चाईबासा : छऊ नृत्य सिंहभूम की पहचान, कलाकारों ने की कलाकेंद्र खोलने की मांग

NewsCode Jharkhand | 23 February, 2018 3:05 PM
newscode-image

चाईबासा(पश्चिम सिंहभूम)। यूं तो सरायकेला को कला नगरी के रूप में जाना जाता है। यहां छऊ नृत्य की स्थापना 1610 में  विक्रम सिंह  के द्वारा की गई थी। जो निरंतर  विकास के पथ पर अग्रसर है। लेकिन अगर हम सिंहभूम (कोल्हान) की बात करें तो सिंहभूम (कोल्हान) एक ऐतिहासिक ही नहीं अपितु खनिज संपदा एवं संस्कृति के अलावे विशेषकर छऊ स्थली के रूप में कहना अतिशयोक्ति नहीं होगी। सरायकेला क्षेत्र के अलावे पश्चिम सिंहभूम में भी छऊ नृत्य हर्षोल्लास के साथ किया जाता है।

क्या है इतिहास

1205 से बने सिहंभूम की एक अलग सामाजिक सांस्कृतिक एवं प्राचीन परंपरा रही है। इस क्षेत्र के लोग 12 माह में 13 पर्व को हर्षोल्लास के साथ अपने जड़ चेतना एवं प्रकृति से सराबोर होकर अपनी आस्था (पूजा) करते हैं।

इस जिले में तीन जनजातियां नाग, खेरिया, होड़ (संथाली) निवास करते हैं। अगर हम पश्चिम सिंहभूम की बात करें तो यहां हाटगम्हरिया, मंझारी, तांतनगर पूरे क्षेत्र में जब राज्य का गठन नहीं हुआ था तब से ही उड़िया भाषा बोली जाती है। इसका उदाहरण चाईबासा और जगन्नाथपुर में उड़िया स्कूल का होना है।

इस क्षेत्र में प्रकृति एवं शिव की पूजा विशेषकर बसंत ऋतु के आगमन पर धार्मिक अनुष्ठान कर फाल्‍गुन से लेकर जेठ माह तक 4 माह में आराधना करते हुए  नृत्य के माध्यम से अपनी आस्था को आज भी प्रकट करते हैं। छऊ कला पूरे सिंहभूम क्षेत्र का एक अनमोल सांस्कृतिक क्षेत्र रहा है। मंझारी तातंनगर क्षेत्र में आज भी छऊ कलाकार मौजूद है। जो अपनी रीति रिवाज के साथ पर्व त्योहारों में छऊ नृत्य करते आ रहे हैं।

क्या कहते हैं जो गुरु तपन पटनायक

छऊ कला केंद्र सरायकेला के निर्देशक गुरु तपन पटनायक का कहना है पश्चिम सिंहभूम में छऊ कलाकार बहुत है। परंतु हमारी संस्कृति एवं सामाजिक समरसता को बढ़ावा नहीं मिल रहा है। अगर पश्चिम सिंहभूम में भी  छऊ कला केंद्र की शाखा खोली जाए तो यहां के छऊ कलाकारों को प्रोत्साहन मिलेगा। साथ ही साथ जिस तर्ज पर सरायकेला छऊ विकसित हुआ है उसी तर्ज पर पश्चिम सिंहभूम का छऊ नृत्य भी विकसित होगा।

इसके लिए पश्चिम सिंहभूम जिले के संस्थाओं को आगे आना होगा ताकि हम सब मिलकर सरकार से यह मांग कर पाए कि पश्चिम सिंहभूम में भी छऊ कला केंद्र की शाखा खोली जाए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

दुमका : सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने से आएं बाज, वरना पुलिस करेगी कार्रवाई

