देवघर : कल बाबा नगरी में मोमेंटम झारखंड का आगाज, दस हजार लोगों को मिलेगा रोजगार

NewsCode Jharkhand | 26 April, 2018 3:43 PM
newscode-image

146 उद्योगपतियों के साथ एमओयू की संभावना

देवघर। उद्योगों को बढ़ावा देने और रोजगार की संभावनाओं को बढ़ाने के उद्देश्य से देवघर में फोर्थ ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी मोमेंटम झारखंड का आगाज हो रहा है। इस कार्यक्रम का उद्घाटन झारखंड सरकार के मुख्यमंत्री रघुवर दास के द्वारा होगा। कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार कर ली गई है।

27 अप्रैल को दिन में 11:30 बजे कार्यक्रम की शुरुआत होगी। जिसमें झारखंड सरकार के कई सचिव, उद्योग विभाग, कई मंत्री और सांसद भी मौजूद रहेंगे। मुख्यमंत्री की उपस्थिति में लगभग दो घंटे का कार्यक्रम चलेगा।

कार्यक्रम को लेकर देवघर के जसीडीह थाना क्षेत्र के स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में कार्यक्रम का आयोजन होगा। जिसकी तैयारियां अंतिम चरण में है। स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में तीन बड़े-बड़े पंडाल लगाया गया है। जहां दो हजार के करीब उद्योगपति शामिल होंगे। आगामी 27 अप्रैल को फोर्थ ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी मोमेंटम झारखंड की शुरुआत हो रही है।

मोमेंटम झारखंड का चौथा संस्‍करण

मोमेंटम झारखंड के चौथे संस्करण में देवघर के कुमैठा स्टेडियम में इस कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। इस पूरे कार्यक्रम में 146 उद्योगपतियों के साथ एमओयू किया जाएगा। जिसमें 2712 करोड़ का निवेश किया जाएगा, साथ ही 10600 लोगों को रोजगार मुहैया कराया जाएगा। इस कार्यक्रम में संथाल परगना के सभी जिले के साथ-साथ गिरिडीह और बोकारो के इन्वेस्टर को भी आमंत्रित किया गया है।

देवघर : विश्व स्वास्थ्य दिवस पर कार्यक्रम, लोगों को किया जागरूक

डीसी ने दी कार्यक्रम की जानकारी

देवघर डीसी राहुल कुमार सिन्हा ने एक प्रेस वार्ता कर इन सारी चीजों की जानकारी दी। साथ ही कहा कि इस पूरे कार्यक्रम का मकसद नए उद्योगों को बढ़ावा देना है। कार्यक्रम की तैयारियां पूरे जोर-शोर से चल रही है। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री एक प्रेस वार्ता भी करेंगे। मुख्यमंत्री इस कार्यक्रम में दो घंटे तक शिरकत करेंगे, साथ ही सभी जिलों के आलाधिकारियों को भी इसमें आमंत्रित किया गया है।

लोन की प्रोसेस हो सरलीकरण

इस कार्यक्रम का एक और उद्देश्य है कि इसमें इन्वेस्टर को कैसे सुगमतापूर्वक लाइसेंस मिल सके। उद्योगों के लिए साथ ही उनके फंडिंग और लोन की प्रोसेस को सिंगल विंडो सिस्टम के माध्यम से सरलीकरण कर उन्हें मुहैया कराया जा सके। उद्योग और सरकार के बीच एक अच्छा तालमेल बैठ सके। ज्यादा से ज्यादा औद्योगिकरण हो सके और ज्यादा से ज्यादा टेक्निकल इंस्टिट्यूशन की भी स्थापना हो सके।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

रांची : जगन्नाथ रथ मेला में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का प्रदर्शन

NewsCode Jharkhand | 22 July, 2018 9:55 PM
newscode-image

रांची। ऐतिहासिक जगन्नाथपुर रथ मेला में जिला सूचना एवं जनसंपर्क इकाई द्वारा 10 दिवसीय विभागीय सांस्कृतिक मंच पर पंजीकृत दल नागपुरी सांस्कृतिक दल एवं न्यू झारखंड कला संगीत सृजन केंद्र के स्थानीय कलाकारों के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। विभागीय मंच पर इन कलाकारों द्वारा लोक संगीत एवं नृत्य प्रस्तुत किया।

रांची : जदयू का झारखंड में किसी पार्टी से कोई तालमेल नहीं- अरुण सिंह

साथ ही पंजीकृत कला दलों के कलाकारों के द्वारा नुक्कड़-नाटक के माध्यम से लोगों को सरकार की योजनाओं के संबंध में जानकारी दी एवं योजनाओं के प्रति जागरुक किया। 10 दिवसीय विभागीय सांस्कृतिक स्टॉल पर लगातार कार्यालय के कर्मचारी एवं जन संवाद केन्द्र के प्रतिनिधि द्वारा सरकार की योजनाओं के संबंध में जानकारी लोगो को दी जा रही है एवं योजनाओं के प्रति जागरुक किया जा रहा है।

साथ ही एलईडी प्रचार वाहन के माध्यम से जगन्नाथपुर रथ मेला में सरकार की योजनाओं से संबंधित विडियो क्लिप दिखाकर लोगों को जागरुक किया जा रहा है। इसमें मुख्यता 1 रुपए में रजिस्ट्री, ग्राम स्वराज अभियान, मीजल्स रुबेला, फसल बीमा योजना, ट्रैफिक के नियमों का पालन,   वज्रपात से बचाव, सौभाग्य योजना, उज्ज्वला योजना, उजाला योजना, जैसी अनेक विषयों पर लगातार आम जनों को एलईडी वाहन, नुक्कड़ नाटक, एवम् गीत संगीत के माध्यम से जागरुक किया जा रहा है। साथ योजनाओं से संबंधित पम्पलेट, पोस्टर एवं विभागीय पुस्तक का भी वितरण किया जा रहा है।

जन संवाद के कर्मी द्वारा लगातार 181 के बारे में स्टॉल पर आए लोगों को लगातार जानकारी दी जा रही है। विदित हो यह जन संपर्क इकाई, रांची का वृहद कार्यक्रम है जिसमें अब तक स्टॉल में आए करीब बीस हजार से ऊपर व्यक्तियों को सरकार की अनेक योजनाओं बारे में जानकारी दी जा चुकी है।

सोमवार को स्टॉल का समापन है। जिसमें मुख्य रुप से प्रज्वलित बिहार, पांच परगना छाऊ नृत्य पार्टी एवम् न्यू झारखंड कला संगीत सृजन केंद्र के द्वारा नागपुरी, छाऊ, उरांव, एवम् अन्य कला के द्वारा लोगों को गीत संगीत के माध्यम से जानकारी दी जाएगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जमशेदपुर : 2019 की चुनाव को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक

NewsCode Jharkhand | 22 July, 2018 9:41 PM
newscode-image

जमशेदपुर। झारखंड में 2019 का लोकसभा और विधानसभा चुनाव की मद्देनजर सभी पार्टी अपने को मजबूत करने के लिए अपनी कार्जकर्ताओ के साथ बैठक कर पार्टी में लोगो को जोड़ने काम शुरू कर दिया है।

जमशेदपुर : एलबीएसम कॉलेज में छात्रों ने बवाल काटा, भाग खड़े हुए शिक्षक व प्रिंसिंपल

वहीँ पोटका प्रखंड कांग्रेस समिति की बैठक पोटका प्रभारी गोपाल प्रसाद के उपस्थिति में हुई। अध्यक्षता प्रखंड अध्यक्ष तापस मंडल ने किया। बैठक में प्रभारी ने प्रखंड कमिटी और पंचायत कमिटी के संगठन को मजबूत करने हेतु आवश्यक दिशानिर्देश दिया। साथ ही कांग्रेस पार्टी को मजबूत करने के लिए आलाकमान की दिशा निर्देश पर चलने की मंत्र बताये।

जमशेदपुर : उपायुक्त ने किया गुमशुदा एवं अनाथ बच्चों के हॉस्टल का औचक निरीक्षण

वही बैठक के दौरान युवा वर्ग को मजबूत करने की बात कही गई। बैठक में ज्योति मिश्रा, श्रीपति दास, सोमेन मंडल, सनातन मंडल, संजय कुमार, अमल बिस्वास, मनोज कुमार सरदार, सौरव चटर्जी, प्रकाश सरदार, सुरेश गोप आदि लोग उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

सिमडेगा : ग्रामीणों ने लगभग सात सौ पौधे लगाये

NewsCode Jharkhand | 22 July, 2018 9:39 PM
newscode-image

सिमडेगा। कोलेबिरा प्रखंड के बंदरचुआं में पर्यावरण संरक्षण के उद्देश्य से ग्रामीणों ने लगभग सात सौ पेड़ पौधे लगाये। ग्रामीणों ने वन अधिकार अधिनियम 2006 में दिये गये अधिकार के तहत सामुदायिक दावा किये गये जंगल के निकट वृक्षा रोपण किया।

इस अवसर कांग्रेस पार्टी आदिवासी प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष विक्सल कोंगाड़ी, समर्पण सुरीन, तेलेस्फोर तोपनो, अमित डांग मुख्य रूप से उपस्थित थे। वृक्षारोपण के बाद सभा का आयोजन किया गया। सभा को संबोधित करते हुए विक्सल कोंगाड़ी ने कहा कि सरकार द्वारा वन संरक्षण पर एवं आदिवासियों के वन आधारित आजीविका पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

सरकार द्वारा ग्राम सभा की उपेक्षा की जा रही है। उन्होंने कहा कि वनों के आस पास रहने वाले आदिवासी एवं परंपरागत वनवासी जंगल के अभिन्न अंग हैं। जिन्हें जंगलों के अधिकार से वंचित नहीं किया जा सकता है।

सिमडेगा : अवैघ लकड़ी लदा पिकअप वैन जब्त, वन विभाग ने की कार्रवाई

किंतु भाजपा सरकार द्वारा आदिवासियों को जल, जंगल, जमीन से वंचित करने की साजिश रची जा रही है। इस मौके पर समर्पण सुरीन, तेलेस्फोर तोपनो, अमित डांग आदि ने अपने विचार व्यक्त करते हुए वन अधिकार कानून की विस्तार पूर्वक जानकारी दी।

इस अवसर पर मुख्य रूप से जुनूल लुगून, रतन बागे, जेम्स समद, रेयडन डांग, उदय सुरीन, सिसिलया होरो, ललित हेमरोम, विक्टोर डुंगडुंग, नीलिमा टेटे, इलियाह डुंगडुंग,नैमन हेमरोम, अमित लुगून,मुलियानी डांग,ग्रेस्ती हेमरोम, नुएल होरो के अलावा काफी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

रांची : जदयू का झारखंड में किसी पार्टी से कोई...

more-story-image

देवघर : न्यायालय के आदेश पर मालिक को मकान सुपुर्द