दिल्ली : 6 महीने से AIIMS में फर्जी डॉक्टर बनकर घूमता रहा बिहार का अदनान, इस तरह चढ़ा पुलिस के हत्थे

NewsCode | 16 April, 2018 7:31 PM

पुलिस ने जब इस फर्जी डॉक्टर को पकड़ा तो वह भी उसकी जानकारी देखकर दंग रह गई क्योंकि उसकी दवाईयों और डॉक्टरों के नामों की काफी बढि़या जानकारी थी।

newscode-image

नई दिल्ली। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में एक 19 वर्षीय युवक छह महीनों से अपनी असली पहचान छिपा कर फर्जी डॉक्टर बन घूमता रहा। लेकिन किसी को इस बात की भनक तक नहीं लगी। इतना ही नहीं, वह खुद को डॉक्टर बताकर तमाम मेडिकल कार्यक्रमों और सेमिनारों में भी हिस्सा लेता था और मेडिकल साइंस के कई छात्रों और उनसे संबंधित विभागों में उसने अपनी दोस्ती-यारी भी बढ़ा रखी थी। शनिवार (14 अप्रैल) को दिल्ली पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है। पुलिस ने जब इस फर्जी डॉक्टर को पकड़ा तो वह भी उसकी जानकारी देखकर दंग रह गई क्योंकि उसकी दवाईयों और डॉक्टरों के नामों की काफी बढि़या जानकारी थी।

पुलिस ने कहा कि यह बात अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाई है कि फर्जी डॉक्टर बने इस युवक को यह सब क्यों करना पड़ा। एक तरफ तो वह कह रहा है कि उसकी बहन भी एम्स में भर्ती है और उसका ब्लड कैंसर का इलाज चल रहा है। बहन को ज्यादा मदद मिले इसलिए उसको फर्जी डॉक्टर बनने का आईडिया आया था। वहीं, दूसरी तरफ वो यह भी कह रहा था कि उसको डॉक्टरों के साथ समय बिताना पसंद है और उन्हीं की तरह बनना चाह रहा है।

बता दें कि आरोपी की पहचान मूलरूप से बिहार निवासी अदनान खुर्रम के रूप में हुई है। लेकिन अस्पताल में वह अपना नाम खुर्शीद बताता था। अदनान फिलहाल दिल्ली में जामिया नगर के पास बाटला हाउस में रहता है। आरोपी के बारे में एम्स रेसिडेंट डॉक्टर्स ने बताया कि आरोपी के पास डॉक्टरों को जारी की जाने वाली एक खास डायरी भी थी। चूंकि खुर्रम पूछताछ में बार-बार अपने बयान बदल रहा है, लिहाजा अभी तक मामले के पीछे की सच्चाई सामने नहीं आ सकी है।

ऐसे पकड़ी गयी चोरी

शनिवार को डॉक्टरों ने मैराथन का आयोजन किया था, जिसमें कुछ डॉक्टरों से पहचान-पत्र दिखाने के लिए कहा गया था। खुर्रम उन्हीं में से था, जो अपना पहचान पत्र नहीं दिखा सका, जिसके बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया गया था। पुलिस का कहना है कि खुर्रम के खिलाफ आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है। सोशल मीडिया पर खुर्रम ने लैब कोट पहने हुए अपनी ढेर सारी तस्वीरें डाल रखी थीं।

डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस (दक्षिण) रोमिल बनिया ने कहा कि भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 419 और 468 के तहत उस पर हौज खास पुलिस थाने में मामला दर्ज हुआ है।

रेजिडेंस डॉक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष हरजीत सिंह ने कहा कि खुर्रम उनकी गतिविधियों पर कुछ महीनों से लगातार नजर बनाए हुए थे। उनके अनुसार, वह हर वक्त लैब कोट पहनकर और स्टेथोस्कोप लेकर घूमता था। वह विभिन्न डॉक्टरों से अलग-अलग दावे करता था। एम्स में तकरीबन 2000 रेजिडेंस डॉक्टर हैं, लिहाजा उन्हें व्यक्तिगत स्तर पर एक-दूसरे को पहचानना बेहद कठिन है। खुर्रम ने बस इसी बात का फायदा उठाया।

एटीएम की हेराफेरी कर पैसा निकालने वाले गिरोह के दो सदस्य गिरफ्तार

रांची : महिला ने हरिओम टावर से कूद कर दी जान

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 5:34 PM
newscode-image

रांची। रांची के लालपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत व्यवसायिक प्रतिष्ठान हरिओम टावर से रविवार को एक महिला ने चौथी मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने मृतका के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की छानबीन की जा रही है।

प्राप्त जानकारी के आज सुबह शहर के प्रतिष्ठित व्यावसायिक प्रतिष्ठान हरिओम टावर में एक महिला के शव पड़े रहने की सूचना पुलिस को मिली।मृतका की उम्र लगभग 40वर्ष है और घटनास्थल पर खून के धब्बे को देखकर यह आशंका व्यक्त की जा रही है कि महिला ने छत से कूद कर अपनी जान दे दी।

बताया जा रहा है कि हरिओम टावर की तीसरी मंजिल पर मेहता कोचिंग सेंटर के 2 छात्रों ने महिला को देख कर पूछा कि वह रेलिंग के पास क्यों खड़ी है पीछे खड़ी हो जाए। एक बार उसने कूदने की भी कोशिश की दोनों छात्रों ने उसे रोका और दौड़ कर उसके पास जाने लगे, इसी बीच महिला ने छलांग लगा दी। चौथी मंजिल से नीचे गिरने की वजह से महिला की दर्दनाक मौत हो गई।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने किया कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का शुभारंभ

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:38 PM
newscode-image

रांची। राज्य के जल संसाधन, पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने आज मोरहाबादी स्थित पार्क प्लाजा के दूसरे तल्ले में कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का फीता काटकर शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने आशा जतायी कि यह सर्विसेज आम जनों के लिए उपयोगी सिद्ध होगा।

कंफर्ट लाइव सर्विसेज में फ्लैट खरीद- बिक्री, स्वास्थ्य बीमा, अवधि बीमा, म्युचुअल फंड, एसआईपी एवं वाहनों की बीमा आदि की सुविधा लोगों को प्राप्त हो सकेगी।

शुभारंभ के मौके पर आजसू पार्टी के केंद्रीय महासचिव डॉ. लंबोदर महतो, चंद्रशेखर महतो, संचालक राजेश कुमार, रंजना चौधरी, गीता महतो, कल्पना मुखिया, संतोष  मुखिया, अमित साव एवं अजय श्रीवास्तव सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

भोगनाडीह : झामुमो ने संथाल को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया- मुख्यमंत्री

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:36 PM
newscode-image

भोगनाडीह  में भाजपा कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल हुए

भोगनाडीह। राज्य को संथाल परगना ने झारखण्ड मुक्ति मोर्चा से तीन तीन मुख्यमंत्री दिये,  लेकिन उन्होंने मुख्यमंत्री बनाया वो गरीब आदिवासी, वंचित दलित की अनदेखी कर अर्थपेटी और मतपेटी भरने का कार्य किया।

साथ ही संथाल परगना को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया। सबसे ज्यादा आदिवासियों की जमीन लूटने का काम सोरेन परिवार ने किया है। आज सीएनटी-एस पीटी एक्ट के उल्लंघन कर विभिन्न शहरों में आदिवासियों की जमीन ले ली।

जबकि संथाल परगना समेत राज्य भर में यह कह कर गुमराह किया गया कि अगर भारतीय जनता पार्टी की सरकार आएगी तो आदिवासी की जमीन लूट लेगी। क्या 4 साल सरकार द्वारा किसी आदिवासी की जमीन लूटी गई नहीं। उपरोक्त बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कही।

बरहेट का प्रतिनिधित्व करने वाला कभी विधानसभा में सवाल नहीं उठाया

मुख्यमंत्री ने कहा कि बरहेट का विधानसभा में प्रतिनिधित्व करने वाले ने कभी भी विधानसभा में क्षेत्र की समस्याओं को लेकर प्रश्न नहीं रखा, क्योंकि उसे पता ही नहीं है कि क्षेत्र की समस्या क्या है ऐसे में विकास के कार्य कैसे सम्पन्न होंगे।

लोगों को यह सोचना चाहिए और स्थानीय उम्मीदवार को प्राथमिकता देनी चाहिए। चाहे वोकिसी पार्टी का हो।

कार्यकर्ता पार्टी का प्राण, पार्टी के लिए राष्ट्र पहले

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता पार्टी के प्राण हैं। यह एक ऐसी पार्टी है जहां वंशवाद और परिवार नहीं। एक चाय बेचने वाला प्रधानमंत्री और मजदूर मुख्यमंत्री बन सकता है। मैं भी बूथ स्तर का कार्यकर्ता था।

पार्टी के लिए समर्पण भाव से कार्य करते हुए 1995 में विधायक बना और अब मुख्यमंत्री हूं। आप भी ईमानदारी से कार्य करें। सरकार की योजनाओं को जन जन पहुंचाये। पार्टी के वविभिन्न मोर्चा के लोग इस कार्य में लगे। क्योंकि पार्टी के लिए राष्ट्र पहले है।

इस राष्ट्र को और मजबूत करने के लिए वैश्विक पटल पर अपनी पहचान बना चुके प्रधानमंत्री  के हाथों को मजबूत करें। इस अवसर पर अनंत ओझा,  धर्मपाल सिंह, हेमलाल मुर्मू समेत अन्य मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

रांची : अखिल झारखंड छात्र संघ ने चुनाव को लेकर...

more-story-image

धनबाद : बीजेपी सरकार बनने के बाद कृषि विकास दर...

X

अपना जिला चुने