देवघर: बाबा नगरी में होगी हाईटेक सुरक्षा, ड्रोन कैमरे से रखी जाएगी नजर

NewsCode Jharkhand | 11 July, 2018 12:34 PM
newscode-image

देवघर। श्रावणी मेले में इस बार नई और अत्याधुनिक सुविधाएं श्रद्धालुओं को मुहैया करायी जा रही है। संपूर्ण मेला क्षेत्र में 78 प्वाइंट पर इन्द्र वर्षा की व्यवस्था की जा रही है। सुरक्षा की दृष्टि से ड्रोन कैमरे और 200 सीसीटीवी कैमरों को लगाया जा रहा है।

इंट्रीगेटेड डिजास्टर मैनेजमेंट क्राउड कंट्रोल, सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट सिस्टम, हेड काउंट मशीन, कूल पैन्ट ऑन रोड, मंदिर में एलईडी आउट डोर डिस्प्ले स्क्रीन, सुविधा भवन में अस्थाई ट्रामा सेंटर, मिस्ट शॉवर सिस्टम, हिलियम बैलून, चार धाम और बारह ज्योतिर्लिंग के प्रतिकृति का दर्शन, बाबाधाम एप एवं सुरक्षा के दृष्टि से सम्पूर्ण मेला क्षेत्र के मॉनिटरिंग के लिए एक स्थान पर लाईव कंट्रोल रूम जैसी कई सुविधाएं शामिल है। उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा ने श्रावणी मेला के बारे यह जानकारी मुख्‍य सचिव को दी।

देवघर: बाबा नगरी में होगी हाईटेक सुरक्षा, ड्रोन कैमरे से रखी जाएगी नजर

2000 बायो व मोबाईल टॉयलेट की व्यवस्था

शौचालय की संख्या में इजाफा किया गया है। लगभग 2000 (बायो टॉयलेट, मोबाईल टॉयलेट और स्थाई शौचालय) की व्यवस्था भी आगंतुक श्रद्धालुओं के लिए की जा रही है। मेला क्षेत्र में अधिक से अधिक शौचालयों की व्यवस्था की जा रही है, ताकि शौचालयों के अभाव में कांवरियों को शौच के लिए यत्र-तत्र न जाना न पड़े। देव नगरी की पवित्रता बनी रहे।

24 घंटे दो टीमे करेंगी साफ-सफाई

स्वच्छता का ख्याल रखते हुए पूरे मेला क्षेत्र में दो टीमों के द्वारा चैबीसों घंटे साफ-सफाई की व्यवस्था की जायेगी। श्रद्धालुओं को स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने हेतु लगभग 100 चिकित्सक, 250 मेडिकल स्टाफ और 20 एम्बुलेंसों की भी व्यवस्था की गयी है। पूरे मेला क्षेत्र में चैबीसों घंटे निर्वाध बिजली की व्यवस्था मुहैया करायी जायेगी।

देवघर: बाबा नगरी में होगी हाईटेक सुरक्षा, ड्रोन कैमरे से रखी जाएगी नजर

श्रध्दालुओं को ठहरने के लिए बेहतर इंतेजाम

श्रद्धालुओं के ठहरने के लिए टेंट सिटी की व्यवस्था की जा रही है, जहां उन्हें आवासन के साथ-साथ शौचालय, स्नानागर एवं मोबाईल चार्जिंग व एलईडी स्क्रीन के माध्यम से कांवरियों का भक्तिपूर्ण मनोरंजन करने के साथ-साथ जलार्पण संबंधी कई महत्वपूर्ण सूचनाएं प्रेषित की जायेगी।

शिवगंगा की चारों ओर लगेंगी लाईट

 बाबा नगरी को स्ट्रीट लाईट, एलईडी लाईट और शिवगंगा के चारों ओर पांच हाई मास्ट लाईट लगाया जा रहा है। वाहनों के बेहतर पार्किंग के लिए बाघमारा, घोरमारा एवं हथगढ़ में हाईटेक अस्थाई वाहन पड़ाव स्थल बनाया जा रहा है।

