देवघर : कल बाबा नगरी में मोमेंटम झारखंड का आगाज, दस हजार लोगों को मिलेगा रोजगार

NewsCode Jharkhand | 26 April, 2018 3:43 PM

देवघर : कल बाबा नगरी में मोमेंटम झारखंड का आगाज, दस हजार लोगों को मिलेगा रोजगार

146 उद्योगपतियों के साथ एमओयू की संभावना

देवघर। उद्योगों को बढ़ावा देने और रोजगार की संभावनाओं को बढ़ाने के उद्देश्य से देवघर में फोर्थ ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी मोमेंटम झारखंड का आगाज हो रहा है। इस कार्यक्रम का उद्घाटन झारखंड सरकार के मुख्यमंत्री रघुवर दास के द्वारा होगा। कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार कर ली गई है।

27 अप्रैल को दिन में 11:30 बजे कार्यक्रम की शुरुआत होगी। जिसमें झारखंड सरकार के कई सचिव, उद्योग विभाग, कई मंत्री और सांसद भी मौजूद रहेंगे। मुख्यमंत्री की उपस्थिति में लगभग दो घंटे का कार्यक्रम चलेगा।

कार्यक्रम को लेकर देवघर के जसीडीह थाना क्षेत्र के स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में कार्यक्रम का आयोजन होगा। जिसकी तैयारियां अंतिम चरण में है। स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में तीन बड़े-बड़े पंडाल लगाया गया है। जहां दो हजार के करीब उद्योगपति शामिल होंगे। आगामी 27 अप्रैल को फोर्थ ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी मोमेंटम झारखंड की शुरुआत हो रही है।

मोमेंटम झारखंड का चौथा संस्‍करण

मोमेंटम झारखंड के चौथे संस्करण में देवघर के कुमैठा स्टेडियम में इस कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। इस पूरे कार्यक्रम में 146 उद्योगपतियों के साथ एमओयू किया जाएगा। जिसमें 2712 करोड़ का निवेश किया जाएगा, साथ ही 10600 लोगों को रोजगार मुहैया कराया जाएगा। इस कार्यक्रम में संथाल परगना के सभी जिले के साथ-साथ गिरिडीह और बोकारो के इन्वेस्टर को भी आमंत्रित किया गया है।

देवघर : विश्व स्वास्थ्य दिवस पर कार्यक्रम, लोगों को किया जागरूक

डीसी ने दी कार्यक्रम की जानकारी

देवघर डीसी राहुल कुमार सिन्हा ने एक प्रेस वार्ता कर इन सारी चीजों की जानकारी दी। साथ ही कहा कि इस पूरे कार्यक्रम का मकसद नए उद्योगों को बढ़ावा देना है। कार्यक्रम की तैयारियां पूरे जोर-शोर से चल रही है। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री एक प्रेस वार्ता भी करेंगे। मुख्यमंत्री इस कार्यक्रम में दो घंटे तक शिरकत करेंगे, साथ ही सभी जिलों के आलाधिकारियों को भी इसमें आमंत्रित किया गया है।

लोन की प्रोसेस हो सरलीकरण

इस कार्यक्रम का एक और उद्देश्य है कि इसमें इन्वेस्टर को कैसे सुगमतापूर्वक लाइसेंस मिल सके। उद्योगों के लिए साथ ही उनके फंडिंग और लोन की प्रोसेस को सिंगल विंडो सिस्टम के माध्यम से सरलीकरण कर उन्हें मुहैया कराया जा सके। उद्योग और सरकार के बीच एक अच्छा तालमेल बैठ सके। ज्यादा से ज्यादा औद्योगिकरण हो सके और ज्यादा से ज्यादा टेक्निकल इंस्टिट्यूशन की भी स्थापना हो सके।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

रांची : कांग्रेस ओबीसी विभाग के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष पहुंचे रांची

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 8:00 PM

रांची : कांग्रेस ओबीसी विभाग के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष पहुंचे रांची

सभी जिलों में घूम कर ओबीसी की स्थिती का लेंगे जायजा

रांची। कांग्रेस के ओबीसी विभाग के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ताम्रध्वज साहू बुधवार को रांची पहुंचे। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में प्रेस वार्ता में उन्‍होंने बताया कि वह राहुल गांधी के निर्देश पर पूरे देश में घूम कर ओबीसी की क्‍या हालत है। इसका पता लगा रहे हैं।

कांग्रेस पार्टी से उनकी क्या आशा है। वे कांग्रेस से किस प्रकार जुड़े। उनकी भागीदारी पार्टी में किस प्रकार हो। इस पर विचार विमर्श होगा। श्री साहू ने पत्रकारों को बताया कि झारखंड में ओबीसी की संख्‍या कितनी है और किस-किस क्षेत्र मे है। इसकी पूरी जानकारी लेने के बाद उन्‍हें पार्टी से कैसे जोड़ा जाए इस पर विचार किया जाएगा।

