दंगों में जान बचाने वाले मुस्लिम परिवार के लिए 26 साल से रोजा रख रहे हैं मशहूर शेफ विकास खन्ना

NewsCode | 12 June, 2018 8:46 PM
newscode-image

नई दिल्ली। रमजान का पवित्र महीना खत्म होने वाला है। ईद की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। इस्लाम में आस्था रखने वाले लोग रमजान के पाक महीने में बड़े नियम-धरम से रहते हैं और एक महीने रोज़ा रखते हैं। इस दौरान हर दिन शाम को रोज़ा खोलते वक्त इफ्तार पार्टी होती है। अपने देश की गंगा-जमुनी तहज़ीब को आगे बढ़ाते हुए इफ्तार पार्टियों में हिंदू और अन्य धर्मों के लोग भी शरीक होते हैं। कई जगहों पर हिंदू भी साम्प्रदायिक सौहार्द्र को बढ़ावा देने के उद्देश्य से मुस्लिमों के लिए इफ्तार पार्टी का आयोजन करते हैं। लेकिन दुनिया भर में सेलिब्रिटी शेफ के तौर पर विकास खन्ना रमजान के दौरान रोज़ा भी रखते हैं। विकास के रोज़ा रखने की वजह जानकर आप अचंभित हो सकते हैं।

रोजा तोड़कर जावेद ने कुछ यूं बचाई पुनीत की जिंदगी, पेश की कौमी एकता की मिसाल

दरअसल, अनुपम खेर को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने रोजा रखने की वजह बताई है। उनका ये इंटरव्यू 1992 के दंगों से जुड़ा है। तब विकास खन्ना मुंबई के एक होटल में अपनी सेवाएं दे रहे थे। शीरॉक्स नाम के इस होटल को उन्होंने 1 नवंबर को ज्वाइन किया था। इस दौरान जमकर दंगे हो गए थे। उन्होंने बताया दंगों के दौरान एक मुस्लिम परिवार ने उनको अपने घर में रखकर उनकी जान बचाई थी।

विकास ने बताया, दंगों के दौरान उन्हें पता चला था कि घाटकोपर में दंगा हो गया था। दरअसल उनका भाई घाटकोपर में रहता था। जैसे ही उन्हें इस बारें में पता चला वे होटल से भाई को बचाने निकल गए थे। वे खार स्टेशन पहुंचे। इस दौरान कोई ट्रेन नहीं चल रही थी। वे जैसे-तैसे घाटकोपर की और बढ़ रहे थे।

गर्मी में रमज़ान के दौरान कैसे रखें अपना ख्याल, सहरी-इफ्तार में खाएंगे ये खाना तो रहेंगे फिट

इसी बीच एक क्रॉस सेक्शन आया, जहाँ एक मुस्लिम फैमिली ने उन्हें रोका और कहा- “क्या कर रहे हो बेटा? उन्होंने बताया, मेरा भाई घाटकोपर में है, रास्ता नहीं समझ आ रहा मेरे को। मुझे चलते-चलते दो-ढाई घंटे हो चुके। उन्होंने कहा- “अंदर आ, बाहर भीड़ जमा है।”

उसी वक्त भीड़ उनके घर पर आ गई पूछने के लिए कि ये बेटा किसका है? विकास बताते हैं कि उनके घर में मुझे अच्छी तरह याद है, दो बेटे, एक बेटी और उनका जमाई भी था। उन्होंने कहा कि ये मेरा बेटा है, अभी बाहर से आया है। भीड़ ने पूछा- “मुस्लिम है?” उन्होंने कहा- “हां” और उनकी जान बच गयी। विकास खन्ना आजतक वो वाकया नहीं भूल पाए हैं।

विकास ने कहा, मैं डेढ़ दिन उनके घर में रहा। मुझे नहीं याद कि वे कौन थे, मुझे कोई डायरेक्शन याद नहीं है। उन्होंने अपने जमाई को भेजा पता करने के लिए कि मेरा भाई ठीक है? वह मेरे जीवन की सबसे बड़ी बात है, डेढ़ दिन उनके घर पे फ्लोर पे सोना, और वे आपकी सुरक्षा कर रहे हैं कि तू हमारा बच्चा है।

