देवघर : जिला प्रशासन की सार्थक पहल से बाबा मंदिर परिसर में खुलेंगे 30 बेड का अस्‍पताल

NewsCode Jharkhand | 7 June, 2018 4:17 PM
newscode-image

पुराने सदर अस्‍पताल को बनाया जाएगा ट्रामा सेंटर

देवघर। श्रावणी मेला को लेकर जिला प्रशासन ने सार्थक पहल की है। अब बाबा मंदिर परिसर में 30 बेड का अस्‍पताल खुलेंगे। वहीं स्थानीय लोगों की मांग है कि बाबा मंदिर में 30 बेड का अस्पताल 365 दिन रहे, ताकि श्रद्धालुओं को दिक्‍कत न हो। बाबा मंदिर परिसर में पहले एक कमरे का अस्‍पताल में श्रद्धालुओं का इलाज होता था, लेकिन समुचित इलाज नहीं होता था।

देवघर बाबा मंदिर में सालाना लाखों श्रद्धालु सुल्तानगंज से 105 किलोमीटर पैदल यात्रा कर बाबा धाम पहुंचते हैं। श्रद्धालुओं को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। प्रत्येक वर्ष श्रावणी मेला में बदलाव जरूर देखने को मिलता है। वही इस वर्ष श्रावणी मेला 2018 में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिला प्रशासन के सहयोग से इस बार श्रद्धालुओं को किसी भी तरह का इलाज के लिए सदर अस्पताल की तरफ रुख नहीं करनी होगी।

हाईटेक होगा अस्‍पताल

अब इस श्रावणी मेला 2018 में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिला प्रशासन के सहयोग से मंदिर परिसर में ही 30 बेड का हाईटेक अस्पताल खोला जाएगा। श्रावणी मेला में 24 घंटे डॉक्टर मौजूद रहेंगे। टावर चौक स्थित सदर अस्पताल अब कोढ़िया टीलहा में शिफ्ट हो गया है जिसकी जानकारी श्रद्धालुओं को नहीं होती है, और वे लोग पुराने सदर अस्पताल पहुंच जाते थे। ऐसे में श्रद्धालुओं को काफी परेशानी होती थी।

देवघर : किसानों की सुविधा के लिए नगर निगम लगाएगा कई क्षेत्रों में बाजार

बनेगा ट्रामा सेंटर

पुराने सदर अस्‍पताल जो पूर्व से चिन्हित है वहां भी ट्रामा सेंटर बनाया जाएगा। अभी ब्लड बैंक, आई अस्‍पताल और MTC ही मौजूद है। मरीजों का आगमन बहुत ही कम है, फिर भी श्रद्धालुओं के लिए व्यवस्थित रहेगी। जिसकी जानकारी सिविल सर्जन कृष्ण कुमार ने बताया।

श्रद्धालुओं को नहीं होगी परेशानी

वही स्थानीय जनप्रतिनिधि की मानें तो जिला प्रशासन की पहल एक सराहनीय है। मंदिर में 30 बेड का अस्पताल से श्रद्धालुओं को काफी सहूलियत होगी। सदर अस्‍पताल दूर होने के कारण श्रद्धालुओं को परेशानी नहीं होगी। जिला प्रशासन से मांग करते हैं कि मंदिर में श्रावणी मेला में लगने वाले 30 बेड का अस्पताल 365 दिन के लिए होना चाहिए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची: गुरु गोविंद सिंह के प्रकाश पर्व पर गुरूद्वारा में सजा दीवान

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 7:38 PM
newscode-image

रांची : वडा तेरा दरबार सचा तुधु तखतु…। गुरु गोबिंद सिंह के प्रकाश पर्व पर बुधवार  को शहर में तीन स्थान पर दीवान सजाया गया। मुख्य समारोह  मेट्रो गली बिरला मैदान में हुआ। गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा की ओर से सहज पाठ के समापन पर दिन के दस बजे से विशेष दीवान सजाया गया। हुजूरी रागी जत्था भाई सनदीप सिंह के कीर्तन गायन से दीवान शुरू हुआ।
शबद गायन कर निहाल किया
दीवान में पंथ के उच्च कोटि के रागी भाई मेहताब सिंह जालंधर वाले ने वडा तेरा दरबारू सचा तुधु तखतु से शबद गायन की शुरुआत की। खालसा अकाल पुरख की फौज, प्रकट्यो खालसा परमातम की मौज… के साथ उन्होंने कई शबद गाए। भाई जीवन सिंह लुधियाना वाले, हुजूरी सनदीप सिंह एवं भाई अमरीक सिंह ने वाहो वाहो गोबिंद सिंह, आपे गुर चेला… शबद गायन कर उपस्थित साध संगत को निहाल किया। ज्ञानी प्रो मंजीत सिंह एवं भाई जसविंदर सिंह रूडकी कलां वाले ने संगत को गुरु गोबिंद सिंह के जीवन के बारे में बताया। ढाढ़ी जत्था भाई निशान सिंह खालसा ने ढाढ़ी वार का कीर्तन गायन किया। इस मौके पर गुरुनानक स्कूल के बच्चों ने भी कीर्तन प्रस्तुत किया। हुक्मनामा एवं गुरु के अरदास के बाद दीवान का समापन हुआ। इसके बाद गुरु का अटूट लंगर बरता। बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने पांत में बैठ कर गुरु का प्रसाद छका।
मेन रोड एवं रातू रोड में सजा विशेष दीवान
सरवंश दानी गुरु गोबिंद सिंह साहिब के प्रकाश पर्व  के उत्सव  में रातू रोड के श्रीकृष्णनगर कॉलोनी स्थित गुरुद्वारा में दीवान सजाया गया। रातू रोड में श्री गुरुनानक सत्संग सभा की ओर से दीवान सजाया गया। इनकी रही भागीदारीतीन दिनी प्रकाश पर्व के आयोजन में सरदार कुलदीप सिंह, कृपाल सिंह, परमजीत सिंह चाना, गुरमीत सिंह, गुरविंदर सिंह सेठी, महिंदर सिंह, हरजीत, तजिंदर, सुरजीत, हरमिंदर, जयराम दास मिढ्ढा आदि की उल्लेखनीय भागीदारी रही

