नई होंडा अमेज़ की तुलना मारूति डिजायर से…जानें कौन-सी कार है बेहतर

NewsCode | 1 May, 2018 5:41 PM
newscode-image

होंडा इन दिनों नई अमेज़ सेडान पर काम कर रही है। भारत में इसे 16 मई 2018 को लॉन्च किया जाएगा। इसका मुकाबला मारूति डिजायर से होगा। यहां हमने कई मोर्चों पर नई होंडा अमेज़ की तुलना मारूति डिजायर से की है, तो क्या रहे इस तुलना के नतीजे जानेंगे यहां…

कद-काठी

नई होंडा अमेज़ मारूति डिजायर
लंबाई 3995 एमएम 3995 एमएम
चौड़ाई 1695 एमएम 1735 एमएम
ऊंचाई 1501 एमएम 1515 एमएम
व्हीलबेस 2470 एमएम 2450 एमएम
व्हील साइज 175/65 आर15 185/65 आर15
ग्राउंड क्लीयरेंस 170 एमएम 163 एमएम
बूट स्पेस 420 लीटर 378 लीटर

इंजन और परफॉर्मेंस

पेट्रोल

नई होंडा अमेज़ मारूति डिजायर
इंजन क्षमता 1199 सीसी 1197 सीसी
पावर 90 पीएस 83 पीएस
टॉर्क 110 एनएम 113 एनएम
गियरबॉक्स 5-स्पीड मैनुअल/सीवीटी 5-स्पीड मैनुअल/एएमटी
फ्यूल टैंक 35 लीटर 37 लीटर
माइलेज 19.5/19 किमी प्रति लीटर 22 किमी प्रति लीटर

Car News : New Honda Amaze 2018 vs Maruti Dzire comparison Auto | NewsCode - Hindi News

दोनों कारों में 1.2 लीटर का 4-सिलेंडर पेट्रोल इंजन लगा है। पावर के मामले में नई होंडा अमेज़ आगे है। नई अमेज़ में डिजायर के मुकाबले 7 पीएस की ज्यादा पावर मिलती है। टॉर्क के मामले में मारूति डिजायर आगे है। डिजायर में नई अमेज़ के मुकाबले 3 एनएम का ज्यादा टॉर्क मिलता है। दोनों कारों में ऑटो गियरबॉक्स दिया गया है। माइलेज के मामले में मारूति डिजायर आगे है।

डीज़ल

नई होंडा अमेज़ मारूति डिजायर
इंजन क्षमता 1498 सीसी 1248 सीसी
पावर 100 पीएस/80 पीएस 75 पीएस
टॉर्क 200 एनएम/160 एनएम 190 एनएम
गियरबॉक्स 5-स्पीड मैनुअल/सीवीटी 5-स्पीड मैनुअल/एएमटी
माइलेज 27.4 / 23.8 किमी प्रति लीटर 28.4 किमी प्रति लीटर

Car News : New Honda Amaze 2018 vs Maruti Dzire comparison Auto | NewsCode - Hindi News

नई अमेज़ के डीज़ल वेरिएंट में डिजायर से ज्यादा पावरफुल इंजन लगा है। इस में डिजायर के मुकाबले 25 पीएस की ज्यादा पावर और 10 एनएम का ज्यादा टॉर्क मिलेगा। नई होंडा अमेज़ के मैनुअल वेरिएंट का माइलेज 27.4 किमी प्रति लीटर और ऑटोमैटिक वेरिएंट के माइलेज का दावा 23.8 किमी प्रति लीटर है। मारूति डिजायर एएमटी के माइलेज का दावा 28.4 किमी प्रति लीटर है।

टॉप वेरिएंट के फीचर

Car News : New Honda Amaze 2018 vs Maruti Dzire comparison Auto | NewsCode - Hindi News

होंडा ने नई अमेज़ की पूरी फीचर लिस्ट का अभी खुलासा नहीं किया गया है। चर्चाएं हैं कि इस में एंड्रॉयड ऑटो और एपल कारप्ले सपोर्ट करने वाला 7.0 इंच फ्लोटिंग डिजिपैड 2.0 इंफोटेंमेंट सिस्टम, एलईडी पोजिशन लाइटें, एलईडी टेललैंप्स, 15 इंच के अलॉय व्हील, रियर कैमरा, पार्किंग सेंसर, इलेक्ट्रिक एडजस्टेबल और फोल्डेबल बाहरी शीशे, हाइट एडजस्टेबल फ्रंट सीट, ऑटो क्लाइमेट कंट्रोल, क्रूज़ कंट्रोल, पुश बटन स्टार्ट-स्टॉप और स्टीयरिंग इंटिग्रेटेड पैडल शिफ्टर्स (पेट्रोल-सीवीटी) जैसे काम के फीचर दिए जा सकते हैं।