रोज़ा रखते समय इन बातों का रखें खास ख्याल

फरवरी में दिए इस इंटरव्यू में विकास ने कहा था वहां से निकलने के बाद इस नेक मुस्लिम परिवार के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है और वह उनसे किसी दिन जरूर मिलना चाहेंगे। कल सोमवार को
ट्विटर पर उन्होंने इस बात का फिर से जिक्र करते हुए लिखा कि,” यह मेरी ज़िंदगी का सबसे खुशगवार दिन है। मुंबई दंगों में मेरी जान बचाने वाले मुस्लिम परिवार का मुझे पता चल गया है और उनके साथ ही मैं अपना रोज़ा तोड़ूंगा।”

 

एक हजार साल पुराने मंदिर में पढ़ी गई नमाज़, महंत के साथ मौलवियों ने की इफ्तार पार्टी

बाबा सिद्दीकी की इफ्तार पार्टी में पहुंचे सलमान, कैटरीना-जैकलीन समेत कई सितारे रहे मौजूद

आखिर क्यों मनाई जाती है ईद, क्यों हुई थी इसकी शुरूआत?

रांची : मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना पर विशेष तीर्थयात्री रेलगाड़ी से जाएंगे अजमेर

NewsCode Jharkhand | 14 November, 2018 2:28 PM
newscode-image

रांची। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत बीस नवंबर को हटिया रेलवे स्टेशन से दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल के दो सौ बीस चयनित तीर्थयात्री विशेष रेलगाड़ी से अजमेर शरीफ की यात्रा पर जाएंगे।

मुख्यमंत्री तीर्थ योजना के तहत रांची, खूंटी, लोहरदगा, सिमडेगा और गुमला जिले के मुस्लिम धर्मावलंबी तीर्थ यात्रा पर जा रहे हैं। इस संबंध में झारखंड पर्यटन विकास निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक द्वारा भेजे गये पत्र के आलोक में रांची जिले के उपायुक्त ने सभी जिले के प्रखंड विकास पदाधिकारियों को सुयोग्य, बीपीएल कार्डधारी वरिष्ठ मुस्लिम नागरिकों को चिन्हित कर उनका आवेदन भेजने का आदेश दिया है।

सरकार की महत्वकांक्षी मुख्यमंत्री तीर्थयोजना के तहत रांची जिले के 60, खुटी जिले के 40, लोहरदगा जिले  के 40, सिमडेगा जिले के 40 एवम् गुमला जिले के 40  मुस्लिम धर्मावलंबी तीर्थ दर्शन के लिए अजमेर शरीफ जाएगें।

उपरोक्त विषय को लेकर झारखण्ड टुरिजम डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिडेट राँची के प्रबंध निदेशक द्वारा भेजे गए पत्र के आलोक में उपायुक्त रांची ने सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारीयों को निर्देश जारी किया है। जिसमे  सुयोग्य बीपीएल धारी वरिष्ठ मुस्लिम नागरिकों को चयनित कर विहित प्रपत्र में आवेदन समर्पित करने को कहा है।

निर्देश में ये भी कहा गया है  कि विहित प्रपत्र में आवेदन के साथ भेजे जाने वाले नागरिकों का चिकित्सा  प्रमाण पत्र भी संलग्न करना जरूरी है। विदित हो  कि सूची  के आधार पर चयनित रांची जिले के 60  वरिष्ठ मुस्लिम धर्मावलंबी  नागरिकों को 20 नवम्बर 2018 को हटिया स्टेशन से तीर्थ दर्शन के लिए रवाना किया जाएगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने किया कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का शुभारंभ

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:38 PM
newscode-image

रांची। राज्य के जल संसाधन, पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने आज मोरहाबादी स्थित पार्क प्लाजा के दूसरे तल्ले में कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का फीता काटकर शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने आशा जतायी कि यह सर्विसेज आम जनों के लिए उपयोगी सिद्ध होगा।

