रेलवे में निकली एक और भर्ती, 10वीं पास भी कर सकते हैं आवेदन

NewsCode | 28 June, 2018 2:39 PM
newscode-image

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे में कई पदों के लिए भर्ती निकली है। दक्षिण मध्य रेलवे के बाद सेंट्रल रेलवे ने भी कई पदों के आवेदन आमंत्रित किए हैं, जिसमें अप्रेंटिस पदों पर उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा। अगर आप भी इन पदों पर अप्लाई करना चाहते हैं और योग्य भी हैं तो आप आधिकारिक वेबसाइट के जरिए आवेदन करने की आखिरी तारीख से पहले आवेदन कर सकते हैं।

भर्ती से जुड़ी जानकारी इस प्रकार है :

पद का विवरण

भर्ती में कुल 2573 उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा। इसमें मुंबई के लिए 1799 पद, भुसावल के लिए 421 पद, पुणे के लिए 152 पद, नागपुर के लिए 107 पद और सोलापुर के लिए 93 पद आरक्षित है।

योग्यता

आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों को किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 50 फीसदी अधिक अंकों के साथ 10वीं पास और आईटीआई कोर्स किया होना आवश्यक है।

चयन प्रक्रिया

उम्मीदवारों को चयन 10वीं और आईटीआई की मेरिट के आधार पर उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा। उम्मीदवारों के चयन के बाद दस्तावेज के आधार पर उनका चयन किया जाएगा।

आवेदन प्रक्रिया

भर्ती में आवेदन की प्रक्रिया 26 जून 2018 से शुरू हो जाएगी और इच्छुक उम्मीदवार 25 जुलाई 2018 तक इन पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं।

उम्र सीमा

इन पदों के लिए 15 साल से 24 साल तक के उम्मीदवार आवेदन कर सकते हैं। वहीं एससी-एसटी वर्ग के उम्मीदवारों को 5 साल और ओबीसी वर्ग के उम्मीदवारों को 3 साल की छूट दी जाएगी।

आवेदन शुल्क

आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों को 100 रुपये फीस का भुगतान करना होगा। साथ ही एससी-एसटी, दिव्यांग उम्मीदवारों के लिए आवेदन निःशुल्क होगा।

यहाँ करें आवेदन

आवेदन करने के लिए सेंट्रल रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करें। भर्ती से जुड़ी विस्तृत जानकारी के लिए नोटिफिकेशन यहाँ पढ़ें

रेलवे का बड़ा फैसला, मिलेंगे पहले से चार गुना ज्यादा साफ कंबल

UGC का फरमान- 29 सितंबर को यूनिवर्सिटी मनाएं ‘सर्जिकल स्ट्राइक दिवस’, कांग्रेस ने की आलोचना

NewsCode | 21 September, 2018 5:34 PM
newscode-image

नई दिल्ली। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने देशभर के विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षण संस्थानों को 29 सितंबर को ‘सर्जिकल स्ट्राइक दिवस’ के तौर पर मनाने का आदेश दिया है। UGC ने सर्जिकल स्ट्राइक डे मनाने के लिए सशस्त्र बलों के बलिदान के बारे में पूर्व सैनिकों से संवाद सत्र, विशेष परेड, प्रदर्शनियों का आयोजन और सशस्त्र बलों को अपना समर्थन देने के लिए उन्हें ग्रीटिंग कार्ड भेजने समेत अन्य गतिविधियां आयोजित करने का सुझाव भी दिया है।

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक आयोग ने सभी कुलपतियों को गुरुवार को भेजे एक लेटर में कहा, ‘सभी विश्वविद्यालयों की एनसीसी की इकाइयों को 29 सितंबर को विशेष परेड का आयोजन करना चाहिए जिसके बाद एनसीसी के कमांडर सरहद की रक्षा के तौर-तरीकों के बारे में उन्हें संबोधित करें।’

यूजीसी ने कहा कि विश्वविद्यालय सशस्त्र बलों के बलिदान के बारे में छात्रों को संवेदनशील करने के लिए पूर्व सैनिकों को शामिल करके संवाद सत्र का आयोजन कर सकते हैं।

पत्र में कहा गया है, ‘इंडिया गेट के पास 29 सितंबर को एक मल्टीमीडिया प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा। इसी तरह की प्रदर्शनियों का आयोजन राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों, अहम शहरों, समूचे देश की छावनियों में किया जा सकता है। इन संस्थानों को छात्रों को प्रेरित करना चाहिए और संकाय सदस्यों को इन प्रदर्शनियों में जाना चाहिए।’

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने की आलोचना

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने ट्विटर पर यूजीसी के इस निर्णय की आलोचना की है। उन्होंने लिखा है, ‘यूजीसी ने सभी यूनिवर्सिटीज को 29 सितंबर को सर्जिकल स्ट्राइक डे के रूप में मनाने का आदेश दिया है। यह लोगों को शिक्षित करने के लिए बना है या बीजेपी के राजनीतिक हित साधने के लिए? क्या यूजीसी 8 नवंबर (नोटबंदी) को गरीबों का निवाला छीनने के सर्जिकल स्ट्राइक दिवस के रूप में मनाने की हिम्मत कर पाएगा? यह एक और जुमला है!

वहीं, मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि यूनिवर्सिटीज सर्जिकल स्ट्राइक दिवस को मनाने के लिए बाध्य नहीं हैं। जावड़ेकर ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक को समर्पित इस कार्यक्रम को मनाने का सुझाव हमें कई शिक्षकों और विद्यार्थियों से मिला था, इसलिए हमने इसके आयोजन का फैसला किया है।

गौरतलब है कि भारत ने 29 सितंबर 2016 को PoK में नियंत्रण रेखा के पार आतंकवादियों के सात अड्डों पर लक्षित कर हमले किए थे। सेना ने कहा था कि विशेष बलों ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से घुसपैठ की तैयारी में जुटे आतंकवादियों को भारी नुकसान पहुंचाया है।

18 सितंबर 2016 को पाकिस्तान से आए आतंकियों ने भारत के उरी कैंप पर हमला किया और भारत के 19 जवान शहीद हुए थे। उरी हमले के करीब दस दिन बाद 28-29 सितंबर 2016 की रात भारतीय सेना ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में घुसकर आतंकियों के ठिकानों को तहस-नहस कर दिया था।


सर्जिकल स्ट्राइक के नए वीडियो पर भड़की कांग्रेस, कहा-बलिदान को वोट में बदलने की कोशिश कर रही BJP

अब झूठ नहीं बोल पाएगा पाकिस्तान, पहली बार सामने आया PoK में टेरर कैंपों पर सर्जिकल स्ट्राइक का Video

जम्मू-कश्मीर: 3 पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद 7 SPO का इस्तीफा, गृह मंत्रालय ने बताया- अफवाह

इमरान के खत पर बदला भारत का रुख, UN बैठक के दौरान पाक विदेश मंत्री से मिलेंगी सुषमा

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

चांडिल : घायल को झावियुमो प्रखंड उपाध्यक्ष ने पहुँचाया अस्पताल

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 9:53 PM
newscode-image

चांडिल। ईचागढ़ प्रखंड के खीरी-बामुनडीह निवासी करमचंद महतो शुक्रवार करीब 5 बजे अपने हीरो मोटर साइकिल से अपना ससुराल दियादिह जा रहा था, उसी समय खोकरो के समीप खराब रोड के कारण जमीन पर गिर कर गम्भीर चोट लगी।

इसकी सूचना मिलते ही झावियुमो प्रखंड उपाध्यक्ष पिंटू महतो ने ईचागढ़ स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया जहाँ घायल करमचंद महतो का प्राथमिक उपचार होने के बाद एमजीएम रेफर कर दिया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

गिरिडीह : चोरों ने किराने दुकान पर किया हाथ साफ़, लगभग 2 लाख की चोरी

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 9:51 PM
newscode-image

गिरिडीहखोरीमहुआ थाना क्षेत्र के बलहारा में चोरों ने एक किराना दुकान पर हाथ साफ़ किया। इस दौरान चोरों ने  दुकान  से 10 हजार रुपये नगद समेत लगभग 2 लाख रुपये का सामन चुरा लिया। इस मामले को लेकर भुक्तभोगी ज्योतिष वर्णवाल ने थाने में लिखित शिकायत दर्ज करायी है।

वर्णवाल ने बताया कि प्रतिदिन की तरह गुरुवार शाम लगभग 9 बजे दुकान बंद कर वे टोकोटांड़ स्थित अपने पैतृक आवास चले गए।

गिरिडीह : झारखंड की संस्कृति की पहचान है करमा पूजा – केदार 

शुक्रवार सुबह जब  दुकान का शटर खुला देखा तो उनके होश उड़ गए। चोरों ने भवन के पिछले हिस्से में बनी खिड़की के ग्रिल को उखाड़कर अंदर प्रवेश किया था। उन्होंने संदेह जताया है कि चोरों ने डुप्लीकेट चाभी से शटर को खोलकर घटना को अंजाम दिया है ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

रांची : असामाजिक तत्वों का मनोबल बढ़ाने का काम न...

more-story-image

धनबाद : केंद्र और राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों से...