कैमरे में कैद हुई 2018 मारूति सियाज़

NewsCode | 26 June, 2018 6:44 PM
newscode-image

मारूति सुज़ुकी सियाज़ के फेसलिफ्ट अवतार को टेस्टिंग के दौरान देखा गया है। कयास लगाए जा रहे हैं कि इसे अगस्त 2018 में लॉन्च किया जाएगा। इस में नया और पावरफुल 1.5 लीटर पेट्रोल इंजन, सुज़ुकी की माइल्ड-हाइब्रिड (एसएचवीएस) टेक्नोलॉजी के साथ आएगा।

2018 Maruti Suzuki Ciaz

तस्वीरों पर गौर करें तो 2018 मारूति सियाज़ में एलईडी प्रोजेक्टर हैडलैंप्स, डे-टाइम रनिंग एलईडी लाइटों के साथ दिए गए हैं। अपडेट सियाज़ के टेल लैंप्स में भी एलईडी ट्रीटमेंट मिलेगा। टेललैंप्स का लेआउट ऑटो एक्सपो-2014 में दिखाए गए कॉन्सेप्ट से मिलता-जुलता है।

2018 Maruti Suzuki Ciaz

फेसलिफ्ट सियाज़ के रियर बंपर में भी बदलाव नज़र आएगा। पीछे वाले बंपर के रिफ्लेक्टर पर क्रोम का इस्तेमाल हुआ है। कुल मिलाकर अपडेट सियाज़ के पीछे वाले हिस्से का डिजायन मौजूदा मॉडल से ज्यादा आकर्षक और प्रीमियम है।

ये भी पढ़ें:

2019 वोल्वो एस60 से उठा पर्दा, देखें तस्वीरें

टेस्टिंग के दौरान दिखी नई रेनो क्विड, देखें तस्वीरें

सूर्य के रहस्यों से पर्दा उठाने के लिए नासा ने तैयार किया यह खास मिशन

NewsCode | 23 July, 2018 6:51 PM
newscode-image

नई दिल्ली। सूर्य के रहस्यों से पर्दा उठाने के क्रम में अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा अपने पहले मिशन को सूरज तक भेजने के लिए पूरी तरह तैयार है। एक कार के आकार का यह अंतरिक्षयान सूरज की सतह से 40 लाख मील की दूरी से गुजरेगा। इससे पहले किसी भी अंतरिक्षयान ने इतना ताप और इतने प्रकाश का सामना नहीं किया है। इस मिशन के लिए नासा के वैज्ञानिक लंबे समय से तैयारी कर रहे थे।

सूर्य को करीब से जानेगा पार्कर सोलर प्रोब

पार्कर सोलर प्रोब छह जून को यूनाइटेड लॉन्च एलायंस डेल्टा 4 हैवी में सवार होकर उड़ान भरेगा। यह अंतरक्षियान मानव द्वारा अब तक निर्मित किसी भी वस्तु के मुकाबले सूर्य का ज्यादा करीब से अध्ययन करेगा। अमेरिका में नासा के गोडार्ड स्पेस फ्लाइट सेंटर के हेलियोफिजिक्स साइंस डिविजन के सहयोगी निदेशक एलेक्स यंग के मुताबिक, “ हम कई दशकों से सूरज का अध्ययन कर रहे हैं और अब आखिरकार हमें पता चलेगा कि हम किस हद तक सफल हुए हैं। ’’ उन्होंने कहा ये हमारी भी परीक्षा है।

सूरज एक गतिशील व मैग्नेटिक स्टार

आपको बता दें कि हम आंखों से जिस सूरज को देखते हैं वह उससे कहीं ज्यादा जटिल है। मनुष्य की आंखों को यह भले ही स्थायी, न बदलते हुए एक गोले की तरह नजर आता हो लेकिन सूरज एक गतिशील एवं चुंबकीय ढंग से सक्रिय सितारा है। पार्कर सोलर प्रोब अपने साथ विभिन्न उपकरणों को लेकर जा रहा है जो सूरज का भीतर से और आस-पास या प्रत्यक्ष रूप से अध्ययन करेगा। इन उपकरणों से जुटाए गए डेटा से वैज्ञानिकों को इस सितारे के बारे में तीन बुनियादी सवालों का जवाब देने में मदद मिलेगी।

