देवघर: श्रावणी मेला से पहले श्रद्धालुओं के सुगमता के लिए PWD ने शहर के सड़क निर्माण में लाई तेजी

NewsCode Jharkhand | 11 July, 2018 4:06 PM
newscode-image

देवघर।  देवघर आने वाले श्रद्धालुओं के लिए एक बड़ी राहत की खबर है । दो सालों से ट्रैफिक से जूझ रहे और जाम से परेशान यात्रियों को वैकल्पिक व्यवस्था के तहत नए मार्ग दिए जा रहे हैं। राज्य सरकार की पहल पर पीडब्लूडी विभाग ने देवघर गिरीडीह के लिए वैकल्पिक मार्ग ढूंढ निकाला है और इसका कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है।

गिरिडीह के श्रद्धालुओं को बाबानगरी  पहुंचा होगा आसान

इस पथ के निर्माण हो जाने से ना सिर्फ स्थानीय लोगों को बल्कि देवघर गिरीडीह हजारीबाग जाने वाले यात्रियों को आवागमन में काफी सहूलियत होने वाली है। इतना ही नहीं देवघर शहर में देवघर परिसदन सत्संग आश्रम आदि जगहों पर जाने के लिए 3 किलोमीटर से ज्यादा का घुमावदार रास्ता तय करना पड़ता था जो महज 1000 मीटर तक सिमट गया है।

2 साल से जाम झेल रहे लोगों को मिलेगा निजात

देवघर के सत्संग रेलवे हॉल्ट के पास भारतीय रेल की तरफ से ओवर ब्रिज का निर्माण हो रहा है जिसकी वजह से पिछले 2 सालों से आवागमन बाधित है। इसमें स्थानीय लोगों को तो सालभर परेशानी होती ही थी। दूसरी तरफ देवघर से गिरिडीह हजारीबाग रांची जाने वाले श्रद्धालुओं को भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ता था। शहर में जाम की स्थिति बनी रहती थी और जानकारी नहीं रहने के कारण आने वाले कांवरिया भटकते नजर आते थे।

ये पथ सत्संग चौक से होते हुए परिसदन तक जाएगा  

राज्य सरकार की पहल पर जिला प्रशासन देवघर में पीडब्लूडी डिपार्टमेंट को वैकल्पिक मार्ग ढूंढने की जिम्मेदारी सौंपी थी।  उसके बाद वैकल्पिक मार्ग ढूंढ लिया गया है और अब इस पथ निर्माण का कार्य युद्धस्तर पर जारी है।  यह पथ सत्संग चौक से लेकर हिरना होते हुए परिसदन तक जाएगी। इससे जाम से भी काफी निजात मिलेगी और जगह-जगह साइन बोर्ड लग जाने के कारण लोगों को इस रास्ते से होकर बाहर के जिले और बाहर से आने वाले यात्रियों को देवघर बाबा मंदिर पहुंचना सुगम हो जाएगा ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

देवघर : श्रावणी मेला में 1125 सफाईकर्मियों की प्रतिनियुक्ति

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 11:55 PM
newscode-image

देवघरराजकीय श्रावणी मेला 2018 कई मायनों में खास है। इस बार श्रावणी मेला को स्वच्छ मेला के रूप में मनाया जा रहा है। जिला प्रशासन द्वारा स्वच्छता अभियान को लेकर इस वर्ष मेले में शौचालय, मूत्रालय व सफाई व्यवस्थाएं दुगुनी होने के साथ-साथ पूरी तरह से दुरूस्त है।

सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में स्वच्छता का खासा ख्याल रखा जा रहा है। श्रद्धालुओं की सुविधा को देखते हुए सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में 1125 सफाईकर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। इसके अलावे 1403 कूडे़दान एवं लगभग 2000 (स्थायी, अस्थायी, बायोटॉयलेट व चलन्त शौचालय) व 330 मूत्रालय की व्यवस्था सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में लगाये गये हैं।

देवघर : चौथी सोमवारी को लेकर एसपी ने की मीटिंग, दिये निर्देश

स्वच्छ व ओडीएफ मेला हेतु जिला प्रशासन स्वच्छ भारत मिशन के उ६ेश्यों के पूर्ति हेतु स्वच्छता, साफ-सफाई और खुले में शौच की प्रथा समाप्त करने को संकल्पित है।

देवघर : बाबा मंदिर प्रांगण में एक मंदिर ऐसा भी जहां जाना वर्जित है, जाने क्‍या है राज

श्रावणी मेला के अवसर पर यहाँ आए श्रद्धालुओं को जिला प्रशासन की ओर से हर संभव सुविधा मुहैया करायी जा रही है। नगर निगम के सफाई कर्मियों के द्वारा पूरे मेला क्षेत्र में चौबिसों घंटे साफ-सफाई कर कूड़ा-कचरों का निष्पादन किया जा रहा है। आज सुबह भी सफाई कर्मियों को हाथ में झाड़ू लिए सड़कों का सफाई करते व ट्रैक्टर के माध्यम से कूड़ा उठाते देखा गया।

