबाद। पेट्रोल डीजल मूल्य में अप्रत्याशित वृद्धि के खिलाफ जेएमएम कार्यकर्ता रिक्शा, ठेला व साईकिल के साथ सड़कों पर उतरे। जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन के साथ भाजपा सरकार के विरुद्ध जोरदार नारेबाजी की। प्रदर्शन कार्यक्रम की अगुवाई करते हुए पार्टी के जिला अध्यक्ष रमेश टुडू ने कहा कि पेट्रोल डीजल के मूल्य में बेतहाशा वृद्धि से आम जनता, व्‍यापारी वर्ग, किसान त्रस्त है।

डीजल की कीमत बढ़ने से किसान खेती करने में असमर्थ हो रहे है। खेती के लिए उपयोग में लाये जाने वाले ट्रैक्टर का खर्चा वहन नहीं कर पा रहे। छोटे माध्यम व्यापारियों का व्यवसाय प्रभावित हो चूका है।

महंगाई चरम पर

आम जनता के ऊपर मूल्य वृद्धि अतिरिक्त बोझ की तरह है। लगातार मूल्य वृद्धि के बाद अब तो जैसे लोगों को रिक्शा, ठेला तथा साइकिल पर ही आवागमन के लिए आश्रित होना पड़ेगा। भाजपा की सरकार केंद्र और राज्य दोनों जगहों पर है। चुनाव के वक्‍त किये वायदे से यह सरकार मुकर चुकी है। महंगाई चरम सीमा पार कर चुकी है।

Read More:- रूस के सोचि में राष्‍ट्रपति व्‍लादिमिर पुतिन से मिले पीएम नरेंद्र मोदी, दोस्ती बढ़ाने पर हुई चर्चा

रिक्‍शा ठेला पर आश्रित होना पड़ेगा  

जिला सचिव पवन महतो ने कहा कि रिक्शा ठेला के साथ यह प्रदर्शन सरकार को यह बतलाने का प्रयास है कि पेट्रोल डीजल के मूल्य में इसी तरह वृद्धि होती रही तो वह दिन दूर नहीं होगा जब लोगों को आवागमन के लिए रिक्शा, ठेला पर ही आश्रित होना पड़ेगा।

सिन्दरी के विस्थापितों को नहीं मिला मुआवजा

रमेश टुड्डू ने कहा कि 25 मई को पीएम मोदी का आगमन धनबाद में होने जा रहा है। सिंदरी कारखाने का शिलान्यास करने आ रहे है। रोजगार की दिशा में यह भले ही एक अच्छी पहल है परंतु इस सरकार को यह भी सूद लेना चाहिए की जिस जमीन पर सिंदरी खाद कारखाना संचालित होने जा रहा है। वह जमीनें वहाँ के आदिवासियों, मूल वासियों की जमीनें है। जिन्हें आज तक मुआवजा व नियोजन नहीं मिला है। उनका जाति और आवासीय प्रमाण पत्र नहीं बन पा रहा है। इसकी भी सूद पीएम को लेनी चाहिए।

मौजूद लोग

कार्यक्रम में युधेश्वर सिंह, चंडी देव, जग्गू महतो, जगदीश चौधरी, सितलाल मरांडी, रतिलाल टुड्डू, लक्ष्मी मुर्मू, मीणा हेम्ब्रम, देबू महतो, कल्याण भट्टाचार्य, लक्खी शर्मा, मदन महतो, अजमूल अंसारी, बीरेंद्र पांडे, ललित बासुकी, भोला मंडल, हेमा पांडे, हेमन्त सोरेन, अजीत सेन गुप्ता, गंगाधर महतो, भोला मंडल, सावन चौहान, रॉकी चौरसिया, दिनेश कुमार, प्रेम महतो, उमेश टुड्डू, सुसोधन चक्रवर्ती मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने