‘बर्गर किंग’ के बर्गर में निकला प्लास्टिक, खाने वाले शख्स के गले में हुआ घाव

पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने शिफ्ट मैनेजर को गिरफ्तार कर लिया, जिसे बाद में जमानत मिल गई।

NewsCode | 16 May, 2018 2:22 PM

‘बर्गर किंग’ के बर्गर में निकला प्लास्टिक, खाने वाले शख्स के गले में हुआ घाव

दिल्ली के राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर एक मशहूर अमेरिकी फास्ट फूड चेन बर्गर किंग से बर्गर खरीदना एक व्यक्ति को बहुत महंगा पड़ गया। शख्स ने आरोप लगाया है कि बर्गर किंग के बर्गर को खा कर वो बीमार हो गया और उसे अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। दरअसल, बर्गर में प्लास्टिक का एक टुकड़ा था, जिससे उस व्यक्ति के गले में घाव हो गया। इस वजह से उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने शिफ्ट मैनेजर को गिरफ्तार कर लिया, जिसे बाद में जमानत मिल गई।

जानकारी के मुताबिक, राकेश कुमार नामक एक शख्स ने रविवार को बर्गर किंग आउटलेट से चीज वेज बर्गर खरीदा था। इसको खाने के दौरान राकेश कुमार ने महसूस किया कि इसमें कुछ सख्त चीज है। इसके बाद राकेश कुमार को मिचली आने लगी। उन्होंने इस बारे में शिफ्ट मैनेजर और पुलिस को जानकारी दी। राकेश कुमार को लेडी हार्डिंग अस्पताल ले जाया गया।

पुलिस के अनुसार बर्गर में एक प्लास्टिक का टुकड़ा था, जिससे राकेश कुमार की भोजन नली में घाव हो गया। उसे अस्पातल में इलाज के बाद में छुट्टी दे दी गई। इसके बाद पीड़ित की शिकायत के आधार पर पुलिस ने बर्गर किंग और उसके शिफ्ट मैनेजर के खिलाफ आईपीसी की संबंधित धाराओं में केस दर्ज किया। पुलिस ने शिफ्ट मैनेजर को गिरफ्तार भी कर लिया था।

बता दें कि बर्गर किंग कंपनी 1954 में बनाया गया था। ये अमेरिका के फ्लोरिडा में स्थापित है। मैक्डॉन्ल्ड्स को टक्कर देने में ये कंपनी सबसे आगे है। दुनिया के 95 देशों में 13,667 आउटलेट्स के साथ ये कंपनी बेहद तेजी से आगे बढ़ रही है।

चिली बर्गर खाने से फटा पेट

बता दें कि अभी कुछ महीने पहले चिली बर्गर खाने से दिल्ली के एक युवक के पेट का अंदरूनी हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया था। युवक को अस्पताल में दाखिल होना पड़ा। पीड़ित युवक ने एक रेस्त्रां में चिली बर्गर खाने की प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था। जीतने वाले को एक महीने तक रेस्त्रां में फ्री खाने का मौका मिलने वाला था।

युवक सबसे ज्यादा चिली बर्गर खाकर विजेता तो बना, लेकिन अगले दिन उसे खून की उल्टियां हुई। बिगड़ती हालत को देखकर घरवालों ने युवक को अस्पताल में दाखिल कराया। डॉक्टरों ने युवक का इंडोस्कोपी कराया तो पता चला कि उसके पेट का अंदरूनी हिस्सा फट गया। डॉक्टरों को पेट की सर्जरी करनी पड़ी। उसे तरल पदार्थ के सहारे रहना पड़ा।

VIDEO: पहली बार स्पेस में हुई पिज्जा पार्टी, आपने देखी क्या ?

आईपीएल 2018 : वाटसन के आगे बेदम हैदराबाद, चेन्नई तीसरी बार चैम्पियन

NewsCode | 27 May, 2018 11:07 PM

आईपीएल 2018 : वाटसन के आगे बेदम हैदराबाद, चेन्नई तीसरी बार चैम्पियन

मुंबई :   साल 2018 में आईपीएल के सीजन 11 के फाइनल मुकाबले में शेन वाटसन की तूफानी शतक के दम पर चेन्नई ने हैदराबाद को 8 विकेट से हरा कर तीसरी बार आईपीएल खिताब अपने नाम कर लिया. इस मैच का सबसे बड़ा आकर्षण शेन वाटसन के 57 गेंदों पर तूफानी 117 रन रहे.  वाटसन ने 17वें ओवर की तीसरी गेंद पर 51 गेंदों पर अपना शतक पूरा किया.

15 ओवर तक चेन्नई ने दो विकेट खोकर 146 रन बना लिए थे. वाटसन 48 गेंदों पर 97 रन बनाकर खेल रहे थे तो रायडू 7गेंदो पर 1 रन बना कर खेल रहे थे. अंतिम 5 ओवर में टीम को 33 रनों की जरूरत थी. वहीं 15वां ओवर राशिद खान ने मेडन ओवर फेंका था.

