चतरा : सिविल सर्जन ने हरी झंडी दिखाकर परिवार स्वास्थ्य रथ को किया रवाना

NewsCode Jharkhand | 29 June, 2018 8:13 PM
newscode-image

चतरासदर अस्पताल परिसर से शुक्रवार को सिविल सर्जन डॉ. एसपी सिंह ने हरी झंडी दिखाकर प्रसार-प्रचार वाहन रथ रवाना किया। रथ परिवार नियोजन के निर्धारित जिले के लोगों को जागरूकता किया जाएगा। इसके लिए प्रखंड से लेकर पंचायत व सुदूरवर्ती गांव स्तर पर अभियान चलाया जाएगा। यह अभियान 11 जुलाई से 24 जुलाई तक चलेगा।

चतरा : पुलिस ने सदर थाना क्षेत्र से तस्कर को पैसे के साथ किया गिरफ्तार

इस क्रम में प्रखंड स्तर पर परिवार कल्याण मेला आयोजित कर स्टॉल लगाया जाएगा। जहां स्वास्थ्य अधिकारी व कर्मी ग्रामीणों व शहरी लोगों को परिवार नियोजन के बारे में विस्तृत जानकारियां देकर उन्हें जागरूक करेंगे। शिविर में उन्हें दवा, कॉपर टी, नसबंदी कराने से होने वाले लाभ के बारे में जानकारियां दी जाएगी और उन्हें प्रोत्साहित भी करेंगे।

बताया कि लोगों को जागरूक करने के लिए जिले में कुल तीन वाहन प्रचार-प्रसार कर रहे है। प्रचार-प्रसार वाहन लोगों को परिवार नियोजन के बारे में जानकारी देंगे और उन्हें नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर उपचार व डॉक्टरों की सलाह लेंगे।

मौके पर सदर अस्पताल उपाधीक्षक डॉ. पंकज कुमार, डीपीएम तरुण सिन्हा, डीडीएम पोखराज, डीपीसी रंजीत कुमार,  भीबीडी कंसल्टेंट अभिमन्यू कुमार अस्पताल प्रबंधक निशांत कुणाल, दिलेर खान समेत स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

जामताड़ा : मिजिल्स रूबेला वायरस जनित रोग, सावधान रहें

NewsCode Jharkhand | 19 July, 2018 8:32 PM
newscode-image

कार्यशाला में इस रोग से बचने की दी गई जानकारी

जामताड़ा। मिजिल्स रूबेला वायरस जनित रोग है इससे हमेशा सावधान रहने की जरूरत है। इस रोग के बारे में छात्र-छात्राओं को जागरूक करने के लिए जिले के तांबाजोर स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय में एकदिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।

कार्यशाला में डॉ. पंकज कुमार शर्मा व दिनेन्दु साहा नेमिजिल्स रूबेला के लक्षण, इसके प्रभाव व बचाव के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मिजिल्स व रूबेला वायरस जनित जानलेवा बीमारी है।इससे ग्रसित रोगी की मृत्यु भी हो जाती है।

जामताड़ा : नाला सीएचसी में बंध्याकरण के बाद महिला की मौत मामले की हुई जांच

इस बीमारी की चपेट में आनेवाली गर्भवती महिलाओं के गर्भ में पल रहे बच्‍चे को दिल की बीमारी होने की पूरी संभावना रहती है। इसके अलावा हो सकता है बच्‍चे शारीरिक और मानसिक रूप से विक्‍लांग जन्‍म ले। कई बार शिशु की गर्भ में दो-तीन दिनों के अदंर मौत भी हो जाती है। उन्‍होंने बताया कि अध्ययन में यह साबित हो गया है कि उक्‍त बीमारी से ग्रस्‍त 90 प्रतिशत रोगी नौ से पंद्रह साल तक के बच्चे होते हैं। इसलिए इस आयुवर्ग के बच्‍चों को ही मिजिल्स रूबेला से बचाव के लिए टीकाकरण किया जाता है।

डॉ. शर्मा ने बताया कि मिजिल्स रूबेला टीकाकरण कोई नया नहीं है। वर्षों से स्वास्थ्य केन्द्रों में बचाव का टीका दिया जाता रहा है। इस बार मिजिल्स के साथ रूबेला को जोड़कर एक अभियान के तहत इस वायरस को जड़ से समाप्त करने का प्रयास किया गया है। मौके पर विद्यालय के प्राचार्य स्वातिका कुंडू, निरंजन दास, प्रदीप कुमार चौधरी, अखिलेश कुमार, अनिता कुमारी, मीरा कुमारी सहित दर्जनों शिक्षक-शिक्षिका व छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

LIVE: पीएम मोदी का कांग्रेस पर तंज, कहा- मेरी शुभकामनाएं 2024 में आप फिर से अविश्वास प्रस्ताव लाएं

NewsCode | 20 July, 2018 9:39 PM
newscode-image

संसद के मॉनसून सत्र का तीसरा दिन है और आज लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ पहले अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग कराई जाएगी. बुधवार को टीडीपी सांसद की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने मंजूर किया था, जिसके बाद उस पर चर्चा के लिए शुक्रवार का दिन तय हुआ था.

संसद के मॉनसून सत्र का तीसरा दिन है और आज लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ पहले अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग कराई जाएगी. बुधवार को टीडीपी सांसद की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने मंजूर किया था, जिसके बाद उस पर चर्चा के लिए शुक्रवार का दिन तय हुआ था.

अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने भी भाषण दिया. राहुल गांधी अपना भाषण खत्‍म करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास गए और उनके गले लगकर हाथ मिलाया.

