चक्रधरपुर : डिपुटेशन डॉक्टर के भरोसे चल रहा है बंदगांव का कराईकेला पीएचसी

NewsCode Jharkhand | 1 November, 2017 9:29 PM
newscode-image

चक्रधरपुर। चक्रधरपुर अनुमंडल के बनगांव प्रखंड के कराईकेला PSC पूरी तरह खस्ताहाल नजर आ रही है। वर्तमान बनगांव प्रखंड के छह पंचायत के लोगों का इलाज एकमात्र डिप्रेशन डॉक्टर के भरोसे चल रहा है। वह भी सप्ताह में दो ही दिन आते हैं क्योंकि उनका पोस्टिंग बंगाल अस्पताल में है। डॉक्टर की कमी के कारण उनका डेपुटेशन कराईकेला पीएससी में किया गया है।
जानकारी के अनुसार बनगांव घाटी के नीचे छह पंचायत हैं। 6 पंचायत के लोगों को सरकारी चिकित्सा सुविधा कराई केला पेशी से ही प्राप्त होती है, पर दुर्भाग्य की बात है कि कराई केला पीएचसी में 2-2 डॉक्टर के पद  रिक्त पड़े है।

कराईकेला पीएससी में डॉक्टर धारा महेश्वर माली की अतिरिक्त प्रभार मिली है उनकी पोस्टिंग बंद गांव में है सप्ताह में 2 दिन आकर वह लोगों की सेवा करते हैं दवा आदि की भी व्यवस्था तो है पर कुछ दवाइयों की कमी भी है स्वास्थ्य कर्मचारियों की संख्या लगभग ठीक ठाक बताया जा रहा है परंतु भवन अधूरा पड़ा हुआ है पुराने हेल्थ सेंटर का भवन पूरी तरह जर्जर हो जाने के कारण निर्माणाधीन भवन में कामकाज चलाया जा रहा है।

बंद गांव प्रखंड के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी कृष्णा मंगल बोदरा  कहते हैं कि वर्तमान चिकित्सकों की जो कमी है उसको लेकर विभाग को  पत्र दिए हैं कराई केला पीएससी में दोनों पद रिक्त पड़ा है किसी डॉक्टर के बीच में पोस्टिंग भी हुई थी परंतु वह भी वापस चले गए जिनके कारण हुए पर भारी होने के नाते लोगों का इलाज हो इसके लिए डॉक्टर माली को डिप्रेशन में कराईकल पीएसची दिए हैं ताकि लोगों की किसी तरह का परेशानी नहीं हो।

रांची : ‘Aqueduct Automation Pvt Ltd’ के साथ झारखंड में बिजनेस का सुनहरा मौका

NewsCode Jharkhand | 23 June, 2018 1:21 PM
newscode-image

बनें डीलर/डिस्ट्रीब्यूटर

रांची। आपके स्वास्थ्य का पानी से सीधा रिश्ता है। पीने के पानी की स्वच्छता के मामले में यदि कोई असावधानी होती है तो कई तरह के रोग शरीर को घेरने में देर नहीं लगाते। ज्यादातर चिकित्सकों का भी यही कहना है कि आज के भागदौड़ भरे जीवन में यदि नियमित स्वच्छ पानी ही पिया जाए, तो कई तरह की बीमारियों से बचा जा सकता है। झारखंड के कई हिस्सों में पीने के पानी की समस्या।

स्वस्थ झारखंड के निर्माण में बनें सहायक

RO बनाने वाली कंपनी ‘Aqueduct Automation Pvt. Ltd.’ पूरे झारखंड में बिजनेस का एक सुनहरा अवसर दे रहा है। आप इसके डीलर/डिस्ट्रीब्यूटर बनकर ‘Aqueduct Automation Pvt. Ltd.’ कंपनी से जुड़ने के बाद स्वस्थ झारखंड के निर्माण में सहायक बन सकते हैं। तो आज ही ये स्वस्थ फैसला लें और लोगों को शुद्ध पानी प्रदान करें।

रांची : खूंटी सामूहिक दुष्कर्म मामला, एक पादरी समेत 12 हिरासत में

क्या करता है RO ?

RO का मतलब होता है Reverse Osmosis. यह पानी को साफ एवं शुद्ध करने का सबसे लेटेस्ट तरीका है जिसमें पानी में मौजूद ठोस पदार्थों को डिजोल्व करता है। यही नहीं RO पानी में व्याप्त TDS को भी हटाता है। इस प्रकिया से सामान्य पानी को RO Membrean से दबाव के साथ पारित किया जाता है जिससे RO खारे पानी को शोध कर आप तक साफ एवं शुद्ध पानी पहुंचाता है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

धनबाद : झरिया के अस्तित्‍व को बचाने के लिए फिर होगा आंदोलन

NewsCode Jharkhand | 24 June, 2018 7:48 PM
newscode-image

झरिया को उजाडने की सरकारी मंसूबे को जनता कामयाब नहीं होने देगी

धनबाद (झरिया)। झरिया के अस्तित्व को बचाने के लिए एक बार फिर आंदोलन होगा। इसबार आंदोलन की मुख्‍य भूमिका में पूर्व मंत्री समरेश सिंह रहेंगे। आंदोलन की रुपरेखा तैयार करने के बावत आज झरिया प्रेस क्लब में समरेश सिंह की अगुवाई में बैठक हुई जिसमें पूर्व में हो चुके झरिया आंदोलन से जुड़े कई लोगों ने भाग लिया।

बैठक में निर्णय लिया गया कि झरिया को बचाने के लिए यह आखिरी आंदोलन होगा। इस आंदोलन में झरिया की जनता पूरी ईमानदारी से लड़ेगी।

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि बंद आर एस पी कॉलेज को उसी जगह चालू किया जाएगा जहां वह है। इसके लिए कोर्ट जाना पड़े या कहीं और लेकिन बंद कॉलेज को खुलवाया जाएगा। बैठक में भाग ले रह लोगों ने एकसुर से कहा कि केंद्र व राज्य सरकार झरिया के अस्तित्व को खत्म करना चाहती है जिसे यहां की जनता सफल नहीं होने देगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

गिरीडीह : सुरीली आवाज से जिले के साथ गांव का नाम रौशन करना चाहती है नाजिया

NewsCode Jharkhand | 24 June, 2018 7:36 PM
newscode-image

उदित नारायण के साथ मंच साझा कर चुकी है

गिरीडीह। अपनी सुरीली आवाज से संगीत की दुनिया में धूम मचानेवाली नाजिया परवीन अपने गृह जिले गिरीडीह व गांव का नाम रौशन कर रही है। वह इस जिले के पिहरा गांव की रहनेवाली है। मशहूर बॉलीवुड गायक उदित नारायण के साथ वह मंच साझा कर चुकी है।

हाल ही में उनकी मेरी आवाज ही मेरी पहचान है एलबम रिलीज हुई है। एलबम में वह पर्दे पर गाती नजर आती है। आवाज में तो वाकई जादू है। ईद के मौके पर अपने घर पहुंची नाजिया ने बताया कि झारखंड की नक्सली घटना पर चिलखारी एक दर्द नामक सिनेमा बन रही है जिसमें उन्‍हें उदित नारायण के साथ गाने का मौका मिला।

गिरीडीह : युवती को लेकर युवक फरार, परिजनों ने थाने में लगाई गुहार

नाजिया इससे पहले तू लौट के आजा एलबम में एक गीत को आवाज दे चुकी है। नाजिया के पिता मोहम्‍मद मोइनुद्दीन पेशे से एक किसान हैं व मां जैनब खातून आंगनबाड़ी सेविका है।

 गिरीडीह : सुरीली आवाज से जिले के साथ गांव का नाम रौशन करना चाहती है नाजिया

मैट्रिक तक की पढ़ाई कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय गावां से पूरी करने के बाद नाजिया रांची में रहकर एमए करने के साथ-साथ संगीत भी सीख रही है। कस्‍तूरबा विद्यालय में पढ़ने के दौरान नाजिया स्‍कूल में आयोजित गीत-संगीत व नृत्‍य प्रतियोगिता में भाग लेती थी और दर्शकों का वाहवाही बटोरती थी।

नाजिया का सपना अपनी आवाज के जरिये पिछडे जिले में शुमार गिरीडीह तथा अपने गांव पिहरा गावां को पहचान दिलाना है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

रांची : नाबालिग लड़की से दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार

more-story-image

रांची : मशहूर अभिनेत्री पूजा भट्ट पिता महेश भट्ट संग...