देवघर : गरीबों का सहारा बना दाल भात योजना, 5 रुपए में मिल रहा भरपेट भोजन

NewsCode Jharkhand | 8 May, 2018 3:43 PM

देवघर : गरीबों का सहारा बना दाल भात योजना, 5 रुपए में मिल रहा भरपेट भोजन

प्रतिदिन 300 से 400 लोगों को मिल रहा है खाना

देवघर। विकास के मामले में देवघर संथाल परगना का सबसे प्रगतिशील जिला है। संसाधनों के मामले में भी देवघर सबसे ज्यादा आगे है, लेकिन आम लोगों से जुड़ी योजनाओं की बात करें तो 5 रुपए में भरपेट भोजन यानी दाल भात योजना सबसे ज्यादा कारगर सिद्ध हुई है।

खासकर देवघर क्षेत्रों में 2 मॉडल दाल भात केंद्र बनाए गए हैं। जिसमें 300 से 400 गरीब लोगों को रोजाना खाना मिल रहा है। मॉडल दाल भात केंद्र बनने से ना सिर्फ गरीब तबके के लोग इसका इस्तेमाल कर रहे हैं बल्कि सामान्य वर्ग के यात्री और छात्र भी इसका फायदा उठा रहे हैं। आम जनता की मानें तो सरकार की जनता के लिए यह सबसे अच्छी और कारगर योजना है।

देवघर : गरीबों का सहारा बना दाल भात योजना, 5 रुपए में मिल रहा भरपेट भोजन

दो केंद्र खुले हैं

मुख्यमंत्री दाल भात योजना सही मायने में गरीबों की योजना है। क्योंकि इस योजना से सीधे तौर पर गरीब जुड़ रहे हैं और इसका लाभ भी उठा रहे हैं। मुख्यमंत्री दाल भात योजना के अंतर्गत देवघर शहरी क्षेत्र में दो दाल भात केंद्र खोले गए हैं और इसे मॉडल दाल भात केंद्र के रूप में विकसित किया गया है।

अंतिम पंक्ति के अंतिम व्यक्ति तक पहुंच रही है योजना

देवघर के बस स्टैंड के समीप मॉडल दाल भात केंद्र में यहां मुख्यमंत्री का वह बयान की सरकार का उद्देश्य समाज के अंतिम पंक्ति के अंतिम व्यक्ति तक विकास को पहुंचाना है और यहां पर यह योजनाएं अंतिम पंक्ति के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचती दिखती है। यहां मध्यमवर्ग अति निम्न वर्ग और यहां तक की छात्र भी इसका लाभ उठाते हैं। क्योंकि देवघर में आने वाले यात्रियों की संख्या भी ज्यादा होती है और यह इलाका भी काफी भीड़ भरा होता है। साथ ही सभी होटल के महंगे खाने को ग्रहण नहीं कर सकते हैं ऐसे में इनके लिए दाल भात केंद्र वरदान साबित हुआ है।

देवघर : गरीबों का सहारा बना दाल भात योजना, 5 रुपए में मिल रहा भरपेट भोजन

वरदान साबित हो रहा दाल भात योजना

अधिकारी भी कहते हैं कि दाल भात केंद्र देवघर में सबसे ज्यादा सफल साबित हुआ है। गरीबों को पेट भर खाना अगर इज्जत के साथ खिलाई जाए तो ज्यादा से ज्यादा लोग इस से जुड़ते हैं। लिहाजा दोनों केंद्रों को मॉडल केंद्र घोषित किया गया और यहां लोगों को इज्जत के साथ भोजन परोसा जाता है। जिसके लिए साफ-सफाई का बेहतर ख्याल रखा जाता है। साथ ही 5 रुपए में गरीबों को थाली में दाल भात सोयाबीन आलू की सब्जी भी परोसी जाती है। अधिकारी ने कहा कि यह योजना सफल हो रही है। जिला प्रशासन ने सरकार से और अधिक दाल भात केंद्र खोलने की स्वीकृति मांगी है।

देवघर : गरीबों का सहारा बना दाल भात योजना, 5 रुपए में मिल रहा भरपेट भोजन

शुद्धता का ख्‍याल

इस दाल भात केंद्र में शुद्धता का काफी ख्याल रखा जाता है। साथ ही चाहे वह गरीब हो या मध्यमवर्ग यात्री हो या छात्र सभी को समान रुप से इज्जत के साथ थाली में भोजन परोसा जाता है। संचालक भी मानते हैं कि इस योजना का लाभ लोगों तक प्रत्यक्ष रुप से पहुंच रहा है। इतना ही नहीं यहां पर छात्रों की भीड़ भी काफी ज्यादा देखी जाती है, और रोजाना 300 से ज्यादा लोगों को भोजन परोसा जाता है।