रांची : पीएम झारखंड को 25 मई को 28 हजार करोड़ की योजनाओं की देंगे सौगात

वह राज्‍य के सभी जिलों में जाएंगे। पूरी रिपोर्ट तैयार कर लेने के बाद पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष राहुज गांधी को इससे अवगत कराया जाएगा।

पत्रकार वार्ता में आलोक दूबे, अभिलाष साहू सहित अन्‍य लोग उपस्थित थें।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

बोकारो : डीडीसी ने की समीक्षा बैठक, तीन पंचायत सेवकों का रोका वेतन

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 7:55 PM

बोकारो : डीडीसी ने की समीक्षा बैठक, तीन पंचायत सेवकों का रोका वेतन

रोजगार सेवकों  को शो कॉज

चंदनकियारी(बोकारो)। प्रखंड स्थित सभागार में बोकारों जिला के उपविकास आयुक्त रवि रंजन मिश्रा के अध्यक्षता में प्रखंड में चल रहीं विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का समीक्षात्मक बैठक किया। जहां उपविकास आयुक्त ने बैठक के दौरान कर्मियों द्वारा उनके सवालों का सकारात्मक जवाव नहीं दिए जाने पर कई कर्मियो को फटकार लगाई।

मौके पर डीडीसी श्री मिश्रा ने कहा कि जनकल्याणकारी योजनाओं में लापरवाही किसी भी हाल में बर्दास्त नहीं की जाएगी। बरसात के पहले सभी कच्चा कार्य को समय रहते हुए 15 दिनों के अंदर पूर्ण करें। उन्होंने एक एक पंचायत का मासिक प्रगति प्रतिवेदन का जांच किया।

इस अवसर पर अद्रकुड़ी, महाल पूर्वी व बोरियाडीह में योजनाओ का संतुष्ट जवाव नहीं मिलने पर उक्त तीनों पंचायत के पंचायतों के सचिव का वेतन अगले आदेश तक के लिए रोक लगाने का बीडीओ ने दिया आदेश।

वहीं उक्त पंचायत के रोजगार सेवकों को शो कॉज किया। साथ ही रूर्बन मिशन के तहत आबंटन प्राप्त 107 करोड़ रुपया के अनुसार रूप रेखा तैयार करने को भी कहा गया।

बोकारो : सरकार खेल एवं खिलाड़ियों के सर्वांगीण विकास के लिए संकल्पित- अमर बाउरी

इस अवसर पर प्रधानमंत्री आवास, स्वच्छ भारत मिशन, मनरेगा, विभिन्न प्रकार के पेंशन समेत कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा किया गया। मौके पर बीडीओ चंदनकियारी रविन्द्र प्रसाद गुप्ता समेत सभी पंचायत के पंचायत सेवक कान रोजगार सेवक मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

टुंडी : प्‍यास बुझाने के लिए जूझती हैं महिलाएं, जंगल पार कर के करती हैं व्‍यवस्‍था

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 7:32 PM

टुंडी : प्‍यास बुझाने के लिए जूझती हैं महिलाएं, जंगल पार कर के करती हैं व्‍यवस्‍था

विकास के नाम पर सिर्फ बिजली पहुंची

टुंडी (धनबाद)। टुंडी प्रखंड के नक्‍सल प्रभावित क्षेत्र रूपन पंचायत अंतर्गत धनारंगी गांव में लोगों को पेयजल की समस्या से जुझना पड़ रहा है। आलम यह है कि गांव की महिलाओं और बच्चियों को जंगलों के बीच जोरिया एवं डाड़ी से पानी की व्यवस्था करनी पड़ती है।

बुधवार को न्यूज़कोड के सहयोगी जब गांव पहुंचे तो ग्रामीण श्रीलाल मुर्मू ने बताया कि गांव में पेयजल की बहुत समस्या है। दो टोलों में बंटा यह गांव पहाड़ की तराई में बसा हुआ है। जिसमें से एक टोले में कुआं और चापानल है जबकि पहाड़ की तराई में सटे टोले में मात्र एक चापानल है। जिससे ग्रामीणों की प्यास नहीं बुझती है।

धनबाद : कोचिंग सेंटर पर पैसे ऐंठने का आरोप, छात्र मोर्चा ने किया प्रदर्शन

इस कारण ग्रामीणों को अपनी प्यास बुझाने के लिए गांव से लगभग एक किलोमीटर दूर जंगलों के रास्ते होते हुए सोनापानी जोरिया में बहने वाली पानी लाते हैं। गर्मी के दिनों में यह जोरिया भी सूख जाता है। ग्रामीणों की मदद से खेतों में बने एक डाड़ी चुआं से पानी लाकर अपनी प्यास बुझाते हैं। विकास के नाम पर गांव में सिर्फ बिजली पहुंची है और कुछ पीसीसी बनी है, परंतु गांव जाने वाली मुख्य सड़क बिल्कुल जर्जर हालत में है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

X

अपना जिला चुने