कंफर्ट लाइव सर्विसेज में फ्लैट खरीद- बिक्री, स्वास्थ्य बीमा, अवधि बीमा, म्युचुअल फंड, एसआईपी एवं वाहनों की बीमा आदि की सुविधा लोगों को प्राप्त हो सकेगी।

शुभारंभ के मौके पर आजसू पार्टी के केंद्रीय महासचिव डॉ. लंबोदर महतो, चंद्रशेखर महतो, संचालक राजेश कुमार, रंजना चौधरी, गीता महतो, कल्पना मुखिया, संतोष  मुखिया, अमित साव एवं अजय श्रीवास्तव सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

भोगनाडीह : झामुमो ने संथाल को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया- मुख्यमंत्री

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:36 PM
newscode-image

भोगनाडीह  में भाजपा कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल हुए

भोगनाडीह। राज्य को संथाल परगना ने झारखण्ड मुक्ति मोर्चा से तीन तीन मुख्यमंत्री दिये,  लेकिन उन्होंने मुख्यमंत्री बनाया वो गरीब आदिवासी, वंचित दलित की अनदेखी कर अर्थपेटी और मतपेटी भरने का कार्य किया।

साथ ही संथाल परगना को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया। सबसे ज्यादा आदिवासियों की जमीन लूटने का काम सोरेन परिवार ने किया है। आज सीएनटी-एस पीटी एक्ट के उल्लंघन कर विभिन्न शहरों में आदिवासियों की जमीन ले ली।

जबकि संथाल परगना समेत राज्य भर में यह कह कर गुमराह किया गया कि अगर भारतीय जनता पार्टी की सरकार आएगी तो आदिवासी की जमीन लूट लेगी। क्या 4 साल सरकार द्वारा किसी आदिवासी की जमीन लूटी गई नहीं। उपरोक्त बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कही।

बरहेट का प्रतिनिधित्व करने वाला कभी विधानसभा में सवाल नहीं उठाया

मुख्यमंत्री ने कहा कि बरहेट का विधानसभा में प्रतिनिधित्व करने वाले ने कभी भी विधानसभा में क्षेत्र की समस्याओं को लेकर प्रश्न नहीं रखा, क्योंकि उसे पता ही नहीं है कि क्षेत्र की समस्या क्या है ऐसे में विकास के कार्य कैसे सम्पन्न होंगे।

लोगों को यह सोचना चाहिए और स्थानीय उम्मीदवार को प्राथमिकता देनी चाहिए। चाहे वोकिसी पार्टी का हो।

कार्यकर्ता पार्टी का प्राण, पार्टी के लिए राष्ट्र पहले

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता पार्टी के प्राण हैं। यह एक ऐसी पार्टी है जहां वंशवाद और परिवार नहीं। एक चाय बेचने वाला प्रधानमंत्री और मजदूर मुख्यमंत्री बन सकता है। मैं भी बूथ स्तर का कार्यकर्ता था।

पार्टी के लिए समर्पण भाव से कार्य करते हुए 1995 में विधायक बना और अब मुख्यमंत्री हूं। आप भी ईमानदारी से कार्य करें। सरकार की योजनाओं को जन जन पहुंचाये। पार्टी के वविभिन्न मोर्चा के लोग इस कार्य में लगे। क्योंकि पार्टी के लिए राष्ट्र पहले है।

इस राष्ट्र को और मजबूत करने के लिए वैश्विक पटल पर अपनी पहचान बना चुके प्रधानमंत्री  के हाथों को मजबूत करें। इस अवसर पर अनंत ओझा,  धर्मपाल सिंह, हेमलाल मुर्मू समेत अन्य मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

रांची : अखिल झारखंड छात्र संघ ने चुनाव को लेकर...

more-story-image

धनबाद : बीजेपी सरकार बनने के बाद कृषि विकास दर...

X

अपना जिला चुने