देवघर : कुशमिल गांव का हुआ विकास तो खिले चेहरे, ढोल-नगाड़े पर झूमे लोग

NewsCode Jharkhand | 10 May, 2018 7:13 PM
newscode-image

सरकार की कोशिश की सराहना

देवघर। सरकार का लक्ष्य समाज के अंतिम पंक्ति के अंतिम व्यक्ति तक विकास योजनाओं को पहुंचाना है। सरकार के इस उद्देश्य को साकार कर रहा है देवघर का कुशमिल गांव। इस गांव में पिछले तीन सालों में लगातार प्रगति की है और आज यह गांव सभी सुविधाओं से लैस है। थोड़ी कमी पेयजल की समस्या को लेकर थी जिसे भी राज्य सरकार ने पूरा कर इस गांव को प्रगतिशील गांव की श्रेणी में लाकर खड़ा कर दिया है। आज इस गांव में जश्न का माहौल है।

पानी, बिजली और सड़क से लैस है गांव

ग्रामीणों ने पूजा-पाठ और ढोल बजा ईश्वर को धन्यवाद दिया। क्‍योंकि गांव में आज विकास पहुंचा है। कुशमिल गांव की दूरी प्रखंड मुख्यालय से 12 किलोमीटर दूर है। नदी किनारे बसा यह गांव नदी के रहते भी पानी की बूंद के लिए तरसता था। गांव में आने के लिए अच्छी सड़क नहीं थी, ना ही यहां कोई योजना पहुंच पाती थी, लेकिन पिछले तीन सालों में यह गांव देवघर जिला के उन्नत गांव की श्रेणी में खड़ा हो गया है।

कुशमिल बना प्रगतिशील गांव

लोग सरकार को धन्यवाद भी दे रहे हैं। सरकार के मंत्री और जिला प्रशासन इस गांव में कैंप कर रही है। किए गए कई वादे पूरे हो चुके हैं। इस गांव में सभी मूलभूत सुविधाएं मौजूद है। गांव में स्वास्थ्य केंद्र है और इस स्वास्थ्य केंद्र से 5 पंचायत के लोग स्वास्‍थ्‍य सुविधा लेते हैं,  यहां सभी तरह की सुविधाएं मौजूद है।

सभी सुविधाओं से लैस है अस्‍पताल

अस्पताल के प्रभारी नवल किशोर बताते हैं कि यहां सभी सुविधाएं मौजूद है। इस अस्पताल के होने से लोगों को दूर मुख्यालय सदर अस्पताल नहीं जाना पड़ता है। यहां एएनएम शहीद डॉक्टर भी मौजूद रहते हैं और इन्हें सभी तरह की दवाइयां भी नि:शुल्क दी जाती है।

सामूहिक विवाह भवन का निर्माण

इस गांव में चिकित्सा सुविधा के अलावा स्कूल, पंचायत भवन भी मौजूद है। इस गांव में पहले महिलाओं और पुरुषों को दूर नदी में शौच के लिए जाना पड़ता था, लेकिन आज घर-घर शौचालय है। इस गांव के अधिकतर लोग गरीब हैं। शादी विवाह के समय इन्हें काफी खर्च कर पंडाल बनाना पड़ता था, जिसके लिए इन्हें कर्ज लेना पड़ता था, लेकिन आज यहां सामूहिक विवाह भवन भी निर्माण कराया जा रहा है। जिससे ग्रामीण काफी खुश हैं अब इन्हें लगता है कि जिस पंडाल के पीछे यह 20000 से लेकर 30000 रुपए खर्च करते थे वह इन्हें मुफ्त मिलेगी। साथ ही विवाह भवन में नि:शुल्क पेयजल के लिए टैंकर भी दिया जा रहा है।

पेयजल की समस्या भी दूर

इसके अलावा गांव की सबसे बड़ी समस्या पेयजल समस्या को भी दूर कर दिया गया है। पेयजल विभाग की ओर से गांव के लिए जलापूर्ति योजना का शिलान्यास कर दिया गया है। गांव वालों को खुशी है कि आजादी के बाद पहली बार इनके घरों में नल से पानी आएगा। झारखंड सरकार के श्रम नियोजन मंत्री राज पलिवार ने इसका शिलान्यास भी कर दिया। गांव में अधिकारियों का जमावड़ा लगा रहता है जिससे लोगों में आस बंधी हुई है कि वह दिन दूर नहीं जब देवघर जिला का सबसे विकसित गांव के रूप में जाना जाएगा।

डुमरी : शराब बनाने, बेचने और पीने वालों के खिलाफ महिलाओं ने छेड़ी मुहिम

गांव की बदली तस्‍वीर : अधिकारी

अधिकारी बताते हैं कि सरकार की मंशा हर गांव को विकसित करना है और इन सारे कार्यों को पूरा करने के लिए दिन रात एक किया जा रहा है। इस गांव की सूरत बदलने के लिए राज्य सरकार विधायक और मंत्री ने भी काफी जोर लगाया। अधिकारियों ने निष्ठा से काम किया तो आज तस्वीर बदलने लगी है। यह गांव देवघर की पहचान बनता जा रहा है जहां सरकार की सबसे ज्यादा योजनाएं सफल हुई है।

विकास के पथ पर अग्रसर कुशमिल गांव

कुशमिल गांव कुल मिलाकर विकास के पथ पर अग्रसर है और पिछले तीन सालों में गांव की तस्वीर बदल गई है। ग्रामीणों के पूजा-पाठ और जश्न यही बताते हैं कि सरकार के इरादे समाज के अंतिम पंक्ति के अंतिम व्यक्ति तक विकास पहुंचाना था जो पहुंच रहा है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : मंत्री परिषद की बैठक, आठ प्रस्तावों पर लगी मुहर