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची: रेलवे अधिकारियों के साथ सीएम ने की बैठक में दिया निर्देश, योजनाओं को जल्द पूरा करें

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 3:46 PM
newscode-image

रांची।    झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राज्य में चल रही रेल परियोजनाओं और रेल ओवरब्रिज के कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के तर्ज पर राज्य सरकार और रेलवे के बीच एक कारपोरेशन का गठन किया जाए। इसके माध्यम से रेलवे से जुड़े कार्य किए जाएं। इससे कार्य में तेजी आएगी और प्रोजेक्ट समय पर पूरे हो सकेंगे।

मुख्यमंत्री ने चुटिया आरओबी, नामकुम कांड्रा आरओबी, केतारी बागान आरओबी, धनबाद स्थित गया पुल समेत सभी रेल ओवरब्रिज के कार्यों को यथाशीघ्र पूरा करने का निर्देश दिया। इसके साख-साथ रांची-नई दिल्ली राजधानी और एलटीटी सुपरफास्ट को प्रतिदिन करने, पूरी-नई दिल्ली पुरुषोत्तम एक्सप्रेस को जयपुर तक करने, रांची-लखनऊ-देहरादून के लिए ट्रेन समेत अन्य ट्रेनों के फेरे में वृद्धि करने का प्रस्ताव रेलवे बोर्ड में भेजने को कहा।

बैठक में नगर विकास मंत्री सी पी सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ सुनील कुमार वर्णवाल, पथ निर्माण सचिव श्री के के सोन, परिवहन सचिव श्री प्रवीण टोप्पो, साउथ ईस्टर्न रेलवे के महाप्रबंधक श्री पूर्णेन्दु मिश्रा, एडीआरएम रांची श्री विजय कुमार, सीनियर डीसीएम अविनाश, श्री नीरज कुमार समेत रेलवे अधिकारी उपस्थित थे।

धनबाद: खादान से काले हीरे की बढ़ी चोरी, इलाके में जवानों को किया गया तैनात

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 3:23 PM
newscode-image

धनबाद । अब तक तो आपने सुना होगा कि हीरे जेवरात की चोरी हो जाती है। लेकिन आपको यह सुनकर थोड़ा अटपटा लगेगा क्योकि धनबाद इलाके में खादान से अब कोयले की चोरी हो रही है।आपके सामने जो तस्वीर दिखाई पड़ रही है वह आपको चौका देगी। इस तस्वीन से आप यह तो समझ गए होंगे कि यह इलाका कोयला यानी कि काले हीरे का इलाका है। लेकिन जब आपको पता चलेगा कि रात में इस खादान में लोग कोयले की चोरी करने लगे हैं तब आप चौक जरुर जाएंगे। दरअसल अभी तक तो चोरी बड़ी गाड़ियों से की जाती रही है लेकिन अब चोर सीधे खादान से खुद ही चोरी करने लगे हैं।

चोरों का आतंक इस कदर हावी है की चोर अब चोरी करने बीसीसीएल के गहरे खदान में खुश कर चोरी की घटना अंजाम दे रहे हैं। ताजा  मामला धनबाद के भौरा ओपी क्षेत्र में पड़ने वाले बीसीसीएल की भौरा दक्षिण 37/38 खदान में चोरों के घुसाने की सुचना के बाद खदान के ऊपर सीआईएसफ और जिला पुलिस के जवान चोरो को पकड़ने के लिए पुरे खदान के चारो और पुलिस तैनात कर दिया है जिसके बाद लगभग 500 मीटर गहरे खदान के अंदर सर्च सीआईएसफ कर रही है वही कर्मियों का कहना है की आज सुबह जब ड्यूटी पर आकर खदान के अंदर पम्प चालू करने गए तो अन्दर से तीन चार टोर्च की रोशनी दिखाई दी जिसके बाद हमने इसकी सूचना अपने वरीय अधिकारी को दी।

 

 

 

More Story

more-story-image

रांची: भापुसे के 17 अधिकारियों का तबादला,कई जिलों के एसपी...

more-story-image

रांची: अन्तराष्ट्रीय व्यापार मेले में भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा...

X

अपना जिला चुने