केंद्र सरकार ने काटी कन्नी, कहा- सुप्रीम कोर्ट तय करे समलैंगिकता अपराध है या नहीं

NewsCode | 11 July, 2018 1:27 PM
newscode-image

नई दिल्ली। समलैंगिकता अपराध है या नहीं, इसे तय करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है। मंगलवार से जारी सुनवाई में कई तरह की बातें आने के बाद बुधवार को केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट की पांच सदस्यीय पीठ से कहा कि समलैंगिकता संबंधी धारा 377 की संवैधानिकता के मसले को हम कोर्ट के विवेक पर छोड़ते हैं।

इस मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ कर रही है। पीठ के पांच जजों में चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के अलावा चार और जज हैं, जिनमें आरएफ नरीमन, एएम खानविलकर, डीवाई चंद्रचूड़ और इंदु मल्होत्रा शामिल हैं।

इससे पहले, देश की सर्वोच्च अदालत ने सोमवार को इस मामले की सुनवाई में देरी से इनकार कर दिया था। केंद्र सरकार चाहती थी कि इस मामले की सुनवाई कम से कम चार हफ्तों बाद हो। लेकिन सुप्रीम कोर्ट इसपर सहमत नहीं हुआ।

सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार की ओर से एएसजी तुषार मेहता ने कहा हम ये मुद्दा कोर्ट के विवेक पर छोड़ते हैं। हदिया मामले में कहा गया कि पार्टनर चुनने का अधिकार है, लेकिन ये खून के रिश्ते में नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि हिंदू कानून में इस पर रोक है। अदालत सिर्फ ये देखे कि धारा 377 को अपराध से अलग किया जा सकता है या नहीं। बड़े मुद्दों पर विचार करने के दूरगामी परिणाम होंगे।

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया दीपक मिश्रा ने पूछा कि क्या ऐसा कोई नियम है जिससे समलैंगिकों को नौकरी देने से रोका जाता है? याचिकाकर्ताओं की ओर से ऐ़डवोकेट मेनेका गुरुस्वामी ने कहा कि समलैंगिकता से किसी के करियर या उन्नति में कोई असर नहीं पड़ता है। समलैंगिकों ने सिविल सर्विस कमीशन, आईआईटी और दूसरी शीर्ष प्रतियोगी परीक्षाएं पास की हैं।

दिल्ली: फीस जमा न कराने पर 40 बच्चियों को बेसमेंट में किया बंद, दर्ज हुई FIR

इस पर जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा कि हम यौन व्यवहारों के बारे में नहीं कह रहे। हम ये चाहते हैं कि अगर दो गे मरीन ड्राइव पर एक-दूसरे का हाथ पकड़कर टहल रहे हैं तो उन्हें अरेस्ट नहीं किया जाना चाहिए।

‘रेपिस्तान’ वाले ट्वीट पर कश्मीर के पहले IAS टॉपर शाह फैसल के खिलाफ कार्रवाई, ‘बॉस से मिला प्रेम पत्र’

LIVE: पीएम मोदी का कांग्रेस पर तंज, कहा- मेरी शुभकामनाएं 2024 में आप फिर से अविश्वास प्रस्ताव लाएं

NewsCode | 20 July, 2018 9:39 PM
newscode-image

संसद के मॉनसून सत्र का तीसरा दिन है और आज लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ पहले अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग कराई जाएगी. बुधवार को टीडीपी सांसद की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने मंजूर किया था, जिसके बाद उस पर चर्चा के लिए शुक्रवार का दिन तय हुआ था.

संसद के मॉनसून सत्र का तीसरा दिन है और आज लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ पहले अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग कराई जाएगी. बुधवार को टीडीपी सांसद की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने मंजूर किया था, जिसके बाद उस पर चर्चा के लिए शुक्रवार का दिन तय हुआ था.

अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने भी भाषण दिया. राहुल गांधी अपना भाषण खत्‍म करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास गए और उनके गले लगकर हाथ मिलाया.

LIVE UPDATES:

पीएम मोदी ने बोलना शुरू किया-

प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान लोकसभा में जमकर हंगामा,  विपक्षी नेताओं लगा रहे वी वांट जस्टिस के नारे

-जब हम डिजिटल लेनदेन की बात करने लगे तो सदन में बैठे लोग बताने लगे कि हमारे देश में लोग अनपढ़ हैं.

-ऐसे लोगों को हमारे देश की जनता ने तमाचा मारा है. इनकी यही मानसिकता गलत है

-यह अच्छा मौका है कि हमें अपनी बात कहने का बात मिल ही रहा है लेकिन देश को यह चेहरा भी देखने का मौका मिला है कि कैसे नकारात्मक राजनीति ने कुछ लोगों को घेर कर रखा हुआ है और उन सब का चेहरा निखर कर बाहर आया है.

-कई लोगों के मन में यह सवाल आया कि यह प्रस्ताव आया क्यों? विपक्ष के पास बहुमत नहीं है फिर भी यह प्रस्ताव लाया गया. सरकार को गिराने के लिए इतना ही उतावलापन था तो इसे 48 घंटे और टालने की कोशिश क्यों की गई. अगर चर्चा की तैयारी ही नहीं थी तो इसे लाया ही क्यों?

