चंद्र ग्रहण के दिन पैदा होना अशुभ नहीं, फेसबुक के CEO मार्क जकरबर्ग हैं जीते-जागते सबूत

NewsCode | 31 January, 2018 8:03 PM

फेसबुक के CEO मार्क जकरबर्ग का जन्म 14 मई, 1984 को हुआ था। इस दिन चंद्र ग्रहण था।

newscode-image

नई दिल्ली। साल के पहले चंद्र ग्रहण को लेकर पूरी दुनिया में उत्सुकता बनी हुई है। हर जगह इसी के चर्चे हो रहे हैं। अपने देश में चंद्र ग्रहण को लेकर बहुत सारी धार्मिक मान्यताएँ हैं, जिसकी वजह से तरह-तरह की बातें होती रही हैं। अमूमन ग्रहण काल को अशुभ माना जाता है। इस दिन खाने-पीने से लेकर पूजा-पाठ करने और बच्चों के जन्म लेने को लेकर भी कई भ्रांतियां हैं।

लेकिन इतिहास में ऐसी कई मिसालें हैं जिन्होंने पुरानी रूढ़ियों और मान्यताओं को ध्वस्त करने का काम किया है। इसकी मिसाल फेसबुक के संस्थापक मार्क जकरबर्ग हैं। आपको बता दें कि जकरबर्ग का जन्म चंद्र ग्रहण के दिन ही हुआ था। हॉलीवुड ‘द सोशल नेटवर्क’ के नाम से मार्क जकरबर्ग की जिंदगी पर फिल्म भी बना चुका है।

लग चुका है चंद्र ग्रहण, ग्रहण के दौरान बरतें ये सावधानियां!

दरअसल, फेसबुक के CEO मार्क जकरबर्ग का जन्म 14 मई, 1984 को हुआ था। इस दिन चंद्र ग्रहण था। मार्क जकरबर्ग ने फेसबुक की शुरुआत 4 फरवरी, 2004 को हारवर्ड यूनिवर्सिटी के अपने डोरमिटरी रूम से की थी। इस काम में उनके कॉलेज के दोस्तों ने साथ दिया था। पहले फेसबुक की शुरुआत उन्होंने कैंपस में ही की थी, लेकिन 2012 में फेसबुक के एक अरब यूजर हो गए। जनवरी, 2018 में उनकी नेट वर्थ 7.66 अरब डॉलर बताई गई है। इस तरह वे दुनिया के पांचवें सबसे अमीर शख्स हैं। दिसंबर, 2016 में फोर्ब्स ने मार्क जकरबर्ग को दुनिया के 10 सबसे ताकतवर लोगों की सूची में शामिल किया था।

 

आज रात चांद पहले की अपेक्षा ज्यादा चमकीला दिखेगा और चांद के सुपर मून (Super Moon) और ब्लू मून (Blue Moon) रूप नजर आएंगे। यह 2018 का पहला ग्रहण होगा। इस खगोलीय घटना को सुपर ब्लू ब्लड मून (Super Blue Blood Moon) के नाम से पहचाना जाता है। बताया जा रहा है कि यह संयोग 150 साल बाद बन रहा है। ये शाम 5.58 मिनट पर शुरू होगा और 8.41 तक चलेगा। पूर्ण चंद्र ग्रहण 77 मिनट तक रहेगा।

Chandra Grahan Live: 150 साल बाद लगा है ऐसा चंद्र ग्रहण, देखें दुनियाभर में कैसा दिखा चांद

आज दिखेगा साल का पहला नीला चांद, देखने लायक होगा नजारा

14 साल के प्रियांशु का बड़ा कारनामा- एक पारी में ठोके 556 रन, जड़े 98 चौके

NewsCode | 1 November, 2018 4:32 AM
newscode-image

नई दिल्ली। 14 साल के एक किशोर ने जूनियर क्रिकेट में तहलका मचा दिया है। इस बल्लेबाज ने बिना आउट हुए 556 रन की मैराथन पारी खेल डाली। मंगलवार को डीके गायकवाड़ अंडर-14 क्रिकेट टूर्नामेंट में बड़ौदा के प्रियांशु मोलिया ने 556 रनों की तूफानी पारी खेली है। मोहिंदर लाला अमरनाथ क्रिकेट एकेडमी की ओर से खेलते हुए प्रियांशु ने अपनी पारी में 98 चौके जड़े। प्रियांशु की इस पारी से अमरनाथ एकेडमी ने योगी क्रिकेट एकेडमी को पारी और 690 रनों से रौंदा।

बैटिंग से पहले प्रियांशु ने गेंदबाजी में भी जलवा बिखेरते हुए चार विकेट चटकाए थे। उनके इस प्रदर्शन की बदौलत योगी अकादमी मैच के पहले दिन केवल 52 रन पर ही ढेर हो गई थी। इसके बाद मोहिंदर लाला अमरनाथ अकादमी ने प्रियांशु की बल्लेबाजी की बदौलत पूरे मैच पर ही अपना कब्जा कर लिया।

प्रियांशु ने अपनी नाबाद 556 रन की पारी के लिए 319 गेंद खेलीं। उन्होंने 98 चौके और 1 छक्का लगाया, जिसकी बदौलत उनकी टीम ने चार विकेट पर 826 का पहाड़ सरीखा स्कोर खड़ा किया। इसके बाद योगी एकेडमी की दूसरी पारी 84 रनों पर ढेर हुई। प्रियांशु ने अपनी ऑफ स्पिन के सहारे दूसरी पारी में भी विकेट चटकाए।

इस पारी से पहले तक प्रियांशु का सर्वश्रेष्ठ स्कोर 254 रन था, जो उन्होंने इसी टूर्नामेंट में पिछले साल बनाया था। पारी के बाद प्रियांशु ने कहा कि मैं अपने स्वाभाविक खेल खेल रहा था क्योंकि गेंदबाजी आक्रमण काफी अच्छा था। यह संतोषजनक पारी थी। हालांकि मैं चार-पांच मौकों पर बीट भी हुआ।

बता दें कि साल 1983 विश्व कप के फाइनल के मैन ऑफ द मैच रहे मोहिंदर अमरनाथ खुद प्रियांशु के लिए मेंटोर की भूमिका निभाते हैं। मोहिंदर का प्रियांशु की प्रतिभा में बहुत ही ज्यादा भरोसा है। मोहिंदर अमरनाथ ने खुद प्रियांशु की तारीफ करते हुए कहा, ‘ मैंने उसे पहली बार जब देखा, तो मुझे पता था कि मैं कुछ खास देख रहा हूं। वह प्रतिभावान है और समय के साथ मौके मिलते रहने से उसमें काफी निखार आएगा। मुझे उसका जुनून पसंद है।’

गौरतलब है कि हाल ही में वेस्टइंडीज के खिलाफ भारतीय टेस्ट टीम में जगह पाने वाले युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ 14 साल की उम्र में 546 रनों की पारी खेल कर सुर्खियों में आए थे और अब प्रियांशु ने अपने प्रदर्शन से सबको चौंकाया है।


पहले टेस्ट में ही पृथ्वी शॉ ने ठोका शानदार शतक, बना डाले ये रिकॉर्ड

रोहित शर्मा बने ‘सिक्सर किंग’, छक्कों से तोड़ दिया सचिन का रिकॉर्ड

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची: रेलवे अधिकारियों के साथ सीएम ने की बैठक में दिया निर्देश, योजनाओं को जल्द पूरा करें

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 3:46 PM
newscode-image

रांची।    झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राज्य में चल रही रेल परियोजनाओं और रेल ओवरब्रिज के कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के तर्ज पर राज्य सरकार और रेलवे के बीच एक कारपोरेशन का गठन किया जाए। इसके माध्यम से रेलवे से जुड़े कार्य किए जाएं। इससे कार्य में तेजी आएगी और प्रोजेक्ट समय पर पूरे हो सकेंगे।

मुख्यमंत्री ने चुटिया आरओबी, नामकुम कांड्रा आरओबी, केतारी बागान आरओबी, धनबाद स्थित गया पुल समेत सभी रेल ओवरब्रिज के कार्यों को यथाशीघ्र पूरा करने का निर्देश दिया। इसके साख-साथ रांची-नई दिल्ली राजधानी और एलटीटी सुपरफास्ट को प्रतिदिन करने, पूरी-नई दिल्ली पुरुषोत्तम एक्सप्रेस को जयपुर तक करने, रांची-लखनऊ-देहरादून के लिए ट्रेन समेत अन्य ट्रेनों के फेरे में वृद्धि करने का प्रस्ताव रेलवे बोर्ड में भेजने को कहा।

बैठक में नगर विकास मंत्री सी पी सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ सुनील कुमार वर्णवाल, पथ निर्माण सचिव श्री के के सोन, परिवहन सचिव श्री प्रवीण टोप्पो, साउथ ईस्टर्न रेलवे के महाप्रबंधक श्री पूर्णेन्दु मिश्रा, एडीआरएम रांची श्री विजय कुमार, सीनियर डीसीएम अविनाश, श्री नीरज कुमार समेत रेलवे अधिकारी उपस्थित थे।

धनबाद: खादान से काले हीरे की बढ़ी चोरी, इलाके में जवानों को किया गया तैनात

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 3:23 PM
newscode-image

धनबाद । अब तक तो आपने सुना होगा कि हीरे जेवरात की चोरी हो जाती है। लेकिन आपको यह सुनकर थोड़ा अटपटा लगेगा क्योकि धनबाद इलाके में खादान से अब कोयले की चोरी हो रही है।आपके सामने जो तस्वीर दिखाई पड़ रही है वह आपको चौका देगी। इस तस्वीन से आप यह तो समझ गए होंगे कि यह इलाका कोयला यानी कि काले हीरे का इलाका है। लेकिन जब आपको पता चलेगा कि रात में इस खादान में लोग कोयले की चोरी करने लगे हैं तब आप चौक जरुर जाएंगे। दरअसल अभी तक तो चोरी बड़ी गाड़ियों से की जाती रही है लेकिन अब चोर सीधे खादान से खुद ही चोरी करने लगे हैं।

चोरों का आतंक इस कदर हावी है की चोर अब चोरी करने बीसीसीएल के गहरे खदान में खुश कर चोरी की घटना अंजाम दे रहे हैं। ताजा  मामला धनबाद के भौरा ओपी क्षेत्र में पड़ने वाले बीसीसीएल की भौरा दक्षिण 37/38 खदान में चोरों के घुसाने की सुचना के बाद खदान के ऊपर सीआईएसफ और जिला पुलिस के जवान चोरो को पकड़ने के लिए पुरे खदान के चारो और पुलिस तैनात कर दिया है जिसके बाद लगभग 500 मीटर गहरे खदान के अंदर सर्च सीआईएसफ कर रही है वही कर्मियों का कहना है की आज सुबह जब ड्यूटी पर आकर खदान के अंदर पम्प चालू करने गए तो अन्दर से तीन चार टोर्च की रोशनी दिखाई दी जिसके बाद हमने इसकी सूचना अपने वरीय अधिकारी को दी।

 

 

 

More Story

more-story-image

रांची: भापुसे के 17 अधिकारियों का तबादला,कई जिलों के एसपी...

more-story-image

रांची: अन्तराष्ट्रीय व्यापार मेले में भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा...

X

अपना जिला चुने