देवघर : गरीबों का सहारा बना दाल भात योजना, 5 रुपए में मिल रहा भरपेट भोजन

खाना पैक करा कर भी ले जाते हैं लोग

गुणवत्ता में भी आज तक कभी शिकायत नहीं मिली है और अधिकारियों का बीच-बीच में निरीक्षण भी होता है संचालक का मानना है कि यहां सिर्फ लोग खाने ही नहीं आते बल्कि अपने परिवार के लिए  खाना  पैक कर भी ले जाते हैं।

देवघर : गरीबों का सहारा बना दाल भात योजना, 5 रुपए में मिल रहा भरपेट भोजन

सभी लोग भरपेट खाते हैं दाल भात

इस दाल भात केंद्र की खास बात यह है कि इसमें रिक्शा चालक और छोटे वाहनों के चालक सबसे ज्यादा हिस्सेदारी निभाते हैं दिनभर की कड़ी मेहनत के बाद अगर 5 रुपए में भरपेट भोजन मिल जाए तो सरकार की इससे अच्छी योजना और क्या हो सकती है। रिक्शा चालक कहते हैं कि दिन भर में आमदनी उतनी नहीं होती है कि वह भरपेट भोजन किसी होटल में कर सकें। ऐसे में अगर ज्यादा भूख लगती हो तो दो प्लेट भी खा लेते हैं। सामान्य तौर पर होटल में कम से कम 25 रुपए में एक थाली भोजन मिलता है लेकिन यहां 10 रुपए लगा दिए जाए तो दो प्लेट खाना आराम से मिल जाता है।

देवघर : गरीबों का सहारा बना दाल भात योजना, 5 रुपए में मिल रहा भरपेट भोजन

लगतार हो रही है मॉनिटरिंग

देवघर में शहरी क्षेत्रों में यह योजना काफी कारगर सिद्ध हो रही है और प्रत्यक्ष रुप से लोग इसका लाभ भी उठा रहे हैं इसके अलावा देवघर जिले में प्रत्येक प्रखंड में 2 दाल भात केंद्र चलाए जा रहे हैं जिसकी मॉनिटरिंग लगातार की जा रही है लेकिन शहरी क्षेत्रों में जिस प्रकार से आम जनता का रुझान दाल भात केंद्र की ओर पड़ा है इससे कहा जा सकता है कि सरकार की आम जनता के लिए बनाई गई योजनाओं में सबसे ज्यादा कारगर मुख्यमंत्री दाल भात केंद्र साबित हुई है

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

गिरिडीह : दंपत्ति की हत्या से दहल उठा पारसनाथ प्रक्षेत्र, इलाके में सनसनी

NewsCode Jharkhand | 25 May, 2018 10:04 AM

गिरिडीह : दंपत्ति की हत्या से दहल उठा पारसनाथ प्रक्षेत्र, इलाके में सनसनी

गिरिडीह। दो लोगों की जघन्य हत्या से दहल उठा गिरिडीह का नक्सल प्रभावित पारसनाथ प्रक्षेत्र। यहां मधुबन और निमियाघाट की सीमावर्ती क्षेत्र में दो लोगों की गला काट कर निर्मम हत्या कर दी गई। मृतक की पहचान मधुबन थाना क्षेत्र के डोक्वाटाण्ड निवासी किशुन राय और उसकी पत्नी के रूप में की गई है।

घटना से इलाके में सनसनी फैल गई। कोई इसे नक्सली घटना बता रहा था तो कोई इसे आपसी रंजिश से जोड़कर देख रहा था। घटना की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।

गिरिडीह : दंपत्ति की हत्या से दहल उठा पारसनाथ प्रक्षेत्र, इलाके में सनसनी

लातेहार : सड़क किनारे झाड़ी में मिला महिला का शव

हालांकि पुलिस ने इसे नक्सली घटना मानने से इनकार कर दिया है। पुलिस का कहना आपसी रंजिश में दम्पति की हत्या कर उसे नक्सली कार्रवाई का रूप दिया गया है। जांच की जा रही है जल्द ही इसका खुलासा कर लिया जाएगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Read Also