NewsCode Jharkhand | 21 August, 2018 7:43 PM
newscode-image

रांचीमंत्री परिषद की बैठक में मंगलवार को कुल आठ प्रस्तावों पर मुहर लगी। बैठक से पूर्व झारखंड मंत्रिपरिषद में आज भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर झारखंड की सवा तीन करोड़ जनता की ओर से गहरा शोक प्रकट करते हुए शोक संतप्त परिवार के प्रति हार्दिक संवेदनाएं व्यक्त की।

मंत्री परिषद की बैठक के बाद प्रेसवार्ता कर गृह सचिव एसकेजी रहाटे ने बताया कि कुल आठ प्रस्तावों पर मुहर लगी है जो इस तरह से है।

रांची : राज्य के सात जिलों में अभी ब्लड बैंक नहीं हैं, उन जिलों में जल्द से जल्द ब्लड बैंक खोेले-सीएम

मंगलवार को मंत्री परिषद की बैठक में लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय

उर्जा विभाग द्वारा मुख्य विद्युत अभियंता-सह-मुख्य विद्युत निरीक्षक, रांची के कार्यालय को विभाग का संलग्न कार्यालय घोषित करने की स्वीकृति दी गई।

प.सिंहभूम जिलान्तर्गत पहाड़डीहा स्वर्ण खनिज ब्लॉक रकबा लगभग 272.651 हेक्टेयर (As per Revenue record 279.609) हेक्टेयर (As per DGPS/ETS Summary)  क्षेत्रफल पर सर्वश्री मैथन इस्पात लि. कोलकाता के पक्ष में समेकित अनुज्ञप्ति (Composite Licence)  की स्वीकृति दी गई।

केन्द्र प्रायोजित योजनान्तर्गत राज्य के 3 (तीन) जिलों यथा-दुमका, हजारीबाग एवं पलामू में निर्माणाधीन चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पतालों में तृतीय एवं चतुर्थ वर्ग के कुल-882 पदों के सृजन की स्वीकृति दी गई।

झारखण्ड राज्य अवर वन क्षेत्रकर्मी संवर्ग नियमावली, 2014 (अधिसूचना सं0-40 68 दिनांक 04.09.2017) के प्रभाव में आने से पूर्व से नियुक्त एवं कार्यरत वनरक्षियों के वनपाल के पद पर प्रोन्नति हेतु उक्त नियमावली की कंडिका-14 में शिथिलीकरण की स्वीकृति दी गई।

डॉ. अनवर हुसैन, झाप्रसे (कोटि क्रमांक-667/03) तत्कालीन प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, जरीडीह, बोकारो, सम्प्रति-बर्खास्त को सेवा से बर्खास्त करने मंजूरी दी गयी।

झारखण्ड राज्य में राजकीय उच्च पथ, वृहद जिला पथ एवं अन्य जिला पथों के राईट ऑफ़ वे में युटीलीटी बिछाने हेतु अनुज्ञप्ति निर्गत करने एवं समुचित फीस उदग्रहित करने के संबंध में पथ निर्माण विभाग के द्वारा निर्गत संकल्प संख्या-6578 दिनांक 10.09.2012 में संशोधन की स्वीकृति दी गई।

झारखण्ड पीड़ित प्रतिकर (संशोधन) स्कीम-2016 में संशोधन की स्वीकृति दी गई।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

धनवार : अवैध बालू लदे 4 ट्रैक्टर जब्त, वसूले गए फाइन

NewsCode Jharkhand | 21 August, 2018 7:41 PM
newscode-image

धनवार(गिरिडीह)। अवैध बालू के हो रहे कारोबार पर प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए चार बालू लदे ट्रैक्टरों को जब्त कर लिया। धनवार सीओ शशिकांत सिंकर एवं थाना प्रभारी कमलेश प्रसाद सिंह ने संयुक्त रूप से प्रखंड के सपामारण स्थित पहाड़पुर के बरसिंघी कला घाट में छापेमारी की थी।

अचानक हुई इस कार्रवाई से धंधेबाजों में हड़कंप मच गया। इस बाबत सीओ ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई कर ट्रैक्टरों को जब्त किया गया है, वहीं प्रावधान के तहत जुर्माना लेकर दंडाधिकारी के मौजूदगी में जब्त ट्रैक्टरों को छोड़ दिया गया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

धनबाद : जमसं पूर्व प्रधानमंत्री की प्रतिमा स्‍थापित करेगा 

NewsCode Jharkhand | 21 August, 2018 7:41 PM
newscode-image

धनबाद। जनता मजदूर संघ, कुंती गुट (जमसं) गौशाला चौक में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा स्‍थापित करेगा। इसका निर्णय मंगलवार को जमसं की बैठक में लिया गया। बैठक में सिन्दरी जमसं के अध्यक्ष गौरव उर्फ़ लक्की सिंह उपस्थित थे।

निरसा : पीएचईडी व पंचायत प्रतिनिधियों की आपसी खींचातानी में पीस रही है जनता

प्रतिमा स्‍थापित किए जाने के संबंध में अध्यक्ष ने अपर महाप्रबंधक एफसीआईएल के सिंदरी इकाई को आवेदन देकर अवगत करा दिया है।

बैठक में संघ के सिन्दरी उपाध्यक्ष रुपेश कुमार, अमल डे, प्रकाश महतो, किशोर महतो, अरविन्द सिंह, विमल सिंह समेत अन्‍य उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

चक्रधरपुर : प्रत्याशी आप के द्वार कार्यक्रम के तहत मनोहरपुर...

more-story-image

बोकारो : मजदूरों का शोषण किसी भी हालात में नहीं...