बिना फीस लिए प्राइवेट अस्पताल ने दुधमुंहे को दिया दूसरा जीवन

NewsCode | 18 November, 2017 1:10 PM
newscode-image

नई दिल्ली| दक्षिणी-पश्चिमी दिल्ली के मधु विहार में रहने वाले फिरोज अहमद के 13 माह के बच्चे मास्टर अमन अहमद को राजापुरी स्थित आकाश सुपर स्पेश्येलिटी हॉस्पिटल्स के चिकित्सकों ने दूसरा जीवन दिया है। मासूम अमन अपने घर में खेलते वक्त पानी की बाल्टी में डूबा गया था और उसे गंभीर हालत में अस्पताल लाया गया था। चिकित्सकों ने इलाज के खर्च की परवाह किए बगैर बच्चे की जान बचाई।

अमन के पिता व मां सबा के उस वक्त पैरों तले जमीन खिसक गई थी, जब उन्होंने अपने इकलौते दुधमुंहे बच्चे को पानी भरे बाल्टी में डूबा हुआ पाया। फिरोज उसे पास के क्लीनिक में लेकर गए, लेकिन बच्चे की गंभीर हालत को देखते हुए चिकित्सकों ने उसे भर्ती करने से मना कर दिया, क्योंकि बच्चे को पीडियाट्रिक आईसीयू की जरूरत थी, जो उस क्लीनिक में उपलब्ध नहीं था।

बच्चा सांस नहीं ले पा रहा था, बेहोश था। फिरोज और सबा उसे लेकर दूसरे अस्पताल पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने इलाज का लंबा-चौड़ा खर्च बताकर पहले फीस जमा करने को कहा। फिरोज ने विनती की, पर सुनी नहीं गई। वहां के चिकित्सक ने बच्चे को सरकारी अस्पताल ले जाने को कहा और बच्चे पर निगाह डालने की फीस के तौर पर 1800 रुपये जमा करने का फरमान सुना दिया।

मजबूर पिता ने फीस चुकाकर वहां से सरकारी अस्पताल का रुख किया। इस बीच बच्चे की हालत लगातार गिरती जा रही थी। उसी दौरान एक दोस्त के सुझाव पर फिरोज बच्चे को इलाके में हाल ही में खुले एक सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल लेकर पहुंचा। इस अस्पताल में चिकित्सकों ने फौरन बच्चे को वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखने का फैसला लिया।”

आकाश हेल्थकेयर सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के इमर्जेसी मेडिकल ऑफिसर, पीडियाट्रिक रजिस्ट्रार और पीडियाट्रिक आईसीयू के प्रभारी डॉ. विक्रम गगनेजा सहित चिकित्सकों का एक समूह तुरंत बच्चे को देखने पहुंचा। इन सभी ने बच्चे की दोबारा जांच करने और आगे के इलाज व जरूरी देखभाल के लिए उसे पीडियाट्रिक आईसीयू में भर्ती करने का सुझाव दिया।

विभिन्न जांचों व इलाज में होने वाले खर्च के बारे में सोचकर फलों का जूस बेचने वाला फिरोज निराशा से भर गया। उसने अपनी नम आंखों से हाथ जोड़कर विनती की कि वह एक बेहद गरीब परिवार से है और फलों का जूस बेचकर किसी तरह अपने परिवार का पालन-पोषण कर पाता है, इसलिए वह यहां इलाज करवाने में सक्षम नहीं है। वह बच्चे को सरकारी अस्पताल ले जाने की तैयारी करने लगा, तभी एमडी डॉ. आशीष चौधरी ने मजबूर पिता की बात सुनकर बच्चे को बचाने और इलाज का सारा खर्च अस्पताल द्वारा उठाने का निर्णय लिया। इलाज शुरू हुआ और बच्चे की जान बच गई। गरीब माता-पिता ने राहत की सांस ली।

अस्पताल के चिकित्सक डॉ. विक्रम गगनेजा कहते हैं, “हमें यह बिल्कुल पता नहीं था कि हमारा पीडियाट्रिक आईसीयू एक अनमोल जिंदगी को बचा लेगा। बच्चा उम्मीद से भी ज्यादा तेजी से ठीक हुआ। बच्चे की तंत्रिका प्रणाली व सांस की स्थिति में तेजी से सुधार हुआ। दो दिन बाद ही उसे वेंटिलेटर से हटा दिया गया। तीसरे दिन उसके मुंह से ट्यूब हटा दिया गया। वह सामान्य ढंग से खाना खाने लगा और मां से बात भी करने लगा।”

