Cannes 2018: पाकिस्तान की इस अभिनेत्री के साथ वायरल हो रही है सोनम कपूर की तस्वीर, जानिए क्यों है खास

NewsCode | 16 May, 2018 4:11 PM

Cannes 2018: पाकिस्तान की इस अभिनेत्री के साथ वायरल हो रही है सोनम कपूर की तस्वीर, जानिए क्यों है खास

नई दिल्ली। फ्रांस के कान शहर में चल रहे 71वें कान फ़िल्म फेस्टिवल (Cannes Film Festival 2018) में इन दिनों बॉलीवुड सेलेब्रिटीज़ रेड कार्पेट पर अपने जलवे बिखेर रहें हैं। विदेशी ड्रेसेज़ में देसी चेहरे ख़ूब दमक रहे हैं। कान फिल्म फेस्टिवल में हिस्सा लेने के लिए इस समय सोनम कपूर फ्रांस में हैं और वो वहां पर भारत का प्रतिनिधित्व कर रही हैं। वहीं, पड़ोसी देश पाकिस्तान की ओर से अभिनेत्री माहिरा खान अपने देश के प्रतिनिधित्व करती नज़र आ रही हैं।

रेड कारपेट पर नजर आईं सोनम अपने लुक के साथ ही अपने एक फोटो के चलते सुर्खियों में हैं। इस फोटो में सोनम पाकिस्‍तानी एक्‍ट्रेस माहिरा खान को Kiss करते हुए नजर आ ही हैं। बताया जाता है कि सोमवार को दोनों रेड कार्पेट पर काफ़ी गर्मजोशी से मिलीं। उनकी तस्वीरें कंपनी के ट्विटर एकाउंट पर शेयर की गयी है।

इंतजार खत्म ! आ गया शर्टलेस सलमान खान के ‘रेस 3’ का ट्रेलर, फैन्स के लिए ऐक्शन का धमाका

इसके कैप्शन में लिखा गया है सोनम कपूर एंड माहिरा खान शाइनिंग ऑन रेड कार्पेट। इस तस्वीर की सबसे खास बात ये है कि इस तस्वीर को फैंस ने ट्रोल करने की जगह प्यार दिया. लॉरियल इंडिया के ट्विटर पर दोनों ही एक्ट्रेसेस को लेकर अच्छे कमेंट्स पढ़ने को मिले।

माधुरी दीक्षित ने यहाँ बच्चों संग केक काटकर मनाया जन्मदिन, देखें तस्वीरें

रोजा तोड़कर जावेद ने कुछ यूं बचाई पुनीत की जिंदगी, पेश की कौमी एकता की मिसाल

NewsCode | 23 May, 2018 4:28 PM

रोजा तोड़कर जावेद ने कुछ यूं बचाई पुनीत की जिंदगी, पेश की कौमी एकता की मिसाल

गोपालगंज। मानवता से बड़ा कोई धर्म नहीं होता। इस बात को सही साबित करते हुए बिहार के गोपालगंज निवासी जावेद आलम ने नेकी के रास्ते को मजहब से बड़ा मान इंसानियत की ऐसी मिसाल पेश की जिसकी हर जगह सराहना हो रही है। उन्होंने गंभीर बीमारी थैलेसीमिया से पीडि़त एक बच्‍चे की जान बचाने को रोजा तोड़कर रक्तदान किया।

जिले के कुचायकोट प्रखंड के टोला सिपाया के रहने वाले भूपेंद्र कुमार का आठ वर्षीय पुत्र थेलेसिमिया से ग्रसित है और बच्चे को प्रत्येक महीने तो से तीन यूनिट ब्लड की जरूरत पड़ती है। मंगलवार को पुनीत का हीमोग्लोबिन अचानक कम हो जाने के कारण ए+ रक्त की जरूरत पड़ी तो पिता भूपेंद्र कुमार सदर अस्पताल पहुँच कर ब्ल़ड के लिए सिविल सर्जन व ब्लड बैंक का चक्कर लगाने लगे क्योंकि इनके परिवार में उक्त रक्त ग्रुप का कोई भी सदस्य नहीं था।

ऐसे में जब अस्पताल प्रशासन की तरफ से पुनीत को ब्लड उपलब्ध नहीं हुआ तो उन्होंने रक्तदान करने वाली युवाओं की डीबीडीटी के सदस्य अनवर हुसैन को इसकी जानकारी दी। इसके बाद उन्होंने दोस्त जावेद आलम को फोन कर रक्तदान के लिए सदर अस्पताल बुलाया।