संदीप शर्मा के ओवर में,  जो कि पारी का 13 वां ओवर था, तीन छक्के और दो चौके लगाकर  27 रन ठोंक डाले और अपना निजी स्कोर 45 गेंदों पर 86 रन कर दिया. जबकि टीम का स्कोर 131 रन कर दिया. वहीं इसके अगले ओवर में ब्रेथवेट ने सुरेश रैना को विकेट के पीछे आउट करा दिया. रैना ने 24 गेंद 32 रन बनाए.

शेन वाटसन तेजी से रन बना रहे थे तो रैना दूसरे छोर पर वाटसन को ही मौका देने की कोशिश करते नजर आए.  वहीं राशिद खान के ओवर में दोनों ही सावधानी से बल्लेबाजी करते नजर आए. 11वें ओवर की पहली ही गेंद पर शाकिब को वाटसन ने छक्का लगाकर अपना अर्धशतक पूरा किया.

10 ओवर तक वाटसन 45 रन बना चुके थे और रैना 22 रनों पर एक छोर संभाले हुए थे. टीम का स्कोर एक विकेट पर 80 रन हो चुका था. 8 ओवर के बाद चेन्नई का स्कोर एक विकेट के नुकसान पर 56 रन हो गया था. शेन वाटसन ने दो चौके और दो छक्के की मदद से  25 गेंदों पर 28 रन बना लिए थे तो सुरेश रैना ने 12 गेंदों पर दो चौकों की मदद से 15 रन बनाए थे.

पहले पांच ओवर में चेन्नई एक विकेट खोकर केवल 20 रन बना सकी थी लेकिन इसके अगले ओवर में शेन वाटसन ने एक छक्का और एक चौका लगाकर 6 ओवर में एक विकेट पर 35 रन बना लिए थे. शेन वाटसन 19 गेंदों पर 19 रन और सुरेश रैना 6 गेंदों पर 4 रन बनाकर खेल रहे थे. चेन्नई को चौथे ओवर में ही पहला झटका लग गया. चौथे ओवर की आखिरी गेंद पर संदीप शर्मा ने फाफ डु प्लेसिस का अपनी ही गेंद पर कैच पकड़ कर चेन्नई पर दबाव बढ़ा दिया. फाफ 11 गेंदों पर 10 रन बना सके.

हैदराबाद के 178 रन बनाने के बाद भुवनेश्वर कुमार ने पहला ओवर मेडन डाला. भुवी का ओवर दोनों टीमों के बीच हुए पिछले मैच जैसा ही था फर्क इतना रहा कि इस बार भुवी को शेन वाटसन का विकेट नहीं मिला. भुवी को जहां गेंद में मूवमेंट मिल रहा था वाटसन वहीं संभालकर  खेलने की कोशिश करते नजर आए.

इससे पहले हैदराबाद ने चेन्नई को 179 रनों का लक्ष्य दिया. युसुफ पठान और कार्लोस ब्रेथवेट ने तूफानी बल्लेबाजी की बदौलत हैदराबाद ने निर्धारित 20 ओवरों में पांच विकेट खोकर 178 रन बना लिए थे. युसुफ 25 गेदों पर 45 रन और ब्रेथवेट ने 11 गेंदों पर 21 रन बनाए. हैदराबाद की ओर से कप्तान केन विलियमसन ने 47 रन बनाए.

Read Also

अजब-गजब : यहाँ 19.84 लाख रुपये में बिका एक जोड़ी खरबूज

NewsCode | 27 May, 2018 10:32 PM

अजब-गजब : यहाँ 19.84 लाख रुपये में बिका एक जोड़ी खरबूज

टोक्यो। जापान में आज एक नीलामी में प्रीमियम खरबूजों की एक जोड़ी की बिक्री 29,300 अमेरिकी डॉलर में हुई। भारतीय मुद्रा में कहें यो लगभग 19.84 लाख रुपये में बिका एक जोड़ा खरबूज। बताते हैं कि यहां इस फल को प्रतिष्ठा का प्रतीक समझा जाता है।

जापान में सामाजिक प्रतिष्ठा की चाह रखने वाले खरीदारों को मौसमी फल नियमित रूप से काफी आकर्षित करते हैं। अधिकारियों ने बताया कि उत्तरी होक्काइडो में साप्पोरो सेंट्रल होलसेल मार्केट में इस साल नीलामी के लिए रखे गए युबरी के खरबूजे को एक स्थानीय फल पैकिंग फर्म ने यह बोली लगाकर खरीदा है।

बाजार के अधिकारी तत्सुरो शिबूता ने बताया कि युबारी के खरबूजे की पैदावार इस साल अच्छी हो रही है क्योंकि मई की शुरुआत से ही यहां अच्छी धूप निकल रही है। जापान में युबरी खरबूजों को आम तौर पर प्रतिष्ठा बढ़ाने वाला फल माना जाता है, उसी तरह जैसे कि अच्छे किस्म की शराब. बहुत से लोग इन खरबूजों को दोस्तों और रिश्तेदारों को उपहार में भी देते हैं।