फिरोज ने कहा, “मैं इस अस्पताल के डाक्टरों का हमेशा शुक्रगुजार रहूंगा। उन्होंने मेरे बच्चे के इलाज का पूरा खर्च उठाया। सात दिनों तक रहने के दौरान अस्पताल ने बच्चे की पूरी देखभाल की। मेरा पूरा परिवार और खासतौर पर मैं आकाश हेल्थकेयर और डॉ. विक्रम व अशीष चौधरी को दिल से धन्यवाद देना चाहता हूं, जिन्होंने मेरे बच्चे की जान बचा ली।”

डॉ. चौधरी के चेहरे पर संतुष्टि का भाव था। उन्होंने कहा, “बच्चे की हालत देख यह साफ था कि उसे बचाने व स्वस्थ्य करने में कई सप्ताह तक वेंटिलेटर सपोर्ट व महंगी दवाओं की जरूरत पड़ सकती है। लेकिन हमने बच्चे के परिवार से कहा कि खर्च की फिक्र छोड़िए, सिर्फ दुआ कीजिए।”

एक गरीब परिवार के बच्चे की अनमोल जिंदगी बचाने वालों ने यह साबित किया कि चिकित्सा व्यापार नहीं, बल्कि सेवा कार्य है। इस वाकये ने इस मिथक को भी तोड़ दिया कि प्राइवेट अस्पताल गरीबों के लिए नहीं है। साथ ही अस्पताल के नाम पर लूट-खसोट का धंधा चलाने वालों के उन लोगों के गाल पर करारा तमाचा भी है, जो ज्यादा कमाने की होड़ में गरीब मरीजों को तड़पने के लिए छोड़ देते हैं।

(आईएएनएस)

पांच जिलों में पाईप लाइन गैस आपूर्ति की आधारशिला

NewsCode Jharkhand | 22 November, 2018 3:55 PM
newscode-image

रांची/नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गुरुवार को नई दिल्ली से झारखंड के पांच जिले समेत देश के एक सौउनतीस जिलों में नगर गैस वितरण परियोजना की आधारशिला रखेंगे। इससे देश के छब्बीस राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों की लगभग आधी आबादी को सुविधाजनक, पर्यावरण अनुकूल और सस्ती प्राकृतिक गैस उपलब्ध हो पाएगी।

परियोजना में झारखंड के बोकारो, हजारीबाग, रामगढ़, धनबाद और गिरिडीह जिले भी शामिल हैं। इन शहरों मे घरेलू, औद्योगिक और व्यवसायिक परिसरों में गैस की आपूर्ति के लिए पाइपलाइनों का नेटवर्क तैयार किया जायेगा।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आज नई दिल्‍ली से देश के 129 जिलों में नगर गैस वितरण परियोजना की आधारशिला रखेंगे। इससे देश के छब्‍बीस राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों की लगभग आधी आबादी को सुविधाजनक, पर्यावरण अनुकूल और सस्‍ती प्राकृतिक गैस उपलब्‍ध हो पाएगी।

इस दौरान प्रधानमंत्री चौदह राज्‍यों के 124 जिलों में दसवें नगर गैस बिडिंग दौर का भी शुभारंभ करेंगे। नगर गैस वितरण परियोजना का उद्देश्य देश के नागरिकों को सुविधाजनक, पर्यावरण अनुकूल और सस्‍ती प्राकृतिक गैस उपलब्‍ध कराना है।

नगर गैस वितरण सीजीडी के माध्‍यम से निर्बाध प्राकृतिक गैस आपूर्ति सुनिश्चित होगी तथा वाणिज्‍य को भी इससे लाभ मिलेगा। इस साल सितम्‍बर माह तक देश के 96 शहरों में सीजीडी की सुविधा दी जा चुकी है। 46 लाख पांच हजार घर और 32 लाख सीएनजी वाहन सीजीडी से स्‍वच्‍छ ईंधन प्राप्‍त कर रहे हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने किया कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का शुभारंभ

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:38 PM
newscode-image

रांची। राज्य के जल संसाधन, पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने आज मोरहाबादी स्थित पार्क प्लाजा के दूसरे तल्ले में कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का फीता काटकर शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने आशा जतायी कि यह सर्विसेज आम जनों के लिए उपयोगी सिद्ध होगा।

कंफर्ट लाइव सर्विसेज में फ्लैट खरीद- बिक्री, स्वास्थ्य बीमा, अवधि बीमा, म्युचुअल फंड, एसआईपी एवं वाहनों की बीमा आदि की सुविधा लोगों को प्राप्त हो सकेगी।

शुभारंभ के मौके पर आजसू पार्टी के केंद्रीय महासचिव डॉ. लंबोदर महतो, चंद्रशेखर महतो, संचालक राजेश कुमार, रंजना चौधरी, गीता महतो, कल्पना मुखिया, संतोष  मुखिया, अमित साव एवं अजय श्रीवास्तव सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

भोगनाडीह : झामुमो ने संथाल को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया- मुख्यमंत्री

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:36 PM
newscode-image

भोगनाडीह  में भाजपा कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल हुए

भोगनाडीह। राज्य को संथाल परगना ने झारखण्ड मुक्ति मोर्चा से तीन तीन मुख्यमंत्री दिये,  लेकिन उन्होंने मुख्यमंत्री बनाया वो गरीब आदिवासी, वंचित दलित की अनदेखी कर अर्थपेटी और मतपेटी भरने का कार्य किया।

साथ ही संथाल परगना को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया। सबसे ज्यादा आदिवासियों की जमीन लूटने का काम सोरेन परिवार ने किया है। आज सीएनटी-एस पीटी एक्ट के उल्लंघन कर विभिन्न शहरों में आदिवासियों की जमीन ले ली।

जबकि संथाल परगना समेत राज्य भर में यह कह कर गुमराह किया गया कि अगर भारतीय जनता पार्टी की सरकार आएगी तो आदिवासी की जमीन लूट लेगी। क्या 4 साल सरकार द्वारा किसी आदिवासी की जमीन लूटी गई नहीं। उपरोक्त बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कही।

बरहेट का प्रतिनिधित्व करने वाला कभी विधानसभा में सवाल नहीं उठाया

मुख्यमंत्री ने कहा कि बरहेट का विधानसभा में प्रतिनिधित्व करने वाले ने कभी भी विधानसभा में क्षेत्र की समस्याओं को लेकर प्रश्न नहीं रखा, क्योंकि उसे पता ही नहीं है कि क्षेत्र की समस्या क्या है ऐसे में विकास के कार्य कैसे सम्पन्न होंगे।

लोगों को यह सोचना चाहिए और स्थानीय उम्मीदवार को प्राथमिकता देनी चाहिए। चाहे वोकिसी पार्टी का हो।

कार्यकर्ता पार्टी का प्राण, पार्टी के लिए राष्ट्र पहले

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता पार्टी के प्राण हैं। यह एक ऐसी पार्टी है जहां वंशवाद और परिवार नहीं। एक चाय बेचने वाला प्रधानमंत्री और मजदूर मुख्यमंत्री बन सकता है। मैं भी बूथ स्तर का कार्यकर्ता था।

पार्टी के लिए समर्पण भाव से कार्य करते हुए 1995 में विधायक बना और अब मुख्यमंत्री हूं। आप भी ईमानदारी से कार्य करें। सरकार की योजनाओं को जन जन पहुंचाये। पार्टी के वविभिन्न मोर्चा के लोग इस कार्य में लगे। क्योंकि पार्टी के लिए राष्ट्र पहले है।

इस राष्ट्र को और मजबूत करने के लिए वैश्विक पटल पर अपनी पहचान बना चुके प्रधानमंत्री  के हाथों को मजबूत करें। इस अवसर पर अनंत ओझा,  धर्मपाल सिंह, हेमलाल मुर्मू समेत अन्य मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

रांची : अखिल झारखंड छात्र संघ ने चुनाव को लेकर...

more-story-image

धनबाद : बीजेपी सरकार बनने के बाद कृषि विकास दर...

X

अपना जिला चुने