चास : योग के जरिए लोगों ने जाना सेहतमंद रहने का राज

जागरूकता रैली के साथ लगाया गया योग शिविर

NewsCode Jharkhand | 23 March, 2018 11:03 AM

चास : योग के जरिए लोगों ने जाना सेहतमंद रहने का राज

चास (बोकारो)। चास प्रखंड के कुमारदागा  गांव में पांच दिवसीय योग शिविर का तीसरे दिन गुरुवार  को पतंजलि योग प्रचारक हरीद्वार के तत्वावधान में आयोजित किया गया। योग शिविर में बोकारो पतंजलि योग प्रचारका रेणु आर्य द्वारा योग शिविर लगाने के पूर्व पूरे गांव में योग के प्रति जागरूकता रैली का आयोजन किया गया।

जागरूकता रैली में गांव के बच्चे, महिला एवं पुरुषों ने भाग लिया। रैली के बाद योग शिविर  का  आयोजन किया गया। योग शिविर में 145 महिला एवं बच्चों ने भाग लिया। रेणु आर्य  ने योग शिविर के माध्यम से उपस्थित बच्चों एवं लोगों के बीच योग से दूर होने वाली बीमारियों के  बारे में विस्तृत जानकारी दी।

चास : रामनवमी में सोशल मीडिया पर बोकारो प्रशासन की नजर

योग शिविर के माध्यम से उपस्थित महिला पुरुष एवं बच्चों को उन्होंने कहा कि पतंजलि की ओर से नि:शुल्क योग शिविर का आयोजन प्रत्येक पंचायत में किया जा रहा है। मौके पर  चांद दास, मेनका देवी, पानमणि देवी, कल्याणी देवी, साधना देवी, सरिता देवी, फूलकुमारी देवी, उर्मिला देवी, सरस्वती, गुड़ी कुमारी, धौनी कुमारी, सनोज, गोपाल आदि लोग उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

रांची : लेबर रूम, ऑपरेशन थियेटर व आईसीयू में सुधार करें- निधि खरे

NewsCode Jharkhand | 22 May, 2018 9:08 PM

रांची : लेबर रूम, ऑपरेशन थियेटर व आईसीयू में सुधार करें- निधि खरे

रांची। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, झारखण्ड के द्वारा मातृत्व स्वस्थ्य के अन्तर्गत लक्ष्य कार्यक्रम का उन्मुखीकरण पर आज रांची में एकदिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का उद्धाटन करते हुए स्वास्थ्य विभाग की प्रधान सचिव निधि खरे   ने कहा कि मातृत्व स्वास्थ्य हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है।

इसमे सुधार के लिए हमें रणनीति के साथ लगातार प्रयास करने की आवश्यकता है। उन्‍होंने राज्य के सभी लेबर रूम की गुणवता सुधारने तथा इसमे कार्य करने वाले कर्मियों को आवश्यक प्रशिक्षण देने हेतु कदम उठाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि राज्य के अस्पतालों के प्रति लोगों का विश्वास बढ़ा है।

सिल्‍ली : सुदेश महतो के लिए वोट मांगने निकलीं नेहा महतो

अब लोग सदर अस्पतालों में प्रसव कराना चाहतें है, लेकिन हमें और सुधार करने की आवश्यकता है। लेबर रूम, ऑपरेशन थियेटर तथा आईसीयू में सुधार नही करने वाले जिलों पर कार्रवाई होगी। इस अवसर पर प्रधान सचिव ने कहा कि एमडीआर की जांच समय पर होनी चाहिए। यदि कोई दोषी पाया जाता है तो उसके विरूद्ध सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

वैसी सहियाएं जो माताओं को प्रसव हेतु प्राईवेट अस्पतालों में ले जाती है, उनके विरूद्ध भी सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने परिवार नियोजन कार्यक्रमों को प्रभावी बनाने हेतु इसमें पति-पत्नी, सास-पति आदि को भी शामिल करने का सुझाव दिया।

कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए कृपा नन्द झा, अभियान निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने कहा कि सभी गर्भवती माताओं का एएनसी  समय पर होना चाहिए पहला एएनसी में देरी के कारण बाकी एएनसी  समय पर नही हो पाता है।

समय से एएनसी  होने पर हम प्रसव पूर्व भी खतरे को चिन्हित कर उसका इलाज कर सकते है। उन्होने बताया कि राज्य में लगभग 83 प्रतिशत संस्थागत प्रसव हो रहा है, बाकी घर या अन्य जगह पर होने वाले को प्रसव को चिन्हित कर इसे संस्थान पर करवाना होगा। उन्होंने कहा कि अस्पतालों मे सेवा प्रदाताओं का गुणवता व्यवहार बहुत ही महत्वपूर्ण होता है।

बुरा बर्ताव साफ सफाई की कमी शौचालय, दवा आदि की कमी तथा बुरे अनुभव के कारण भी लोग दुबारा अस्पताल में आने से कतराने लगते है।  इस कार्यशाला का उद्देश्य मातृ मृत्यु दर तथ शिशु मृत्यु दर को कम कर, प्रसव पूर्व से लेकर प्रसव उपरान्त तक जच्चा तथा बच्चा को गुणवता पूर्ण स्वास्थ्य सुविधा सम्मान के साथ उपलब्ध कराना था।

साथ ही लेबर रूम ओटी, आईसीयू के गुणवता में सुधार कर इसे राष्ट्रीय स्तरीय बनना था। डॉ सुमिता घोष, डॉ महताब सिंह, डॉ जगजीत सिंह, परामर्शी एनएचएसआरसी ने प्रतिभागियों को  लक्ष्य  के बारे में विस्तार पूर्वक प्रशिक्षण दिया।

इस अवसर पर डॉ सुमन्त मिश्रा, निदेशक प्रमुख, स्वास्थ्य, डॉ बीना सिन्हा, प्रभारी, शिशु कोषांग, डॉ एसके सिंह, उपनिदेशक, निदेशालय के निदेशक, अपर निदेशक, उपनिदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के परामर्शी,कॉर्डिनेटर, सभी जिलों के सिविल सर्जन, डीपीएम, हॉस्पिल मैनेजर आदि  उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Read Also

निरसा : जल्‍द शुरू होगा सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, पायनियर इंफ्रास्ट्रक्चर की टीम ने किया निरीक्षण

NewsCode Jharkhand | 22 May, 2018 8:24 PM

निरसा : जल्‍द शुरू होगा सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, पायनियर इंफ्रास्ट्रक्चर की टीम ने किया निरीक्षण

निरसा (धनबाद)। सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट (ठोस कचरा प्रबंधन) बनाने का कार्य जल्द ही चिरकुंडा नगर परिषद के वार्ड संख्या 21 में प्रारंभ किया जाएगा। इसको लेकर दिल्ली की पायनियर इंफ्रास्ट्रक्चर की टीम ने स्थल का निरीक्षण किया। टीम के अधिकारी अरुण कुमार सिंह के नेतृत्व में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट का सर्वे करने मंगलवार को  चिरकुंडा नगर परिषद पहुंचे।

टीम में नगर परिषद अध्यक्ष डब्लू बाउरी, उपाध्यक्ष जय प्रकाश सिंह, सिटी मैनेजर ललित लकड़ा के साथ बैठक किये। बैठक के बाद सर्वे करने आई टीम ने सुन्दरनगर का निरीक्षण भी किया। टीम में अरुण कुमार सिंह के अलावे विवेक कुमार सिंह, अभिषेक सिंह आदि उपस्थित थे।

निरसा : पेयजल समस्या को लेकर सड़क पर उतरी महिलाएं, नगर परिषद पर लगाया आरोप

टीम के अधिकारी ने कहा कि करीब 80 करोड़ की लागत से सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट का प्लांट बनेगा, साथ ही साथ 20 साल तक देखभाल की जिम्मेवारी भी कंपनी करेगी। उन्होने कहा कि जिस तरह बेंगलुरु में प्लांट बना उसी तरह से यहां भी बनेगा। सिर्फ इसके लिए गीला कचड़ा एवं सूखा कचड़ा अनिवार्य है।

नगर अध्यक्ष डब्लू बाउरी व उपाध्यक्ष जय प्रकाश सिंह ने कहा कि कचड़ा यहां काफी मिलेगा। यहां की जनता पूरा सहयोग करेगी। मौके पर सिटी मैनेजर ललित लकड़ा सहित कई लोग उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

धनबाद : प्रधानमंत्री को अपनी समस्‍याओं से अवगत कराएंगे पूर्व कर्मचारी

NewsCode Jharkhand | 22 May, 2018 7:58 PM

धनबाद : प्रधानमंत्री को अपनी समस्‍याओं से अवगत कराएंगे पूर्व कर्मचारी

धनबाद। बंद सिंदरी खाद कारखाना की जगह हर्ल द्वारा बनाये जाने वाले नये उर्वरक कारखाना का शिलान्यास आगामी 25 मई को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे। यह सिंदरी वासियों के लिए गर्व की बात है। उक्त बातें एफसीआई वीएसएस इम्प्लाइज वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष सह सिंदरी खाद कारखाना के वीएसएस कर्मी सेवा सिंह ने मंगलवार को प्रेस वार्ता में कही।

उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा हर्ल कारखाना के शिलान्यास से सिंदरी ही नहीं बल्कि झारखण्ड एवं पूरे देश को एक नई दिशा मिलेगी। सिंदरी खाद कारखाना से वीएसएस के तहत सेवानिवृत्त किये गये कर्मचारियों की समस्याओं से अवगत कराने एवं समाधान के लिए एसोसिएशन का प्रतिनिधिमंडल प्रधानमंत्री से मिलेंगे। इसके लिए हमने धनबाद सांसद पीएन सिंह के माध्यम से जिला प्रशासन से आग्रह किया है।

धनबाद : पीएम के कार्यक्रम में रहेगी चलंत शौचालय की व्‍यवस्‍था

सेवा सिंह ने कहा कि‍ हम मुख्य रूप से तीन विषयों की तरफ प्रधानमंत्री का ध्यान आकृष्ट कराना चाहते हैं। समय से पहले वीएसएस के तहत रिटायर्ड किये गये कर्मचारियों को जो आवास लीज पर दिया गया है, उसमें लीज की अवधि को लम्बे समय तक किया जाय। जो लीजधारक दिवंगत हो चुके हैं, उनकी विधवा/आश्रित के नाम लीज पर आवास आवंटित किया जाय। वीएसएस/पूर्व कर्मियों के लिए निःशुल्क चिकित्सा की व्यवस्था करायी जाय।

एफसीआई अस्पताल में कारखाना बन्दी के पहले यह सुविधा उपलब्ध थी। वर्ष 2013 में भाजपा द्वारा घोषित ईपीएस 95 के तहत मासिक पेंशन राशि कम से कम 3 हजार रुपये किया जाय। मौके पर आरसी प्रसाद, भरत प्रसाद आदि थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने