धनबाद : आजादी के आंदोलन के लिए चंदा जुटाने झारिया आते थे महात्‍मा गांधी

NewsCode Jharkhand | 2 October, 2017 3:38 PM
newscode-image

धनबाद। धनबाद की काली धरती झरिया से भी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का गहरा नाता था। उनका चार बार धनबाद आगमन हुआ। बापू का यह आगमन स्वतंत्रता आंदोलन के प्रति कोयला मजदूरों को एकजुट करने, उनका जीवन स्तर सुधारने तथा आंदोलन के जरूरी धन एकत्र करने के सिलसिले में हुआ।

देश को धन की जरूरत थी और इसे पूरा करने की जिम्मेवारी महात्मा गांधी जी के कंधे पर आई थी। तब महात्मा गांधी से झरिया का रुख किया था। झरिया ने भी बापू को निराश नहीं किया। महात्मा गांधी का सबसे रोचक झरिया आगमन 1922 में हुआ था। दरअसल गया में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का अधिवेशन होना था। तैयारियां चल रहीं थीं। पर, आर्थिक मोर्चा गड़बड़ा रहा था। तब महात्मा गांधी ने राशि की व्यवस्था का बीड़ा उठाया।

चितरंजन दास झरिया लेकर आये थे

देशबंधु चितरंजन दास के साथ वे राशि व्यवस्था को निकल पड़े। कई जगहों पर गए। इसी क्रम में देशबंधु चितरंजन दास ने महात्मा गांधी को बताया कि झरिया के रहनेवाले रामजस अग्रवाल से मदद मिल सकती है। ये जानकारी पाकर महात्मा गांधी और दास दोनों झरिया पहुंच गए। रामजस अग्रवाल के घर पहुंच आने का मंतव्य बताया। रामजस परेशान कि महात्मा गांधी खुद आये हैं। उनको कितनी राशि दी जाय। वे कुछ तय नहीं कर पा रहे थे। तब ऐसा निर्णय लिया जिसने न सिर्फ बापू का सम्मान रखा बल्कि झरिया आज भी उस निर्णय से गौरवान्वित है। उन्होंने महात्मा गांधी को ब्लैंक चेक काट कर दे दी। हालांकि बाद में उसमें पचास हजार की राशि भरी गई।

इसके अलावा 5 जनवरी 1921 को गांधी जी झरिया आए थे। तब झरिया के राजग्राउंड, धनबाद व कतरास में सभा की थी। 12 जनवरी 1927 को भी उनका दो दिनों का कार्यक्रम झरिया में हुआ। ये सभा मजदूरों की स्थिति को लेकर हुई थी। गांधी जी अंतिम बार झरिया 20 अप्रैल 1934 को आए थे। तब उन्होंने झरिया के अलावा बेरमो में सभा की थी।

रांची भी लगातार आए बापू : झरिया के अलावा रामगढ़, रांची और जमशेदपुर में भी महात्मा गांधी का आगमन हुआ। सबसे पहले 1917 को उनका आगमन रांची में हुआ था। जबकि अंतिम बार 53 वें कांग्रेस अधिवेशन में शामिल होने के लिए वे रामगढ़ पहुंचे थे।

चास : पिंड्राजोरा के डाबर गांव में धूमधाम से मनाया गया मुहर्रम

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:14 PM
newscode-image

चास(बोकारो)। पिंड्राजोरा थाना क्षेत्र के केलिया डाबर में मुहर्रम के अवसर पर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने लाठी खेल का आयोजन किया।

तेनुघाट : गंदगी में ही बीमारियां पनपती है-रामकिशुन

लाठी खेल में 3 क्लब 5 स्टार क्लब, सनराइज क्लब, लक्की स्टार क्लब ने खेल दिखाया। लक्की स्टार क्लब ने भारत के सैनिक किस तरह से दुश्मन के इलाके में घुस कर आतंकवादियों को मरते है और अपना भारत का झंडा फहराते है ये दिखाया गया है।

चास : पिंड्राजोरा के डाबर गांव में धूमधाम से मनाया गया मुहर्रम

लक्की स्टार क्लब ने देश भक्ति गानों के साथ अपना खेल दिखाया देश कि शान तिरंगा को दुश्मन के इलाके में फहराकर दिखाया। लाठी खेल में दोनों समुदाय के लोगों ने बढ़चढ़कर भाग लिया। डाबर में लाठी खेल का आयोजन लगभग 20 वर्षो से किया जाता है।

बोकारो : कंपनीकर्मी के साथ दबंगो ने नंगाकर किया मारपीट

इस मौके पर अजीत सिंह चौधरी, कामदेव सिंह चौधरी, सुबलचंद्र महतो, यकीन अंसारी, अकबर अंसारी, लतीफ़ अंसारी, आवेदिन अंसारी, यकीन अंसारी, रहमगोल अंसारी, बदल सिंह चौधरी, मिहिर महतो आदि मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

कोडरमा : मुहर्रम में कई हिन्दू परिवार पूरी श्रद्धा से निकालते है ताजिया और निशान

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:07 PM
newscode-image

कोडरमाकोडरमा जिले में मुहर्रम के मौके पर कई हिन्दू परिवारों द्वारा पिछले कई पीढियों से ताजिया और निशान (झंडा) निकालने की परंपरा वर्षों से चली आ रही है। समाजिक सौहार्द की प्रतिमूर्ति इन परिवारों में चाराडीह इलाके के उमाशंकर उर्फ तुफानी सिंह गुलशन कुमार, गाँधी स्कूल रोड़ निवासी गजाधर भारती, भादेडीह निवासी जयप्रकाश वर्मा के परिवार शामिल है।

