चतरा : इटखोरी में 1 साल से बंद पड़ी है पेयजलापूर्ति, पीने के लिए नहीं मिल रहा पानी

NewsCode Jharkhand | 14 May, 2018 12:00 PM
newscode-image

 महाने नदी में बना इंटेक वेल डेड

चतरा। इटखोरी प्रखंड मुख्यालय में पिछले एक वर्ष से पेयजल की आपूर्ति ठप है। वाटर सप्लाई के लिए महाने नदी में बना इंटेक वेल डेड हो चुका है। लिहाजा लोगों के घरों तक नल का पानी नहीं पहुंच पा रहा है। मालूम हो कि यहां एक दशक पूर्व वाटर सप्लाई के लिए पेयजल आपूर्ति योजना का निर्माण किया गया था। इसके तहत जलमीनार, वाटर फिल्टर प्लांट तथा महाने नदी में इंटेक वेल का निर्माण हुआ था।

Read More:- टुंडी : सुदूर ग्रामीण क्षेत्र में भी जलेगा शिक्षा का दीप

पीने के पानी की घोर समस्‍या

करीब पांच-छह वर्ष तक पेयजल आपूर्ति योजना से लोगों को सप्लाई का पानी मिलता रहा। बाद में महाने नदी में बनाए गए इंटेक वेल में बालू भर जाने के कारण पेयजल की आपूर्ति अक्सर बाधित होने लगी। इधर पिछले एक वर्ष से पेयजल की आपूर्ति पूरी तरह ठप हो गई है। पेयजल की आपूर्ति ठप होने से प्रखंड मुख्यालय में रहने वाले लोगों के समक्ष पीने के पानी की समस्या गहरा गई है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

सिमडेगा : जनता दरबार में ग्रामीणों की समस्या से अवगत हुई उप-समाहर्ता

NewsCode Jharkhand | 24 September, 2018 9:24 PM
newscode-image

सिमडेगा। समाहरणालय में आयोजित जनता दरबार में उप-समाहर्ता उषा मुंडू ने ग्रामीणों की समस्याएं सुनी और उनके समाधान का प्रयास किया। घुटबहार माठूटोली निवासी एक वृद्ध ने बताया कि 10 अगस्त 2018 को गंभीर बीमारी होने के कारण रांची के नागरमल मोदी सेवा सदन के आईसीयू में उसका पुत्र एडमिट किया गया। जमीन बंधक रखकर वह अपने पुत्र का इलाज करा रहा है। अब तक कुल तीन लाख रूपये ईलाज में खर्च हो चुके हैं। उसने  पुत्र की इलाज हेतु गंभीर बीमारी योजना के तहत् सहायता राशि दिलाने की गुहार लगायी।

रेंगार बहार नवाटोली निवासी किरण रजत खाखा ने आवेदन देकर पत्नी प्रतिमा तिग्गा के कैंसर के इलाज के लिये सहयोग करने की गुहार लगायी। इस मामले में  सिविल सर्जन को अग्रतर कार्रवाई करते हुए मुख्यमुंत्री गंभीर बिमारी योजना व आयुष्मान भारत योजना के तहत् लाभ दिलाने का निर्देश दिया गया।

आसनबेड़ा के ग्रामीणों ने आवेदन देकर आसनबेड़ा से गोंदलीपानी तक बने पथ में पुलिया निर्माण कराने की मांग की। बरसात के कारण पथ की हालत जर्जर हो गई है। ग्रामीणों ने बताया कि पुलिया के अभाव में पथ पर आवगमन में कठिनाई हो रही है।  उप-समाहर्ता ने प्रखंड विकास पदाधिकारी को सड़क की जांच करते हुए पुलिया व सड़क मरम्मती का जांच प्रतिवेदन समर्पित करने का निर्देश दिया। इसके अलावा भी कई लोगों ने अपनी समस्‍याओं को उप-समाहर्ता के सामने रखा।