Car News : New Honda Amaze 2018 vs Maruti Dzire comparison Auto | NewsCode - Hindi News

मारूति डिजायर में एलईडी प्रोजेक्टर हैडलैंप्स, डे-टाइम रनिंग एलईडी लाइटें, लैदर वाला स्टीयरिंग व्हील और ऑटोमैटिक हैडलैंप्स दिए गए हैं, ये सभी फीचर नई अमेज़ में नहीं मिलेंगे। दोनों कारों में पैसेंजर सुरक्षा के लिए एबीएस, ड्यूल एयरबैग और आईएसओफिक्स चाइल्ड सीट एंकर को स्टैंडर्ड रखा गया है।

कीमत

मारूति डिजायर की कीमत 5.56 लाख रूपए से शुरू होती है जो 9.43 लाख रूपए (एक्स-शोरूम, दिल्ली) तक जाती है। नई अमेज़ को भी इसी कीमत के आसपास लॉन्च किया जा सकता है। नई अमेज़ चार वेरिएंट ई (बेस), एस, वी और वीएक्स (टॉप) में आएगी।

यह भी पढें : टोयोटा यारिस की तुलना हुंडई वरना से…

PHOTOS: मन से भावुक कवि, कर्म से राजनेता अटल बिहारी वाजपेयी की ये दुर्लभ तस्वीरें नहीं देखी होंगी आपने

NewsCode | 16 August, 2018 6:29 PM
newscode-image

पूर्व प्रधानमंत्री और बीजेपी के दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी अब इस दुनिया में नहीं रहे। नई दिल्ली के एम्स में लंबे इलाज के दौरान 93 साल की उम्र में उनका निधन हो गया है। वाजपेयी के निधन की खबर के साथ ही पूरे देश में शोक की लहर है। भारतीय जनता पार्टी ने देश में अपने सभी कार्यक्रमों को रद्द कर दिया है।

12 नवंबर 1973 में अटल बिहारी वाजपेयी बैलगाड़ी से संसद पहुंचे थे। वो पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने का विरोध कर रहे थे इसलिए वो बैलगाड़ी से पहुंचे।


2. यह तस्वीर जनता पार्टी के शपथ ग्रहण समारोह की है। जिसे जयप्रकाश नारायण संबोधित कर रहे हैं। इस तस्वीर में भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी भी नजर आ रहे हैं।


3. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को कुत्तों से बेहद लगाव था। वह अक्सर पालतू कुत्तों के साथ खेलते नजर आ जाते थे।


4. सोशल मीडिया पर ये तस्वीर काफी वायरल हो रही है। जिसमें वो प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से बात करते नजर आ रहे हैं।


5. यह तस्वीर 8 जनवरी 1978 की है जब अटल बिहारी वाजपेयी जनता पार्टी की सरकार में विदेश मंत्री थे। वह ताजमहल में ब्रिटेन के तत्कालीन प्रधानमंत्री जेम्स कलाहन के साथ मौजूद हैं।


6. माधव सदाशिव गोलवालकर, पंडित दील दयाल उपाध्याय और अटल बिहारी वाजपेयी एक साथ बैठे नजर आ रहे हैं। ये तस्वीर भी काफी शेयर की जा रही है।


7. एक आंदोलन के दौरान सुषमा स्वराज और मदनलाल खुराना के साथ सड़कों पर उतरे अटल बिहारी वाजपेयी की तस्वीर।


8. ये दुर्लभ तस्वीर भी काफी शेयर की जा रही है। इस तस्वीर में अटल बिहारी वाजपेयी, लाल कृष्ण आडवाणी और भैरों सिंह शेखावत नजर आ रहे हैं। ये तस्वीर जन संघ दिनों की है।


बता दें कि अटल बिहारी वाजपेयी बीते 11 जून से एम्स में भर्ती थे। बुधवार को उनकी हालत गंभीर हो गई और उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया था। वाजपेयी को गुर्दा (किडनी) की नली में संक्रमण, छाती में जकड़न, मूत्रनली में संक्रमण आदि के बाद 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था। मधुमेह पीड़ित 93 वर्षीय भाजपा नेता का एक ही गुर्दा काम करता था।