12 हजार जवानों के जिम्मे होगी सुरक्षा
पिछले बार की तुलना में इस बार देवघर में सुरक्षाकर्मियों की संख्या बढ़ाई जा रही है। देवघर प्रशासन की मांग पर पुलिस मुख्यालय की तरफ से 12 हजार अतिरिक्त पुलिस बल देवघर में तैनात रहेंगे। इसमें एसपी, डीएसपी, इंस्पेक्टर स्तर के अधिकारियों के साथ ही झारखंड पुलिस की कई दूसरी कंपनियां भी शामिल है। डेढ़ महीने तक तैनात रहेंगे जवान।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

पाकुड़ : वनबन्धु योजना व प्रोटोटाइप योजना में अनियमितता, तीन एनजीओ पर प्राथमिकी दर्ज

NewsCode Jharkhand | 25 September, 2018 6:55 PM
newscode-image

पाकुड़।  जिले के लिट्टीपाड़ा क्षेत्र से बहुचर्चित वनबन्धु योजना और प्रोटोटाइप योजना में गड़बड़ी और धोखाधड़ी की सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है ।

तीन एनजीओ रिएक्ट, संजीवनी परिवार सेवा संस्थान एवं यादगार फाउंडेशन के विरूद्ध प्रोटोटाइप एवं वनबन्धु योजना में सरकारी राशि गबन करने को लेकर तीन अलग अलग मामला  दर्ज कराया गया है ।

आईटीडीए विभाग के निदेशक ने  कराया था  मामला दर्ज 

प्राथमिकी ईटीडीए विभाग के निदेशक हीरालाल  मंडल के लिखित शिकायत पर दर्ज कराया गया  है। थाना काण्ड संख्या 69/18 भादवी की धारा 406,420/34 के तहत संस्था रिएक्ट के अध्यक्ष विनय भारद्वाज, सचिव पंकज कुमार एवं कोषाध्यक्ष सुनील कुमार सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है।

कांड संख्या 70/18 भादवी की धारा 406/34 के तहत यादगार फाउंडेशन के अध्यक्ष नीता सिन्हा, सचिव रामबहादुर प्रधान लिपिक गोपाल मुर्मू नाजिर नुरूल इस्लाम एवं कोषाध्यक्ष अभिजीत रंजन के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है।

थाना काण्ड संख्या 406,408,409,420/34 के तहत संजीवनी परिवार सेवा संस्था के अध्यक्ष सीताराम ठाकुर, सचिव राकेश कुमार, कोषाध्यक्ष ओंकार साहा को नामजद अभियुक्त बनाया गया है।

आईटीडीए के निदेशक हीरालाल मंडल ने लिखित शिकायत दर्ज कराई थी कि थाना में प्रोटोटाइप योजना के फेज़ 3 में वृक्षारोपण के लिए एनजीओ रिएक्ट पटना के साथ एकरारनामा किया गया था।

बिना स्थल निरीक्षण किये दोबारा किया गया राशि का भुगतान 

शिकायत के मुताबिक अग्रिम राशि लेने के बाद तत्कालीन परियोजना निदेशक द्वारा बिना स्थल निरीक्षण किये दोबारा राशि भुगतान कर दिया गया।

उक्त संस्था ने 32 लाख 13 हजार 100 रूपये का समायोजन नहीं किया गया था। 18 प्रतिशत ब्याज के सहित 51 लाख 53 हजार 600 रूपये जमा करने का नोटिश संस्था के अध्यक्ष को दिया गया था। बावजूद इसके राशि का भुगतान नहीं किया गया ।

रिएक्ट को सोनाधनी, लोहरबनी, जिरली, शहरपुर, रधुनाथपुर बांडु में पौधरोपण किये जाने का एग्रिमेंट दिया गया था । आईटीडीए निर्देश हीरालाल मंडल ने यादगार फाउंडेशन के खिलाफ दर्ज करायी गयी प्राथमिकी में उल्लेख किया है कि संस्था के अध्यक्ष के साथ वनबन्धु कल्याण योजना के तहत स्टेशनरी शॉप का एग्रिमेंट तत्कालीन परियोजना निर्देशक लालचन्द्र डांडेल द्वारा किया गया था।

संस्था द्वारा राधा, गरीब सेवा, अटल बारहा, सरजोम बारहा, दुर्गा, चमेली, मार्शल, आजीविका सहायता,शान्ति को. स्टेशनरी शॉप के लिए 15 लाख 10 हजार अग्रिम दिया गया था जिसका समायोजन नहीं किया गया था।