सिमडेगा : हमीरपुर उडीसा ने बड़ाईक ब्रदर्स को 4-3 से हराकर खिताब पर जमाया कब्जा

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

बाघमारा : साइबर अपराधियों ने दो खाताधारकों के लाखों रुपये उड़ाए

NewsCode Jharkhand | 24 September, 2018 9:50 PM
newscode-image

बाघमारा (धनबाद)। साइबर अपराधियों ने एक बार फिर दो बैंक खाताधारकों के लाखों रुपये उड़ा लिए। चार दिन लगातार बैंक बंद था। इसी दौरान साइबर अपराधियों ने रुपये निकाल लिए।

जिनेके खाते से रुपये निकाले गए उनमें से एक का नाम बाघमारा बस्‍ती निवासी रत्न लाल महतो है। वो बीसीसीएल से रिटायर हो चुका है। उनेके खाते से 2 लाख 84 हजार रुपये निकाले गए।

दूसरे भुक्‍तभोगी का नाम अरविंद कुमार है। उनके खाते से 73 हजार रुपये की निकासी की गई। वे बीसीसीएल ब्लॉक दो में ओसीपी मैनेजेर के पद पर कार्यरत हैं।

धनबाद : गैंग्स ऑफ वासेपुर के अपराधियों को किया जाएगा दूसरे जेल में शिफ्ट

दोनों का खाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के डुमरा शाखा में है। सोमवार को बैंक जाकर दोनों ने शाखा प्रबंधक को इसकी जानकारी दी।

महतो ने बाघमारा थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। मैनेजेर ने ऑनलाइन शिकायत पुलिस से की है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

खूंटी : सहिया दीदी की पहचान भी सेविका-सहायिका की तरह हो- मुख्यमंत्री

NewsCode Jharkhand | 24 September, 2018 9:49 PM
newscode-image

27 को खूंटी समेत पांच जिला ओडीएफ घोषित होगा

मुख्यमंत्री ने स्वच्छता अभियान में लिया हिस्सा

खूंटीमुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि खूंटी जिला को ओडीएफ बनाने में स्वयं सहायता समूह, सामाजिक संगठन एवं सहिया दीदीयों ने प्रतिबद्धता के साथ कार्य किया है। उन्होंने कहा कि आगामी 27 सितम्बर को उपराष्ट्रपति  वैंकया नायडू झारखंड दौरे पर आ रहे है।

इसी दिन राज्य के पांच जिलों को ओडीएफ घोषित करना है जिसमें खूंटी जिला भी शामिल है।  मुख्यमंत्री शुक्रवार को खूंटी के दतिया गांव में स्वच्छता सेवा कार्यक्रम के अंतर्गत चैपाल में उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे।

रांची : विपक्ष को नहीं है गरीबों के स्वास्थ्य की चिंता- प्रतुल शाहदेव

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छता ही सेवा है के भाव से खूंटी जिला की जल सहिया दीदीयों ने काम किया है। जल सहिया दीदीयों को राज्य सरकार प्रति शौचालय के निर्माण में 75 रूपये प्रोत्साहन राशि दे रही है।

खूंटी : सहिया दीदी की पहचान भी सेविका-सहायिका की तरह हो- मुख्यमंत्री

सहिया दीदीयों की भी पहचान आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका की तरह हो इस पर सरकार विचार करेगी। उन्होंने कहा कि स्कूलों में शिक्षा ग्रहण करने के साथ-साथ बच्चों को स्वच्छता का पाठ अवश्य पढ़ायें। सभी स्कूलों में हर दिन 15 मिनट का समय सफाई कार्य पर शिक्षक एवं बच्चे अवश्य दें। बच्चों को अच्छी संस्कार दें ताकि आगे चलकर वे अच्छा नागरिक बनें।

मुख्यमंत्री  रघुवर दास ने कहा कि आजादी के 70 वर्ष बाद भी जनता की छोटी-छोटी बुनियादी आवश्यकता पर किसी ने ध्यान नही दिया। हमारी सरकार ने छोटी-छोटी बुनियादी आवश्यकता जैसे सड़क, शिक्षा, बिजली, पानी इत्यादि आवश्यकताओं पर फोकस किया।

नवम्बर 2018 तक घर-घर तक बिजली पहुंचाना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। महिलाओं का विशेष ध्यान रखते हुए प्रत्येक घर में शौचालय निर्माण कराया गया। 2014 से पहले राज्य में ओडीएफ 14 प्रतिशत थी, लेकिन वर्तमान सरकार ने अब तक ओडीएफ 86 प्रतिशत हो गई है।

02 अक्टूवर 2018 को पूरा झारखण्ड को ओडीएफ किये जाने का लक्ष्य है। महिला सशक्तिकरण को बढावा देने के लिए पूरे देश में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उज्जवला योजना के तहत एलपीजी गैस कनेक्शन उपलब्ध कराया गया। झारखण्ड सरकार द्वारा गैस कनेक्शन के साथ-साथ चुल्हा भी निशुल्क दिया जा रहा है। पहली रिफिल का पैसा भी राज्य सरकाने दे रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी लोगों का जनधन खाता खुलवाया गया। केन्द्र सरकार की चार साल की कार्यकाल में गांव, गरीब और किसान की आर्थिक, सामाजिक समृद्धि के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं चलायी गईं। ग्रामीण क्षेत्रों के नौजवानों के रोजगार सृजन हेतु मुर्गी पालन, बकरी पालन, सुकर पालन, गाय पालन इत्यादि के लिए बैंको से मुद्रा ऋण देने का काम किया है। नौजवानों के लिए कौशल विकास कार्यक्रम चलाकर रोजगार से जोड़ने का प्रतिबद्ध प्रयास किया गया है।

मुख्यमंत्री   रघुवर दास ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री ने विगत 23 सितम्बर को झारखण्ड का नाम देश और दुनिया में रौशन किया है। प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने बिरसा मुण्डा की पावन धरती झारखण्ड से विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना (आयुष्मान भारत) प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की शुरुआत की।

अब गरीबी इलाज में बाधा नहीं बनेगी, गरीब भी सम्मान के साथ अपना इलाज करा पाएँगे। देशभर में गरीबों का 5 लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा कराया गया है। देश की लगभग पचास करोड़ की आबादी का इस योजना का लाभ होगा। अब लोगों को इलाज में एक पैसा खर्च नहीं करना पड़ेगा, सरकार लोगों का मुफ्त में इलाज करवाएगी।

उन्होंने उपस्थित लोगों से अपील किया कि जनता को योजना की पूरी जानकारी दें। जानकारी से ही योजनाएं सफल होंगी। राज्य के 57 लाख परिवारों को इसका लाभ मिलेगा। प्रति परिवार को 5 लाख रूपये का स्वास्थ्य बीमा किया जाएगा।

चैपाल में उपस्थित सभी की बातों को सुनने के बाद मुख्यमंत्री रघुवर दास ने हाथ में झाडू लेकर दतिया गांव में सफाई अभियान चलाया। तेज धूप और भीषण गर्मी के बाद भी चैपाल में बड़ी संख्या में जल सहिया, स्वयं सहायता समूह और आम लोगों ने भाग लिया। जल सहिया उषा देवी, जुबेदा खातून, दिलेश्वरी देवी आदि सहिया ने शौचालय निर्माण में हो रही परेशानी के बारे में और अपने मानदेय के बारे में भी मुख्यमंत्री से चर्चा की।

कार्यक्रम में ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, खूंटी के सांसद  कड़िया मुंडा सहित कई लोगों ने संबोधित किया। इस अवसर पर उप विकास आयुक्त सह प्रभारी उपायुक्त खूंटी, पुलिस अधीक्षक खूंटी, जिला के अन्य वरीय पदाधिकारी एवं दतिया ग्राम के ग्रामीण बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

गुमला : पॉल्ट्री स्वावलम्बी सहकारी समिति की वार्षिक आम सभा...

more-story-image

साहेबगंज : बैलगाड़ी व रिक्शा लेकर झामुमो कार्यकर्ताओं ने किया...