देवघर : बाबा नगरी के पेड़े की सौंधी महक का जादू विदेशों तक

नगर निगम के सफाई कर्मियों द्वारा मेला क्षेत्र की  साफ-सफाई कर जगह-जगह पर ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव भी किया जा रहा है एवं रात्रि के समय मॉस्क्यूटो फॉगिंग की जा रही है। ताकि मेला क्षेत्र में आये श्रद्धालुओं को बाबा नगरी में एक साफ-सूथरा और स्वच्छ माहौल मिले।

देवघर : बाबा मंदिर में अटल बिहारी वाजपेयी के लिए हुई विशेष अनुष्‍ठान

इसके तहत् श्रद्धालुओं से जब हमारे टीम पीआरडी के सदस्य द्वारा पूछा गया तो नालन्दा बिहार से आये सत्यनारायण बम ने बताया कि पिछले आठ सालों से बाबाधाम आ रहा हूँ मगर इस बार सफाई व शौचालय की व्यवस्था देखकर झारखण्ड सरकार को धन्यवाद करने का मन कर रहा है। इस बार की व्यवस्था वाकई अच्छी है।

देवघर : आयुषी ने बहायी देश-प्रेम की गंगा, संस्‍कृत में गाया “ऐ मेरे वतन के लोगों”   

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

सिमडेगा : टांगी से काट कर महिला की निर्मम हत्या, हत्‍या का आरोपी गिरफ्तार

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 10:06 PM
newscode-image

सिमडेगा। कुरडेग थाना क्षेत्र के गाड़ियाजोर पंचायत के ढोंढ़ीडीपा टोली निवासी एक महिला की टांगी से काट कर  हत्या कर दी गई। आरोपी भी महिला के ही गांव का निवासी है। घटना के पीछे आपसी विवाद बताया जा रहा है।  हत्या के आरोपी निरन्तर तिर्की को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। घटना की सूचना मिलते ही थाना प्रभारी अशर्फी पासवान घटनास्थल पहुँच कर शव को कब्जे में ले लिया और अंत्यपरीक्षण के लिए सदर अस्पताल  भेज दिया।

सिमडेगा : मिशनरी संस्थाओं को निशाना बनाने का आरोप, सीबीआई जांच की मांग

 (अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

गावां : धूल फांक रही है तीन करोड़ की बिल्डिंग, एक कमरे में संचालित हो रहा मॉडल स्कूल

Vishal Bhardwaj | 18 August, 2018 10:00 PM
newscode-image

गावां(गिरिडीह)। निजी विद्यालयों की तर्ज पर गरीब मेघावी बच्चों को शिक्षा देने के उद्देश्य से झारखंड सरकार द्वारा संचालित मॉडल स्कूल सरकारी उपेक्षा का दंश झेल रहा है।

सरकारी उपेक्षा का आलम यह है कि तीन करोड़ की लागत से बनी गावां मॉडल स्कूल का भवन यूं ही बेकार पड़ा है और मॉडल स्कूल के बच्चे एक कमरे में पढ़ने को विवश हैं।

गावां : शोकसभा का अयोजन कर अटल जी को दी गई श्रद्धांजलि

वर्तमान में गावां मॉडल स्कूल ‘गावां हाई स्कूल’ के एक कमरे में जैसे-तैसे संचालित हो रहा है, जबकि गावां के माल्डा में  3.05 करोड़ की लागत से मॉडल स्कूल का नया भवन जुलाई 2017 से ही बन कर तैयार है लेकिन उद्घाटन की आश में धुल फांक रही है।

सरकारी दस्तावेजों में 18 जुलाई 2017 को ही सांसद रवीन्द्र राय, विधायक राजकुमार यादव, जिला परिषद के अध्यक्ष राकेश महतो और गिरिडीह के तत्कालीन उपायुक्त उमाशंकर सिंह की मौजूदगी में भवन के उद्घाटन होने की बात कही जा रही है,जबकि सच्चाई यह है कि यह उद्घाटन कब हुआ है? यह किसी को मालूम भी नहीं है।

डुमरी : सन्देहास्पद स्थिति में विवाहिता की मौत, जांच में जुटी पुलिस

गावां मॉडल स्कूल के प्रभारी प्रधानाचार्य श्रीकांत पांडेय से मॉडल स्कूल के भव्य बिल्डिंग रहने के बावजूद एक कमरे में जैसे-तैसे संचालित होने संबंधी बात पूछी गई तो उन्होनें कहा कि मॉडल स्कूल में एक भी शिक्षक नहीं है।

इस कारण माल्डा में स्कूल को शिफ्ट नही किया गया है। इसके अलावे स्कूल के सामने एक तालाब भी है। इस कारण वहां बच्चों की सुरक्षा का भी सवाल सामने आ रहा है। इन्हीं सब कारणों को लेकर फिलहाल गावां हाई स्कूल के एक कमरे में मॉडल स्कूल का संचालन हो रहा है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

 

More Story

more-story-image

सरायकेला : डंपर की चपेट में आकर जैप के जवान...

more-story-image

बाघमारा : कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दी पूर्व प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि