चक्रधरपुर : उर्दू टाउन उच्च विद्यालय को मिलेगा +2 का दर्जा, आयोग की टीम ने दौरा कर लगायी मुहर

NewsCode Jharkhand | 6 November, 2017 7:39 PM
newscode-image

चक्रधरपुर। उर्दू टाउन उच्च विद्यालय के लिए एक खुशखबरी है। खुशखबरी की बात यह है कि झारखंड अल्पसंख्यक आयोग की टीम ने स्कूल का दौरा कर विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की गई। इस दौरान अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष अशोक षाड़ंगी  व गुरुदेव सिंह राजा ने उर्दू टाउन उच्च विद्यालय के प्रबंधक शिक्षा एवं स्वच्छता अभियान पर काफी खुश नजर आए।

मौके पर अनुमण्डल पदाधिकारी प्रदीप प्रसाद व जिला जन-सम्पर्क पदाधिकारी पोलटू महतो भी मौजूद रहे। मौके पर मौजूद जिला शिक्षा पदाधिकारी ने भी उर्दू टाउन हाई स्कूल की काफी तारीफ की।

इस दौरान बच्चों की संख्या तथा शिक्षकों की संख्या समेत संसाधनों की जानकारी ली गई। भवन निर्माण के लिए भवन की कमी तत्काल दूर करने की घोषणा भी की गई। इस अवसर पर अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष अशोक षाड़ंगी जी ने तत्काल जिला शिक्षा पदाधिकारी के पास प्लस टू के लिए प्रस्ताव भेजने का निर्देश दिया, ताकि यह प्रस्ताव जल्द आयोग के पास आए और इस दिशा में सकारात्मक कार्रवाई किया जा सके। इस दौरान प्रभारी प्रधानाध्यापक हसनैन  ने विस्तार पूर्वक स्कूल के बारे में जानकारी दी। मौके पर  प्रबंधन समिति के अनवर  खान के अलावे काफी संख्‍या में सदस्य मौजूद थे।

दुमका : ड्रग्स मामले में सीडब्ल्यूसी ने संत जोसफ स्कूल प्राचार्य को किया तलब, बयान दर्ज

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 6:16 PM
newscode-image

दुमका। बीते दिनों संत जोसेफ स्कूल में सीनियर बच्चों द्वारा जूनियर छात्रों को चोरी एवं नशे के लत धराने के मामले के उजागर होने के बाद स्कूल प्रबंधन लगातार जांच प्रक्रिया से गुजर रही है। जांच के क्रम में सीडब्लूसी के नोटिस पर शुक्रवार को स्कूल प्रबंधन की ओर से प्राचार्य फादर पियूस मरांडी से कार्यालय में पूछताछ कर बयान दर्ज किया।

प्राचार्य फादर पियूस मरांडी ने बताया कि छात्रों के गलत गतिविधियों की जानकारी नहीं थी। मामले का उजागर होते ही अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए दोषी छात्रों को विद्यालय से निष्कासित कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि अनुशासन कमेटी द्वारा भी छात्रों के गतिविधियों से अवगत नहीं करवाया गया था। जिसके कारण छात्रों के गलत गतिविधियों से अनभिज्ञ थे।

दुमका : संत जोसेफ स्कूल प्रबंधन के खिलाफ उच्च स्तरीय जांच हो-विमल मरांडी

फादर मरांडी ने बताया कि स्कूल में अनुशासन बनाये रखने के लिए कई ठोस कदम उठाये है। विद्यालय में प्रतिदिन छात्रों के बैंग का जांच, अनुपस्थित होने वाले छात्रों के अभिभावकों को जानकारी देना।

सीडब्लूसी के समक्ष छात्रों के भविष्य को प्रभावित करने वाले सभी गलत गतिविधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आश्वान दिया। जांच कमेटी में सीडब्लूसी अध्यक्ष अधिवक्ता मनोज साह, सदस्य सुमिता सिंह, रमेश कुमार, रंजन सिन्हा एवं  धर्मेन्द्र नारायण उपस्थित थे।

दुमका : किराना स्टोर में पुलिस ने किया छापेमारी, डुप्लिकेट गुलाब जल बरामद

जानकारी के अनुसार 14 सितंबर को अभिभावकों द्वारा स्कूल प्रबंधन के खिलाफ नगर थाना में लिखित शिकायत करते हुए कार्रवाई की मांग किया था। मामले में अभिभावकों समूह स्कूल प्रबंधन से मिलकर 12 सितंबर को सीनियर छात्रों के करतूतों से अवगत करवाया था।

दो दिन बीत जाने के बाद भी स्कूल प्रबंधन द्वारा दोषी छात्रों के विरुद्ध कार्रवाई नहीं होता देख थाना में लिखित शिकायत किया था। इसके बात मामला प्रकाश में आते ही पुलिस प्रशासन सहित जिला प्रशासन हरकत में आयी थी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जमशेदपुर : सफाई की बाट जोह रही कचरे से भरी स्वर्णरेखा नदी

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:28 PM
newscode-image

जमशेदपुर। जमशेदपुर शहर की जीवनरेखा स्वर्णरेखा नदी इन दिनों सफाई की बाट जोह रही है। नदी में चारों तरफ कचरे भरे पड़े हैं। लेकिन इसकी सफाई पर कोई ध्यान नहीं दे रहा।

वैसे पूूरे देश भर में स्‍वच्छता  पखवाड़ा चलाया जा रहा है, लेकिन इस जीवनरेखा  नदी के सफाई पर किसी का ध्यान नहीं जा रहा है।

चांडिल : डाकघर कर्मचारियों ने चलाया स्वच्छता अभियान

वैसे स्वर्णरेखा नदी जमशेदपुर के लिए लाइफ लाइन इसलिए है, क्योंकि पूरे शहर के लिए पानी का एक मात्र साधन यही नदी है, इतना ही नहीं टाटा कंपनी में भी पानी इसी नदी से पहुंचता है।

विसर्जन के बाद मूर्तियों के पड़े अवशेष

इस नदी का हाल इन दिनों खस्ता है। नदी की पानी फिलवक्त नदी का पानी इन दिनों न पीने लायक है और न ही नहाने लायक। पिछले दिनों हुए गणपति विसर्जन के बाद मूर्तियों के अवशेष पड़े हैं और इसकी सफाई की कोई व्यवस्था अब तक नहीं की गई है।

आलम ये हैं की पूरी नदी कचड़े से भर सा गया है। वैसे इन दिनों देश भर में स्वच्छता पखवाड़ा चलाकर साफ सफाई की जा रही है, लेकिन इस प्राणदायिनी नदी पर किसी का ध्यान नहीं जा रहा है।

नदी में आने वाले लोगों के अनुसार नदी का पानी इतना दूषित हो चुुका है कि ये न ही पीने लायक है और न ही नहाने लायक। अब सोचने वाली बात ये है कि जब नदी ही दूषित है, तो फिर स्वच्छता अभियान किस काम का।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

सिमडेगा : मुहर्रम का पर्व शांतिपूर्वक संपन्‍न, अखाड़ों ने दिखाए करतब

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:27 PM
newscode-image

सिमडेगा। मुहर्रम का पर्व शांतिपूर्वक संपन्‍न हो गया। सभी अखाड़ों ने भट्ठी टोली स्थित हारून रसीद चौक से सामूहिक रूप से मुहर्रम का जुलूस निकाला। लोग गाजे-बाजे के साथ इस्‍लामपुर स्थित हारून रसीद चौक पहुंचे। जुलूस के दौरान कई स्थानों पर शस्त्र-चालन का प्रदर्शन किया गया तथा कई करतब भी दिखाये। मुहर्रम के जुलूस से पूर्व गुलजार गली के सामने मुहर्रम समिति चर्च रोड के तत्वावधान में पगड़ी समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उपायुक्त जटाशंकर चौधरी एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में एसपी संजीव कुमार सहित कई अधिकारी और गणमान्‍य लोग मौजूद थे।

सिमडेगा : मुहर्रम का पर्व शांतिपूर्वक संपन्‍न, अखाड़ों ने दिखाए करतब

गुमला से आये ताशा ग्रुप में शामिल मो. सद्दाम ने एक से बढ़ कर एक देश भक्ति गीतों से समां बांध दिया। उन्होंने कई देश भक्ति गीत के अलावा धार्मिक गीत भी प्रस्तुत किये। साथ ही ताशा पार्टी में शामिल कलाकारों ने ढोल-ताशे की धुन से लोगों को मंत्रमुग्‍ध कर दिया।

कोलेबिरा : सड़क निर्माण कंपनी के कैंप से 33 ड्राम अलकतरे की चोरी

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

गिरिडीह : बिजली विभाग की लापरवाही से लाखों के बिजली...

more-story-image

चास : पिंड्राजोरा के डाबर गांव में धूमधाम से मनाया...