LIVE UPDATES:

पीएम मोदी ने बोलना शुरू किया-

प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान लोकसभा में जमकर हंगामा,  विपक्षी नेताओं लगा रहे वी वांट जस्टिस के नारे

-जब हम डिजिटल लेनदेन की बात करने लगे तो सदन में बैठे लोग बताने लगे कि हमारे देश में लोग अनपढ़ हैं.

-ऐसे लोगों को हमारे देश की जनता ने तमाचा मारा है. इनकी यही मानसिकता गलत है

-यह अच्छा मौका है कि हमें अपनी बात कहने का बात मिल ही रहा है लेकिन देश को यह चेहरा भी देखने का मौका मिला है कि कैसे नकारात्मक राजनीति ने कुछ लोगों को घेर कर रखा हुआ है और उन सब का चेहरा निखर कर बाहर आया है.

-कई लोगों के मन में यह सवाल आया कि यह प्रस्ताव आया क्यों? विपक्ष के पास बहुमत नहीं है फिर भी यह प्रस्ताव लाया गया. सरकार को गिराने के लिए इतना ही उतावलापन था तो इसे 48 घंटे और टालने की कोशिश क्यों की गई. अगर चर्चा की तैयारी ही नहीं थी तो इसे लाया ही क्यों?

पिछले दो वर्ष में पांच करोड़ लोग गरीबी से बाहर आए : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

– किसानों की आय 2022 तक दोगुनी कर देंगे : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में कहा, ”हम ‘सबका साथ, सबका विकास’ के मंत्र पर काम करते रहे.”

– अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा : प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान लोकसभा में जमकर हंगामा

– लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं पर भरोसा ज़रूरी, सवा सौ करोड़ देशवासियों पर अविश्वास न करें : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

– साथियों की परीक्षा लेने के लिए अविश्वास प्रस्ताव नहीं लाया जाना चाहिए : लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

– न मांझी, न रहबर, न हक में हवाएं, है कश्ती भी जर्जर, यह कैसा सफर है : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

– न संख्या है, न बहुमत, फिर भी अविश्वास प्रस्ताव लाया गया, देश देख रहा है, कैसी नकारात्मकता है : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.

– अविश्‍वास प्रस्‍ताव के बहाने अपने कुनबे को जमाने की कोशिश की गई है.

– राहुल गांधी के गले मिलने पर पीएम मोदी बोले- कुर्सी पर पहुंचने की जल्‍दबाजी है.

– पीएम मोदी ने कहा , संसद में बहुमत नहीं फिर भी अविश्‍वास प्रस्‍ताव लाया गया है.

 -तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी ने कहा, “आप राम पर भी अपनी मनॉपली (एकाधिकार) करना चाहते हैं.”

-हमें रूस-अमेरिका नहीं, हिन्दू-मुस्लिम के बीच फैल रही नफरत मारेगी : नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसद फारुक अब्दुल्ला

– मॉब लिंचिंग सिर्फ 1984 में नहीं हुई थी, वह 2002 में भी हुई : AIMIM के सांसद असदुद्दीन ओवैसी

दुमका : मामूली विवाद को लेकर शिक्षक ने छात्र को बेहरमी से पीटा

NewsCode Jharkhand | 20 July, 2018 9:37 PM
newscode-image

दुमका। शहर के डॉन बास्को स्कूल में एक छात्र का पीटाई करने का मामला नगर थाना पहुंचा। जहां स्कूल के वर्ग-6 में पढ़ाई करने वाले कृष्ण कुमार वर्मा और उसके पिता विजय कुमार वर्मा ने आरोपी शिक्षक के विरूद्ध लिखित शिकायत किया है।

दुमका : सहकारिता सह प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी को घूस लेते ACB ने दबोचा

मामले में पीड़ित छात्र के पिता और छात्र ने बताया कि एक सहपाठी से मामूली विवाद को लेकर सहपाठी के शिकायत पर शिक्षक प्रकाश मुर्मू ने बेहरमी से पीटाई कर दिया है। शिक्षक रूल टूटने तक पिटाई करते रहा। जब इसकी जानकारी पिता विजय वर्मा को छात्र के दोस्तों ने दी।

दुमका : हंसडीहा थाना का छत जर्जर होकर गिरा, हवलदार गंभीर रूप से घायल

 

मामले में अभिभावक द्वारा प्राचार्य रोज मेरी हेम्ब्रम ने कार्रवाई का आश्वासन दिया। इसके बाद पीड़ित छात्र घर पहुंचा। जहां स्कूल ड्रेस चेंज करते समय उसकी मां और दादी देख मामले में आरोपी छात्र को सजा दिलाने को लेकर नगर थाना पहुंचे। नगर थाना पुलिस देवव्रत पोद्दार ने अभिभावक के शिकायत पर आरोपी शिक्षक को बुलाने का निर्देश दिया।

समाचार लिखे जानते तक प्राथमिकी दर्ज नहीं हो पायी है। इधर मामले में प्राचार्या रोज मेरी हेम्ब्रम ने सफाई देते हुए कहा कि यह पहली घटना है, शिक्षक के विरूद्ध आवश्यक कार्रवाई की जायेगी। शिक्षक की वैसे कोई मंशा नहीं थी, जिससे छात्र और उसके परिवार को किसी प्रकार की क्षति पहुंचे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

 पलामू : भू-माफियाओं से परेशान ग्रामीण अनिश्चितकालीन आमरण अनशन पर

more-story-image

कोडरमा : मुनगा के पत्ते का करें सेवन, ब्लड प्रेशर...