चाईबासा : छऊ नृत्य सिंहभूम की पहचान, कलाकारों ने की कलाकेंद्र खोलने की मांग

NewsCode Jharkhand | 23 February, 2018 3:05 PM

चाईबासा : छऊ नृत्य सिंहभूम की पहचान, कलाकारों ने की कलाकेंद्र खोलने की मांग

चाईबासा(पश्चिम सिंहभूम)। यूं तो सरायकेला को कला नगरी के रूप में जाना जाता है। यहां छऊ नृत्य की स्थापना 1610 में  विक्रम सिंह  के द्वारा की गई थी। जो निरंतर  विकास के पथ पर अग्रसर है। लेकिन अगर हम सिंहभूम (कोल्हान) की बात करें तो सिंहभूम (कोल्हान) एक ऐतिहासिक ही नहीं अपितु खनिज संपदा एवं संस्कृति के अलावे विशेषकर छऊ स्थली के रूप में कहना अतिशयोक्ति नहीं होगी। सरायकेला क्षेत्र के अलावे पश्चिम सिंहभूम में भी छऊ नृत्य हर्षोल्लास के साथ किया जाता है।

क्या है इतिहास

1205 से बने सिहंभूम की एक अलग सामाजिक सांस्कृतिक एवं प्राचीन परंपरा रही है। इस क्षेत्र के लोग 12 माह में 13 पर्व को हर्षोल्लास के साथ अपने जड़ चेतना एवं प्रकृति से सराबोर होकर अपनी आस्था (पूजा) करते हैं।

इस जिले में तीन जनजातियां नाग, खेरिया, होड़ (संथाली) निवास करते हैं। अगर हम पश्चिम सिंहभूम की बात करें तो यहां हाटगम्हरिया, मंझारी, तांतनगर पूरे क्षेत्र में जब राज्य का गठन नहीं हुआ था तब से ही उड़िया भाषा बोली जाती है। इसका उदाहरण चाईबासा और जगन्नाथपुर में उड़िया स्कूल का होना है।

इस क्षेत्र में प्रकृति एवं शिव की पूजा विशेषकर बसंत ऋतु के आगमन पर धार्मिक अनुष्ठान कर फाल्‍गुन से लेकर जेठ माह तक 4 माह में आराधना करते हुए  नृत्य के माध्यम से अपनी आस्था को आज भी प्रकट करते हैं। छऊ कला पूरे सिंहभूम क्षेत्र का एक अनमोल सांस्कृतिक क्षेत्र रहा है। मंझारी तातंनगर क्षेत्र में आज भी छऊ कलाकार मौजूद है। जो अपनी रीति रिवाज के साथ पर्व त्योहारों में छऊ नृत्य करते आ रहे हैं।

क्या कहते हैं जो गुरु तपन पटनायक

छऊ कला केंद्र सरायकेला के निर्देशक गुरु तपन पटनायक का कहना है पश्चिम सिंहभूम में छऊ कलाकार बहुत है। परंतु हमारी संस्कृति एवं सामाजिक समरसता को बढ़ावा नहीं मिल रहा है। अगर पश्चिम सिंहभूम में भी  छऊ कला केंद्र की शाखा खोली जाए तो यहां के छऊ कलाकारों को प्रोत्साहन मिलेगा। साथ ही साथ जिस तर्ज पर सरायकेला छऊ विकसित हुआ है उसी तर्ज पर पश्चिम सिंहभूम का छऊ नृत्य भी विकसित होगा।

इसके लिए पश्चिम सिंहभूम जिले के संस्थाओं को आगे आना होगा ताकि हम सब मिलकर सरकार से यह मांग कर पाए कि पश्चिम सिंहभूम में भी छऊ कला केंद्र की शाखा खोली जाए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोहरदगा : अब नहीं हो सकती है राजस्‍व की चोरी – उपायुक्‍त

NewsCode Jharkhand | 26 May, 2018 6:17 PM

लोहरदगा : अब नहीं हो सकती है राजस्‍व की चोरी – उपायुक्‍त

लोहरदगा। अब कोई भी राजस्व की चोरी नहीं कर पाएगा। इसे लेकर खनन टास्क फोर्स ने कमर कस ली है। लोहरदगा में उपायुक्त विनोद कुमार ने अवैध खनन को लेकर कड़े तेवर अख्तियार करते हुए खनन टास्क फोर्स के अधिकारियों का स्पष्ट निर्देश दिया है कि कहीं पर भी अवैध खनन की जानकारी मिलती है तो तुरंत छापेमारी कर दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करें।

किसी भी हाल में राजस्व का नुकसान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। डीसी ने स्पष्ट तौर पर कहा कि लीज एरिया से ज्यादा क्षेत्र में किसी भी प्रकार का खनन करना अवैध है। इस मामले में यदि किसी सरकारी पदाधिकारी या कर्मचारी की संलिप्तता भी पाई जाती है तो उसके खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

रांची : राजकीयकृत मध्य विद्यालय के समर कैंप में बच्चों ने की जमकर मस्ती

बालू के अवैध उठाव को लेकर भी डीसी ने सख्ती दिखाया, उन्होंने कहा कि जब तक बालू का लिज निर्धारण नहीं होता है तब तक अवैध रूप से बालू का उठाव नहीं होना चाहिए। साथ ही शिकायतें मिल रही है कि बॉक्साइट माइंस में जंगली औऱ वन क्षेत्र से बॉक्साइट का खनन किया जा रहा है।

इन मामलों पर संज्ञान लेते हुए तत्काल जांच कर कार्रवाई करें। पत्थर के अवैध खनन को लेकर भी डीसी ने स्पष्ट निर्देश दिए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Read Also

बेंगाबाद : ससुराल में युवक की संदेहास्पद मौत, परिजनों ने जतायी हत्या की आशंका

NewsCode Jharkhand | 26 May, 2018 5:17 PM

बेंगाबाद : ससुराल में युवक की संदेहास्पद मौत, परिजनों ने जतायी हत्या की आशंका

बेंगाबाद (गिरिडीह)। बेंगाबाद थाना क्षेत्र के जेरुआडीह पंचायत स्थित विष्णुडीह में एक युवक की संदेहास्पद मौत ससुराल में हो गई। यहां 35 वर्षीय राजू यादव का शव एक पेड़ पर फंदे से झूलता हुआ पाया गया।

बताया गया कि राजू शुक्रवार को अपने ससुराल विष्णुडीह आया था। घटना की सूचना मिलते ही बेंगाबाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पेड़ से उतार कर कब्‍जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। घटना को लेकर मृतक के परिजन हत्या की आशंका जता रहे हैं। परिजनों का कहना है कि ससुराल वालों के द्वारा राजू की हत्या कर शव को फंदे से लटका दिया गया है।

इधर घटना को लेकर राजू के ससुराल वालों का कहना है कि रात के समय शराब पीकर राजू अपनी पत्नी से झगड़ा किया था। परिवार के सभी सदस्यों के सो जाने के बाद उसने गुस्से में आकर फांसी लगा लिया। बताया जाता है कि राजू यादव मधुपुर थाना क्षेत्र के बुढ़ई स्थित बाराटांड़ निवासी लेखो यादव का पुत्र था।

उसकी शादी लगभग 10-11 वर्ष पूर्व बेंगाबाद थाना क्षेत्र के विष्णुडीह निवासी चेतलाल यादव की पुत्री अनिता देवी से हुई थी। शादी के कुछ वर्षों के बाद से ही पति-पत्नी में आपसी संबंध में दरार आ गया था। कई बार दोनों परिवार के बीच विवाद भी हुआ था। राजू की पत्नी अपने ससुराल से मायके में आकर ही रह रही थी।

बेंगाबाद : फंदे से झूलता मिला विवाहिता का शव, ससुरालवालों पर हत्‍या की आशंका

इसी क्रम में शुक्रवार को राजू अपने ससुराल पहुंचा, जहाँ रात को दोनों के बीच फिर विवाद होने लगा, जिसके बाद यह घटना घटी। जबकि मृतक के पिता लेखो यादव का कहना है कि उनके पुत्र की हत्या कर साक्ष्य छुपाने के लिए शव को लटका दिया गया है। हालांकि अभी मृतक के परिजनों के तरफ से इस संबंध में लिखित आवेदन थाने को नहीं दी गयी है।

पूरे मामले पर थाना प्रभारी पृथ्वीसेन दास ने कहा कि मामले की जांच पड़ताल की जाएगी। परिजनों के आवेदन के आधार पर उचित कार्रवाई की जाएगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

देवघर : बम बनाने के दौरान हुआ ब्लास्ट, धमाके से सहमे ग्रामीण

NewsCode Jharkhand | 26 May, 2018 4:48 PM

देवघर : बम बनाने के दौरान हुआ ब्लास्ट, धमाके से सहमे ग्रामीण

कांटी फैक्ट्री के पास हुई घटना, असामाजिक तत्वों पर पुलिस को शक

देवघर। देवघर के रिखिया थाना क्षेत्र के बंधा मुहल्ले के कांटी फैक्ट्री के पास बम धमाका हुआ। अचानक हुए बम धमाके से लोग सहम गये। इस घटना की जांच में रिखिया पुलिस जुट गयी है। जानकारी मिल रही है कि असामाजिक तत्वों द्वारा बम बनाने के दरमियान बम फटा था। देर रात धमाका सुनी गई थी।

जानकारी के मुताबिक प्रत्यक्षदर्शी महिला बताती हैं कि देर रात बंधा मुहल्ले के सुनसान इलाके में जमीन की खरीद बिक्री चल रही है। सभी खरीददार अपने-अपने जमीनों की घेरा बंदी कर छोड़ दिया है। वहीं शुक्रवार देर रात अचानक धमाका हुआ। धमाके के बाद कुछ महिला अपने जमीन के पास गया तो देखा कि तीन चार लोग भाग रहे हैं।

दो जिंदा बम मिला

महिलाओं ने देखा कि वहां दो जिंदा बम रखा हुआ है और एक प्लास्टिक में कुछ सामान है। जिससे ये अंदाजा लगाया जा रहा है कि यहां कुछ असामाजिक तत्व के लोग बम बनाने में जुटे हुए थे और किसी कारण वश बम फट गया। जिससे मौके से सभी लोग भाग गए।

जमशेदपुर : फिर दिखी हैवानियत! पांच साल की मासूम की दुष्कर्म के बाद हत्या

स्‍थानीय लोगों ने अहले सुबह रिखिया थाना को सूचित किया गया। रिखिया थाना प्रभारी दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुंच कर मामले की छानबीन में जुट गए है। वहीं जिंदा बम को डिफ्यूज करने के लिए एक गढ्ढे में पानी भर के बम को डिफ्यूज कर दिए।

इस मामले को लेकर रिखिया थाना के पुलिस कुछ भी बताने से इंकार किया। कुल मिलाकर कुछ असामाजिक तत्व के लोग किसी बड़ी घटना को अंजाम देने के फिराक में थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

X

अपना जिला चुने