धनबाद : विवाहिता की मौत पर अस्पताल में हंगामा, लापरवाही बरतने का आरोप

NewsCode Jharkhand | 3 June, 2018 5:27 PM
newscode-image

अस्पताल सहित पति एवं आठ लोगों पर FIR

धनबाद। दो महीने पूर्व आग से जली विवाहिता की इलाज के दौरान मौत पर परिजनों ने इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए अस्पताल परिषर में जमकर हंगामा किया। साथ ही परिजनों ने विवाहिता के पति सहित आठ लोगों पर दहेज़ न देने पर हत्या करने की पुलिस में प्राथमिकी दर्ज करायी गई है।

बरवाअड्डा हडियाडीह की रहनेवाली शोभा देवी सरायढेला थाना क्षेत्र के हीरक रोड स्थित जेपी अस्पताल में पिछले दो माह से भर्ती थी। रविवार को उसकी मौत होने पर मायके वाले अस्पताल में हंगामा करना शुरू कर दिया।

मृतका के पिता का कहना है कि डॉक्टर समय से ऑक्सीजन लगाते तो उसकी जान बच सकती थी। लेकिन अस्पताल के  कर्मी एवं डॉक्टरों द्वारा समय से ऑक्सीजन नहीं दिया गया जिससे  उसकी मौत हो गई।

मृतका के पिता गोखुल दास ने दहेज़ के लिए हत्या करने का आरोप पति तरुण दास सहित ससुराल के आठ लोगों पर लगाया है। पिता का कहना है कि शादी के बाद से ही पति एवं उसके परिजनों द्वारा लगातार दहेज़ की मांग की जा रही थी। दहेज नहीं देने पर पति एवं ससुराल के अन्य लोगो ने उसकी बेटी को आग लगाकर जान से मार दिया।

सिजुआ के रहने वाले गोखुल दास की बेटी शोभा  की शादी तरुण दास के साथ  2005 में हुई थी। पांच मार्च 2018 को शोभा के पिता को पति द्वारा फोन पर  सुचना दी गई कि उसकी बेटी जल गई है।  अशर्फी अस्पताल में भर्ती है। शोभा की स्थिति काफी ख़राब थी।

बेंगाबाद : ससुराल में युवक की संदेहास्पद मौत, परिजनों ने जतायी हत्या की आशंका

पिता के दबाव देने के बाद पति शोभा को बोकारो बीजीएच में भर्ती कराया। ग्यारह दिनों के बाद पति वापस शोभा को घर पर ले आया। घर पर 15 दिन रखने के बाद शोभा को पीएमसीएच में भर्ती कराया। पीएमसीएच में चार दिनों के इलाज के बाद शोभा को जेपी अस्पताल में भर्ती कराया था।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

धनबाद : चोरों का आतंक, कई घरों में चोरी की घटना को दिया अंजाम

NewsCode Jharkhand | 15 November, 2018 4:14 PM
newscode-image

धनबाद। आस्था का महापर्व ख़त्म होते ही धनबाद में चोरों का तांडव देखने को मिला जहां चोरों ने एक नहीं दो नहीं तीन-तीन जगह पर धावा बोल दिया, जहां चोरों ने तीनों जगह से करीब 20 से 25 लाख की सम्पति और गहने ले उड़े, जिसके बाद पुलिस अब सिर्फ जांच की बात कह कर अपना पल्ला झाड़ रही है।

दरअसल पहला मामला धनबाद के झरिया गोशाला ओपी क्षेत्र के कांड्रा बाजार का है जहां चोरों ने बंद जेवर दुकान को अपना निशना बनाया चोरों ने दुकान के पीछे दीवार में एक हॉल बनाकर दुकान में रखे 5 से 6 लाख की गहने उड़ा ले भागे।

जिसके बाद सुबह दुकानदार ने चोरी की सुचना स्थानीय पुलिस को दी, वही मौके पर पहुंचे डीएसपी सिंदरी ने भी पूरे दुकान का मुआयना किया और डॉग स्कॉट को बुलाकर जांच करने की बात कही, साथ पीड़ित दुकानदार का कहना है की दुकान के पीछे शराब पीने वालों का अड्डा है और आये दिन इन शराबियों द्वारा किसी न किसी से विवाद होता रहता है।

वही दूसरी घटना धनबाद के पुटकी थाना क्षेत्र गोपालीचक का है जहा ठीकेदार बीड़ी सिंह के घर चोरो ने धाबा बोल दिया जिसमे चोरों ने बीड़ी सिंह के घर से 9 लाख की सम्पति ले भागे बताया जा रहा है की बीड़ी सिंह का पूरा परिवार छठ मानाने दो दिनों के लिए गांव गया हुआ।

वही आज सुबह जब घर वापस आये तो देखा की घर का ताला टुटा हुआ है और घर में रखे पूरा सामान बिखरा पड़ा है, जिसके बाद घर वालों ने स्थानीय पुलिस को सुचना दी। वही पुलिस डॉग स्कॉट की टीम के साथ जांच में जुट गई।

वही पीड़ित बताते है की एक दिन के लिए घर गया था और एक दिन में अगर घर में चोरी हो जाती है तो प्रशासन की वयवस्था पर सवाल उठता है।

वही तीसरी घटना धनबाद के सदर थाना का है जहां सूर्य विहार कॉलोनी में रहने वाले हाली क्रास स्कूल के शिक्षक मृणाल कुमार के घर बीती रात  चोरों ने धाबा बोल दिया जिसमे चोरों ने शिक्षक के घर 5 लाख से अधिक के गहने पर हाथ साफ कर दिया।

बताया जा रहा है की शिक्षक दम्पति छठ में शामिल होने बोकारो गए हुए थे जिसका चोरों ने फ़ायदा उठाया और मंहगे साड़ी  सहित पांच लाख की गहने ले उड़े।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : राजकीय कार्यक्रम में हंगामा करने पर 216 पारा शिक्षक बर्खास्त

NewsCode Jharkhand | 15 November, 2018 7:20 PM
newscode-image

600 अन्य की बर्खास्तगी को लेकर कार्रवाई, गिरफ्तार कर पारा शिक्षकों को कैंप जेल में रखा गया

रांची। झारखंड राज्य स्थापना दिवस के दिन पूरे राज्य भर से राजधानी रांची में आए पारा शिक्षकों ने सरकारी कार्यक्रम को बाधा पहुंचाने की कोशिश की। साथ ही विधि व्यवस्था को अपने हाथ में लेकर पत्थरबाजी भी की।

विधि व्यवस्था में लगे  पुलिस प्रशासन के पदाधिकारियों, वरीय पुलिस अधीक्षक, सिटी पुलिस अधीक्षक  एवम् ड्यूटी पर तैनात पदाधिकारियों पर  पारा शिक्षकों  ने  हमला किया जिससे कई पुलिसकर्मी और  पदाधिकारी गंभीर रूप से जख्मी हुए।

पारा शिक्षकों द्वारा सरकारी कार्यक्रम में व्यवधान डालने, विधि व्यवस्था को तोड़ने एवम् सरकारी लोगो पर हमला करने की घटना को बेहद अशोभनीय एवम् गंभीर रूप से लेते हुए  वीडियो रिकॉर्डिंग एवम् कार्यक्रम स्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरा से  लिए फुटेज एवम् अन्य प्रमाणों के आधार पर  16 प्रखंड के कुल 216 पर शिक्षकों को बर्खास्त किया गया।

साथ ही लगभग 600 पारा शिक्षकों को जिला प्रशासन द्वारा बनाई गई खेलगांव एवम् रेड क्रॉस अस्थायी जेल में गिरफ़्तार कर रखा गया है। जिन पर सीसीटीवी कैमरा एवम्  वीडियो रिकॉर्डिंग से मिले प्रमाण के आधार पर बर्खास्त करने की कारवाई चल रही है।

अन्य जिलों के जिलाधिकारियों को भी यहां शामिल पारा शिक्षकों की सूची भेजी जा रही है जिसके आधार पर  चिन्हित कर अनुशासनात्मक कारवाई की प्रक्रिया आरंभ कर दी गई है।  स्थापना दिवस एक राजकीय दिवस है जी सम्पूर्ण राजवसियो के लिए सम्मान एवम् गौरव  का दिन है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

रांची : झारखंड स्थापना दिवस- संपूर्ण झारखंड खुले में शौच मुक्त घोषित, करीब 2100 को मिला नियुक्ति पत्र

NewsCode Jharkhand | 15 November, 2018 7:02 PM
newscode-image

रांची। झारखंड राज्य स्थापना दिवस मना रहा है। राज्य स्थापना दिवस के मौके पर राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में आयोजित मुख्य समारोह में मुख्यमंत्री ने संपूर्ण झारखंड को खुले में शौच से मुक्त किये जाने की घोषणा की। समारोह में राज्य के तीन जिलों देवघर, हजारीबाग और लोहरदगा को पूर्ण विद्युतीकृत किये जाने की घोषणा की गयी।

इस मौके पर अरबों रुपये की योजनाओं का शिलान्यास और उदघाटन के साथ ही परिसंपत्तियों का वितरण भी किया गया। समारोह में करीब 2100 लोगों को नियुक्ति पत्र का भी वितरण किया गया।

झारखंड स्थापना दिवस पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राज्य की जनता को कई सौगात दी। रांची में आयोजित मुख्य समारोह में उन्होंने राज्य को खुले में शौच से मुक्त किये जाने की घोषणा की।  उन्होंने कहा कि स्वच्छता को लेकर लोगों की आदतों में भी अब बदलाव आया है।

मुख्यमंत्री ने हर घर तक बिजली पहुंचाने के अपने वायदों को पूरा करते हुए राज्य के तीन जिलों देवघर, लोहरदगा और हजारीबाग को पूर्ण रूप से विद्युतीकृत होने का भी ऐलान किया। इस दौरान श्री दास ने कहा कि वर्तमान सरकार  पूरी तरह से पारदर्शी तरीके से काम कर रही  है और अब तक इस पर एक भी भ्रष्टाचार के आरोप नहीं लगे है।

इस दौरान राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि देश के विकास में झारखंड का अहम योगदान है। उन्होंने कहा कि जनता को चुनी हुई सरकार से आकांक्षाएं होती है , जिसे पूरा करने में सरकार लगी है।

समारोह के दौरान अरबों रुपये की परिसंपत्तियों का वितरण किया गया और कई नई परियोजनाओं का शिलान्यास और उदघाटन भी हुआ। करीब 2100 लोगों के बीच नियुक्ति पत्र का वितरण और झारखंड और देश के विकास में अपनी भूमिका निभाने वाले लोगों को सम्मानित भी किया गया। जिला मुख्यालयों में भी परिसंपत्तियों का वितरण हुआ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

विधानसभावार बूथ स्तर तक प्रोजेक्ट शक्ति में लोगों को जोड़ने...

more-story-image

रांची : आम आदमी पार्टी ने निकाली झारखंड नवनिर्माण संकल्प...

X

अपना जिला चुने