देवघर : बीआरसी और सीआरसी कर्मचारियों का धरना, वेतन बढ़ाने की मांग

NewsCode Jharkhand | 13 May, 2018 3:58 PM
newscode-image

देवघर। जिले के टावर चौक स्थित गांधी प्रतिमा के समक्ष आज बीआरसी और सीआरसी के कर्मचारियों ने एक दिवसीय धरना दिया। इसके बाद गांधी मूर्ति से लेकर झारखंड सरकार के श्रम नियोजन मंत्री राज पलिवार के आवास तक मार्च निकाला।

कर्मचारियों ने बताया कि पूरे झारखंड में सभी जिलों में मंत्री के आवास का घेराव करने का कार्यक्रम है। उन पर दवाब बनाया जा रहा है कि वह इनकी मांगों को सदन में रखें। कर्मचारियों की मांग है कि इनके साथ लगातार घोषणा के बाद छल किया जा रहा है। ऐसे में आंदोलन के अलावा इनके पास कोई विकल्प नहीं रह गया है।

कोडरमा : समर कैंप का होगा आयोजन, बच्चे करेंगे जमकर मौज-मस्ती

समान काम के लिए समान वेतन और अस्थाई नियोजन आदि को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। राज्य सरकार इनकी मांगों पर ध्यान नहीं दे रही है। ऐसे में इनका परिवार चलाना मुश्किल हो गया है। उनकी प्रमुख मांगों में सीआरसीसी के पद पर समायोजन करना, EPF और बीमा कटौती जैसे प्रावधान को लागू करना, उच्च न्यायालय के आदेश के आलोक में समान काम के लिए समान वेतन लागू किया जाए। धरना कार्यक्रम में कई कर्मचारी उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

चतरा : जनप्रतिनिधियों की अनदेखी से नाराजगी, विरोध में किया धान रोपनी

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 5:31 PM
newscode-image

चतरा। इटखोरी प्रखण्ड के नगवा-ढोठवा पथ की जर्जर स्थिति से नाराज ग्रामीणों ने गुरुवार को बीच सड़क पर धन रोपनी किया। विरोध स्वरूप आयोजित किए गए धन रोपनी में पुरुष और महिलाएं दोनों शामिल थे। इस दौरान ग्रामीणों ने क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों के विरुद्ध नारेबाजी की।

ग्रामीणों ने कहा नाराजगी व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि पिछले एक दशक से इस सड़क की हालत खराब है। जानकारी दिए जाने के बाद भी जनप्रतिनिधि सड़क की दुर्दशा को सुधारने के लिए कोई कदम नहीं उठा रहे है। प्रशासन भी इस मामले में हाथ पर हाथ धरे बैठा है।

सिमडेगा :  केरसई प्रखण्ड जनता दरबार में बना 40 लोगों का जाति प्रमाण-पत्र

लिहाजा थक हार कर ग्रामीणों को बीच सड़क पर धन रोपनी करना पड़ा। मालूम हो कि आठ किलोमीटर लंबी यह सड़क काफी जर्जर हो चुकी है। कई स्थानों पर सड़क का नामो निशान मिट गया है। जिससे राहगीरों को काफी परेशानी उठानी पड़ती है। खासकर स्कूल बच्चों को बेहद मुशिकल होता है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गावां (गिरिडीह) : विभिन्न विभागों में झंडोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का दिखा अभाव

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:12 PM
newscode-image

 स्वतंत्रता दिवस समारोह पर दिखी अनुशासनहीनता

गावां गिरिडीह। गावां में स्वतंत्रता दिवस समारोह में इस बार पूर्वाभ्यास की पूरी कमी देखी गई। नतीजतन विभिन्न विभागों में झंझोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का अभाव दिखा। इस कारण प्रखंड मुख्यालय में झंडोत्‍तोलन के वक्त झंडे को सलामी देने के लिए पुलिस जवान मौजूद नहीं रहे।

जबकि बीडीओ मोनी कुमारी सलामी दल को बुलाने के लिए थाना में फोन करती रहीं। वहीं गावां थाना द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में दिये गये समय सारणी से एक घंटा पूर्व ही ध्‍वजारोहण कर दिया गया।

बोकारो : खेल के मामले में सरकार का रवैया उदासीन : मयूर शेखर झा

इस कारण थाना परिसर में झंडोत्‍तोलन देखने से लोग चूक गये। बता दें कि थानेदार द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में झंडोत्‍तोलन का समय दिन के 10:10 बजे निर्धारित था, लेकिन तय समय से एक घंटा 4 मिनट पूर्व ही 09:06 बजे ही थाना में झंडोत्‍तोलन कर दिया गया। इस कारण तय समय पर थाने में झंडोत्तोलन में शामिल होने पहुंचे लोगों को मायूस होना पड़ा।

बैंक प्रबंधक को झंडोत्‍तोलन के बजाय घर भागना आया रास

वैसे तो तिरंगा फहराना गर्व की बात मानी जाती है और इसके लिए लोग लालायित भी रहते हैं, लेकिन समाज में कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो स्वतंत्रता दिवस को महज एक सरकारी बंदिशों वाला कार्यक्रम मान लेते हैं। ऐसा ही नजारा गावां के इलाहाबाद बैंक में देखने को मिला।

प्रबंधक ने झंडोत्‍तोलन करने के बजाए 15 अगस्त को घर भागना ज्यादा मुनासिब समझा। फलत: गावां इलाहाबाद बैंक में एक आम सीनियर सिटीजन उमाशंकर अवस्थी ने झंडोत्‍तोलन किया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

चाईबासा : जिले के चार प्रखंडों में लगाए गए जनता दरबार

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:01 PM
newscode-image

 चाईबासा । पश्चिमी सिंहभूम के उपायुक्त अरवा राजकमल के निदेशानुसार गुरूवार को जिले के चार प्रखण्डों में जनता दरबार का अयोजन किया गया। नोवामुंडी प्रखण्ड मुख्यालय जनता दरबार में विभिन्न विभागों के द्वारा शिविर का लगाया गया।

जिसमें मुख्य रूप से वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन,विकलांग पेंशन, दिव्यांग पेंशन, जाति, आवासीय, आय प्रमाण पत्रों, स्वास्थ्य, चिकित्सा, कृषि, पशुपालन, समाज कल्याण सहित अन्य विभागों के प्रखण्ड स्तरीय पदाधिकारियों ने लोगों के समस्या का समाधान किया।

जनता दरबार में बच्चों का आधार पंजीकरण भी कराया गया। जनता दरबार का आयोजन प्रखण्ड विकास पदाधिकारी नोवामुण्डी समरेश प्रसाद भण्डारी, तथा अंचलाधिकारी गोपी उरॉव के निर्देशन में सम्पन्न हुआ। वहीं जगन्नाथपुर प्रखंण्ड कार्यालय में लगे जनता दरबार में सूचना के अभाव में लोग नहीं पहुंचे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

More Story

more-story-image

पाकुड़ : अज्ञात वाहन की चपेट में आने एक की...

more-story-image

धनबाद : एनडीए सरकार में श्रम मंत्री रही रीता वर्मा...