27 जुलाई को सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण, जानिए सूतक का समय और राशियों पर असर

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

सिल्ली : पत्नी और मां को दिखाया कट्टा, दी जान से मारने की धमकी, दूसरी शादी का है मामला

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 8:32 PM
newscode-image

सिल्ली(राँची)। दूसरी शादी का विरोध करने पर पति ने अपनी पहली पत्नीमां को ही देसी कट्टा से मारने की धमकी दे डाली। मौका पाकर मां व पहली पत्नी शीला देवी ने उसका कट्टा छीन कर पुलिस को सौप दिया। सिल्ली पुलिस ने कांड संख्या 88/17 आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस ने कट्टा जब्त कर लिया है।

रांची : बलभद्र और सुभद्रा के साथ वापस लौटे जगन्नाथ, श्रद्धालुओं ने खींचा रथ

जानकारी के मुताबिक सिल्ली थाना क्षेत्र के लाधुप सारासेरेंग निवासी बंसत कुमार ने अपनी पहली पत्नी के रहते हुए भी दूसरी शादी कर ली। दूसरी शादी का विरोध करने पर वह अपनी मां व पत्नी के  साथ उसने झगड़ा किया और कट्टा दिखाकर उन्हें जान से मारने की धमकी दी।
(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

रांची : संघ की दृष्टि में राम ही खुदा है और खुदा ही राम है- इंद्रेश कुमार

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 8:24 PM
newscode-image

शशि थरूर आजाद भारत के जिन्ना- इंद्रेश

रांची। एक दिवसीय झारखंड दौरे पर आये आरएसएस के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य इंद्रेश कुमार ने मीडिया के समक्ष कहा कि, संघ की दृष्टि में राम ही खुदा है और खुदा ही राम है। राम मंदिर था, राम मंदिर है और राम मंदिर रहेगा। होटल बीएनआर में आयोजित ‘हिन्दू जागरण मंच’ के एक कार्यक्रम में शामिल होने आये थे इंद्रेश कुमार।

राँची : झारखण्ड विकास मोर्चा ने फूंका राज्य सरकार का पुतला

‘राम जन्‍मभूमि बनाम विवादित ढांचा’ के नाम से अदालती कार्यवाही

राम मंदिर निर्माण के सवाल का जवाब देते हुए इंद्रेश कुमार ने कहा कि एक साल पहले इलाहाबाद हाईकोर्ट में राम मंदिर बनाम बाबरी मस्जिद के रूप में मामला चल रहा था। पिछले एक साल से सुप्रीम कोर्ट में यह मामला नाम बदलकर ‘राम जन्‍मभूमि बनाम विवादित ढांचा’ के नाम से अदालती प्रक्रिया चल रही है।

राम का जन्‍म-स्‍थान एक ही है

इंद्रेश ने बताया कि मुस्लिम समुदाय से जुडे लोग भी उस विवादित ढांचे को बाबरी मस्जिद कहना इस्‍लाम का अपमान समझते हैं। वहीं अदालती कार्यवाही  में राम मंदिर को राम जन्‍म स्‍थान रखा गया है, क्‍योंकि राम मंदिर तो कहीं भी हो सकता है, लेकिन राम जन्‍म स्‍थान तो एक ही है।

पत्थलगड़ी आंदोलन चर्च व मिशन संस्थाओं का षड़यंत्र- RSS

खूंटी व झारखंड में सक्रिय हो रहे पत्थलगड़ी आंदोलन को चर्च व मिशन संस्थाओं का षड्यंत्र करार दिया है। मदर टेरेसा द्वारा स्थापित मिशनरीज ऑफ चैरिटी संस्था में नवजात बच्चों के बेचने की घटना को उन्होंने कलंकित करने वाली अमानवीय कृत बताया।

शशि थरूर आजाद भारत के जिन्ना

चंद्रेश कुमार ने कांग्रेस के  बड़े लीडर शशि थरूर पर सवाल उठाते हुए कहा कि शशि थरूर आजाद भारत के जिन्ना हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

रांची : झारखंड की महिला हो रही है सशक्त- सीपी...

more-story-image

निरसा : पेयजल की किल्लत दूर करने के लिए स्टेंडिंग प्‍वाइंट...