उक्त राशि को लेकर आईटीडीए विभाग द्वारा अध्यक्ष को नोटिश भेजा गया था। 53 लाख 66 हजार रुपये असमायोजन राशि जमा करने के लिए संस्था द्वारा कोई पहल नहीं किया गया था ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

चतरा : गैरमजरूआ भूमि से सरकारी विद्यालय हटाने का निर्देश

NewsCode Jharkhand | 25 September, 2018 6:58 PM
newscode-image

अंचल अधिकारी ने विद्यालय के सचिव को भेजा नोटिस

चतरा। इटखोरी प्रखंड स्थित गैरमजरूआ भूमि पर संचालित उत्क्रमित मध्य विद्यालय चक्रवार के विद्यालय भवन को हटाने का सरकारी फरमान जारी किया गया है। इस सिलसिले में अंचल कार्यालय इटखोरी के द्वारा विद्यालय के सचिव मनीष कुमार सिन्हा को नोटिस भेजा गया है। अंचल कार्यालय के द्वारा भेजे गए नोटिस से विद्यालय प्रबंधन समिति के साथ विद्यार्थी एवं अभिभावक काफी चिंतित है।

चतरा : उद्घाटन के दूसरे दिन ही गिर गया विज्ञान केंद्र भवन के छत का प्लास्टर

विद्यालय के सचिव सह प्रधानाध्यापक मनीष कुमार सिन्हा ने बताया कि उत्क्रमित मध्य विद्यालय चक्रवार के भवन का निर्माण वर्ष 1978 में हुआ था। उस वक्त यह विद्यालय प्राथमिक विद्यालय था। पचास वर्ष पूर्व बनाया गया विद्यालय भवन का कमरा आज भी वहां मौजूद है।

विद्यालय का भवन बन जाने के बाद से लेकर आज तक नियमित रूप से इस विद्यालय का संचालन किया जा रहा है। अब उन्हें अंचल कार्यालय के द्वारा नोटिस भेजकर गैरमजरूआ जमीन से विद्यालय को हटाने का निर्देश दिया गया है। इसकी जानकारी विद्यालय के सचिव ने अपने वरीय विभागीय अधिकारियों को भी दे दी है।

क्या कहते हैं अंचल अधिकारी

इस सिलसिले में इटखोरी के अंचल अधिकारी अनूप कच्छप का कहना है कि चक्रवार उत्क्रमित मध्य विद्यालय के सचिव को जो नोटिस भेजा गया है वह पुराना नोटिस था। फिलहाल अंचल के द्वारा कार्रवाई को स्थगित किया गया है। संबंधित जमीन को चिन्हित कर मापी कराने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

चतरा : मिट्टी लदा हाईवा पल्टा, बाल-बाल बचे कई लोग

NewsCode Jharkhand | 25 September, 2018 6:53 PM
newscode-image

चतरा। ऊँटा से कान्हाचट्टी भाया तमासिन से पितिज निर्माणाधीन सड़क में मंगलवार को मिट्टी लदा हाईवा पलटने से कई लोग बाल-बाल बच गए। यह घटना मंगलवार की है। जानकारी के अनुसार निर्माणाधीन सड़क में यू एमएसएल कंपनी द्वारा लगाया गया।

हाईवा मिट्टी गिराने का कार्य कर रहा था। इस दौरान सड़क में कार्यरत मुंशी शहंशाह ने ड्राइवर से मिट्टी लदा हाईवा लेकर खुद चलाने लगा। परिणाम यह हुआ की बकचुंम्बा मोड़ स्थित इमली पेड़ के समीप अनियंत्रित होकर हाईवा पलटी हो गया।

चतरा : सिविल सर्जन ने अस्पताल में चलाया स्वच्छता अभियान

इधर जंगल में मवेशी चरा रहे तकरीबन आधे दर्जन लोग इमली पेड़ के समीप बैठे हुए थे कि अचानक हाईवा ठीक उनके समीप जाकर पलटी हो गई। हालांकि इस घटना में पशु चरवाहे बाल-बाल बच गए। जबकि दो पशुओं को गंभीर चोटे आई है। इसके अलावा हाईवा में सवार ड्राइवर व खलासी भी सुरक्षित बच गए हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

धनबाद : अवैध तंबाकू दुकानों पर छापेमारी, दो हिरासत में

more-story-image

चतरा : सिविल सर्जन ने अस्पताल में चलाया स्वच्छता अभियान