पिछले दो वर्ष में पांच करोड़ लोग गरीबी से बाहर आए : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

– किसानों की आय 2022 तक दोगुनी कर देंगे : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में कहा, ”हम ‘सबका साथ, सबका विकास’ के मंत्र पर काम करते रहे.”

– अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा : प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान लोकसभा में जमकर हंगामा

– लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं पर भरोसा ज़रूरी, सवा सौ करोड़ देशवासियों पर अविश्वास न करें : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

– साथियों की परीक्षा लेने के लिए अविश्वास प्रस्ताव नहीं लाया जाना चाहिए : लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

– न मांझी, न रहबर, न हक में हवाएं, है कश्ती भी जर्जर, यह कैसा सफर है : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

– न संख्या है, न बहुमत, फिर भी अविश्वास प्रस्ताव लाया गया, देश देख रहा है, कैसी नकारात्मकता है : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.

– अविश्‍वास प्रस्‍ताव के बहाने अपने कुनबे को जमाने की कोशिश की गई है.

– राहुल गांधी के गले मिलने पर पीएम मोदी बोले- कुर्सी पर पहुंचने की जल्‍दबाजी है.

– पीएम मोदी ने कहा , संसद में बहुमत नहीं फिर भी अविश्‍वास प्रस्‍ताव लाया गया है.

 -तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी ने कहा, “आप राम पर भी अपनी मनॉपली (एकाधिकार) करना चाहते हैं.”

-हमें रूस-अमेरिका नहीं, हिन्दू-मुस्लिम के बीच फैल रही नफरत मारेगी : नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसद फारुक अब्दुल्ला

– मॉब लिंचिंग सिर्फ 1984 में नहीं हुई थी, वह 2002 में भी हुई : AIMIM के सांसद असदुद्दीन ओवैसी

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

बाघमारा : कोलयरी विस्तारीकरण को लेकर बैठक संपन्न

NewsCode Jharkhand | 20 July, 2018 10:02 PM
newscode-image

बाघमारा।  बीसीसीएल एरिया वन महाप्रबंधक कार्यालय में जीएम चितरंजन कुमार,एसडीएम अनन्य मित्तल,सीओ दीप्ति प्रियंका कुजूर ने कोलयरी विस्तारीकरण को लेकर बैठक की ।बैठक में नक्शा के माध्यम से मंडल केंदुआडीह,आशाकोठी आदि जगहों को देखा। एडीएम ने कहा कि जल्द से जल्द उक्त जगहों की कागजात अंचल कार्यालय में दे दें।

एसडीएम,सीओ तथा महाप्रबंधक एरिया वन केंदुआडीह, आशाकोठी, मुराईडीह परियोजना,डेको आउटसोर्सिंग पहुंचे। एसडीएम ने बीसीसीएल प्रबंधक  को कहा कि 25 जुलाई को रैयत के साथ बैठक करेंगे तथा बीसीसीएल प्रबंधन माइक के माध्यम से अतिक्रमण करने वालो को सूचना दे।सूचना यह दे कि अतिक्रमण करने वाले दस दिन के अंदर अतिक्रमण मुक्त कर दे।अतिक्रमण मुक्त नही करने  पर कानूनी करवाई किया जाएगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

चक्रधरपुर : जिला भाजपा अध्य्क्ष दिनेश नन्दी के नेतृत्व में भाजपा का प्रतिनिधिमंडल मंत्री मुंडा मिला

NewsCode Jharkhand | 20 July, 2018 10:01 PM
newscode-image

विकास कार्यो को लेकर हुई  चर्चा

चक्रधरपुर। जिला भाजपा अध्यक्ष दिनेश नन्दी के नेतृत्व में भाजपा का प्रतिनिधि मंडल राज्य के ग्रामीण विकास मंत्री नीलकण्ठ सिंह मुंडा से मिला एवम जिले के विकास योजनाओं को लेकर चर्चा की गई। इस अवसर पर मुख्य रूप से जिला अध्य्क्ष दिनेश नन्दी के अलावा जिला उपाध्‍यक्ष शेषनारायण लाल, मंत्री नारायण पाड़िया, जिला कोषाध्यक्ष सजंय अखाड़ा, चाईबासा नगर अध्य्क्ष विककी शर्मा चक्रध्रपुर मण्डल  अध्यक्ष् श्रीवन्त षाड़ंगी आदि मौजूद थे। मौके पे घाटशिला के विधायक भी मौजूद थे।

     जिला अध्यक्ष श्री नन्दी व जिला उपाध्‍यक्ष  शेषनारायण ने जिले में चल रही कार्य के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दिए वही एनपीसीसी के द्वारा कार्य मे घोर अनियमितता बरते जाने की जानकारी दिए।  जबकि ग्रामीण कार्य विभाग चक्रधरपुर में अभियंताओं की कमी की भी जानकारी नेताओं के द्वारा मंत्री को दी गई सहायक अभियंता व कनीय अभियंता की कमी के कारण विकास कार्य प्रभावित होने की बात कही गई जिस पर मंत्री ने कहा इस पर जल्द ही कार्रवाई की जाएगी।    इस अवसर पर मंत्री का स्वागत चाईबासा नगर युवा मोर्चा के अध्यक्ष विक्की शर्मा के द्वारा बुके देकर किया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

रांची : Low Rank वाले न हों हताश, Dr.S.S. Singh...

more-story-image

गुमला : दिल्ली ले जायी जा रही छः लड़कियां रांची...