नहीं रहे पूर्व पीएम अटलबिहारी वाजपेयी, 93 साल की उम्र में निधन

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी के निधन से पूरे देश में शोक की लहर, मोदी बोले- निःशब्द हूँ

रांची : वाजपेयी राजनीति के अजातशत्रु, अपराजेय वक्ता- रघुवर दास

अटल जी की इन 5 कविताओं को पढ़कर जीवन में उतार लिया तो हर मैदान फ़तह कर लेंगे आप

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गावां (गिरिडीह) : विभिन्न विभागों में झंडोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का दिखा अभाव

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:12 PM
newscode-image

 स्वतंत्रता दिवस समारोह पर दिखी अनुशासनहीनता

गावां गिरिडीह। गावां में स्वतंत्रता दिवस समारोह में इस बार पूर्वाभ्यास की पूरी कमी देखी गई। नतीजतन विभिन्न विभागों में झंझोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का अभाव दिखा। इस कारण प्रखंड मुख्यालय में झंडोत्‍तोलन के वक्त झंडे को सलामी देने के लिए पुलिस जवान मौजूद नहीं रहे।

जबकि बीडीओ मोनी कुमारी सलामी दल को बुलाने के लिए थाना में फोन करती रहीं। वहीं गावां थाना द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में दिये गये समय सारणी से एक घंटा पूर्व ही ध्‍वजारोहण कर दिया गया।

बोकारो : खेल के मामले में सरकार का रवैया उदासीन : मयूर शेखर झा

इस कारण थाना परिसर में झंडोत्‍तोलन देखने से लोग चूक गये। बता दें कि थानेदार द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में झंडोत्‍तोलन का समय दिन के 10:10 बजे निर्धारित था, लेकिन तय समय से एक घंटा 4 मिनट पूर्व ही 09:06 बजे ही थाना में झंडोत्‍तोलन कर दिया गया। इस कारण तय समय पर थाने में झंडोत्तोलन में शामिल होने पहुंचे लोगों को मायूस होना पड़ा।

बैंक प्रबंधक को झंडोत्‍तोलन के बजाय घर भागना आया रास

वैसे तो तिरंगा फहराना गर्व की बात मानी जाती है और इसके लिए लोग लालायित भी रहते हैं, लेकिन समाज में कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो स्वतंत्रता दिवस को महज एक सरकारी बंदिशों वाला कार्यक्रम मान लेते हैं। ऐसा ही नजारा गावां के इलाहाबाद बैंक में देखने को मिला।

प्रबंधक ने झंडोत्‍तोलन करने के बजाए 15 अगस्त को घर भागना ज्यादा मुनासिब समझा। फलत: गावां इलाहाबाद बैंक में एक आम सीनियर सिटीजन उमाशंकर अवस्थी ने झंडोत्‍तोलन किया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

चाईबासा : जिले के चार प्रखंडों में लगाए गए जनता दरबार

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:01 PM
newscode-image

 चाईबासा । पश्चिमी सिंहभूम के उपायुक्त अरवा राजकमल के निदेशानुसार गुरूवार को जिले के चार प्रखण्डों में जनता दरबार का अयोजन किया गया। नोवामुंडी प्रखण्ड मुख्यालय जनता दरबार में विभिन्न विभागों के द्वारा शिविर का लगाया गया।

जिसमें मुख्य रूप से वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन,विकलांग पेंशन, दिव्यांग पेंशन, जाति, आवासीय, आय प्रमाण पत्रों, स्वास्थ्य, चिकित्सा, कृषि, पशुपालन, समाज कल्याण सहित अन्य विभागों के प्रखण्ड स्तरीय पदाधिकारियों ने लोगों के समस्या का समाधान किया।

जनता दरबार में बच्चों का आधार पंजीकरण भी कराया गया। जनता दरबार का आयोजन प्रखण्ड विकास पदाधिकारी नोवामुण्डी समरेश प्रसाद भण्डारी, तथा अंचलाधिकारी गोपी उरॉव के निर्देशन में सम्पन्न हुआ। वहीं जगन्नाथपुर प्रखंण्ड कार्यालय में लगे जनता दरबार में सूचना के अभाव में लोग नहीं पहुंचे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

More Story

more-story-image

पाकुड़ : अज्ञात वाहन की चपेट में आने एक की...

more-story-image

धनबाद : एनडीए सरकार में श्रम मंत्री रही रीता वर्मा...