जावेद इस समय रोजे कर रहे हैं। इंसानियत को मजहब से बड़ा फर्ज मान वह तुरंत रक्तदान के लिए अस्पताल पहुंच गए। खाली पेट रक्त लेने से डाक्टर ने मना किया तो जावेद जिद पर अड़ गए। डाक्टर ने उन्हें पहले कुछ खाने की सलाह दी। इसपर खुदा का ध्यान कर जावेद ने जूस आदि पीया और फिर रक्तदान कर थैलेसीमिया पीड़ित बच्चे की जान बचाई।

कुमारस्वामी का शपथग्रहण समारोह : सोनिया-राहुल समेत विपक्ष के नेताओं का बेंगलुरू में लगा जमावड़ा

पवित्र माह ए रमजान में जावेद को इस नेक काम पर खुदा का साथ मिला तो बच्‍चे की हालत में सुधार हो रहा है। रक्त देने के बाद बातचीत में जावेद आलम ने कहा कि रोजे से ज्यादा बच्‍चे की जान बचाना जरूरी था। हर धर्म में इंसानियत का दर्जा सबसे बड़ा है।

शॉपिंग करने के बाद पत्नी के साथ रेस्त्रां पहुंचे राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, देखकर हैरान रह गए लोग

Read Also

देवघर : सब्सिडी की पहल के बाद झारखंड में निर्माता-निर्देशकों का बढ़ा रुझान

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 3:43 PM

देवघर : सब्सिडी की पहल के बाद झारखंड में निर्माता-निर्देशकों का बढ़ा रुझान

देवघर फिल्म निर्माण के लिए अच्छा लोकेशन

देवघर। रघुवर सरकार के झारखंड में फिल्म नीति की घोषणा और फिल्म निर्माताओं को सब्सिडी दिए जाने की पहल के बाद झारखंड में जहां निर्माता-निर्देशकों का फिल्म बनाने के प्रति रुझान बढ़ा है। वहीं देव नगरी देवघर में भी फिल्मों के प्रति निर्माता-निर्देशकों का आकर्षण बढ़ने लगा है।

मनोरम प्राकृतिक छटाओं के बीच स्थित देवघर फिल्म निर्माताओं के अच्छे लोकेशन के लिए एक बेहतर जगह मानी जा रही है देवघर की बात करें तो यहां आधे दर्जन से ज्यादा सिनेमा हॉल थे लेकिन फिल्म नीति की घोषणा नहीं होने और महंगी फिल्मों के कारण लगातार एक के बाद एक सिनेमा हॉल बंद होते गए और आज स्थिति यह है कि देवघर में महज 2 सिनेमा घर ही चल रहे हैं।

जबकि फिल्म नीति की घोषणा होने के बाद ट्रेंड बदला और देवघर में रिलैक्स जैसे मल्टीप्लैक्स खुलने लगे हैं। रघुवर सरकार की फिल्म नीति की घोषणा और सब्सिडी के बाद देवघर फिल्म निर्माताओं के लिए सबसे सस्ती और मनोरम जगह साबित हो रही है, जिसके कारण निर्माता देवघर में भी फिल्में बना रहे हैं।

देवघर : सब्सिडी की पहल के बाद झारखंड में निर्माता-निर्देशकों का बढ़ा रुझान

1999 और 2000 के सालों में सिनेमाघरों में दर्शकों की भीड़ लगा करती थी। शो समाप्त होने के बाद सड़कों पर लोगों की भीड़ देखकर लोग अंदाजा लगा लेते थे कि शायद किसी सिनेमा हॉल का कोई शो खत्म हुआ है।

आज हालात यह है कि पिछले 14 सालों में एक के बाद एक सिनेमा हॉल बंद होते गए और आज यह खंडहर में तब्दील हो गए है, लेकिन रघुवर सरकार बनने के बाद फिल्म नीति की घोषणा हुई और निर्माताओं को फिल्म बनाने के लिए सुविधाएं प्रदान की जाने लगी। साथ ही इन्हें सब्सिडी भी दी जाने लगी जिसके बाद निर्माता-निर्देशकों की पहली पसंद है।

झारखंड फिल्म एडवाइजरी कमेटी की सदस्य पायल कश्यप जो झारखंड की पहली महिला निर्देशिका हैं, उनका कहना है कि रघुवर सरकार के फिल्म नीति के बाद बॉलीवुड का रुझान भी झारखंड की तरफ बढ़ा है। देवघर एक पर्यटक स्थल भी है और इसकी पहचान भारतवर्ष में है। ऐसे में यहां के मनोरम दृश्य लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं लिहाजा आज यहां लगातार दो फिल्मों की शूटिंग होने जा रही है, जिसका मुहूर्त भी हो चुका है और वह समय दूर नहीं जब देवघर बॉलीवुड की पहली पसंद बनेगी।