रामगढ़ : गंगा दशहरा के अवसर पर मुख्यमंत्री ने दामोदर महोत्सव की शुरुआत की

खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय के साथ दामोदर नदी के तट पर गंगा महाआरती की

NewsCode Jharkhand | 25 May, 2018 9:36 AM

रामगढ़ : गंगा दशहरा के अवसर पर मुख्यमंत्री ने दामोदर महोत्सव की शुरुआत की

रामगढ़ । युगांतर भारती दामोदर बचाओ आंदोलन के बैनर तले दामोदर महोत्सव का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि सीएम रघुवर दास और विशिष्ट अतिथि के रुप में मंत्री सरयू राय उपस्थित हुए। गंगा दशहरा के अवसर पर मुख्यमंत्री ने दामोदर महोत्सव की शुरुआत की। खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय के साथ दामोदर नदी के तट पर गंगा महाआरती की।

सीएम ने कहा कि सरकारी और निजी कंपनियों की फैक्ट्रियों  का कचरा दामोदर नदी में बहने से पानी प्रदूषित हो गया है। जब तक सरकारी और निजी कंपनियां अपना गंदा कचरा पानी दामोदर नदी में बहाना बंद नहीं करेगी तब तक दामोदर नदी को प्रदूषण मुक्त करना बहुत ही मुश्किल है।

लोहरदगा : राज्यपाल ने किया दामोदर  महोत्सव का शुभारम्भ  

सीएम ने सरयू राय की तारीफ करते हुए कहा कि सरयू राय और उनके समिति के द्वारा जो प्रयास किया जा रहा है उसमें उनको जो जानकारी दी गई है उसमें 90% निजी और सरकारी कंपनियों ने अपना कचरा नदी में बहना बंद कर दिया है। अगर यह बात सही है तो इसके लिए यह तारीफ के काबिल है।

सरयू राय ने कहा कि  गंगा नदी के पहले दामोदर नदी का जन्म हुआ है और पूरी दामोदर नदी को प्रदूषण से मुक्त करना उनका पहली प्राथमिकता है। उनकी समिति के द्वारा लगातार यह प्रयास किया जा रहा है कि दामोदर नदी को प्रदूषण मुक्त किया जाए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

चांडिल : ईचागढ़ विधायक ने 47 लाख की दो योजनाओं का किया शिलान्यास

NewsCode Jharkhand | 25 May, 2018 8:41 AM

चांडिल : ईचागढ़ विधायक ने 47 लाख की दो योजनाओं का किया शिलान्यास

चांडिल (सरायकेला) । ईचागढ प्रखंड क्षेत्र के कई योजनाओं का गुरूवार को ईचागढ़ के विधायक साधुचरण महतो ने शिलान्यास किया। विधायक ने गुदड़ी पंचायत भवन में प्रधानमंत्री उज्ज्वला प्लस योजना अन्तर्गत गैस सिलेंडर,चुल्हा का वितरण किया।

विधायक साधू चरण महतो ने सिलदा में करीब 24 लाख की लागत से भूमि-संरक्षण विभाग के द्वारा सरकारी तालाब का मरम्मती कार्य एवं अनाबद्ध निधि से ग्रामीण विकास विभाग द्वारा नदीसाई व तपोवन के बीच नाला मे पुलिया निर्माण कार्य का शिलापट्ट अनावरण कर व नारियल फोड़ कर शिलान्यास किया।

चास : सारदाहा पंचायत के बसंतपुर गांव में मंत्री प्रतिनिधि ने किया तालाब का शिलान्यास

उन्होंने शिलान्यास समारोह को संबोधित करते हूए कहा की सिलदा काटघोड़ा एवं गौरांगकोचा को जोड़ने वाले सड़क का भी जल्द ही कार्य का शुभारंभ किया जाएगा। विधायक ने कहा की कुटाम नारो सड़क भी बनवाया जाएगा तथा भूमिगत जल-स्रोत बढ़ाने एवं सिंचाई हेतु सरकारी व निजी तालबों का मरम्मती कार्य युद्ध स्तर पर किया जाएगा।

मौके पर जिप सदस्य पिंकी देवी,ईचागढ़ प्रखंड के बीडीओ सोमा उरांव,बीस सूत्री अध्यक्ष विश्वनाथ उरांव, सांसद प्रतिनिधि बलराम महतो, मुखिया निताई उरांव, भूषण मुर्मु, रंजीत टुडु, मनोरंजन महतो, सुभाष महतो , यदुपति गोप, मनसाराम प्रामाणिक सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

X

अपना जिला चुने