सभी परिवारों को आसपास के ग्रामीण इस कार्य में निष्ठा भाव से परंपरा निर्वहन और क्षेत्र परिभ्रमण के दौरान पुरा सहयोग देते हैं। इस बावत पूछे जाने पर उमाशंकर उर्फ तुफानी सिंह ने बताया कि उनका परिवार पिछले कई पीढ़ियों से यह परंपरा निभा रही है।

कोडरमा : केरल में लापता हुए परिजन को खोजने की लगायी गुहार

उन्होंने कहा कि उनके पुर्वजों ने अपनी किसी मन्नत के पूरा होने के बाद इसकी शुरूआत की थी जो आज जारी है। हालाकि इस परिवार द्वारा बीती रात तक इसकी सारी तैयारी पूरी कर ली गई थी मगर उमाशंकर के बड़े भाई निर्मल सिंह का आज सुवह निधन हो जाने के कारण इस वर्ष इस परिवार द्वारा आज ताजिया नही निकाला गया।

गांधी स्कूल रोड निवासी गजाधर भारती ने बताया कि उनके दादा स्व. गुरूचरण राम (उत्पाद विभाग में जमादार थे) ने श्रद्धा से 1924 में इस मौके पर निशान (सरकारी झंडा) निकाला था जिस परंपरा का उनके पिता स्व. रामेश्वर राम और अब वे और उनका परिवार निर्वहन कर रहे हैं।

भादेडीह निवासी जयप्रकाश वर्मा ने बताया कि उनके दादा स्व. बुधन सोनार ने ताजिया निकालाना शुरू किया था। फिर उनके पिता स्व. सुखदेव प्रसाद और अब वे इस परंपरा को निभा रहे है। इन दोनों परिवारों के द्वारा आज ताजिया और झंडा निकाला गया।

इसी परिवार के द्वारा यहाँ के इमामबाड़े के लिए भूमि उपलब्ध करा इसकी स्थापना की थी। जहाँ सभी लोग जुटते हैं। उन्होंने बताया कि मुहर्रम के दिन उनके घर चुल्हा नही जलता वे मातम मनाते है। और तीजा के दिन ही सारी औपचारिकताए पूरी की जाती है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

बोकारो : कंपनीकर्मी के साथ दबंगो ने नंगाकर किया मारपीट

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:04 PM
newscode-image

वीडियो बनाकर दिया धमकी इंटरनेट डाल करूँगा वायरल

बोकारो। बोकारो जिला के सिटी थाना क्षेत्र के कोऑपरेटिव कॉलानी के रहने वाले कंपनीकर्मी के साथ दबंगो ने नंगा कर मारपीट किया और वीडियो बनाकर धमकाया कि अगर मेरे आदमी को काम नहीं मिला तो वीडियो को इंटरनेट पर डाल कर वायरल कर दूंगा।

कर्मी इतना डरा था कि 18 सितंबर को घटी घटना को 19 सितंबर को सिटी थाने में जानकारी देते हुए दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। अब पीड़ित कर्मी कह रहा है कि समाज व पुलिस बचाये मुझे, नहीं तो आत्महत्या कर लूंगा निर्लज होकर जीना नहीं चाहता हूँ।

तेनुघाट : गंदगी में ही बीमारियां पनपती है-रामकिशुन

जानकारी के अनुसार रंजीत कुमार बोकारो इस्पात कंपनी एयरोक्स नाइजेन इक्यूपमेट्स प्राइवेट लिमिटेड मे कार्य करता है। बीते 18 सितबरं को रंजीत को उसके घर से कुछ लोग जबरदस्ती उठाकर अपने साथ ले गए। कर्मी को जहाँ ले गये थे, वहां पर पहले से मौजूद दिलीप ठाकुर और सोनू सिंह के साथ अन्य कई लोग थे। पहले तो उनको कहा गया कि कंपनी में मेरे आदमियों को काम पर रखो।

बोकारो हिंदी न्यूज़, बोकारो हिंदी समाचार, बोकारो की ताज़ा खबरें, बोकारो की खबरें, बोकारो न्यूज़, Bokaro Hindi News, Bokaro Local News, Bokaro News, Bokaro Latest News, Bokaro Breaking News, Bokaro City News, Bokaro

कर्मी ने कहा काम के लिए सीधे कंपनी से बात करें, वह कंपनी का मुलाजिम है। तो उसे रंगबाजी के तौर पर कंपनी से पैसा दिलाने की मांग रखी, जब इसपर भी वह सहमत नहीं हुआ तो सैलरी से पैसा देने की बात कही गयी। इस पर कर्मी द्वारा ऐसा करने से इंकार करने पर उसे पहले पीटागया फिर नंगा कर वीडियो बना लिया गया।

बोकारो : धूम-धाम से मनाया गया करमा पूजा

जानकारी के अनुसार मुख्य आरोपी एक प्रोग्रेसिव विकास मंच का जिला अध्यक्ष दिलीप ठाकुर दूसरा इसका साथी सोनू सिंह है। घटना के बाद से सभी आरोपी फरार है। शुक्रवार को सिटी थाना से एक टीम पीड़ित से जाकर उसके घर में मिला और मामले की तहकीकात किया। सिटी इंस्पेक्टर मदन मोहन प्रसाद ने कहा कि मामले की जांच की जा रही, दोषियों पर कानूनी कार्रवाई होगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

जामताड़ा : ग्रामीण चिकित्सक सेवा संघ की बैठक संपन्न

more-story-image

रांची : एबीवीपी सरकार के बल पर छात्र राजनीति और...