संथाल परगना का पहला मल्टीप्लैक्स OLX

देवघर के खंडहर में तब्दील हो चुके यह सिनेमाघर के दिन फिर से वापस आने वाले हैं जिसकी शुरुआत मल्टीप्लेक्स खोले जाने से शुरू हो चुकी है। आज देवघर में संथाल परगना का पहला मल्टीप्लैक्स OLX खुल चुका है।

वहीं दूसरी तरफ कई सिनेमाघर मालिक भी अपने सिनेमाघरों को फिर से शुरू करने की कवायद शुरू कर चुके हैं। श्रम मंत्री राज पलिवार ने कहा कि रघुवर सरकार के फिल्म नीति लागू किए जाने के बाद फिल्मों के प्रति लोगों का रुझान बढ़ा है और सिनेमाघरों के पुराने दिन फिर से वापस आने वाले हैं

देवघर में फिल्मों के निर्माण होने से स्थानीय कलाकार उत्साहित

देवघर में फिल्मों के निर्माण होने से ना सिर्फ निर्माता-निर्देशक उत्साहित है बल्कि यहां के स्थानीय कलाकार भी काफी उत्साहित नजर आ रहे हैं। बॉलीवुड के कई कलाकार यहां अपना मुहूर्त कर रहे हैं।  ऐसे में भोजपुरी फिल्मों का क्रेज और फिल्मों के प्रति लोगों का आकर्षण बढ़ रहा है।

कलाकार भी कहते हैं कि उनकी हैसियत नहीं है कि वह मुंबई जैसे शहरों में जाकर स्ट्रगल करें। ऐसे में देवघर में ही उन्हें मौका मिल रहा है जबकि लेडी सिंघम जैसे फिल्मों के निर्देशक कहते हैं कि देवघर का लोकेशन बहुत अच्छा है और लोगों को काफी पसंद भी आ रहा है।

देवघर : बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर बाबा मंदिर में उमड़ी श्रधालुओं की भीड़

वही बॉलीवुड की अदाकारा ऐश्वर्या भी कहती है कि इन्हें देवघर आकर अच्छा लगा और यहां के लोकेशन और लोगों का व्यवहार भी इतना पसंद आया कि यह बार-बार यहां फिल्म शूटिंग के लिए आना चाहते हैं

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शॉपिंग करने के बाद पत्नी के साथ रेस्त्रां पहुंचे राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, देखकर हैरान रह गए लोग

NewsCode | 23 May, 2018 2:58 PM

शॉपिंग करने के बाद पत्नी के साथ रेस्त्रां पहुंचे राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, देखकर हैरान रह गए लोग

नई दिल्ली। महामहिम राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने शिमला में हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम के एक रेस्त्रां में अचानक पहुंचकर सभी को अचरज में डाल दिया और वहां पर नाश्ता किया। अधिकारियों ने बताया कि पीटरहॉफ से लौटते हुए कोविंद और उनकी पत्नी सरिता आशियाना रेस्त्रां गए और उन्होंने वहां पर चाय के साथ स्नैक्स का लुत्फ़ उठाया। राष्ट्रपति को देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग रेस्त्रां के आसपास उमड़ पड़े। राष्ट्रपति ने लोगों का अभिवादन किया और क्रेडिट कार्ड से अपना बिल भी चुकाया।

राष्ट्रपति की गाड़ियों का काफिला रिंग रोड पर खड़ा रहा। यह अहसास होते ही कि उनकी गाड़ियों का काफिला लोगों को असुविधा पहुंचा रहा है, तो राष्ट्रपति ने अधिकारियों से गाड़ियों की संख्या 17 से घटाकर चार करने के लिए कहा। उन्होंने माल रोड का चक्कर लगाया और मिनेरवा बुक शॉप से पोते के लिए दो किताबें भी खरीदीं। राष्ट्रपति के अचानक पहुंचने और बिल चुकाने से रेस्त्रां के कर्मी बेहद खुश दिखे।

देखें वीडियो :

रेस्त्रां प्रबंधक ने कहा कि मेहमान के तौर पर राष्ट्रपति का आना सम्मान की बात है। बता दें कि शिमला में राष्ट्रपति का छह दिन का अस्थायी निवास है।

मनमोहन सिंह ने राष्ट्रपति से की शिकायत, बोले- कांग्रेस को धमकाते हैं पीएम मोदी

X

अपना जिला चुने