NewsCode Jharkhand | 19 August, 2018 9:58 PM
newscode-image

दुमका। नगर थाना परिसर में आयोजित शांति समिति की बैठक की अध्यक्षता बीडीओ संजय कुमार दास ने की। इस अवसर एसडीपीओ पूज्य प्रकाश भी उपस्थित रहे। सभा को संबोधित करते हुए एसडीपीओ पूज्य प्रकाश ने बकरीद पर्व शांतिपूर्ण ढंग से मनाने को लेकर सभी से सहयोग का अपील किया। उन्होंने लोगों से खासतौर पर सोशल मीडिया पर अफवाह नहीं फैलाने का आग्रह किया। अफवाह फैलाने के स्थिति में व्हाटस एप ग्रुप एडमिन सहित मैसेज डालने वाले के विरूद्ध न्यायसंगत कार्रवाई की हिदायत भी उन्‍होंने दी।

दुमका : अज्ञात वाहन की चपेट में आकर दो सगेे भाई गंभीर रूप से घायल

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

रांची : सोमवारी के मौके पर मुख्यमंत्री कांवरियों से करेंगे सीधा संवाद

NewsCode Jharkhand | 19 August, 2018 9:50 PM
newscode-image

रांचीश्रावणी मेला के चौथी एवं आखिरी सोमवारी को मुख्यमंत्री  रघुवर दास रांची से देवघर लाईव संवाद श्रद्धालुओं से करेंगे। कार्यक्रम के लिए देवघर के उपायुक्त  राहुल कुमार सिन्हा द्वारा रविअर को मेला क्षेत्र का भ्रमण कर कार्यक्रम से संबंधित तैयारियों का जायजा लिया गया।

रांची : भाजपा बड़े-बड़े कॉरपोरेट घरानों के लिए करती है राजनीति- बाबूलाल मरांडी

इस दौरान उनके द्वारा बताया गया कि कल श्रावणी मेला के चौथी एवं अंतिम सोमवारी को मुख्यमंत्री रघुवर दास कांवरियों से सीधा संवाद कार्यक्रम हेतु कार्यक्रम स्थल के रूप में कोठिया टेन्ट सिटी को चिन्ह्ति किया गया है एवं माननीय मुख्यमंत्री जी के द्वारा यहां आगन्तुक कांवरियों से सीधा संवाद कल कोठिया टेन्ट सिटी से किया जायेगा।

इसके पूर्व में पहली सोमवारी को बाघमारा टेन्ट सिटी, दूसरी सोमवारी को शिवलोक परिसर एवं तृतीय सोमवारी को कांवरिया पथ (सरासनी) से मुख्यमंत्री के कांवरियों से सीधा संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। कल होने वाले इस कार्यक्रम हेतु ओबी वैन के अलावा लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

कटकमसांडी : शांति समिति की बैठक आयोजित, सौहार्द्रपूर्ण वातावरण में मनेगी बकरीद

NewsCode Jharkhand | 19 August, 2018 9:44 PM
newscode-image

कटकमसांडी(हजारीबाग)। पेलावल ओ.पी. परिसर में बकरीद पर्व को लेकर शांति समिति की बैठक हुई। बैठक की अध्‍यक्षता में भूमि सुधार उपसमाहर्ता मो. शब्बीर अहमद ने की। बैठक में प्रखंड विकास पदाधिकारी अखिलेश कुमार, पुलिस उपाधीक्षक ग्रामीण  दिनेश गुप्ता उपस्थित थे। बैठक का संचालन थाना प्रभारी समीर तिर्की ने की। बैठक में दोनों समुदाय के लोग उपस्थित हुए और  हर साल की भांति इस वर्ष भी बकरीद का त्योहार शांति और सौहार्दपूर्ण वातावरण में मनाने का निर्णय लिया गया। भूमि उपसमाहर्ता ने कहा कि पर्व के दौरान किसी तरह का अफवाह फैलाने वाले लोगों के ऊपर कड़ी निगरानी रखी जाएगी।

कटकमसांडी : मां के शव के साथ सोती रही अबोध, दो दिन बाद पड़ोसियों को चला पता

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

बेरमो : झाकोमयू की बैठक संपन्न, प्रबंधन से समस्याओं की...

more-story-image

पाकुड़ : धड़ल्‍ले से फल-फूल रहा है अवैध मोटरसाईकिल खरीद-फरोख्‍त...