अजब-गजब : यहाँ एक मुस्लिम महिला ने बंदर के नाम कर दी अपनी सारी संपत्ति

अजब-गजब : यहाँ 700 साल पुराने बरगद के पेड़ का हो रहा इंसानी इलाज

निपाह वायरस से बचने के लिए WHO ने किया आगाह, भूलकर भी न खाएं ये 3 फल

 

PM मोदी ने किया दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन, बागपत में करेंगे रैली को संबोधित

NewsCode | 27 May, 2018 12:29 PM

PM मोदी ने किया दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन, बागपत में करेंगे रैली को संबोधित

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रविवार सुबह देश के पहले स्मार्ट और ग्रीन हाईवे ‘ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे’ (ईपीई) का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने इसके साथ ही दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर खुली जीप में रोड शो किया। कुल 135 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेस वे पर 11,000 करोड़ रुपये की लागत आई है। यह देश का पहला हाईवे है, जहां सड़क सौर बिजली से रोशन होगी।

प्रधानमंत्री का ‘रोड शो’ निजामुद्दीन ब्रिज से शुरू हुआ, यह दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का लगभग नौ किलोमीटर का पहला चरण है। रोड शो करने के बाद पीएम मोदी अक्षरधाम से बागपत के लिए रवाना होंगे।

कैसा है दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे?

भारत के पहले 14 लेन के दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे के पहले चरण का काम भी पूरा हो गया। दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे पर 14 लेन के अलावा 2.5 मीटर का साइकिल ट्रैक भी होगा। दिल्ली- मेरठ एक्सप्रेस-वे बनने पर 7566 करोड़ रुपये का बजट है।

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के बनने के बाद दिल्ली से मेरठ जाने में 45 मिनट का ही समय लगेगा, जबकि फिलहाल इस रूट पर अक्सर ट्रैफिक जाम होने की वजह से 2 घंटे से ज्यादा का वक्त लग जाता है।

ईस्टर्न पेरीफेरल देश का पहला राजमार्ग है जहां सौर बिजली से सड़क रोशन होगी। इसके अलावा प्रत्येक 500 मीटर पर दोनों तरफ वर्षा जल संचयन की व्यवस्था होगी। साथ ही इसमें 36 राष्ट्रीय स्मारकों को प्रदर्शित किया जाएगा तथा 40 झरने होंगे। इसे रिकॉर्ड 500 दिनों में पूरा किया गया है, इस एक्सप्रेस वे पर 8 सौर संयंत्र हैं, जिनकी क्षमता 4 मेगावाट है। प्रधानमंत्री ने इस परियोजना के लिये आधारशिला पांच नवंबर 2015 को रखी थी।

ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे की खासियतें 

1) 135 किलोमीटर लंबा यह एक्सप्रेस-वे गाजियाबाद, फरीदाबाद, पलवल और ग्रेटर नोएडा के बीच सिग्नल फ्री कनेक्टिविटी को मजबूत करेगा।

2) इस एक्सप्रेस-वे पर लाइटिंग की पूरी सुविधा सोलर पैनल के जरिए की जाएगी। यही नहीं इसका दृश्य भी बेहद सुंदर होगा क्योंकि इस एक्सप्रेस-वे के किनारों पर तकरीबन 2.5 लाख पेड़ लगाए जाएंगे।

3) अब तक यूपी से हरियाणा और हरियाणा से यूपी जाने वाले तकरीबन दो लाख वाहन प्रतिदिन दिल्ली से होकर सफर करते थे। इसके शुरू होने पर ये वाहन दिल्ली को बाईपास कर निकलेंगे, जिससे प्रदूषण में कमी आएगी।

4) नेशनल एक्सप्रेस-वे 2 कहे जाने वाले इस मार्ग पर पेट्रोल पंप, रेस्ट एरिया, होटल, रेस्तरां, दुकानों और रिपेयर सर्विसेज की सुविधा उपलब्ध रहेगी।

5) हर 500 मीटर की दूरी पर रेनवॉटर हार्वेस्टिंग की भी व्यवस्था होगी. ड्रिप इरिगेशन की तकनीक के चलते इस पानी से ही पेड़ों की सिंचाई भी होगी।

6) स्वच्छ भारत मिशन को ध्यान में रखते हुए हर 2.5 किलोमीटर की दूरी पर शौचालय बनाए गए हैं। इस पूरे मार्ग पर 6 इंटरचेंज, 4 फ्लाईओवर, 71 अंडरपास और 6 आरओबी हैं। इसके अलावा यमुना और हिंडन पर दो बड़े पुल बनाये गए हैं।

मोदी सरकार के 4 साल: राहुल गांधी ने मोदी को दिया F ग्रेड, लेकिन इन दो कामों के लिए की तारीफ

अमित शाह ने गिनाईं ‘4 साल मोदी सरकार’ की उपलब्धियां, कहा- हमने भ्रष्टाचार मुक्त सरकार दी

X

अपना जिला चुने